हम क्या हमारी सोच बदल सकते हैं अगर हाँ तो सोच बदलने का तरीका बताएं?...


user

Vinay Tripathi

Social Worker

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां इतने सारे में कोई भी कार्य असंभव नहीं है सब कुछ बदल सकता है मारिया देते हैं हमारे स्वभाव हमारी सोच बदल सकती है का सबसे बढ़िया तरीका होता है कि हम अपने में परिवर्तन लाएं परिवर्तन लाने का तरीका यह है कि आप पुस्तकों का अध्ययन करें महापुरुषों की किताबें पढ़ने और सबसे प्रमुख बात है कि सकारात्मक विचार वाले व्यक्तियों की संगति करें उनका साथ करें जिनका जो अच्छी सोच के लोग हैं अच्छे विचार के लोग हैं जो अच्छा सोचते हैं सकारात्मक सोचते हैं जो आशावादी होते हैं ऐसे लोगों के संपर्क में आए उनके साथ उनका साथ करें निराशावादी लोगों से दूर रहे नकारात्मक सोच वालों से दूर रहें आपकी सोच बिल्कुल बदल सकती है सही हो सकती है आपका यह सोचना ही आपकी सोच का एक तरीका है बदलने का कि आपके मन में यह आया कि आपको सोच बदलना तो यह कहता है कि आप कुछ भी कर सकते हैं

haan itne saare me koi bhi karya asambhav nahi hai sab kuch badal sakta hai maria dete hain hamare swabhav hamari soch badal sakti hai ka sabse badhiya tarika hota hai ki hum apne me parivartan laye parivartan lane ka tarika yah hai ki aap pustakon ka adhyayan kare mahapurushon ki kitaben padhne aur sabse pramukh baat hai ki sakaratmak vichar waale vyaktiyon ki sangati kare unka saath kare jinka jo achi soch ke log hain acche vichar ke log hain jo accha sochte hain sakaratmak sochte hain jo aashavadi hote hain aise logo ke sampark me aaye unke saath unka saath kare nirashavaadi logo se dur rahe nakaratmak soch walon se dur rahein aapki soch bilkul badal sakti hai sahi ho sakti hai aapka yah sochna hi aapki soch ka ek tarika hai badalne ka ki aapke man me yah aaya ki aapko soch badalna toh yah kahata hai ki aap kuch bhi kar sakte hain

हां इतने सारे में कोई भी कार्य असंभव नहीं है सब कुछ बदल सकता है मारिया देते हैं हमारे स्वभ

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  91
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Harish Chand

Social Worker

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल सोच को बदला जा सकता है अगर आप अपने वर्तमान की जिंदगी से खुश नहीं है वर्तमान जिंदगी से आप खुश नहीं है और आप सोच रहे हैं कि आपकी जिंदगी में कुछ न्यूज़ चली जानी चाहिए तो जैसी बातें क्या आपकी सोच तुरंत बदल जाएगी और जो आपके करम है आज और उन कर्मों से ज्यादा संतुष्ट नहीं है और आप सोच रहे कि यार क्या करूं कुछ हो नहीं रहा लाइफ में चारों तरफ से और जनों का दबाव आपके दिमाग दिलो-दिमाग पर बना हुआ है तो आप क्या करोगे आप तो सो गया क्या करना चाहिए अब बस हमेशा एक रास्ता नहीं होता अब कोई रास्ते होते अगर आप बहुत ज्यादा कंफ्यूज है बहुत ज्यादा तो आपको चाहिए कि आप तुरंत एक्शन ले करके किसी आरोप परामर्श ले सकते हैं अपने बड़े भाई का अपने माता-पिता का अपने दोस्त का या किसी भी व्यक्ति का परामर्श लेकर दे अच्छी सोच के साथ नया शुरुआत कर सकते हैं आप नई सोच के साथ नई शुरुआत ठीक है मित्र

