भगवान शिव का जन्म कैसे हुआ?...


user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान शिव का जन्म कैसे हुआ इसकी तो जानकारी पूर्ण रूप से नहीं है लेकिन भगवान शिव को हम आज भी भेजते हैं और स्मरण करते हैं क्योंकि शिव भगवान है वह बहुत भोले हैं और प्राकृतिक रूप से उन्होंने इस संसार में जन्म लिया इतने भोले हैं कि जो मांगो वह वरदान दे देते हैं इसलिए नहीं कि भगवान भोलेनाथ नशे में डूबे रहते डूबे रहते और बहुत ज्यादा चिंतन करते हुए हिमालय की पर्वत पर स्वर्ग में विचरण करते हैं और सदैव अपने भक्तों की प्रति चिंतित रहते हैं जिस तरह से लक्ष्मी जी विष्णु जी के साथ एक चित्र मां पार्वती भगवान भोले के साथ अपने भक्तों का पूरा ख्याल रखती हो हां यह मैंने जरूर जाना है कि भोलेनाथ फ्रेम कई बार अपने ही भक्तों के के मुसीबत में फंस चुके और अपने आप को बचाने के लिए उन्हें भगवान विष्णु का सहारा लेना पड़ा क्योंकि का भोलापन उनके लिए मुसीबत का कारण बना और क्योंकि इसमें कोई दो राय नहीं कि अगर संपूर्ण ज्ञान नहीं है तो मैं गलत अवधारणा उत्पन्न करूं बैटरी है स्पष्ट करो कि मुझे इसकी आज पूरी जानकारी नहीं है और यह प्रश्न जानकर निश्चित रूप से मैं इसके विषय में जानकारी शास्त्रों से जुट आऊंगा और 64 कोशिश करूंगा कि संपूर्ण ज्ञान खुद भी अंकित करूं अर्जित करो उसके बाद में उस ज्ञान को श्मशान में वितरण करो

bhagwan shiv ka janam kaise hua iski toh jaankari purn roop se nahi hai lekin bhagwan shiv ko hum aaj bhi bhejate hain aur smaran karte hain kyonki shiv bhagwan hai vaah bahut bhole hain aur prakirtik roop se unhone is sansar mein janam liya itne bhole hain ki jo mango vaah vardaan de dete hain isliye nahi ki bhagwan bholenaath nashe mein doobe rehte doobe rehte aur bahut zyada chintan karte hue himalaya ki parvat par swarg mein vichran karte hain aur sadaiv apne bhakton ki prati chintit rehte hain jis tarah se laxmi ji vishnu ji ke saath ek chitra maa parvati bhagwan bhole ke saath apne bhakton ka pura khayal rakhti ho haan yah maine zaroor jana hai ki bholenaath frame kai baar apne hi bhakton ke ke musibat mein fans chuke aur apne aap ko bachane ke liye unhe bhagwan vishnu ka sahara lena pada kyonki ka bholapan unke liye musibat ka karan bana aur kyonki isme koi do rai nahi ki agar sampurna gyaan nahi hai toh main galat avdharna utpann karu battery hai spasht karo ki mujhe iski aaj puri jaankari nahi hai aur yah prashna jaankar nishchit roop se main iske vishay mein jaankari shastron se jut aaunga aur 64 koshish karunga ki sampurna gyaan khud bhi ankit karu arjit karo uske baad mein us gyaan ko shmashan mein vitaran karo

भगवान शिव का जन्म कैसे हुआ इसकी तो जानकारी पूर्ण रूप से नहीं है लेकिन भगवान शिव को हम आज भ

Romanized Version
Likes  89  Dislikes    views  1819
KooApp_icon
WhatsApp_icon
10 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
भगवान शिव का जन्म ; शिवजी का जन्म कब हुआ ; shiv ka janam ; shiv ka janam kaise hua ; भगवान शिव का जन्म कब हुआ ; भोलेनाथ का जन्म कैसे हुआ ; शिव का जन्म कहां हुआ ; shankar bhagwan ka janm kab hua tha ; भगवान शिव का जन्म कब हुआ था ; भगवान शिव का जन्म कैसे हुआ ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!