किस प्रकार की मानसिक बीमारी में रोगी वास्तविक जीवन के अँधेरे में रहता है?...


user

Dr. Naqui

Doctor

2:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किस प्रकार के मानसिक बीमारी में रोगी वास्तविक जीवन के अंतिम रहता है वैसे यह सवाल भी बहुत छुपे कल है क्योंकि जहां तक बैटनिंग लाइफ की बात करें तो इसमें बहुत कम लोग आएंगे क्योंकि हमारी जिंदगी जो है से हॉस्पेट पहन सकता है और थॉट्स हमारे आईडियोलॉजी ऑफ फाइट एंड फ्लाइट पे डिपेंड करता है जब भी कोई और चीज आपके सामने आती है या तो आपसे फाइट करना चाहते अप्लाई तो यूज़ नेशन है यह फ्लाइट को ज्यादा मानती है इसको जाएगी जो पहले बहुत रहे हैं इसलिए वहां पर उस तक एजुकेशन के लोग बच्चे नहीं हो वो तुझे मिल जाता है लेकिन इस लायक हो तो भी कहती है उसको रियलिटी के बारे में पता नहीं होते इसमें सभी आ जाएंगे बीमारी की बात नहीं बात कर ली है क्या कर रहे हो कोई बीमारी के बहुत करीब है मानसिक बीमारी है सो रहे तो वहां पर रियलिटी से टूट जाना ही है बीमारी का फर्स्ट होता है यह सवाल लागू नहीं होता है तो हर बीमारी में कुछ न कुछ होते हैं और होते हैं मानसिक बीमारियों में ओरियंटेशन रहता है उस ऑर्गेनिक्स और उसमें ओरियंटेशन चला जाता है जातक जोगेश्वरी स्टेशन रहता है रिपीट नहीं बता रही थी मैं तुम्हारी कांटेक्ट कांटेक्ट में से क्राइटेरिया होते हैं वह हर बीमारी के अलग-अलग होता है जिसमें बीमारी के बारे में टाइटैनिक रियलिटी और बीमारी के बारे में ब्लॉक कर दे नाल रहता है

kis prakar ke mansik bimari mein rogi vastavik jeevan ke antim rehta hai waise yah sawaal bhi bahut chhupe kal hai kyonki jaha tak baitning life ki baat kare toh isme bahut kam log aayenge kyonki hamari zindagi jo hai se haspet pahan sakta hai aur thoughts hamare aidiyolaji of fight and flight pe depend karta hai jab bhi koi aur cheez aapke saamne aati hai ya toh aapse fight karna chahte apply toh use nation hai yah flight ko zyada maanati hai isko jayegi jo pehle bahut rahe hain isliye wahan par us tak education ke log bacche nahi ho vo tujhe mil jata hai lekin is layak ho toh bhi kehti hai usko reality ke bare mein pata nahi hote isme sabhi aa jaenge bimari ki baat nahi baat kar li hai kya kar rahe ho koi bimari ke bahut kareeb hai mansik bimari hai so rahe toh wahan par reality se toot jana hi hai bimari ka first hota hai yah sawaal laagu nahi hota hai toh har bimari mein kuch na kuch hote hain aur hote hain mansik bimariyon mein orientation rehta hai us argeniks aur usme orientation chala jata hai jatak jogeshwari station rehta hai repeat nahi bata rahi thi main tumhari Contact Contact mein se criteria hote hain vaah har bimari ke alag alag hota hai jisme bimari ke bare mein titanic reality aur bimari ke bare mein block kar de naal rehta hai

किस प्रकार के मानसिक बीमारी में रोगी वास्तविक जीवन के अंतिम रहता है वैसे यह सवाल भी बहुत छ

Romanized Version
Likes  54  Dislikes    views  1088
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!