bilkul soch ko badla ja sakta hai agar aap apne vartaman ki zindagi se khush nahi hai vartaman zindagi se aap khush nahi hai aur aap soch rahe hain ki aapki zindagi mein kuch news chali jani chahiye toh jaisi batein kya aapki soch turant badal jayegi aur jo aapke karam hai aaj aur un karmon se zyada santusht nahi hai aur aap soch rahe ki yaar kya karu kuch ho nahi raha life mein charo taraf se aur jano ka dabaav aapke dimag dilo dimag par bana hua hai toh aap kya karoge aap toh so gaya kya karna chahiye ab bus hamesha ek rasta nahi hota ab koi raste hote agar aap bahut zyada confuse hai bahut zyada toh aapko chahiye ki aap turant action le karke kisi aarop paramarsh le sakte hain apne bade bhai ka apne mata pita ka apne dost ka ya kisi bhi vyakti ka paramarsh lekar de achi soch ke saath naya shuruat kar sakte hain aap nayi soch ke saath nayi shuruat theek hai mitra

बिल्कुल सोच को बदला जा सकता है अगर आप अपने वर्तमान की जिंदगी से खुश नहीं है वर्तमान जिंदगी

Romanized Version
Likes  44  Dislikes    views  376
WhatsApp_icon
user

Anita Maurya

कवियित्री & गायिकी

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपकी सोच किस विषय में है किस तरह की सोच बदलना चाहते यह भी निर्भर करता है ना और सोच बदलने में माता-पिता का और सहपाठियों का आस-पड़ोस का अभिवादन प्रतिक्रिया मेहतपुर हैं लेकिन आपकी सोच क्या आप जानते हैं उसी आधार पर जो आपको पसंद करें तो ठीक है अगर आप आपकी सोच से लोग परेशान है या आप तो खुद सोच निश्चित रूप से बदल देना चाहिए ओके

aapki soch kis vishay mein hai kis tarah ki soch badalna chahte yah bhi nirbhar karta hai na aur soch badalne mein mata pita ka aur sahapathiyon ka aas pados ka abhivadan pratikriya mehatapur hain lekin aapki soch kya aap jante hain usi aadhar par jo aapko pasand kare toh theek hai agar aap aapki soch se log pareshan hai ya aap toh khud soch nishchit roop se badal dena chahiye ok

आपकी सोच किस विषय में है किस तरह की सोच बदलना चाहते यह भी निर्भर करता है ना और सोच बदलने म

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  181
WhatsApp_icon
user

seema bhatia

Motivational Counsellor/Meditation Trainer

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां हम अपनी सोच को बिल्कुल बेहतर और क्या बना सकते हैं आज समय-समय पर देखा जा रहा है कि लोग अपनी सोच को बिल्कुल सिंह करते चले जा रहे हैं अगर हम एक दृढ़ संकल्प ले लें और अपनी सोच को लगातार अग्रसर हो करके पॉजिटिव थॉट्स में बदले तो आप अपनी सोच को निरंतर अभ्यास से बदल सकते हैं थैंक यू सो मच

ji haan hum apni soch ko bilkul behtar aur kya bana sakte hain aaj samay samay par dekha ja raha hai ki log apni soch ko bilkul Singh karte chale ja rahe hain agar hum ek dridh sankalp le le aur apni soch ko lagatar agrasar ho karke positive thoughts mein badle toh aap apni soch ko nirantar abhyas se badal sakte hain thank you so match

जी हां हम अपनी सोच को बिल्कुल बेहतर और क्या बना सकते हैं आज समय-समय पर देखा जा रहा है कि ल

