क्या कभी ऐसा कुछ हुआ जब आपको बिहार में रहने से शर्मिंदगी महसूस हुई? बिहारी भाषा से बहुत लोगों को दिक्कत होती हैं, उनसे आप क्या कहेंगे?...


user

asish

Police Officer

4:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों जब आपके सवाल किया है तो मैं आपको बता दूं कि यह सवाल मुझसे पूछा गया था 2009 में जब मैं यूपीएससी का इंटरव्यू देने गया यूपीएससी के इंटरव्यू में बोर्ड ने मुझसे पूछा था कि आपको बिहारी होने पर शर्मिंदगी महसूस होती है फर्स्ट उसके बाद उन्होंने काउंटर क्वेश्चन पूछा था कि क्या आप सक्सेज हो जाएंगे आपके पास पैसा हो जाएगा तो क्या आप औरों के भारतीय बिहार छोड़ देंगे या नहीं उनका कहना था कि जो लोग सक्सेज हो जाते हैं तो बिहार से निकलकर दिल्ली लखनऊ और कहीं कहीं अलग जाकर बस जाते हैं तो इसका क्या कारण है उस टाइम मुझे बिहार के बारे में बिहार से ज्यादा बाहर के बारे में जानकारी ही नहीं थी तो मैं इस क्वेश्चन का सही से जवाब नहीं दे पाया अब फिर जब आप इसको पूछ रहे हो थोड़ा कोशिश करता हूं प्रकाश डालने का दोस्त मैं 4 साल से दिल्ली में रह रहा हूं और दिल्ली और बिहार की तुलना कर रहे हैं यदि किया जाए तो कहीं भी नहीं टिकता है यह मैं बिहारी हूं और यह बड़ा ही शर्म की बात है कि मतलब मुझे कहना पड़ रहा है कि बिहार मतलब कि कहीं भी इसकी तुलना ही नहीं है एक तो जो हमारे लोग हैं उनकी थिंकिंग जो सिर्फ ओरिएंटेड है वह बहुत ज्यादा है मतलब यदि आप इसको ऐसे समझो कि यदि एक ठेले पर फल रखा गया है और बोला जाए कि आप लोगों के लिए है आप लोग ले लीजिए तो एक ही आदमी जाकर 200 उठा लेगा यह नहीं सोचेगा कि चोरों 56 लोग हैं तो थोड़ा शेयरिंग कर ले थोड़ा केयरिंग कर ले यह वाली फीलिंग हमारे यहां कम है तो एक तो है जो हमारा मानव जो है हम लोग थोड़ा सा चीजों के प्रति ज्यादा ही आकर्षित है फॉरेन ट्रेड ज्यादा है उसका कारण भी है क्योंकि हमारे पास एस वर्सेस कब है तो लोग पहले पड़ेगी ऐसे तो इसलिए ऐसा सोचते हम लोग कि हमारे पास स्टोर हो जाए दूसरा जॉब रचनात्मक जो संरचनात्मक चीजें हैं ऐसे हॉस्पिटल है रोड है उसका स्कूलिंग है बड़ा ही कमी है भाई बहुत कमी है बिहारी बिहार में ना तो आपका जो बच्चे हैं उनको आप रोमिंग नहीं कर पाओगे बच्चों को पढ़ा नहीं पाओगे आपको यदि माता-पिता को कुछ होता है थोड़ा सा प्रॉब्लम तो आप कहां जाओगे मैं तो यूपी और बिहार के बॉर्डर पर हूं तो बनारस लखनऊ तक जो हम लोग तब भी जाते थे तो इसकी एक कमी हमेशा महसूस करता हूं कि श्राची जाओ एडमिनिस्ट्रेशन में इतना अब मैं क्या बोलूं आप पुलिसिंग मेक ए फायर करने जाओ तो ₹4000 फिक्स है आपको प्रधानमंत्री बना रहे थे टॉयलेट वाला जो था स्वच्छ भारत अभियान के तहत उसमें आपको ₹4000 नहीं दोगे तो सेकंड किस्त आपका आएगा नहीं जैसा कि मैंने सुना मेरा यह व्यक्तिगत अनुभव नहीं है जो मैं सुना हूं वह बता रहा हूं बाकी आप लोग बिहार में रह रहे हो तो आप लोग ज्यादा अच्छे से जानते होगे समझते होगे मैं तो पिछले 5 सालों से दिल्ली में ही रह रहा हूं इस तरह का माहौल है और आपकी जो भी देता है उसकी कदर नहीं है लोग अजीब टाइप की बातें करेंगे तो थोड़ा सा लगता है शर्मिंदगी तो नहीं बोलेंगे लेकिन थोड़ा सा लगता है कि सुधार की जरूरत है तो दूसरा जो है बिहारी भाषा में बहुत लोगों को दिक्कत होती है तो भाषा में कोई दिक्कत नहीं है दोस्त भाषा तो चाहिए हम लोगों को अपना भाषा का उत्थान करें यदि हम मगही बोलते हैं या हमें हम भोजपुरी बोलते हैं तो जहां भी रहे तमिलनाडु में रहे केरला में रहे दिल्ली में रहे पंजाब में रहे हैं अपना भोजपुरी दवा से बोलो उसमें कोई दिक्कत नहीं है भाषा को तो उठान करो लेकिन जिंदगी की भी कोई बात नहीं है हमें कोशिश करना चाहिए कि इंप्रूव किया जाए हम अन्य राज्यों से कैसे करें अभी जो लोग गांव में चला हुआ है तो लोग डाउन में देखो दोस्त हमारे ही मजदूर ज्यादा है तो हमारी सरकार क्या कर रही है अभी तो चलो नीति शायद उस 15 साल से कुछ सीख हुआ है नहीं तो 15 साल पहले तो बिहारी होना एक प्रकार से गाली का पर्याय हो गया कई फिल्मों में बिहारी बोला जाता था जो बिहार के लोग सुधार हो रहा है उम्मीद है कि अच्छा हो जाएगा शर्मिंदगी महसूस करने वाली कोई बात नहीं है लेकिन दोस्त सुधार की तो जरूरत है लंबा लेक्चर हो जाएगा तो इसलिए इसको यहीं खत्म करते हैं धन्यवाद

