आपने हैदराबाद रेप केस के बारे में सुना, बिहार में ऐसे केसेज़ के बारे में आपके क्या विचार हैं?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय श्री राम यह जो प्रश्न आपने पूछा है कोशिश करते समझने की आखिर इंसान की मानसिक स्थिति क्या होती है जो रेप करता है समझने वाली बात नहीं किसने कर दिया क्यों किया अच्छा नहीं हुआ मार देना चाहिए यह कर देना चाहिए वह कर देना चाहिए हजारों बातें निकल कर आती है लेकिन किसी ने यह समझने की कोशिश की कि आखिर उस इंसान की मानसिक स्थिति क्या होती है जब वह बलात्कार करता है योग शिक्षक होने के नाते में सिर्फ एक बात आपसे कहना और पूछना चाहता हूं कहना मैं यह चाहता हूं आपको कि इंसान की इंद्रियां बहुत भटकती है इसमें कोई दो बातें नहीं कृष्ण ने अर्जुन को उपदेश दिया तब उन्होंने इस बारे में बात भी की हुई है कि आपकी इंद्रियां एक घोड़े के समय वह भांजे की दरगाह जहां गलती क्या है आप समझेगा थोड़ा से गहराई से समझने की कोशिश करते हैं उस इंसान ने ब्लू पिक्चर सेक्सी होगी क्योंकि जब उसने देखा ऐसी चीज है तो उसके दिमाग में ऐसे कृत्य करने के लिए जिज्ञासा हुई होगी अब इतना उस इंद्रियों के वशीभूत हो गया कि उसको यह भी समझ में नहीं आया कि वह क्या गलत कर रहा है क्या सही कर रहा है आज हमारे देश में 70% सही में काम करो एक ही पर्सेंट लोग पोर्नोग्राफी इंटरनेट पर अश्लीलता देखना पसंद करते हैं मैं सच कह रहा हूं सच बात बता रहा हूं थोड़ी सी कड़वी होगी लेकिन हर इंसान जानता है कि जब सेक्स हावी होता है इंसान के ऊपर तो वह सही गलत भूल जाता है अब यहां मानता है कि उसे बचपन तक की परवरिश कैसे की गई स्त्रियों के बारे में उसकी सोच क्या है खुल के सामने नहीं आते हैं लोग मुंबई में सबसे कम बलात्कार के केस में आपको पता है क्यों क्योंकि इंसान यहां लड़का और लड़कियां बहुत ओपन माइंडेड है उन्हें चीजों में दिलचस्पी नहीं है क्यों दिलचस्पी नहीं क्यों क्यों नहीं आता खुले खुल कर बातें करना खुल के अपनी बातें रखना बलात्कार कहां होते हैं चाहे इंसान खुलकर बात ही नहीं रख पाता है सिर्फ मन ही मन मन ही मन के जीते इंसान से जानवर बना देती तू हमें अपने आप को खुलकर एक्सप्रेस करने की जरूरत हो तो कुछ सुधार तो लाया नहीं जा सकता जिन्होंने किया बहुत गलत किया मैं सिर्फ यही कहना चाहता हूं कि इंसान के माता-पिता उसकी परवरिश जिस तरीके से की जाती है उसको पहले ही लिखो का ज्ञान देना बहुत जरूरी है अगर इंसान फीमेल की रिस्पेक्ट नहीं करेगा क्योंकि दो चीजें उसके दिमाग में आई होगी अगर वह यह चीज समझ लेता कि यह बहुत गलत हो सकता है तू अपनी भूख तो किसी और तरीके से सेक्सुअल जो बुक बनी उसकी वो किसी और तरीके से खत्म कर लेता है कि जहां पर सिर्फ एक ही तरीका है अब छोटी जगह पर यह विचारधाराएं बदल नहीं सकते इंसान की पोस्ट ज्योति तो वहां आपको के एग्जाम तो सेट करना होगा पहले तो हर इंसान इस चीज को समझे और अगर नहीं समझ पा रहा है तो एक सेट कर दें जो अरब कंट्री में होता है जो तारक कंट्रीज में अगर आपने इस तरीके से कृत्य किया इस तरीके से आपने कुछ किया तो आपको संस्था भी उसी तरह से मिलेगी इंसान जिस में दिमाग नहीं है तो वह डरेगा जिस इंसान में दिमाग नहीं होता है वह डरेगा उर्जित में दिमाग है वही चीजों को समझेगा कि क्या सही है क्या गलत है और जो जानवर होगा जिसको समझाया नहीं जा सकता है उधर से यह चीजें नहीं करेगा जय श्री राम