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user

Amit Arya

Youtuber - Motivation Speaker

2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या हमारी सोच बदल सकती है अगर हां तो सोच बदलने का तरीका बताएं रिलेशंस में जाते हैं कॉलेज में जाते हैं फ्रेंड के साथ जाते हैं किसी रेस्टोरेंट में घूमने के लिए जाते हैं कहीं भी जाते आप कुछ ना कुछ सोचते रहते कई बार किसी रिलेशंस में जाते एक पार्टी भी करने जाते तो आप को इंजॉय नहीं आता क्यों नहीं आते तो पार्टी में आपका गलत है जो कि आपको पीड़ा दे रही है अगर आप अपनी गर्लफ्रेंड के साथ घूमने जाते तो वहां घूमने के एंजॉय पर ध्यान देने की बात है यार मम्मी कि मुझे मेरे साथ घर भी हो जाएगा हो जाएगा मूवी आनंद गवा दिया उस बारे में सोचेंगे वर्तमान में स्थित कीजिएगा क्योंकि वर्तमान में स्थित आपका मन होगा हो जाएगा और क्या है और सब चीजों का सोचने का ठेका ले लेते हैं हर किसी के बारे में सोचते हर किसी के बारे में जितनी आवश्यकता आवश्यकता है उसके बारे में सोचेगा बस आपकी सोच बदल जाएगी राधे-राधे

aapka prashna hai kya hamari soch badal sakti hai agar haan toh soch badalne ka tarika bataye rileshans mein jaate hain college mein jaate hain friend ke saath jaate hain kisi restaurant mein ghoomne ke liye jaate hain kahin bhi jaate aap kuch na kuch sochte rehte kai baar kisi rileshans mein jaate ek party bhi karne jaate toh aap ko enjoy nahi aata kyon nahi aate toh party mein aapka galat hai jo ki aapko peeda de rahi hai agar aap apni girlfriend ke saath ghoomne jaate toh wahan ghoomne ke enjoy par dhyan dene ki baat hai yaar mummy ki mujhe mere saath ghar bhi ho jaega ho jaega movie anand gawa diya us bare mein sochenge vartaman mein sthit kijiega kyonki vartaman mein sthit aapka man hoga ho jaega aur kya hai aur sab chijon ka sochne ka theka le lete hain har kisi ke bare mein sochte har kisi ke bare mein jitni avashyakta avashyakta hai uske bare mein sochega bus aapki soch badal jayegi radhe radhe

आपका प्रश्न है क्या हमारी सोच बदल सकती है अगर हां तो सोच बदलने का तरीका बताएं रिलेशंस में

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  453
WhatsApp_icon
user

Vashisht Dubey

Social Worker

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या हम अपनी सोच को बदल सकते हैं बिल्कुल बदल सकते हैं पर बदलने की जरूरत क्यों हैं ऐसा क्या है सबका मन मस्ती स्वभाव आचार विचार कुछ अलग होता है मतलब हम बिल्कुल गॉड गिफ्ट है भगवान का दिया हुआ उपहार है जो भी आपका सोच है जब उसको सकारात्मक नकारात्मक दोनों सोच होते हैं उसमें आपके अंदर क्या है वह तो आप जान सकते हैं और बदलने की जरूरत क्या है आपको धन्यवाद

kya hum apni soch ko badal sakte hain bilkul badal sakte hain par badalne ki zarurat kyon hain aisa kya hai sabka man masti swabhav aachar vichar kuch alag hota hai matlab hum bilkul god gift hai bhagwan ka diya hua upahar hai jo bhi aapka soch hai jab usko sakaratmak nakaratmak dono soch hote hain usme aapke andar kya hai vaah toh aap jaan sakte hain aur badalne ki zarurat kya hai aapko dhanyavad

क्या हम अपनी सोच को बदल सकते हैं बिल्कुल बदल सकते हैं पर बदलने की जरूरत क्यों हैं ऐसा क्या

