क्या आपकी इंटीरियर डिजाइनिंग को करियर के रूप में चुनने के पीछे कोई खास प्रेरणा थी?...


user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा कि आपकी इंटीरियर डिजाइनिंग को कैरियर के रूप में चुनने के लिए कुछ खास मिलना चाहिए हमने तो इंटीरियर डिजाइनिंग अपने कैरियर के रूप में नहीं चुना लेकिन हमारे विधायक जी ने इंटीरियर डिजाइनिंग के लिए को अपना कैरियर बनाया और व्हाट्सएप पर मिला और वह हमारे एक नहीं दो विद्यार्थी जिन्होंने इसके माध्यम से एक इंटीरियर डिजाइनिंग दूसरा फैशन डिजाइनिंग अपने क्षेत्र में उन्होंने अच्छा नाम कमाया और एक रोजगार का उनका वह चार्जिंग टूटू कि वह पढ़ते-पढ़ते चित्र बनाते थे डायग्राम बनाकर थे पोशाकों की डिजाइन रूम की डिजाइन सेटिंग इस तरह वह अपनी खाली वक्त में कुछ ना कुछ बनाते थे तो उनका यह बनाने की जो प्रक्रिया थी इतना आकर्षित करती थी कि ऐसा लगता था मानो प्रश्न में प्रिंट होकर आया तो ऐसी स्थिति में उन को बढ़ावा दिया गया कि आप इस क्षेत्र को आगे बढ़ाओ जिससे कि आप इसमें कुशल कुशल प्रशासक के रूप में एक कुशल मिट जाती ग्रुप में इंटेलिजेंट स्टूडेंट के रूप में आप सफल हो सके और आखिरकार उस में सफल हुए और हमारे विद्यार्थी विनोद कुमार शर्मा इंटीरियर डिजाइनिंग में और विनय ठाकुर यह फैशन डिजाइनिंग अच्छे महालक्ष्मी उन्होंने हासिल किया और अच्छे रोजगार के रूप में यह व्यस्त हैं

aapne kaha ki aapki interior designing ko carrier ke roop mein chunane ke liye kuch khas milna chahiye humne toh interior designing apne carrier ke roop mein nahi chuna lekin hamare vidhayak ji ne interior designing ke liye ko apna carrier banaya aur whatsapp par mila aur vaah hamare ek nahi do vidyarthi jinhone iske madhyam se ek interior designing doosra fashion designing apne kshetra mein unhone accha naam kamaya aur ek rojgar ka unka vaah charging tutu ki vaah padhte padhte chitra banate the diagram banakar the poshakon ki design room ki design setting is tarah vaah apni khaali waqt mein kuch na kuch banate the toh unka yah banane ki jo prakriya thi itna aakarshit karti thi ki aisa lagta tha maano prashna mein print hokar aaya toh aisi sthiti mein un ko badhawa diya gaya ki aap is kshetra ko aage badhao jisse ki aap isme kushal kushal prashasak ke roop mein ek kushal mit jaati group mein Intelligent student ke roop mein aap safal ho sake aur aakhirkaar us mein safal hue aur hamare vidyarthi vinod kumar sharma interior designing mein aur vinay thakur yah fashion designing acche mahalakshmi unhone hasil kiya aur acche rojgar ke roop mein yah vyast hain

आपने कहा कि आपकी इंटीरियर डिजाइनिंग को कैरियर के रूप में चुनने के लिए कुछ खास मिलना चाहिए

Romanized Version
Likes  346  Dislikes    views  4712
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!