जीएसटी संविधान में कब शामिल किया गया?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कि जीएसटी जो है वह इसको गुड्स एंड सर्विस टैक्स बोला जाता है गुड एंड सर्विस दे और गुड्स एंड सर्विस टैक्स किस से बना है कि जितने भी इनडायरेक्ट टैक्सेस होते हैं कस्टम ड्यूटी होता है सर्विस टैक्स होता है ठीक है जितने भी इन डायरेक्ट टैक्सेज होते हैं उनका एक जो फोन बोला गया है मतलब एक इलेक्ट्रिक में में आप बोल सकते हैं कि उनको सभी को एक टेक्स बना दिया गया है सबको जैसे पहले अलग अलग होता था सर्विस पैक चले गए एक्साइज एंड ड्यूटी अलग है कस्टम ड्यूटी ठीक है इस तरीके से अलग करके एक टेक्स बना दिया गया और उसकी अलग अलग जो रेट है वह फिक्स कर दी कि इन एन आर्टिकल पर यह यह लगेगा ठीक है इतनी इतनी रेट पर टैक्स लगाया जाएगा और जी संविधान संशोधन 101 वें संविधान संशोधन में जोड़ा गया 101 अमेंडमेंट एक्ट कब जोड़ा गया यह जोड़ा गया और जीएसटी जो है वह 1 जुलाई 2017 को जोड़ा जोड़ा गया था और जब फर्स्ट टाइम जो जीएसटी का जो मॉडल जो पेश किया गया था वह हमारे स्वर्गीय प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई जी ने 2000 में किया किया था 1 जुलाई 2017 को जीएसटी भारत में लागू हुआ था

ki gst jo hai vaah isko goods and service tax bola jata hai good and service de aur goods and service tax kis se bana hai ki jitne bhi indirect taxes hote hain custom duty hota hai service tax hota hai theek hai jitne bhi in direct taxes hote hain unka ek jo phone bola gaya hai matlab ek electric me me aap bol sakte hain ki unko sabhi ko ek tax bana diya gaya hai sabko jaise pehle alag alag hota tha service pack chale gaye excise and duty alag hai custom duty theek hai is tarike se alag karke ek tax bana diya gaya aur uski alag alag jo rate hai vaah fix kar di ki in N article par yah yah lagega theek hai itni itni rate par tax lagaya jaega aur ji samvidhan sanshodhan 101 ve samvidhan sanshodhan me joda gaya 101 Amendment act kab joda gaya yah joda gaya aur gst jo hai vaah 1 july 2017 ko joda joda gaya tha aur jab first time jo gst ka jo model jo pesh kiya gaya tha vaah hamare swargiya pradhanmantri shri atal bihari vajpayee ji ne 2000 me kiya kiya tha 1 july 2017 ko gst bharat me laagu hua tha

कि जीएसटी जो है वह इसको गुड्स एंड सर्विस टैक्स बोला जाता है गुड एंड सर्विस दे और गुड्स एंड

