पुत्र के लिए उसकी मां क्या करती है?...


user

Sunil Gupta

Career Counselor | Educator | Lover Of Knowledge

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पुत्र के लिए उसकी मां क्या करती है मित्र के लिए उसकी मां पूरी दुनिया से लड़ जाती है अपनों को खोकर वह पुत्र में अपने जीवन अपने फ्यूचर देखती है जिससे वह जानती है कि बुढ़ापे में मेरा पुत्र ही मेरा सहारा बनेगा पुत्र के लिए वह अपने कलेजे के टुकड़े के लिए वह अपना रोटी तक छोड़ कर उसे खिलाती है पिलाती है वह चाहती है कि मेरा उम्र भी मेरे पुत्र को लग जाए और मां के लिए मैं क्या कहूं मैं तो एक ऐसे देवता है जिसे पाकर पूरे दुनिया के सभी खुशियां खत्म हो जाता है मां के आंचल में वह छाया है जिसे हम कभी पा नहीं सकते हम कहीं और

putra ke liye uski maa kya karti hai mitra ke liye uski maa puri duniya se lad jaati hai apnon ko khokar vaah putra mein apne jeevan apne future dekhti hai jisse vaah jaanti hai ki budhape mein mera putra hi mera sahara banega putra ke liye vaah apne kaleje ke tukde ke liye vaah apna roti tak chod kar use khilati hai pilati hai vaah chahti hai ki mera umar bhi mere putra ko lag jaaye aur maa ke liye main kya kahun main toh ek aise devta hai jise pakar poore duniya ke sabhi khushiya khatam ho jata hai maa ke aanchal mein vaah chhaya hai jise hum kabhi paa nahi sakte hum kahin aur

पुत्र के लिए उसकी मां क्या करती है मित्र के लिए उसकी मां पूरी दुनिया से लड़ जाती है अपनों

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  221
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पुत्र के लिए उसकी मां क्या करती है एक पुत्र के लिए उसकी मां उसकी खुशी के लिए दुनिया की हर चीज है वह करना चाहती है भले ही वह सब काम ना कर सकती हो एक पुत्र के लिए उसकी मां क्या नहीं कर सकती है वह हर काम कर सकती है जैसे उसका पुत्र खुश रहें सुरक्षित रहें जीवन में यश कुमार नाम कमाए बात यह है कि अब उसकी मां कहां तक कौन कार्य अपने अदरक के लिए कर सकती है चाहती तो वह अपने पुत्र के लिए चांद तारे भी तोड़ ले इसी प्रकार एक पुत्र के लिए उसकी मां यथासंभव हर प्रयास करती है कि मेरा पुत्र खुश रहें सुखी रहें संतुष्ट रहें और जीवन में जहां भी रहे एक नाम कमाए धन्यवाद

putra ke liye uski maa kya karti hai ek putra ke liye uski maa uski khushi ke liye duniya ki har cheez hai vaah karna chahti hai bhale hi vaah sab kaam na kar sakti ho ek putra ke liye uski maa kya nahi kar sakti hai vaah har kaam kar sakti hai jaise uska putra khush rahein surakshit rahein jeevan mein yash kumar naam kamaye baat yah hai ki ab uski maa kahaan tak kaun karya apne adrak ke liye kar sakti hai chahti toh vaah apne putra ke liye chand taare bhi tod le isi prakar ek putra ke liye uski maa yathasambhav har prayas karti hai ki mera putra khush rahein sukhi rahein santusht rahein aur jeevan mein jaha bhi rahe ek naam kamaye dhanyavad

पुत्र के लिए उसकी मां क्या करती है एक पुत्र के लिए उसकी मां उसकी खुशी के लिए दुनिया की हर

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  149
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!