महिलाओं को पहले वोट देने का अधिकार क्यों नहीं था?...


user

Jyoti

Dance Teacher

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महिलाओं को वोट देने का अधिकार क्यों नहीं था क्योंकि क्योंकि महिलाएं पढ़ी-लिखी नहीं होती थी इसलिए उन्हें पता ही नहीं होता था कि उनके अधिकार क्या है इसलिए और पहले की महिलाएं इतना पढ़ती लिखती इतनी थी उन्हें घर गृहस्ती में ज्यादा सिखाया जाता था कि तुम परंपरा चली आ रही है कि तुम शादी करोगी मतलब फैमिली बनाओ सब कुछ करो मतलब सारे बर्डन उनके ऊपर उठाता और जिस जो पढ़ाई लिखाई नहीं है जिसको पता ही नहीं कि मेरा अधिकार क्या है कि पहले जमाने में ऐसा होता था कि जो महिलाएं होती थी वह घर से मार दी थी परिवार संभालती थी तो उन्हें बाहर से कोई मतलब नहीं होता था जो पुरुष होते थे वो पैसा कमा के लेकर आते थे परिवार चलाते थे हर एक चीज देखते थे पहले महिलाओं और पुरुषों में भेदभाव होता तो बहुत ज्यादा इंटरेस्ट हद से ज्यादा होता था इसीलिए महिला डिपेंड रहती थी अपने हस्बैंड पर फाइनेंस के लिए अपनी हर एक जरूरत के लिए लेकिन लेकिन कानून में अब महिलाओं को भी अधिकार मिल चुका है कि वो दे सकती है पहले उनके पास सामाजिक अधिकार नहीं था सरकार चुनने का अधिकार नहीं था इसलिए वह वोट भी नहीं दे सकती थी लेकिन अब बस यही रीजन है कि वोट नहीं दे सकती तुमसे पास जब अधिकारी नहीं होगा तो वह कहां से देंगे थैंक यू

mahilaon ko vote dene ka adhikaar kyon nahi tha kyonki kyonki mahilaye padhi likhi nahi hoti thi isliye unhe pata hi nahi hota tha ki unke adhikaar kya hai isliye aur pehle ki mahilaye itna padhati likhti itni thi unhe ghar grihasti me zyada sikhaya jata tha ki tum parampara chali aa rahi hai ki tum shaadi karogi matlab family banao sab kuch karo matlab saare burden unke upar uthaata aur jis jo padhai likhai nahi hai jisko pata hi nahi ki mera adhikaar kya hai ki pehle jamane me aisa hota tha ki jo mahilaye hoti thi vaah ghar se maar di thi parivar sambhaalati thi toh unhe bahar se koi matlab nahi hota tha jo purush hote the vo paisa kama ke lekar aate the parivar chalte the har ek cheez dekhte the pehle mahilaon aur purushon me bhedbhav hota toh bahut zyada interest had se zyada hota tha isliye mahila depend rehti thi apne husband par finance ke liye apni har ek zarurat ke liye lekin lekin kanoon me ab mahilaon ko bhi adhikaar mil chuka hai ki vo de sakti hai pehle unke paas samajik adhikaar nahi tha sarkar chunane ka adhikaar nahi tha isliye vaah vote bhi nahi de sakti thi lekin ab bus yahi reason hai ki vote nahi de sakti tumse paas jab adhikari nahi hoga toh vaah kaha se denge thank you

महिलाओं को वोट देने का अधिकार क्यों नहीं था क्योंकि क्योंकि महिलाएं पढ़ी-लिखी नहीं होती थी

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  88
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!