क्या कभी ऐसा कुछ हुआ जब आपको बिहार में रहने से शर्मिंदगी महसूस हुई? बिहारी भाषा से बहुत लोगों को दिक्कत होती हैं, उनसे आप क्या कहेंगे?...


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों जब आपके सवाल किया है तो मैं आपको बता दूं कि यह सवाल मुझसे पूछा गया था 2009 में जब मैं यूपीएससी का इंटरव्यू देने गया यूपीएससी के इंटरव्यू में बोर्ड ने मुझसे पूछा था कि आपको बिहारी होने पर शर्मिंदगी महसूस होती है फर्स्ट उसके बाद उन्होंने काउंटर क्वेश्चन पूछा था कि क्या आप सक्सेज हो जाएंगे आपके पास पैसा हो जाएगा तो क्या आप औरों के भारतीय बिहार छोड़ देंगे या नहीं उनका कहना था कि जो लोग सक्सेज हो जाते हैं तो बिहार से निकलकर दिल्ली लखनऊ और कहीं कहीं अलग जाकर बस जाते हैं तो इसका क्या कारण है उस टाइम मुझे बिहार के बारे में बिहार से ज्यादा बाहर के बारे में जानकारी ही नहीं थी तो मैं इस क्वेश्चन का सही से जवाब नहीं दे पाया अब फिर जब आप इसको पूछ रहे हो थोड़ा कोशिश करता हूं प्रकाश डालने का दोस्त मैं 4 साल से दिल्ली में रह रहा हूं और दिल्ली और बिहार की तुलना कर रहे हैं यदि किया जाए तो कहीं भी नहीं टिकता है यह मैं बिहारी हूं और यह बड़ा ही शर्म की बात है कि मतलब मुझे कहना पड़ रहा है कि बिहार मतलब कि कहीं भी इसकी तुलना ही नहीं है एक तो जो हमारे लोग हैं उनकी थिंकिंग जो सिर्फ ओरिएंटेड है वह बहुत ज्यादा है मतलब यदि आप इसको ऐसे समझो कि यदि एक ठेले पर फल रखा गया है और बोला जाए कि आप लोगों के लिए है आप लोग ले लीजिए तो एक ही आदमी जाकर 200 उठा लेगा यह नहीं सोचेगा कि चोरों 56 लोग हैं तो थोड़ा शेयरिंग कर ले थोड़ा केयरिंग कर ले यह वाली फीलिंग हमारे यहां कम है तो एक तो है जो हमारा मानव जो है हम लोग थोड़ा सा चीजों के प्रति ज्यादा ही आकर्षित है फॉरेन ट्रेड ज्यादा है उसका कारण भी है क्योंकि हमारे पास एस वर्सेस कब है तो लोग पहले पड़ेगी ऐसे तो इसलिए ऐसा सोचते हम लोग कि हमारे पास स्टोर हो जाए दूसरा जॉब रचनात्मक जो संरचनात्मक चीजें हैं ऐसे हॉस्पिटल है रोड है उसका स्कूलिंग है बड़ा ही कमी है भाई बहुत कमी है बिहारी बिहार में ना तो आपका जो बच्चे हैं उनको आप रोमिंग नहीं कर पाओगे बच्चों को पढ़ा नहीं पाओगे आपको यदि माता-पिता को कुछ होता है थोड़ा सा प्रॉब्लम तो आप कहां जाओगे मैं तो यूपी और बिहार के बॉर्डर पर हूं तो बनारस लखनऊ तक जो हम लोग तब भी जाते थे तो इसकी एक कमी हमेशा महसूस करता हूं कि श्राची जाओ एडमिनिस्ट्रेशन में इतना अब मैं क्या बोलूं आप पुलिसिंग मेक ए फायर करने जाओ तो ₹4000 फिक्स है आपको प्रधानमंत्री बना रहे थे टॉयलेट वाला जो था स्वच्छ भारत अभियान के तहत उसमें आपको ₹4000 नहीं दोगे तो सेकंड किस्त आपका आएगा नहीं जैसा कि मैंने सुना मेरा यह व्यक्तिगत अनुभव नहीं है जो मैं सुना हूं वह बता रहा हूं बाकी आप लोग बिहार में रह रहे हो तो आप लोग ज्यादा अच्छे से जानते होगे समझते होगे मैं तो पिछले 5 सालों से दिल्ली में ही रह रहा हूं इस तरह का माहौल है और आपकी जो भी देता है उसकी कदर नहीं है लोग अजीब टाइप की बातें करेंगे तो थोड़ा सा लगता है शर्मिंदगी तो नहीं बोलेंगे लेकिन थोड़ा सा लगता है कि सुधार की जरूरत है तो दूसरा जो है बिहारी भाषा में बहुत लोगों को दिक्कत होती है तो भाषा में कोई दिक्कत नहीं है दोस्त भाषा तो चाहिए हम लोगों को अपना भाषा का उत्थान करें यदि हम मगही बोलते हैं या हमें हम भोजपुरी बोलते हैं तो जहां भी रहे तमिलनाडु में रहे केरला में रहे दिल्ली में रहे पंजाब में रहे हैं अपना भोजपुरी दवा से बोलो उसमें कोई दिक्कत नहीं है भाषा को तो उठान करो लेकिन जिंदगी की भी कोई बात नहीं है हमें कोशिश करना चाहिए कि इंप्रूव किया जाए हम अन्य राज्यों से कैसे करें अभी जो लोग गांव में चला हुआ है तो लोग डाउन में देखो दोस्त हमारे ही मजदूर ज्यादा है तो हमारी सरकार क्या कर रही है अभी तो चलो नीति शायद उस 15 साल से कुछ सीख हुआ है नहीं तो 15 साल पहले तो बिहारी होना एक प्रकार से गाली का पर्याय हो गया कई फिल्मों में बिहारी बोला जाता था जो बिहार के लोग सुधार हो रहा है उम्मीद है कि अच्छा हो जाएगा शर्मिंदगी महसूस करने वाली कोई बात नहीं है लेकिन दोस्त सुधार की तो जरूरत है लंबा लेक्चर हो जाएगा तो इसलिए इसको यहीं खत्म करते हैं धन्यवाद