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
user

Tejnath sahu

Social Worker

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां आप अपनी सोच बदल सकते हैं और आपको प्रमाणों के साथ बोलने में इतना आप नहीं समझ पाएंगे बताने से कि आप अपनी सोच को अच्छे पॉजिटिव थिंकिंग वाले बनाएं अच्छे दिशा में ले जाए इसके लिए आपको विस्तार से जाने की जरूरत है अच्छी मार्गदर्शन की जरूरत है इसके लिए आपको पढ़ने होंगे पुस्तक जीने की राह पुस्तक वर्तमान समय में सबसे ज्यादा पढ़ने वाली पुस्तक है सबसे ज्यादा डाउनलोड कर पुस्तक पढ़ रहे हैं इतना ही नहीं इस पुस्तक से आपको मानव जीवन का मूल उद्देश्य कभी पता चलेगा इस पुस्तक को पढ़ने मात्र से व्यक्ति की हर बुराई छूट रही है जितने भी लोग आज पड़े हैं उसके जीवन में हंड्रेड परसेंट बदलाव आ रहे हैं आपको बता दें या पुस्तक बिल्कुल निशुल्क है बिना किसी डिलीवरी चार्ज की 15 से 20 दिन लगते हैं पहुंचने में केवल अपना नाम पता मोबाइल नंबर 74 9680 1823 पर भेज देने होते हैं आपको बता दें 7496 80 अट्ठारह 23:00 पर भेज देने होते हैं यह पुस्तक आपके घर पहुंच जाएगा और भी अधिक जानकारी के लिए देखिए रोज शाम 7:30 बजे साधना चैनल पर

ji haan aap apni soch badal sakte hain aur aapko pramanon ke saath bolne mein itna aap nahi samajh payenge bata se ki aap apni soch ko acche positive thinking waale banaye acche disha mein le jaaye iske liye aapko vistaar se jaane ki zarurat hai achi margdarshan ki zarurat hai iske liye aapko padhne honge pustak jeene ki raah pustak vartaman samay mein sabse zyada padhne wali pustak hai sabse zyada download kar pustak padh rahe hain itna hi nahi is pustak se aapko manav jeevan ka mul uddeshya kabhi pata chalega is pustak ko padhne matra se vyakti ki har burayi chhut rahi hai jitne bhi log aaj pade hain uske jeevan mein hundred percent badlav aa rahe hain aapko bata de ya pustak bilkul nishulk hai bina kisi delivery charge ki 15 se 20 din lagte hain pahuchne mein keval apna naam pata mobile number 74 9680 1823 par bhej dene hote hain aapko bata de 7496 80 attharah 23 00 par bhej dene hote hain yah pustak aapke ghar pohch jaega aur bhi adhik jaankari ke liye dekhiye roj shaam 7 30 baje sadhna channel par

जी हां आप अपनी सोच बदल सकते हैं और आपको प्रमाणों के साथ बोलने में इतना आप नहीं समझ पाएंगे