jai shri ram yah jo prashna aapne poocha hai koshish karte samjhne ki aakhir insaan ki mansik sthiti kya hoti hai jo rape karta hai samjhne wali baat nahi kisne kar diya kyon kiya accha nahi hua maar dena chahiye yah kar dena chahiye vaah kar dena chahiye hazaro batein nikal kar aati hai lekin kisi ne yah samjhne ki koshish ki ki aakhir us insaan ki mansik sthiti kya hoti hai jab vaah balatkar karta hai yog shikshak hone ke naate me sirf ek baat aapse kehna aur poochna chahta hoon kehna main yah chahta hoon aapko ki insaan ki indriya bahut bhatakti hai isme koi do batein nahi krishna ne arjun ko updesh diya tab unhone is bare me baat bhi ki hui hai ki aapki indriya ek ghode ke samay vaah bhanje ki dargah jaha galti kya hai aap samjhega thoda se gehrai se samjhne ki koshish karte hain us insaan ne blue picture sexy hogi kyonki jab usne dekha aisi cheez hai toh uske dimag me aise kritya karne ke liye jigyasa hui hogi ab itna us indriyon ke vashibhut ho gaya ki usko yah bhi samajh me nahi aaya ki vaah kya galat kar raha hai kya sahi kar raha hai aaj hamare desh me 70 sahi me kaam karo ek hi percent log pornography internet par ashlilata dekhna pasand karte hain main sach keh raha hoon sach baat bata raha hoon thodi si kadavi hogi lekin har insaan jaanta hai ki jab sex haavi hota hai insaan ke upar toh vaah sahi galat bhool jata hai ab yahan maanta hai ki use bachpan tak ki parvarish kaise ki gayi sthreeyon ke bare me uski soch kya hai khul ke saamne nahi aate hain log mumbai me sabse kam balatkar ke case me aapko pata hai kyon kyonki insaan yahan ladka aur ladkiya bahut open minded hai unhe chijon me dilchaspi nahi hai kyon dilchaspi nahi kyon kyon nahi aata khule khul kar batein karna khul ke apni batein rakhna balatkar kaha hote hain chahen insaan khulkar baat hi nahi rakh pata hai sirf man hi man man hi man ke jeete insaan se janwar bana deti tu hamein apne aap ko khulkar express karne ki zarurat ho toh kuch sudhaar toh laya nahi ja sakta jinhone kiya bahut galat kiya main sirf yahi kehna chahta hoon ki insaan ke mata pita uski parvarish jis tarike se ki jaati hai usko pehle hi likho ka gyaan dena bahut zaroori hai agar insaan female ki respect nahi karega kyonki do cheezen uske dimag me I hogi agar vaah yah cheez samajh leta ki yah bahut galat ho sakta hai tu apni bhukh toh kisi aur tarike se sexual jo book bani uski vo kisi aur tarike se khatam kar leta hai ki jaha par sirf ek hi tarika hai ab choti jagah par yah vichardharaen badal nahi sakte insaan ki post jyoti toh wahan aapko ke exam toh set karna hoga pehle toh har insaan is cheez ko samjhe aur agar nahi samajh paa raha hai toh ek set kar de jo arab country me hota hai jo taarak countries me agar aapne is tarike se kritya kiya is tarike se aapne kuch kiya toh aapko sanstha bhi usi tarah se milegi insaan jis me dimag nahi hai toh vaah darega jis insaan me dimag nahi hota hai vaah darega urjit me dimag hai wahi chijon ko samjhega ki kya sahi hai kya galat hai aur jo janwar hoga jisko samjhaya nahi ja sakta hai udhar se yah cheezen nahi karega jai shri ram

जय श्री राम यह जो प्रश्न आपने पूछा है कोशिश करते समझने की आखिर इंसान की मानसिक स्थिति क्य

Romanized Version
Likes  91  Dislikes    views  2449
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!