doston jab aapke sawaal kiya hai toh main aapko bata doon ki yah sawaal mujhse poocha gaya tha 2009 me jab main upsc ka interview dene gaya upsc ke interview me board ne mujhse poocha tha ki aapko bihari hone par sharmindagi mehsus hoti hai first uske baad unhone counter question poocha tha ki kya aap succsej ho jaenge aapke paas paisa ho jaega toh kya aap auron ke bharatiya bihar chhod denge ya nahi unka kehna tha ki jo log succsej ho jaate hain toh bihar se nikalkar delhi lucknow aur kahin kahin alag jaakar bus jaate hain toh iska kya karan hai us time mujhe bihar ke bare me bihar se zyada bahar ke bare me jaankari hi nahi thi toh main is question ka sahi se jawab nahi de paya ab phir jab aap isko puch rahe ho thoda koshish karta hoon prakash dalne ka dost main 4 saal se delhi me reh raha hoon aur delhi aur bihar ki tulna kar rahe hain yadi kiya jaaye toh kahin bhi nahi tikta hai yah main bihari hoon aur yah bada hi sharm ki baat hai ki matlab mujhe kehna pad raha hai ki bihar matlab ki kahin bhi iski tulna hi nahi hai ek toh jo hamare log hain unki thinking jo sirf oriented hai vaah bahut zyada hai matlab yadi aap isko aise samjho ki yadi ek thele par fal rakha gaya hai aur bola jaaye ki aap logo ke liye hai aap log le lijiye toh ek hi aadmi jaakar 200 utha lega yah nahi sochega ki choron 56 log hain toh thoda sharing kar le thoda keyring kar le yah wali feeling hamare yahan kam hai toh ek toh hai jo hamara manav jo hai hum log thoda sa chijon ke prati zyada hi aakarshit hai foreign trade zyada hai uska karan bhi hai kyonki hamare paas S versus kab hai toh log pehle padegi aise toh isliye aisa sochte hum log ki hamare paas store ho jaaye doosra job rachnatmak jo sarrachanatamak cheezen hain aise hospital hai road hai uska schooling hai bada hi kami hai bhai bahut kami hai bihari bihar me na toh aapka jo bacche hain unko aap Roaming nahi kar paoge baccho ko padha nahi paoge aapko yadi mata pita ko kuch hota hai thoda sa problem toh aap kaha jaoge main toh up aur bihar ke border par hoon toh banaras lucknow tak jo hum log tab bhi jaate the toh iski ek kami hamesha mehsus karta hoon ki shrachi jao administration me itna ab main kya bolu aap pulisingh make a fire karne jao toh Rs fix hai aapko pradhanmantri bana rahe the toilet vala jo tha swachh bharat abhiyan ke tahat usme aapko Rs nahi doge toh second kist aapka aayega nahi jaisa ki maine suna mera yah vyaktigat anubhav nahi hai jo main suna hoon vaah bata raha hoon baki aap log bihar me reh rahe ho toh aap log zyada acche se jante hoge samajhte hoge main toh pichle 5 salon se delhi me hi reh raha hoon is tarah ka maahaul hai aur aapki jo bhi deta hai uski kadar nahi hai log ajib type ki batein karenge toh thoda sa lagta hai sharmindagi toh nahi bolenge lekin thoda sa lagta hai ki sudhaar ki zarurat hai toh doosra jo hai bihari bhasha me bahut logo ko dikkat hoti hai toh bhasha me koi dikkat nahi hai dost bhasha toh chahiye hum logo ko apna bhasha ka utthan kare yadi hum magahi bolte hain ya hamein hum bhojpuri bolte hain toh jaha bhi rahe tamil nadu me rahe kerala me rahe delhi me rahe punjab me rahe hain apna bhojpuri dawa se bolo usme koi dikkat nahi hai bhasha ko toh uthan karo lekin zindagi ki bhi koi baat nahi hai hamein koshish karna chahiye ki improve kiya jaaye hum anya rajyo se kaise kare abhi jo log gaon me chala hua hai toh log down me dekho dost hamare hi majdur zyada hai toh hamari sarkar kya kar rahi hai abhi toh chalo niti shayad us 15 saal se kuch seekh hua hai nahi toh 15 saal pehle toh bihari hona ek prakar se gaali ka paryay ho gaya kai filmo me bihari bola jata tha jo bihar ke log sudhaar ho raha hai ummid hai ki accha ho jaega sharmindagi mehsus karne wali koi baat nahi hai lekin dost sudhaar ki toh zarurat hai lamba lecture ho jaega toh isliye isko yahin khatam karte hain dhanyavad