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  357
WhatsApp_icon
user

vedprakash singh

Psychologist

4:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है हम क्या हमारी सोच बदल सकते हैं अगर हां तो सोच बदलने का तरीका बताएं जब आपने सोच ही लिया कि हमें अपनी सोच बदलनी है तो आपको यह समझ लेना चाहिए कि आपने अपनी सोच का कुछ हिस्सा जरूर बदल ही लिया और उम्मीद होगा कि आप आगे भी मेहनत करोगे मेरे बताए हुए रास्ते पर ताकि आपको आपकी सोच बदल जाए सोच बदलना इतना आसान काम नहीं है लेकिन यदि किया जाए तो इतना बड़ा भी नहीं है क्योंकि सोच हम से ही होता है कोई और नहीं सोचते सोचते हम ही हैं दूसरा तो हमें बस उस जागते हमारी सोच हमें काम आती है उपनिषदों का कहना है कि हमारी बानी हमारे मन में स्थित हो हमारी बानी हमारे मनमीत तुम्हारे मन हमारी बानी मत लो एक दूसरे से समायोजन होता है उसमें यह तो इसमें मिश्रित है मिला हुआ है तो हमारी सोच कैसे बदलेगी सोच को बदलने के लिए पॉजिटिव नेगेटिव बनाने से कुछ नहीं काम चलेगा यदि हम इसी तरीके से नेगेटिव है तो फिर 1 दिन ऐसा आएगा कि हमें बुरा हो जाएगा मारे शब्द गुरा ही होगा इसलिए पॉजिटिव सोच रखनी चाहिए तीन बातें होती है सोच बदलने के लिए होश में आना बहुत जरूरी है क्योंकि होश में रहना बड़ा मुश्किल भी है जनरल itv2 बातें होती है जैसे हम और किसी और के बारे में बात करते किसी से जैसे कोई आदमी है मेरे पास और हम दोनों मिलकर किसी और के बारे में बात करते हैं यहां पर दो बातें हो गए हम दोनों तो एक ही बात और 1372 गाते हुए इसी वक्त इसी बात होती है किसी बात होते हम दोनों और जिसके बारे में बात की है वह और हम दोनों के बीच में क्या बात है वह मतलब क्या एक तो हम दोनों तो एक बात एक वह आदमी एक बात और हम दोनों के बीच के बाद दो-तीन बार यहां पर तीन बातें हो जाती है इसलिए इन तीनों बात को जानना जरूरी होगा कि सोच बदलने के लिए सबसे पहले हमें यह सोचना होगा कि जैसे नाइट में हम सोते हैं ना उस समय हमें शरीर को ढीला करना होगा हां भाई समय यह बोले कि मैं शरीर भी नहीं मेरा सभी मुझसे दूर जा रहा है बहुत दूर आंखों से आंख बंद करके जा रहा है हकीकत में जा रहा है लेटे हुए जा रहे दूर रहना इसके बाद मेरा शरीर सुन्न हो रहा है मैं शरीर भी नहीं मेरा सिर मुझसे दूर जा रहा है मेरा साले सुन्न हो रहा है तीन बातों को बोलो 5 बार 10 बार 20 बार तीनों बात को बोल तेरे बोल तेरे सिवा दूसरे बार बोलना है मैं मन भी नहीं मेरा मन मुझसे दूर जा रहा है मेरा मन उस उन तीनों बातों को भी बोली थी और विचार पर आना है मेरे विचार सुनने हो रहे हैं मैं विचार भी नहीं मैं विचार भी नहीं मेरा विचार सुनने हो रहा है इस तरीके से बोल रहा है मेरा भी 40 हो रहा मैं भी चार भी नहीं है इस तरीके से इन बातों को भी बोले इन तीनों बातों को सोते समय बोले तब तक आपको नींद भी आ जाता तो बोलते हैं बोलते बोलते मन ही मन बोलना है इस तरीके से आप अपनी सोच को बदल सकते हो और तू आजा पूछोगे देखनी ताजगी महसूस करोगे जो आप बचपन में भी कमी नहीं महसूस किए क्योंकि एक छोटे बच्चों को जांचने के लिए भी जा अपने प्रति जो कि कुछ काम नहीं किया ना तो उसको भी लेकिन आपको थोड़ी सी भी थकावट लॉगइन जैसे भाइयों की भी बात नहीं कराने के लिए एक ध्यान रहे कि आपको शरीर को ढीला करके फिर बोलने हैं श्री को टाइप नहीं कर रहे सांस भी धीरे लेने जोर जोर से नहीं लेना

