क्या आपकी इंटीरियर डिजाइनिंग को करियर के रूप में चुनने के पीछे कोई खास प्रेरणा थी?...


user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा कि आपकी इंटीरियर डिजाइनिंग को कैरियर के रूप में चुनने के लिए कुछ खास मिलना चाहिए हमने तो इंटीरियर डिजाइनिंग अपने कैरियर के रूप में नहीं चुना लेकिन हमारे विधायक जी ने इंटीरियर डिजाइनिंग के लिए को अपना कैरियर बनाया और व्हाट्सएप पर मिला और वह हमारे एक नहीं दो विद्यार्थी जिन्होंने इसके माध्यम से एक इंटीरियर डिजाइनिंग दूसरा फैशन डिजाइनिंग अपने क्षेत्र में उन्होंने अच्छा नाम कमाया और एक रोजगार का उनका वह चार्जिंग टूटू कि वह पढ़ते-पढ़ते चित्र बनाते थे डायग्राम बनाकर थे पोशाकों की डिजाइन रूम की डिजाइन सेटिंग इस तरह वह अपनी खाली वक्त में कुछ ना कुछ बनाते थे तो उनका यह बनाने की जो प्रक्रिया थी इतना आकर्षित करती थी कि ऐसा लगता था मानो प्रश्न में प्रिंट होकर आया तो ऐसी स्थिति में उन को बढ़ावा दिया गया कि आप इस क्षेत्र को आगे बढ़ाओ जिससे कि आप इसमें कुशल कुशल प्रशासक के रूप में एक कुशल मिट जाती ग्रुप में इंटेलिजेंट स्टूडेंट के रूप में आप सफल हो सके और आखिरकार उस में सफल हुए और हमारे विद्यार्थी विनोद कुमार शर्मा इंटीरियर डिजाइनिंग में और विनय ठाकुर यह फैशन डिजाइनिंग अच्छे महालक्ष्मी उन्होंने हासिल किया और अच्छे रोजगार के रूप में यह व्यस्त हैं

aapne kaha ki aapki interior designing ko carrier ke roop mein chunane ke liye kuch khas milna chahiye humne toh interior designing apne carrier ke roop mein nahi chuna lekin hamare vidhayak ji ne interior designing ke liye ko apna carrier banaya aur whatsapp par mila aur vaah hamare ek nahi do vidyarthi jinhone iske madhyam se ek interior designing doosra fashion designing apne kshetra mein unhone accha naam kamaya aur ek rojgar ka unka vaah charging tutu ki vaah padhte padhte chitra banate the diagram banakar the poshakon ki design room ki design setting is tarah vaah apni khaali waqt mein kuch na kuch banate the toh unka yah banane ki jo prakriya thi itna aakarshit karti thi ki aisa lagta tha maano prashna mein print hokar aaya toh aisi sthiti mein un ko badhawa diya gaya ki aap is kshetra ko aage badhao jisse ki aap isme kushal kushal prashasak ke roop mein ek kushal mit jaati group mein Intelligent student ke roop mein aap safal ho sake aur aakhirkaar us mein safal hue aur hamare vidyarthi vinod kumar sharma interior designing mein aur vinay thakur yah fashion designing acche mahalakshmi unhone hasil kiya aur acche rojgar ke roop mein yah vyast hain

आपने कहा कि आपकी इंटीरियर डिजाइनिंग को कैरियर के रूप में चुनने के लिए कुछ खास मिलना चाहिए

Romanized Version
Likes  346  Dislikes    views  4711
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sujata Mukherjee