दोस्तों जब आपके सवाल किया है तो मैं आपको बता दूं कि यह सवाल मुझसे पूछा गया था 2009 में जब

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  103
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Abhay Pratap

Advocate | Social Welfare Activist

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह गलत बात है बिहारी लोगों से शर्मिंदगी होना बिहारी लोग भी भारत के ही एक अंश है एक ह्रदय और रही बात भाषाओं की दिक्कत की तो आप या हम या कोई भी सभी भाषाएं नहीं जानते अतः दिक्कत तो भाषाओं से सबको होती है लेकिन इसमें बिहारी लोग को कर दो सोना यह गलत है और बिहार और बिहारी दोनों राष्ट्र की गरिमा है उनका उपयोग शोषण के लिए होगा सहयोग के लिए नहीं इसीलिए हम और आप ऐसे विचारधाराओं से समाज को अवगत कराते हैं तेरी पर मेरी जानकारी में बिहारी और बिहार के लोग महान और उच्च हैं और एक दिन उनकी गरिमा से सारा देश करवानी होगा

yah galat baat hai bihari logo se sharmindagi hona bihari log bhi bharat ke hi ek ansh hai ek hriday aur rahi baat bhashaon ki dikkat ki toh aap ya hum ya koi bhi sabhi bhashayen nahi jante atah dikkat toh bhashaon se sabko hoti hai lekin isme bihari log ko kar do sona yah galat hai aur bihar aur bihari dono rashtra ki garima hai unka upyog shoshan ke liye hoga sahyog ke liye nahi isliye hum aur aap aise vichardharaon se samaj ko avgat karate hain teri par meri jaankari mein bihari aur bihar ke log mahaan aur ucch hain aur ek din unki garima se saara desh karvani hoga

यह गलत बात है बिहारी लोगों से शर्मिंदगी होना बिहारी लोग भी भारत के ही एक अंश है एक ह्रदय

