मोहब्बत की शुरुआत कैसे होती है?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तू खाएगा ऐसा परदेसी एम आई एन जी और मैं आपको बताऊंगा कि मोहब्बत की शुरुआत कैसे होती है तो 1 गाय सनी बढ़िया एंड की शुरुआत एंड शो थे कि फिल्मों की जैसी नहीं होती है क्या आप समझ सके जब मोहब्बत सामने आती हवा चलती है नो नो नो नो एंट्री सीरियल मोहब्बतें कैसी होती जैसे स्कूल टाइम मोहब्बत या कुछ भी सही ऐसे आप अपनी फैमिली मेंबर से मोहब्बत नहीं करते क्या प्यार करते हैं तो दूध की मोहब्बत की शुरुआत कैसे होती हम बताएंगे आपको मैं हूं कैसे जाऊं अगर आपको अच्छा लगे तो आप इसे लाइक कीजिए अपना टिफिन में बताइए क्या आपको क्या इस साल में अच्छा लगा प्लेस्टेशन चलते हैं आपको एक नए मोर्चे के मोहब्बत कैसे शुरुआत होती है कि एंड्राइड आप जब किसी से बात करते हैं एंड जैसे अपनी फ्रेंड कोई सी भी फ्रेंड हो आप उसे बताना चाहती हूं कि कोई आप कोई बात अब उसे छुपाते नहीं है या उसे देखे बिना आपका मन नहीं लग रहा है या आप उसे एक बार देखा तो उसे बार-बार देखने का मन करे तो उसे मोहब्बत की शुरुआत की थी मोहब्बत की शुरुआत यूं होते हैं जैसे आप कहीं फंक्शन में गए आपने उसे पहली नजर देखा मोहब्बत हो जाती है उसे मोहब्बत की शुरुआत करते हैं यह दूसरे टॉपिक ले ले अगर आप की फ्रेंड आप से सारी बातें शेयर करते हैं या आप उसे सारी बातें शेयर करते हैं तो उससे भी मोहब्बत कितने जुगाड़ अगर आपको यह सवाल अच्छा लगे तो प्लीज कमेंट कीजिए और लाइक कीजिए मुझे फोन लगाना मत भूलना

tu khaega aisa pardesi M I N ji aur main aapko bataunga ki mohabbat ki shuruat kaise hoti hai toh 1 gaay sunny badhiya and ki shuruat and show the ki filmo ki jaisi nahi hoti hai kya aap samajh sake jab mohabbat saamne aati hawa chalti hai no no no no entry serial mohabbatein kaisi hoti jaise school time mohabbat ya kuch bhi sahi aise aap apni family member se mohabbat nahi karte kya pyar karte hain toh doodh ki mohabbat ki shuruat kaise hoti hum batayenge aapko main hoon kaise jaaun agar aapko accha lage toh aap ise like kijiye apna tiffin me bataiye kya aapko kya is saal me accha laga playstation chalte hain aapko ek naye morche ke mohabbat kaise shuruat hoti hai ki android aap jab kisi se baat karte hain and jaise apni friend koi si bhi friend ho aap use batana chahti hoon ki koi aap koi baat ab use chhupaate nahi hai ya use dekhe bina aapka man nahi lag raha hai ya aap use ek baar dekha toh use baar baar dekhne ka man kare toh use mohabbat ki shuruat ki thi mohabbat ki shuruat yun hote hain jaise aap kahin function me gaye aapne use pehli nazar dekha mohabbat ho jaati hai use mohabbat ki shuruat karte hain yah dusre topic le le agar aap ki friend aap se saari batein share karte hain ya aap use saari batein share karte hain toh usse bhi mohabbat kitne jugaad agar aapko yah sawaal accha lage toh please comment kijiye aur like kijiye mujhe phone lagana mat bhoolna

तू खाएगा ऐसा परदेसी एम आई एन जी और मैं आपको बताऊंगा कि मोहब्बत की शुरुआत कैसे होती है तो 1

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  98
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोहब्बत या प्रेम संबंधों की शुरुआत अक्सर बातचीत से शुरू होती है और बहुत सारे उसकी शुरुआती कारण होता है लेकिन सर्वप्रथम कहानी बातचीत होती है वैसे तो लोग देखकर भी एक दूसरे के ऊपर अपना इंप्रेशन जमाने की कोशिश करते हैं लेकिन जब तक बातचीत की शुरुआत नहीं होता तब तक प्रेम संबंध की शुरुआत हम नहीं मान सकते न्यू आपका दिन शुभ हो

mohabbat ya prem sambandhon ki shuruat aksar batchit se shuru hoti hai aur bahut saare uski shuruati karan hota hai lekin sarvapratham kahani batchit hoti hai waise toh log dekhkar bhi ek dusre ke upar apna impression jamane ki koshish karte hain lekin jab tak batchit ki shuruat nahi hota tab tak prem sambandh ki shuruat hum nahi maan sakte new aapka din shubha ho

मोहब्बत या प्रेम संबंधों की शुरुआत अक्सर बातचीत से शुरू होती है और बहुत सारे उसकी शुरुआती

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  156
WhatsApp_icon
play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोहब्बत की शुरुआत तब होती है जब हम किसी व्यक्ति वस्तु अथवा स्थान किसी भी चीज को देखते हैं इसके बाद वो हमको प्रिय लगती है बस वहीं से उस वस्तु व्यक्ति स्थान से हमारे दिल के अंदर से मोहब्बत जो है बंद हो जाती है

mohabbat ki shuruat tab hoti hai jab hum kisi vyakti vastu athva sthan kisi bhi cheez ko dekhte hai iske baad vo hamko priya lagti hai bus wahi se us vastu vyakti sthan se hamare dil ke andar se mohabbat jo hai band ho jaati hai

मोहब्बत की शुरुआत तब होती है जब हम किसी व्यक्ति वस्तु अथवा स्थान किसी भी चीज को देखते हैं

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!