Award-winning Interior Designer

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जरूर मोटिवेशन तो बहुत जरुरी होता है जिंदगी में एंड देयर मेरा मोटिवेशन यह था कि मुझे जब मैं बहुत छोटी थी मुझे हर वक्त बहुत कोई भी चीज में परफेक्शन बहुत इंपॉर्टेंट लगता था कि कोई भी चीज चीज हो स्पेशली घर का जो सजावट हो या फिर कुछ भी प्रेजेंटेशन हो वह परफेक्ट होना चाहिए यह शायद यही जाकर आफ्टरवार्ड्स मुझे वह इन फायर किया कि ऐसा कुछ होश में मैं जाऊं या फिर ऐसा कुछ होश में मैं अपने इनबॉक्स में मैं अपना प्रोफेशन दिखा सकूं इंटीरियर ऐसा कौन था और मेरा क्रिएटिविटी भी बहुत हाइलाइटेड हुआ विकेट आए थे टीम इंसान हूं तो कुछ ऐसा कर सकूं और सबके लिए या खुद के लिए मैं तो यह बोलूंगी कि खुद के लिए जिसमें अपना जो ऑप्शन है अपना जो खेत में की है वह भी हाइलाइटेड हो और जो परफेक्शन का मैच खोज है वह भी कहीं जाकर फुलफिल्ड हो तो यह दोनों मिलाकर मुझे कब लगा था कि इंटीरियर डिजाइनिंग ही शायद मेरा वह जगह है जो मैं अपना जो जो भी इच्छा है वह मैं पूरी कर सकूं तो इसी से मेरा उस जगह का और मुझे यह बहुत लगता था कि महीना के हिसाब से भी मुझे इंडिपेंडेंटली काम करना है ऐसा नहीं है कि ऐसा कोई भी सीट नहीं है जहां महिला लोग काम नहीं कर सकती है इंटीरियर डिजाइनिंग एक ऐसा जगह है जहां मुझे लगा था कि महिला के हिसाब से मुंह मेरा एक जगह में बना सकती हूं

haan zaroor motivation toh bahut zaroori hota hai zindagi mein and there mera motivation yah tha ki mujhe jab main bahut choti thi mujhe har waqt bahut koi bhi cheez mein parafekshan bahut important lagta tha ki koi bhi cheez cheez ho speshli ghar ka jo sajawat ho ya phir kuch bhi presentation ho vaah perfect hona chahiye yah shayad yahi jaakar aftaravards mujhe vaah in fire kiya ki aisa kuch hosh mein main jaaun ya phir aisa kuch hosh mein main apne inbox mein main apna profession dikha sakun interior aisa kaun tha aur mera creativity bhi bahut highlighted hua wicket aaye the team insaan hoon toh kuch aisa kar sakun aur sabke liye ya khud ke liye main toh yah bolungi ki khud ke liye jisme apna jo option hai apna jo khet mein ki hai vaah bhi highlighted ho aur jo parafekshan ka match khoj hai vaah bhi kahin jaakar fulfild ho toh yah dono milakar mujhe kab laga tha ki interior designing hi shayad mera vaah jagah hai jo main apna jo jo bhi iccha hai vaah main puri kar sakun toh isi se mera us jagah ka aur mujhe yah bahut lagta tha ki mahina ke hisab se bhi mujhe independently kaam karna hai aisa nahi hai ki aisa koi bhi seat nahi hai jaha mahila log kaam nahi kar sakti hai interior designing ek aisa jagah hai jaha mujhe laga tha ki mahila ke hisab se mooh mera ek jagah mein bana sakti hoon

हां जरूर मोटिवेशन तो बहुत जरुरी होता है जिंदगी में एंड देयर मेरा मोटिवेशन यह था कि मुझे जब

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  376
WhatsApp_icon
user

mukesh kumar

selfemploye

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंटीरियर एरिया में डिजाइनिंग करने की मतलब यही था कि मैं एक नेटवर्क करूं और नेटवर्क करने के बाद में हम उन छोटी-छोटी चीजें को बहुत आसानी से पास हो और जो हमारा जो लेकिन लक्ष्य बड़ा होता है कि दोपहर पर बड़े-बड़े गाड़ी नेटवर्क मार्केटिंग अपने इंटीरियर एरिया में चुना धन्यवाद

interior area mein designing karne ki matlab yahi tha ki main ek network karu aur network karne ke baad mein hum un choti choti cheezen ko bahut aasani se paas ho aur jo hamara jo lekin lakshya bada hota hai ki dopahar par bade bade gaadi network marketing apne interior area mein chuna dhanyavad

इंटीरियर एरिया में डिजाइनिंग करने की मतलब यही था कि मैं एक नेटवर्क करूं और नेटवर्क करने के

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  61
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!