Romanized Version
Likes  116  Dislikes    views  1119
WhatsApp_icon
user

Harish Chand

Social Worker

1:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप बिहार के रहने वाले हो और आपको शर्मिंदगी लगती है तो मैं आपसे एक ही गुजारिश करूंगा कि आप बिहार का इतिहास उठा कर के पढ़ लीजिए आपके अंदर का जो डर है शर्मिंदगी है वह अपने आप निकल जाएगा बिहार आज से नहीं पुराने समय से ही बहुत बड़ी नगरी रही है और इसका डंका पूरे विश्व में बसता और आज बिहार के लोग मेहनत मजदूरी करके पूरे देश को सम्मानित करते हैं तो यह शर्मिंदगी आप बिल्कुल निकाल दीजिए और गर्व करें जहां नालंदा तक्षशिला जैसे विश्वविद्यालय रहे हो जो पूरे देश को खनिज देने में समर्थ हो आप ऐसे स्टेट में हो करके शर्मिंदगी महसूस करते हो यह गलत बात है आपको गर्व होना चाहिए कि बिहारी एक बिहारी सब पर भारी ठीक है ना बिहार के लोग सबसे ज्यादा देशभक्त रहे हैं सबसे ज्यादा आईपीएस आईएएस राजनीति हो या गवर्नमेंट जॉब चाहे कोई कंपटीशन हो बिहार के लोगों का डंका बजता रहा है आशा है आज के बाद आप भी शर्मिंदगी का बोला नहीं रोएंगे और गर्व से अपने आपको महसूस करेंगे जय हिंद जय भारत

agar aap bihar ke rehne waale ho aur aapko sharmindagi lagti hai toh main aapse ek hi gujarish karunga ki aap bihar ka itihas utha kar ke padh lijiye aapke andar ka jo dar hai sharmindagi hai vaah apne aap nikal jaega bihar aaj se nahi purane samay se hi bahut badi nagari rahi hai aur iska danka poore vishwa mein basta aur aaj bihar ke log mehnat mazdoori karke poore desh ko sammanit karte hain toh yah sharmindagi aap bilkul nikaal dijiye aur garv kare jaha nalanda takshashila jaise vishwavidyalaya rahe ho jo poore desh ko khanij dene mein samarth ho aap aise state mein ho karke sharmindagi mehsus karte ho yah galat baat hai aapko garv hona chahiye ki bihari ek bihari sab par bhari theek hai na bihar ke log sabse zyada deshbhakt rahe hain sabse zyada ips IAS raajneeti ho ya government chahen koi competition ho bihar ke logo ka danka bajta raha hai asha hai aaj ke baad aap bhi sharmindagi ka bola nahi roenge aur garv se apne aapko mehsus karenge jai hind jai bharat

अगर आप बिहार के रहने वाले हो और आपको शर्मिंदगी लगती है तो मैं आपसे एक ही गुजारिश करूंगा कि

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  294
WhatsApp_icon
play
user

Rj Shashi

Radio Jockey at Radio Mirchi since 2005

1:41

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने सिनकोना इतना ज्यादा उसको अपने ही लोगों के कुछ दुष्प्रभाव होते हैं उनको देखना है पंजाबी सूट मोतिहारी स्टेशन पर हमारे देश में कितनी भाषाओं के विविध कितने लोग जुड़े हुए हैं उनको उनको सिर्फ अपने आप को इंग्लिश नहीं आती इंग्लिश शॉर्ट इंग्लिश शॉर्ट तो हमारे सरपंच

apne Cinchona itna zyada usko apne hi logo ke kuch dushprabhav hote hain unko dekhna hai punjabi suit motihari station par hamare desh mein kitni bhashaon ke vividh kitne log jude hue hain unko unko sirf apne aap ko english nahi aati english short english short toh hamare sarpanch

अपने सिनकोना इतना ज्यादा उसको अपने ही लोगों के कुछ दुष्प्रभाव होते हैं उनको देखना है पंजाब

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  457
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma shasrti