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Anshu

Student

0:36
Play

Likes  8  Dislikes    views  91
WhatsApp_icon
user
9:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो गाइस जीएसटी संविधान में कब शामिल किया गया था एक क्वेश्चन है आपका तो उसका पूरा नाम है वस्तु एवं सेवा कर गुड एंड सर्विस टैक्स 17 प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष डायरेक्ट इनडायरेक्ट टैक्स ओं का एक जगह कमेंट करके बनाया है जिसे बोलते हैं जीएसटी वस्तु एवं सेवा कर एक अप्रैल 2010 से इसका जो पीछे खड़ा हो रहा है इतिहास तो एक अप्रैल 2010 से राष्ट्रीय स्तर पर वस्तु एवं सेवा कर जीएसटी लागू करने का प्रस्ताव तत्कालीन वित्त मंत्री ने वित्त वर्ष 2006 से अपने बजट भाषण में किया था इसमें प्रमुख सिफारिशें थे जीएसटी की परिभाषा में पेट्रोल पेट्रोलियम उत्पाद मद्रा को शामिल करना दूसरा राज्यों के बीच तथा संघ तथा राज्यों के बीच विवादों का निपटारा वस्तु एवं सेवा कर परिषद करेगा तीसरा प्रवेश कर की समाप्ति 14 संविधान संशोधन के द्वारा जीएसटी छतिपूर्ति कोष की स्थापना 5 माथा जीएसटी में शेष राशि का वित्त वर्ष के अंत में राज्य और केंद्र के बीच वितरण सेक्स था इसका अंतरराष्ट्रीय व्यापार से प्राप्त धनराशि के निपटारे के लिए संशोधित बैंक मॉडल की व्यवहारिक संभावना और साथ में था जीएसटी मॉनिटरिंग प्रकोष्ठ अब आप को ले जाते हैं जीएसटी परिषद तो 101 वे संविधान संशोधन अधिनियम के अंतर्गत संविधान में अनुच्छेद 269 272 79 ए जोड़कर वस्तु एवं सेवा कर परिषद के गठन का प्रावधान किया गया मैं फिर दोबारा रिपीट कर रहा हूं 101 वें संविधान संशोधन अधिनियम के अंतर्गत संविधान में अनुच्छेद 269a जोड़कर वस्तु एवं सेवा कर परिषद के गठन का प्रावधान किया गया इस अनुच्छेद के अंतर्गत राष्ट्रपति अधिनियम के लागू होने की तिथि 60 दिनों के भीतर आदेश द्वारा वस्तु एवं सेवा कर परिषद का गठन करेंगे उल्लेखनीय है कि 12 सितंबर 2016 को जीएसटी परिषद के गठन को अभी सूचित कर दिया गया इसका सचिवालय नई दिल्ली में होगा और संरचना ज्योतिष के अध्यक्ष केंद्रीय वित्त मंत्री उपाध्यक्ष सदस्यों में से कोई एक परिषद द्वारा निश्चित अवधि के लिए चुना जाएगा और इसकी जो भारत सरकार के सचिव राजस्व जीएसटी परिषद के प्रदेश सचिव होंगे वर्तमान में हसमुख अधिया इसके सचिव रहे होंगे जो जीएसटी के अब तो चेंज हो गए होंगे क्योंकि पहले यह रहे थे और जीएसटी परिषद में अपर सचिव का एक पद 504 कमिश्नर के पद का सृजन भी किया गया अब जो जीएसटी है उसमें आपको बताते हैं कि वस्तु एवं सेवा कर * सर्विस टैक्स जीएसटी हेतु 122 वा संविधान संशोधन लिस्ट को देशभर में लागू करने की दिशा में 19 दिसंबर 2014 को वित्त मंत्री अरुण जेटली जी ने इसके लिए प्रति क्षेत्र 122 वा संविधान संशोधन विधेयक लोकसभा में पेश किया अब 16 दिसंबर 2014 को उस समय के जो वित्त मंत्री थे एलजीटीए अभी तो वह हमारे बीच में नहीं रहे और 2014 में वित्त मंत्री थे तो उन्होंने 19 दिसंबर 2014 को 122 वा संविधान संशोधन विधेयक लोकसभा में प्रस्तुत किया विधायक मतलब होता है कानून किसी कानून को जब बनाते हैं और उस कानून को सबसे पहले लोकसभा में पेश किया जाता है उसके बाद वो रास्ता बजाते वस्तुओं और सेवाओं का अलग-अलग लगने वाले सभी अप्रत्यक्ष