ईरान का कौन-कौन से देश सहयोग करेंगे?...


play
user

Ranjeet Singh Uppal

Retired GM ONGC

1:29

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ईरान के परमाणु कार्यक्रम की वजह से अमेरिका ने उसके ऊपर आर्थिक प्रतिबंध लगाए हुए हैं इस वजह से चीन और भारत देश के सबसे बड़े ग्राहक के कच्चे तेल के दोनों ईरान से कच्चा तेल नहीं खरीद पा रहे हैं और ईरान की अर्थव्यवस्था काफी टाइट होती जा रही है लेकिन अगर युद्ध की स्थिति आती है जैसा यह कासिम सुलेमानी को अमेरिका ने मार दिया था जो ईरान का जनरल था तो काफी संघर्ष की स्थिति उत्पन्न हो गई थी परंतु कोई भी देश नहीं चाहता है कि अमेरिका और ईरान में युद्ध चीन चाहता है मैं भारत नारू क्योंकि अगर युद्ध होगा तो सबके आर्थिक हित बुरे तरीके से प्रभावित होंगे तो सभी देश कोशिश करते रहेंगे अंतिम क्षण तक के युद्ध की स्थिति को टाला जा सके परंतु अंत में कभी अगर ऐसी स्थिति बनती है तो उस स्थिति में चीन रूस लगना नियमन इराक और सीरिया ईरान के साथ सहयोग कर सकते हैं पर भारत उसी स्थिति में भी तटस्थ रहेगा और कोशिश करेगा अमेरिका और ईरान के बीच में मध्यस्थ का काम कर शांति स्थापना की कोशिश करें धन्यवाद

iran ke parmanu karyakram ki wajah se america ne uske upar aarthik pratibandh lagaye hue hain is wajah se china aur bharat desh ke sabse bade grahak ke kacche tel ke dono iran se kaccha tel nahi kharid paa rahe hain aur iran ki arthavyavastha kaafi tight hoti ja rahi hai lekin agar yudh ki sthiti aati hai jaisa yah kashim sulemani ko america ne maar diya tha jo iran ka general tha toh kaafi sangharsh ki sthiti utpann ho gayi thi parantu koi bhi desh nahi chahta hai ki america aur iran me yudh china chahta hai main bharat naru kyonki agar yudh hoga toh sabke aarthik hit bure tarike se prabhavit honge toh sabhi desh koshish karte rahenge antim kshan tak ke yudh ki sthiti ko talla ja sake parantu ant me kabhi agar aisi sthiti banti hai toh us sthiti me china rus lagna niyaman iraq aur syria iran ke saath sahyog kar sakte hain par bharat usi sthiti me bhi tatasth rahega aur koshish karega america aur iran ke beech me madhyasth ka kaam kar shanti sthapna ki koshish kare dhanyavad

ईरान के परमाणु कार्यक्रम की वजह से अमेरिका ने उसके ऊपर आर्थिक प्रतिबंध लगाए हुए हैं इस वज

Romanized Version
Likes  117  Dislikes    views  1527
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!