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिहार भारत का एक ऐसा स्टेट है जहां का लोगों का रहन सहन को ज्यादा अच्छा नहीं क्योंकि शायद हो सकता है कि वह गरीबी ज्यादा हो लेकिन एक बात सत्य है जंगलराज बिहार के ही बारे में कहा जाता है जिसकी लाठी उसकी भैंस की कहावत भी बिहार में सार्थक होती है मैंने यह सुना है कि पटना में जब गया था तो लोग बता रहे थे कि यहां पर शाम को 4:00 बजे सैमसंग ई गेट बंद कर दिए जाते हैं क्योंकि हम लूटपाट किडनैपिंग मर्डर केस 21 बहुत होते हैं यह सिद्ध करता है कि वह जिसकी लाठी उसकी भैंस है बिहार में प्राकृतिक सौंदर्य अच्छा है नंबर 1 नंबर 2 बिहार की लैंग्वेज भी गुजरता पूर्ण है और नंबर 3 हमारी संस्कृत साहित्य के टीवी विद्वान हुए हैं व्याकरण आदि के साहित्य के उनमें से मोस्टली विद्वान बिहार के या मिथिला के आसपास के बिहारी लोग इंटेलिजेंस होते हैं इसमें कोई दो राय नहीं है चाय फ्रॉड का मैटर हो चाहिए कैसा भी मेट्रो लेकर उस मामले में बिहारियों का मस्तिष्क अच्छा काम करता है और इंटेलिजेंस होते हैं लेकिन दुर्भाग्य इस बात का है कि बिहार में क्राइम ज्यादा पनप रहा है यह दुर्भाग्य का विषय है कि बिहार के जो राजनीतिक गेहुआ अधिकतर भरो अभियान के समर्थक रहे हैं लोगों ने अब केवल अपने घर की गवरी बिहार की स्थिति पर ध्यान नहीं दिया है यह बड़े दुर्भाग्य का विषय है अन्यथा प्यार एक बहुत अच्छा स्टेट है प्रांतिक सुंदरी बहुत अच्छा है

bihar bharat ka ek aisa state hai jaha ka logo ka rahan sahan ko zyada accha nahi kyonki shayad ho sakta hai ki vaah garibi zyada ho lekin ek baat satya hai jangalraj bihar ke hi bare mein kaha jata hai jiski lathi uski bhains ki kahaavat bhi bihar mein sarthak hoti hai maine yah suna hai ki patna mein jab gaya tha toh log bata rahe the ki yahan par shaam ko 4 00 baje samsung ee gate band kar diye jaate hain kyonki hum lutpat kidnaiping murder case 21 bahut hote hain yah siddh karta hai ki vaah jiski lathi uski bhains hai bihar mein prakirtik saundarya accha hai number 1 number 2 bihar ki language bhi guzarta purn hai aur number 3 hamari sanskrit sahitya ke TV vidhwaan hue hain vyakaran aadi ke sahitya ke unmen se Mostly vidhwaan bihar ke ya mithila ke aaspass ke bihari log intelligence hote hain isme koi do rai nahi hai chai fraud ka matter ho chahiye kaisa bhi metro lekar us mamle mein bihariyon ka mastishk accha kaam karta hai aur intelligence hote hain lekin durbhagya is baat ka hai ki bihar mein crime zyada panap raha hai yah durbhagya ka vishay hai ki bihar ke jo raajnitik gehua adhiktar bharo abhiyan ke samarthak rahe hain logo ne ab keval apne ghar ki gavari bihar ki sthiti par dhyan nahi diya hai yah bade durbhagya ka vishay hai anyatha pyar ek bahut accha state hai prantik sundari bahut accha hai

बिहार भारत का एक ऐसा स्टेट है जहां का लोगों का रहन सहन को ज्यादा अच्छा नहीं क्योंकि शायद ह

Romanized Version
Likes  108  Dislikes    views  1706
WhatsApp_icon
user
1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे जिंदगी में कभी ऐसा कोई अवसर नहीं आया है जिसमें मुझे बिहारी होना गिरना का विषय बना हुआ भारत के गौरवशाली इतिहास में बिहार की भूमिका भी महत्वपूर्ण है गांधीजी का स्वतंत्रता आंदोलन में जो चंपारण आंदोलन शुरू हुआ था वह बिहार से हुआ था और बिहार एक ऐसा वर्ड है जिसमे सारा हिंदुस्तान बसता है vihar-1 बिहार होता है जहां विषय भारत ऐसे इंडिया एस्से हिंदुस्तान एसएआरआरसी रेवा खन यह बिहार जो है या भारत की आत्मा है इसलिए हमें बिहारी होने पर गर्व है बिहार की सभ्यता और संस्कृति पर हमें गौरव की अनुभूति होती है हम इसके हिस्सा है इस बात का मुझे गौरव होता मैं अपने आप को धन्य और गौरवान्वित महसूस करता हूं बिहारी का करके धन्यवाद