doston jab aapke sawaal kiya hai toh main aapko bata doon ki yah sawaal mujhse poocha gaya tha 2009 me jab main upsc ka interview dene gaya upsc ke interview me board ne mujhse poocha tha ki aapko bihari hone par sharmindagi mehsus hoti hai first uske baad unhone counter question poocha tha ki kya aap succsej ho jaenge aapke paas paisa ho jaega toh kya aap auron ke bharatiya bihar chhod denge ya nahi unka kehna tha ki jo log succsej ho jaate hain toh bihar se nikalkar delhi lucknow aur kahin kahin alag jaakar bus jaate hain toh iska kya karan hai us time mujhe bihar ke bare me bihar se zyada bahar ke bare me jaankari hi nahi thi toh main is question ka sahi se jawab nahi de paya ab phir jab aap isko puch rahe ho thoda koshish karta hoon prakash dalne ka dost main 4 saal se delhi me reh raha hoon aur delhi aur bihar ki tulna kar rahe hain yadi kiya jaaye toh kahin bhi nahi tikta hai yah main bihari hoon aur yah bada hi sharm ki baat hai ki matlab mujhe kehna pad raha hai ki bihar matlab ki kahin bhi iski tulna hi nahi hai ek toh jo hamare log hain unki thinking jo sirf oriented hai vaah bahut zyada hai matlab yadi aap isko aise samjho ki yadi ek thele par fal rakha gaya hai aur bola jaaye ki aap logo ke liye hai aap log le lijiye toh ek hi aadmi jaakar 200 utha lega yah nahi sochega ki choron 56 log hain toh thoda sharing kar le thoda keyring kar le yah wali feeling hamare yahan kam hai toh ek toh hai jo hamara manav jo hai hum log thoda sa chijon ke prati zyada hi aakarshit hai foreign trade zyada hai uska karan bhi hai kyonki hamare paas S versus kab hai toh log pehle padegi aise toh isliye aisa sochte hum log ki hamare paas store ho jaaye doosra job rachnatmak jo sarrachanatamak cheezen hain aise hospital hai road hai uska schooling hai bada hi kami hai bhai bahut kami hai bihari bihar me na toh aapka jo bacche hain unko aap Roaming nahi kar paoge baccho ko padha nahi paoge aapko yadi mata pita ko kuch hota hai thoda sa problem toh aap kaha jaoge main toh up aur bihar ke border par hoon toh banaras lucknow tak jo hum log tab bhi jaate the toh iski ek kami hamesha mehsus karta hoon ki shrachi jao administration me itna ab main kya bolu aap pulisingh make a fire karne jao toh Rs fix hai aapko pradhanmantri bana rahe the toilet vala jo tha swachh bharat abhiyan ke tahat usme aapko Rs nahi doge toh second kist aapka aayega nahi jaisa ki maine suna mera yah vyaktigat anubhav nahi hai jo main suna hoon vaah bata raha hoon baki aap log bihar me reh rahe ho toh aap log zyada acche se jante hoge samajhte hoge main toh pichle 5 salon se delhi me hi reh raha hoon is tarah ka maahaul hai aur aapki jo bhi deta hai uski kadar nahi hai log ajib type ki batein karenge toh thoda sa lagta hai sharmindagi toh nahi bolenge lekin thoda sa lagta hai ki sudhaar ki zarurat hai toh doosra jo hai bihari bhasha me bahut logo ko dikkat hoti hai toh bhasha me koi dikkat nahi hai dost bhasha toh chahiye hum logo ko apna bhasha ka utthan kare yadi hum magahi bolte hain ya hamein hum bhojpuri bolte hain toh jaha bhi rahe tamil nadu me rahe kerala me rahe delhi me rahe punjab me rahe hain apna bhojpuri dawa se bolo usme koi dikkat nahi hai bhasha ko toh uthan karo lekin zindagi ki bhi koi baat nahi hai hamein koshish karna chahiye ki improve kiya jaaye hum anya rajyo se kaise kare abhi jo log gaon me chala hua hai toh log down me dekho dost hamare hi majdur zyada hai toh hamari sarkar kya kar rahi hai abhi toh chalo niti shayad us 15 saal se kuch seekh hua hai nahi toh 15 saal pehle toh bihari hona ek prakar se gaali ka paryay ho gaya kai filmo me bihari bola jata tha jo bihar ke log sudhaar ho raha hai ummid hai ki accha ho jaega sharmindagi mehsus karne wali koi baat nahi hai lekin dost sudhaar ki toh zarurat hai lamba lecture ho jaega toh isliye isko yahin khatam karte hain dhanyavad

दोस्तों जब आपके सवाल किया है तो मैं आपको बता दूं कि यह सवाल मुझसे पूछा गया था 2009 में जब

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  107
KooApp_icon
WhatsApp_icon
8 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!