aapka sawaal hai hum kya hamari soch badal sakte hain agar haan toh soch badalne ka tarika bataye jab aapne soch hi liya ki hamein apni soch badalni hai toh aapko yah samajh lena chahiye ki aapne apni soch ka kuch hissa zaroor badal hi liya aur ummid hoga ki aap aage bhi mehnat karoge mere bataye hue raste par taki aapko aapki soch badal jaaye soch badalna itna aasaan kaam nahi hai lekin yadi kiya jaaye toh itna bada bhi nahi hai kyonki soch hum se hi hota hai koi aur nahi sochte sochte hum hi hain doosra toh hamein bus us jagte hamari soch hamein kaam aati hai upnishadon ka kehna hai ki hamari bani hamare man mein sthit ho hamari bani hamare manmeet tumhare man hamari bani mat lo ek dusre se samaayojan hota hai usme yah toh isme mishrit hai mila hua hai toh hamari soch kaise badalegi soch ko badalne ke liye positive Negative banane se kuch nahi kaam chalega yadi hum isi tarike se Negative hai toh phir 1 din aisa aayega ki hamein bura ho jaega maare shabd GURHA hi hoga isliye positive soch rakhni chahiye teen batein hoti hai soch badalne ke liye hosh mein aana bahut zaroori hai kyonki hosh mein rehna bada mushkil bhi hai general itv2 batein hoti hai jaise hum aur kisi aur ke bare mein baat karte kisi se jaise koi aadmi hai mere paas aur hum dono milkar kisi aur ke bare mein baat karte hain yahan par do batein ho gaye hum dono toh ek hi baat aur 1372 gaate hue isi waqt isi baat hoti hai kisi baat hote hum dono aur jiske bare mein baat ki hai vaah aur hum dono ke beech mein kya baat hai vaah matlab kya ek toh hum dono toh ek baat ek vaah aadmi ek baat aur hum dono ke beech ke baad do teen baar yahan par teen batein ho jaati hai isliye in tatvo baat ko janana zaroori hoga ki soch badalne ke liye sabse pehle hamein yah sochna hoga ki jaise night mein hum sote hain na us samay hamein sharir ko dheela karna hoga haan bhai samay yah bole ki main sharir bhi nahi mera sabhi mujhse dur ja raha hai bahut dur aankho se aankh band karke ja raha hai haqiqat mein ja raha hai lete hue ja rahe dur rehna iske baad mera sharir sunna ho raha hai sharir bhi nahi mera sir mujhse dur ja raha hai mera saale sunna ho raha hai teen baaton ko bolo 5 baar 10 baar 20 baar tatvo baat ko bol tere bol tere siva dusre baar bolna hai man bhi nahi mera man mujhse dur ja raha hai mera man us un tatvo baaton ko bhi boli thi aur vichar par aana hai mere vichar sunne ho rahe hain main vichar bhi nahi main vichar bhi nahi mera vichar sunne ho raha hai is tarike se bol raha hai mera bhi 40 ho raha main bhi char bhi nahi hai is tarike se in baaton ko bhi bole in tatvo baaton ko sote samay bole tab tak aapko neend bhi aa jata toh bolte hain bolte bolte man hi man bolna hai is tarike se aap apni soch ko badal sakte ho aur tu aajad puchoge dekhni tajgi mehsus karoge jo aap bachpan mein bhi kami nahi mehsus kiye kyonki ek chote baccho ko janchane ke liye bhi ja apne prati jo ki kuch kaam nahi kiya na toh usko bhi lekin aapko thodi si bhi thakawat login jaise bhaiyo ki bhi baat nahi karane ke liye ek dhyan rahe ki aapko sharir ko dheela karke phir bolne hain shri ko type nahi kar rahe saans bhi dhire lene jor jor se nahi lena

आपका सवाल है हम क्या हमारी सोच बदल सकते हैं अगर हां तो सोच बदलने का तरीका बताएं जब आपने सो

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  151
WhatsApp_icon
user

Raj saini

Student

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दूसरों को समझाने से पहले खुद की सोच बदलना जरूरी होता है क्योंकि आप खुद ही सही रास्ते पर नहीं चल रहा है दूसरों को के चला पाएगा इसलिए दूसरों को समझाने पहले खुद को समझना जरूरी है

dusron ko samjhane se pehle khud ki soch badalna zaroori hota hai kyonki aap khud hi sahi raste par nahi chal raha hai dusro ko ke chala payega isliye dusro ko samjhane pehle khud ko samajhna zaroori hai

दूसरों को समझाने से पहले खुद की सोच बदलना जरूरी होता है क्योंकि आप खुद ही सही रास्ते पर नह