mere zindagi me kabhi aisa koi avsar nahi aaya hai jisme mujhe bihari hona girna ka vishay bana hua bharat ke gauravshali itihas me bihar ki bhumika bhi mahatvapurna hai gandhiji ka swatantrata andolan me jo champaran andolan shuru hua tha vaah bihar se hua tha aur bihar ek aisa word hai jisme saara Hindustan basta hai vihar 1 bihar hota hai jaha vishay bharat aise india essay Hindustan SARRC reva khan yah bihar jo hai ya bharat ki aatma hai isliye hamein bihari hone par garv hai bihar ki sabhyata aur sanskriti par hamein gaurav ki anubhuti hoti hai hum iske hissa hai is baat ka mujhe gaurav hota main apne aap ko dhanya aur gaurvanvit mehsus karta hoon bihari ka karke dhanyavad

मेरे जिंदगी में कभी ऐसा कोई अवसर नहीं आया है जिसमें मुझे बिहारी होना गिरना का विषय बना हुआ

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  131
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहली बात तो यह कि कभी किसी को अपने हिस्से नीता मत सोचो हमेशा यह सोचो कि मैं सबसे आगे हैं दूसरा सवाल मेरा कहने का मतलब यही है कि कभी अपनी भाषा या अपनी जगह से नफरत मत करो कि मैं अगर बिहार का हूं तो मुझे प्यार करेंगे या मैं प्यारी बहुत हो गई है जो लोगों की सोच होती है एनीथिंग मैं इस बारे में मेरी राय तो यही है कभी किसी को छोटा मत समझो और कभी किसी को अपनी से बड़ा मत समझो जहां तक मैंने कुछ सीखा है तो मैं यही सीखा है कि कभी लाइफ में भरना हो तो आपने इसे ऊपर वाले को देख कर आगे बढ़ो और अगर जीना है तो अपने से नीचे वाली को देख कीजिए और मैं कभी अपनी भाषा या अपने रहन-सहन से मैं कभी शर्मिंदा नहीं होता तो मैं लोगों को यह कहना चाहूंगा कि वह भी अभी अपने रहन-सहन गया अपनी बात से अपनी जगह से कभी शर्मिंदा न हों क्योंकि हम इंसान हैं इंसानियत की दोस्ती सब देखा जाए तो सब बराबर है मैं राजस्थान का हूं तो राजस्थानी हो गया अगर मेरे को कोई राजस्थानी बोलता है तो मैं तो नहीं देखता हूं ना मैं उससे कभी यह सोचता हूं कि मेरे को राजस्थान बोल दिया या मैं ऐसे बोल दिया ना मैं मेरी कास्ट देखता हूं कोई मेरे को बोल दे कि तू इस कास्ट है या सुबह से हम अपने कर्म से ऊपर होते हैं अपने कर्म अच्छा रखो तो हम भी अच्छे हैं ना हमें कोई तो हम क्योंकि मैंने देखा है आज के तौर पर जो नीचे कास्ट वाले लोग भी होती है वह ऊपर है तो सब उनको सलूक मारते हैं तुम उस लायक बनाओ ना ताकि लोग आपको भूल ही नहीं पाए अगर आप भी उन लोगों की बातों को माइंड ली लेंगे और अपने को उस से कमजोर समझोगे या उनके डाउन सोचोगे तो हम वो लोग तो हावी होंगे इसलिए मैं यह ना कहना यही है कि वह हमें उसको सब कुछ भूलकर सिर्फ आगे बढ़ना चाहिए फिर लोग भी आपकी तारीफ करेंगे लोग आपके आगे झुकेंगे भी आपका सम्मान भी करेंगे और सब कुछ होगा इसलिए कभी अपनी भाषा और अपनी जगह या अपनी जात या बात जो भी होता है उससे कभी शर्मिंदा ना बस आगे बढ़ो कर्म अच्छे करो अपना कुछ नाम बनाओ तो सब कुछ लोग भूल जाते हैं सब कुछ यह हो जाता है कि कोई कोई भी नहीं कहेगा प्यारी हुआ पीएसपी ना कोई आप पर हंसेगा आप नाश्ता नहीं हो या पंजाबी हो या वह कोई हंसेगा बस उस लायक बन जाओ कि लोग बोलने से 4 बस रूट मेरा कहना तो यही है

