क्या आपको लगता है कि इंजीनियरिंग के छात्रों को अपनी डिग्री के बाद ज्यादा विकल्प नहीं मिलते हैं और उन्हें कॉर्पोरेट ऑफिस में काम करना पड़ता है?...


user

Ahsaas Sharma

CAT Topper (Score - 99.93)

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत ज्यादा चोट तो हमारे कंपनी स्टेटमेंट चिल्लाती है मतलब इंसानो जाते क्लासिफाई करते इंडस्ट्रीज तो अभी थोड़ा ज्यादा पापुलैरिटी आईटीओ सॉफ्टवेयर इंडस्ट्री के कोर्स में पैदा होते हैं और जब बंदे बीते करने जाते उनको लगता है ताकि जो समथिंग फॉर मी टू तो उनको पाकिस के चक्कर में वह ले लेते हैं कि आंचल में सॉफ्टवेयर वगैरह में चले जाते हैं में इंटरेस्ट नहीं आता और उनको पाकिस्तान ने फिर किया और फिर हमारे कॉलेज में ऐसा नहीं है कि इंजीनियरिंग में जैसीनगर मेकेनिकल इंजीनियर मेरे सारे सब्जेक्ट में मैकेनिकल इंजीनियरिंग इकोनॉमिक्स सब्जेक्ट इंग्लिश हो गया सब्जेक्ट बंधु को ऐसा लगता है कि वह सिर्फ मकानी करनी पड़े बल्कि ले रहे हर सब्जेक्ट का ऑप्शन

bahut zyada chot toh hamare company statement chillati hai matlab insano jaate klasifai karte industries toh abhi thoda zyada papulairiti ITO software industry ke course mein paida hote hai aur jab bande bite karne jaate unko lagta hai taki jo something for me to toh unko pakis ke chakkar mein vaah le lete hai ki aanchal mein software vagera mein chale jaate hai mein interest nahi aata aur unko pakistan ne phir kiya aur phir hamare college mein aisa nahi hai ki Engineering mein jaisinagar Mechanical engineer mere saare subject mein mechanical Engineering economics subject english ho gaya subject bandhu ko aisa lagta hai ki vaah sirf makani karni pade balki le rahe har subject ka option

बहुत ज्यादा चोट तो हमारे कंपनी स्टेटमेंट चिल्लाती है मतलब इंसानो जाते क्लासिफाई करते इंडस्

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  528
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

PUSHPENDRA SHARMA

Enterprenuership

1:11
Play

Likes  4  Dislikes    views  158
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!