GST के कारण हमारे हिंदुस्तान बिज़्नेस में क्या प्रभाव पड़ा है?...


user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदुस्तान में और जीएसटी जब से लगा है तब से बिजनेस पर काफी प्रभाव प्रभाव पड़ा है और देखे जो बिजनेसमैन पहले अलग-अलग जगह पर अलग-अलग स्टेट कमेंट सेंट्रल गवर्मेंट को टेक्स्ट किया करते थे अलग-अलग चीजों का भूत टैक्स देना बंद हो गया है और अब उनकी एक-एक कपूरी जीएसटी के खिलाफ बन गई है अगर आप इस तरह का बिजनेस कर रहे हैं तो आपको इस्लाम के हिसाब से पैसे देने हैं या फिर आप अगर इससे ज्यादा क्या करेंगे तो आपको ज्यादा किस क्लास के सबसे पैसे देने और इसलिए काफी हद तक बिजनेस पर प्रभाव पड़ा है और जो बिजनेसमैन खरीदा करते थे रो मेटेरियल से अपने बिजनेस में लगाने के लिए या फिर कुछ काम करने के लिए उनको मैन्युफैक्चर करने के लिए तो उन सब में भी काफी प्रभाव पड़ा है क्योंकि यह रॉ मेटेरियल से रॉ मैटेरियल्स को अलग-अलग सिलेबस में डाला गया है तू अगर जैसे आप कॉटन की बात कर सकते हैं तो कॉटन 0% स्लैब में है उसमें कोई टैक्स नहीं लगाएगा उसे खरीदी पर परंतु उसके ऊपर कि जो चीज है जैसे झूठ हुआ नायलॉन हुआ यह सब 5:00 पर्सेंट ही इस लाइफ में आते हैं तो इस तरह से अलग-अलग चीजों की अलग-अलग फ्लेक्स बना दी रही हैं तो इसमें काफी हद तक सिंप्लीफिकेशन आ चुका है जब से जीएसटी लगा है और विजय सुप्रभात जरूर जरूर पढ़ा है लेकिन मेरे साथ से WhatsApp प्रभाव है जिसने बिजनेस में काफी सिंप्लीफिकेशन कर दिए हैं और लोगों के लिए काफी चीजें ऐसी कर दी है

Hindustan mein aur gst jab se laga hai tab se business par kaafi prabhav prabhav pada hai aur dekhe jo bussinessmen pehle alag alag jagah par alag alag state comment central government ko text kiya karte the alag alag chijon ka bhoot tax dena band ho gaya hai aur ab unki ek ek kapuri gst ke khilaf ban gayi hai agar aap is tarah ka business kar rahe hain toh aapko islam ke hisab se paise dene hain ya phir aap agar isse zyada kya karenge toh aapko zyada kis kashi ke sabse paise dene aur isliye kaafi had tak business par prabhav pada hai aur jo bussinessmen kharida karte the ro material se apne business mein lagane ke liye ya phir kuch kaam karne ke liye unko mainyufaikchar karne ke liye toh un sab mein bhi kaafi prabhav pada hai kyonki yah raw material se raw Materials ko alag alag syllabus mein dala gaya hai tu agar jaise aap cotton ki baat kar sakte hain toh cotton 0 slab mein hai usme koi tax nahi lagaega use kharidi par parantu uske upar ki jo cheez hai jaise jhuth hua nylon hua yah sab 5 00 percent hi is life mein aate hain toh is tarah se alag alag chijon ki alag alag flex bana di rahi hain toh isme kaafi had tak simplifikeshan aa chuka hai jab se gst laga hai aur vijay suprabhat zaroor zaroor padha hai lekin mere saath se WhatsApp prabhav hai jisne business mein kaafi simplifikeshan kar diye hain aur logo ke liye kaafi cheezen aisi kar di hai

हिंदुस्तान में और जीएसटी जब से लगा है तब से बिजनेस पर काफी प्रभाव प्रभाव पड़ा है और देखे ज

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  143
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
hindustan paper aaj ka ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!