pehli baat toh yah ki kabhi kisi ko apne hisse neeta mat socho hamesha yah socho ki main sabse aage hain doosra sawaal mera kehne ka matlab yahi hai ki kabhi apni bhasha ya apni jagah se nafrat mat karo ki main agar bihar ka hoon toh mujhe pyar karenge ya main pyaari bahut ho gayi hai jo logo ki soch hoti hai anything main is bare me meri rai toh yahi hai kabhi kisi ko chota mat samjho aur kabhi kisi ko apni se bada mat samjho jaha tak maine kuch seekha hai toh main yahi seekha hai ki kabhi life me bharna ho toh aapne ise upar waale ko dekh kar aage badho aur agar jeena hai toh apne se niche wali ko dekh kijiye aur main kabhi apni bhasha ya apne rahan sahan se main kabhi sharminda nahi hota toh main logo ko yah kehna chahunga ki vaah bhi abhi apne rahan sahan gaya apni baat se apni jagah se kabhi sharminda na ho kyonki hum insaan hain insaniyat ki dosti sab dekha jaaye toh sab barabar hai main rajasthan ka hoon toh rajasthani ho gaya agar mere ko koi rajasthani bolta hai toh main toh nahi dekhta hoon na main usse kabhi yah sochta hoon ki mere ko rajasthan bol diya ya main aise bol diya na main meri caste dekhta hoon koi mere ko bol de ki tu is caste hai ya subah se hum apne karm se upar hote hain apne karm accha rakho toh hum bhi acche hain na hamein koi toh hum kyonki maine dekha hai aaj ke taur par jo niche caste waale log bhi hoti hai vaah upar hai toh sab unko saluk marte hain tum us layak banao na taki log aapko bhool hi nahi paye agar aap bhi un logo ki baaton ko mind li lenge aur apne ko us se kamjor samjhoge ya unke down sochoge toh hum vo log toh haavi honge isliye main yah na kehna yahi hai ki vaah hamein usko sab kuch bhulkar sirf aage badhana chahiye phir log bhi aapki tareef karenge log aapke aage jhukenge bhi aapka sammaan bhi karenge aur sab kuch hoga isliye kabhi apni bhasha aur apni jagah ya apni jaat ya baat jo bhi hota hai usse kabhi sharminda na bus aage badho karm acche karo apna kuch naam banao toh sab kuch log bhool jaate hain sab kuch yah ho jata hai ki koi koi bhi nahi kahega pyaari hua PSP na koi aap par hansega aap nashta nahi ho ya punjabi ho ya vaah koi hansega bus us layak ban jao ki log bolne se 4 bus root mera kehna toh yahi hai

पहली बात तो यह कि कभी किसी को अपने हिस्से नीता मत सोचो हमेशा यह सोचो कि मैं सबसे आगे हैं द

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  76
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे बिहार में रहने का सौभाग्य प्राप्त नहीं हुआ तो फिर कोई भी प्रदेश हो अपना प्रदेश है ना रहने से शर्मिंदगी क्यों महसूस होती हर इंसान की सोच अलग-अलग होती है बिहारी भाषा वहीं बिहार में रहने दो रहने वाले लोगों के लिए कठिन नहीं दूसरे प्रदेश वालों के लिए कठिन हो सकते हैं

mujhe bihar me rehne ka saubhagya prapt nahi hua toh phir koi bhi pradesh ho apna pradesh hai na rehne se sharmindagi kyon mehsus hoti har insaan ki soch alag alag hoti hai bihari bhasha wahi bihar me rehne do rehne waale logo ke liye kathin nahi dusre pradesh walon ke liye kathin ho sakte hain

मुझे बिहार में रहने का सौभाग्य प्राप्त नहीं हुआ तो फिर कोई भी प्रदेश हो अपना प्रदेश है ना

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  35
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!