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  127
WhatsApp_icon
user

Sadik

Social Worker

2:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल हमारी सोच को बदल सकते हैं अगर आपके सपने बड़े हैं अगर आपके ड्रीम बड़े अगर आपने कुछ अपनी जिंदगी में कुछ अच्छा सोच रखा है अपनी लाइफ के बारे में तमाम अपने आप को बिल्कुल चेंज कर सकते हो चेंज करने का क्या फायदा उदाहरण यही है कि आप जैसे खुश रहिए मतलब आप जितने भी आपके फ्रेंड लोग हैं जितने भी आपके आसपास के जितने भी आपका जो ग्रुप है जिसमें हम रहते हैं वहां से आपको कुछ नहीं मिला तो आपको सबसे पहले अपने ग्रुप चेंज करना होगा अगर आपको अपने आप को बदलना ही है तो आपको सबसे पहले अपने आप अपने आसपास के माहौल को चेंज करना होगा उसको बिल्कुल ऐसे बदलना होगा कि जानते हैं सेटिंग को क्लोज इसी सोच को हमेशा गया मुझे लाइफ में यह काम करना है अगर आप कह एक लक्ष्य है गोल है कि अंग्रेज़ी के पर वर्क करना है और आप सबसे पहले बीच में आने वाली रुकावट को दूर कर रही है अपनी रुकावट रुकावट बुरे दोस्त मिली तो सही कि बुरे दौर से बेलापुर की दूरी है अब उसे गुड़ के आप की जगह एडिटर कि आप गाने जरा सुनते बाबू सेंड करिए आप को जोड़कर ही अपनी तुमको चाहेंगे कि आप सबसे पहले अपने ग्रुप को चाहिए करिए ग्रुप को बंद करिए इतना ही नहीं जानता अगर आप सोच लो जंग बदलना चाहते हैं तो कल आपके पास सबसे बड़ा रीजन है जी की आप अपनी सोच को बदलना चाहते हैं जिसमें जैसे आप अपनी सोच को बदलना चाहते हैं कि आप इतने बुरे थे वर्ड जानना चाहते हैं तो यह आपको लाइफ में कुछ आगे बढ़ना है तो कुछ बट कुछ बड़ा करना है आपको इसलिए आपको अपनी सोच बदलनी है तो आपको हिसाब से अपनी सोसाइटी चेंज करनी होगी आपने जो पुरानी है जितने भी है बुरी है बिट्टू उनको देने का नाम का धीरे-धीरे और इतना चेंज करोगे उतना ही आपके लिए फायदेमंद है अगर आप हमें सोच के बारे में कुछ अच्छा ही करना पड़ा गंगाजल

bilkul hamari soch ko badal sakte hain agar aapke sapne bade hain agar aapke dream bade agar aapne kuch apni zindagi me kuch accha soch rakha hai apni life ke bare me tamaam apne aap ko bilkul change kar sakte ho change karne ka kya fayda udaharan yahi hai ki aap jaise khush rahiye matlab aap jitne bhi aapke friend log hain jitne bhi aapke aaspass ke jitne bhi aapka jo group hai jisme hum rehte hain wahan se aapko kuch nahi mila toh aapko sabse pehle apne group change karna hoga agar aapko apne aap ko badalna hi hai toh aapko sabse pehle apne aap apne aaspass ke maahaul ko change karna hoga usko bilkul aise badalna hoga ki jante hain setting ko close isi soch ko hamesha gaya mujhe life me yah kaam karna hai agar aap keh ek lakshya hai gol hai ki angrezi ke par work karna hai aur aap sabse pehle beech me aane wali rukavat ko dur kar rahi hai apni rukavat rukavat bure dost mili toh sahi ki bure daur se belapur ki doori hai ab use good ke aap ki jagah editor ki aap gaane zara sunte babu send kariye aap ko jodkar hi apni tumko chahenge ki aap sabse pehle apne group ko chahiye kariye group ko band kariye itna hi nahi jaanta agar aap soch lo jung badalna chahte hain toh kal aapke paas sabse bada reason hai ji ki aap apni soch ko badalna chahte hain jisme jaise aap apni soch ko badalna chahte hain ki aap itne bure the word janana chahte hain toh yah aapko life me kuch aage badhana hai toh kuch but kuch bada karna hai aapko isliye aapko apni soch badalni hai toh aapko hisab se apni society change karni hogi aapne jo purani hai jitne bhi hai buri hai bittu unko dene ka naam ka dhire dhire aur itna change karoge utana hi aapke liye faydemand hai agar aap hamein soch ke bare me kuch accha hi karna pada gangajal

बिल्कुल हमारी सोच को बदल सकते हैं अगर आपके सपने बड़े हैं अगर आपके ड्रीम बड़े अगर आपने कुछ

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  67
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!