कर एक ही कर में समाहित हो जाएंगे मतलब जितने वस्तु और सेवा पर अलग-अलग टैक्स लगता है अप्रत्यक्ष मतलब होता है इन डायरेक्ट किसी चीज को अप्रत्यक्ष मतलब इनडायरेक्टली तरीके से हम टेस्ट होते हैं तो वह एक ही घर में समाहित हो जाएंगे इससे क्या होगा इससे पूरा देश का एक एकीकृत बाजार में परिवर्तित हो सकेगा वस्तुओं व सेवाओं के कीमती पूरे देश में लगभग एक समान हो सकेंगे वस्तु और जो सेवा क्षेत्र की जो सेवा करते हैं पूरे देश में कुल मिलाकर लगभग एक ही समान हो जाएंगे और कैस्केडिंग इफेक्ट कर पढ़कर से बोल देना कि स्टैंडिंग द फैक्ट कर पर भी कर समाप्त होने से उपभोक्ताओं के लिए सामान भी सस्ता होगा ग्रुप का मतलब खरीदने वाला व्यक्ति जो व्यक्ति किसी चीज को खरीदना है उसे उपयोग करता है तो उपभोक्ता कहते हैं मतलब जो यूज़ करते हैं तो उनके लिए सामान भी सस्ता व अप्रत्यक्ष कार्यप्रणाली में इसे बड़े सुधार के लिए जीएसटी का आरोपण केंद्र व राज्य स्तर पर किया जाएगा तो केंद्र व राज्य दोस्त किया जाएगा और आपको बताना चाहता हूं कि एक जुलाई 2017 से लागू जीएसटी की दर और इसमें यह थी कि दर्ज हुए विभिन्न करो को शामिल किया गया पहला है उत्पाद शुल्क दूसरा अतिरिक्त उत्पाद शुल्क तीसरा सेवा कर चौथा अतिरिक्त सीमा शुल्क पांचवा शिक्षा उपकर अनूप कर हटा सीमा शुल्क और जो विभिन्न करो को शामिल बैठ आप कार्य कर भूमि कर स्टांप ड्यूटी सामान्य त्रिकर विद्युत कर मनोरंजन कर प्रवेश कर लाता कर जुआ वाला ट्री कर राज्य में लगने वाले शुल्क व अधिकार कर दो तो मैं आपको बताना चाहता हूं आपको जहां सारे जीएसटी संविधान में कब शामिल किया गया था त्रिपुरा विस्तारपूर्वक बताया लेकिन अब छोटी सी लाइन में आपके आंसर को मैं क्लियर कर दूंगा तो जीएसटी जो है एक जुलाई 2017 से लागू किया है भारत में इसकी सभी मैंने आप पर टैक्स बता दिए जीएसटी क्यों लाया गया था किस संविधान संशोधन लाया था 122 वा संविधान संशोधन किया इससे पहले परिषद बनी है उसमें 101 वें संविधान संशोधन अधिनियम के अंतर्गत संविधान में अनुच्छेद 269a जोड़कर वस्तु एवं सेवा कर परिषद के धन का प्रावधान किया गया मतलब यहां पर वस्तु और सेवा कर के गठन का प्रावधान किया परिषद का प्रावधान किया गया है जो 101 वें संविधान संशोधन अजब जीएसटी हेतु जब जीएसटी कानून बनाया था और लोकसभा में पेश किया गया था तो उसके लिए 122 वा संविधान संशोधन किया गया जो कि भारत में 1 जुलाई 2017 से जीएसटी लागू हो गया मैं आपको जितनी जानकारी बताता हूं मैं पहले पढ़ता हूं कला जानकारी से मैं खुद डरता हूं कि मैं आपको गलत जानकारी दो तो उससे आप का घाटा हुआ लेकिन मेरी जितनी जानकारी होती है तो अच्छी अच्छी जो मैंने किताबें ली है जो मैं खुद स्टडी करता हूं उससे आपको एक कोशिश करता हूं अच्छे से अच्छे जानकारी आपको दे सकूं यहां पर जितने मैंने कार लिखवाए सॉरी आपको बताएं कि सभी का जो है बीजेपी में शामिल है और इसके अलावा अगर आपको कोई और मिलता है तो मैं समझता हूं तो पूरा जो मैंने आपको बताया वही होगा और जस्ट कि मैंने जितनी भी आपको कानून की जितनी जानकारी है बताइए तो सभी जो है जो बिल्कुल फैक्ट वाली चीज है वह मैंने आपको बताएं और मैं गलत चीजे बताने से बहुत डरता हूं क्योंकि गलत जानकारी सुबह किसी भी स्टूडेंट के लिए मेरे खुद के लिए बहुत गलत है धन्यवाद

