विद्यार्थी में कितने गुण होते हैं?...


user

Ravi Tiwari

Career Counsellor,Motivational Speaker&Life Coach

3:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो एक सफल विद्यार्थी होने के क्या लक्षण होते हैं एक सफल विद्यार्थी में कौन-कौन से गुण होते हैं जिससे विद्यार्थी अपने जीवन में सफलता प्राप्त करें तू ही मैं बताना चाहूंगा एक संस्कृत का श्लोक है उसकी सहायता से मैं बताना चाहूंगा जो मैंने पढ़ा है और इतनी मुझे नॉलेज है कि काक चेष्टा बको ध्यानं श्वान निद्रा तथैव च अल्पाहारी दृष्टि त्यागी विद्यार्थी पंच लक्षणम् तो पहला है काक चेष्टा जैसे आपने कभी देखा होगा आपने ध्यान दिया हो जैसे कौवा बार-बार चेस्टाम इस प्रयास करता रहता है विद्यार्थी को अपने सब्जेक्ट को पढ़ने के लिए अपने समझने के लिए बार-बार प्रयास करते रहना चाहिए क्योंकि जैसल पहले सुना होगा एक और भी दोहे हैं इकत करत अभ्यास ते जड़मति होत सुजान रसरी आवत जात ते सिल पर परत निशान तो कौवे की तरह आपका प्रयास होना चाहिए बको ध्यानम बगुले जैसा ध्यान जिसम बसों में देखा करते थे जो बबूला होता था इसी तालाब में मछली होती थी उसको ध्यान से ध्यान से देख तक देखा देखा करता था और क्यों तथा एक प्रयास में मछली पकड़ लेता था तुम बगुले जैसा ध्यान यानी कि आपके लक्ष्य जो है आपने जो लाश बना रखा है जीवन में उससे बकरे जैसे आपका ध्यान होना चाहिए बगुले की आंख पर स्वान निद्रा स्वामी सोता है कुत्ता की नींद कुत्ते जैसी होनी चाहिए कि जैसे अगर कुत्ता सोया जाता बबल से कोई मुझे तो कुत्ता तुरंत उठ कर देखता है जग जाता है तो अगर आपकी नियत वैसी है तो आप जब चाहो जैसे चाहो जहां चाहो वैसे आप अपनी पढ़ाई शुरू कर सकते हैं अल्पाहारी विद्यार्थी को भोजन कम करना चाहिए क्योंकि ज्यादा बहुजन हमें आलसी बनाता है वह कम भोजन करेंगे तो आपको नींद नहीं आएगी तो आपको भोजन कम रखकर ज्यादातर अपने पढ़ाई में रखना चाहिए बृहत्यादि तब घर को छोड़ने वाला इसका मतलब यह नहीं कि आप घर छोड़कर भाग चले गए सर छोड़कर भाग गए मां-बाप को छोड़कर नहीं कहीं दूसरे शहर के दूसरे देश जाना पड़े तो आपको घर का मुंह ना रहे हैं कि हां मैं कैसे रहूंगा मेरे दोस्त छूट जाएंगे मेरी मम्मी पापा छूट जाएंगे उसका को ध्यान रखना पड़ेगा कि त्यागी घर छोड़ने में डरना नहीं चाहिए और दूर जाकर आपको सारी मेहनत करनी पड़ेगी कोई विद्यार्थी के पांच लक्षण जिसमें होते हैं वह देहाती और से सफल होता है धन्यवाद

hello ek safal vidyarthi hone ke kya lakshan hote hain ek safal vidyarthi me kaun kaun se gun hote hain jisse vidyarthi apne jeevan me safalta prapt kare tu hi main batana chahunga ek sanskrit ka shlok hai uski sahayta se main batana chahunga jo maine padha hai aur itni mujhe knowledge hai ki kake cheshta bko dhyanan shwan nidra tathaiv ch alpahari drishti tyagi vidyarthi punch lakshanam toh pehla hai kake cheshta jaise aapne kabhi dekha hoga aapne dhyan diya ho jaise kauwa baar baar chestam is prayas karta rehta hai vidyarthi ko apne subject ko padhne ke liye apne samjhne ke liye baar baar prayas karte rehna chahiye kyonki jaisal pehle suna hoga ek aur bhi dohe hain ikat karat abhyas te jadmati hot sujaan rasari avat jaat te sill par parat nishaan toh kauve ki tarah aapka prayas hona chahiye bko dhyanam bagule jaisa dhyan jism bason me dekha karte the jo babula hota tha isi taalab me machli hoti thi usko dhyan se dhyan se dekh tak dekha dekha karta tha aur kyon tatha ek prayas me machli pakad leta tha tum bagule jaisa dhyan yani ki aapke lakshya jo hai aapne jo laash bana rakha hai jeevan me usse bakre jaise aapka dhyan hona chahiye bagule ki aankh par swan nidra swami sota hai kutta ki neend kutte jaisi honi chahiye ki jaise agar kutta soya jata babal se koi mujhe toh kutta turant uth kar dekhta hai jag jata hai toh agar aapki niyat vaisi hai toh aap jab chaho jaise chaho jaha chaho waise aap apni padhai shuru kar sakte hain alpahari vidyarthi ko bhojan kam karna chahiye kyonki zyada bahujan hamein aalsi banata hai vaah kam bhojan karenge toh aapko neend nahi aayegi toh aapko bhojan kam rakhakar jyadatar apne padhai me rakhna chahiye brihatyadi tab ghar ko chodne vala iska matlab yah nahi ki aap ghar chhodkar bhag chale gaye sir chhodkar bhag gaye maa baap ko chhodkar nahi kahin dusre shehar ke dusre desh jana pade toh aapko ghar ka mooh na rahe hain ki haan main kaise rahunga mere dost chhut jaenge meri mummy papa chhut jaenge uska ko dhyan rakhna padega ki tyagi ghar chodne me darna nahi chahiye aur dur jaakar aapko saari mehnat karni padegi koi vidyarthi ke paanch lakshan jisme hote hain vaah dehati aur se safal hota hai dhanyavad

हेलो एक सफल विद्यार्थी होने के क्या लक्षण होते हैं एक सफल विद्यार्थी में कौन-कौन से गुण हो

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  107
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!