hello guys gst samvidhan mein kab shaamil kiya gaya tha ek question hai aapka toh uska pura naam hai vastu evam seva kar good and service tax 17 pratyaksh apratyaksh direct indirect tax on ka ek jagah comment karke banaya hai jise bolte hain gst vastu evam seva kar ek april 2010 se iska jo peeche khada ho raha hai itihas toh ek april 2010 se rashtriya sthar par vastu evam seva kar gst laagu karne ka prastaav tatkalin vitt mantri ne vitt varsh 2006 se apne budget bhashan mein kiya tha isme pramukh sifarishen the gst ki paribhasha mein petrol petroleum utpaad madra ko shaamil karna doosra rajyo ke beech tatha sangh tatha rajyo ke beech vivadon ka niptara vastu evam seva kar parishad karega teesra pravesh kar ki samapti 14 samvidhan sanshodhan ke dwara gst chatipurti kosh ki sthapna 5 matha gst mein shesh rashi ka vitt varsh ke ant mein rajya aur kendra ke beech vitaran sex tha iska antararashtriya vyapar se prapt dhanrashi ke niptare ke liye sanshodhit bank model ki vyavaharik sambhavna aur saath mein tha gst monitoring prakoshth ab aap ko le jaate hain gst parishad toh 101 ve samvidhan sanshodhan adhiniyam ke antargat samvidhan mein anuched 269 272 79 a jodkar vastu evam seva kar parishad ke gathan ka pravadhan kiya gaya main phir dobara repeat kar raha hoon 101 ve samvidhan sanshodhan adhiniyam ke antargat samvidhan mein anuched 269a jodkar vastu evam seva kar parishad ke gathan ka pravadhan kiya gaya is anuched ke antargat rashtrapati adhiniyam ke laagu hone ki tithi 60 dino ke bheetar aadesh dwara vastu evam seva kar parishad ka gathan karenge ullekhaniya hai ki 12 september 2016 ko gst parishad ke gathan ko abhi suchit kar diya gaya iska sachivalaya nayi delhi mein hoga aur sanrachna jyotish ke adhyaksh kendriya vitt mantri upadhyaksh sadasyon mein se koi ek parishad dwara nishchit awadhi ke liye chuna jaega aur iski jo bharat sarkar ke sachiv rajaswa gst parishad ke pradesh sachiv honge vartaman mein hasmukh adhiya iske sachiv rahe honge jo gst ke ab toh change ho gaye honge kyonki pehle yah rahe the aur gst parishad mein upper sachiv ka ek pad 504 commissioner ke pad ka srijan bhi kiya gaya ab jo gst hai usme aapko batatey hain ki vastu evam seva kar service tax gst hetu 122 va samvidhan sanshodhan list ko deshbhar mein laagu karne ki disha mein 19 december 2014 ko vitt mantri arun jaitley ji ne iske liye prati kshetra 122 va samvidhan sanshodhan vidhayak lok sabha mein pesh kiya ab 16 december 2014 ko us samay ke jo vitt mantri the LGTA abhi toh vaah hamare beech mein nahi rahe aur 2014 mein vitt mantri the toh unhone 19 december 2014 ko 122 va samvidhan sanshodhan vidhayak lok sabha mein prastut kiya vidhayak matlab hota hai kanoon kisi kanoon ko jab banate hain aur us kanoon ko sabse pehle lok sabha mein pesh kiya jata hai uske baad vo rasta bajaate vastuon aur sewaon ka alag alag lagne waale sabhi apratyaksh kar ek hi kar mein samahit ho jaenge matlab jitne vastu aur seva par alag alag tax lagta hai apratyaksh matlab hota hai in direct kisi cheez ko apratyaksh matlab indirectly tarike se hum test hote hain toh vaah ek hi ghar mein samahit ho jaenge isse kya hoga isse pura desh ka ek ekikrit bazaar mein parivartit ho sakega vastuon va sewaon ke kimti poore desh mein lagbhag ek saman ho sakenge vastu aur jo seva kshetra ki jo seva karte hain poore desh mein kul milakar lagbhag ek hi saman ho jaenge aur cascading effect kar padhakar se bol dena ki standing the fact kar par bhi kar samapt hone se upbhoktayo ke liye saamaan bhi sasta hoga group ka matlab kharidne vala vyakti jo vyakti kisi cheez ko kharidna hai use upyog karta hai toh upbhokta kehte hain matlab jo use karte hain toh unke liye saamaan bhi sasta va apratyaksh Karya Pranali mein ise bade sudhaar ke liye gst ka aropan kendra va rajya sthar par kiya jaega toh kendra va rajya dost kiya jaega aur aapko bataana chahta hoon ki ek july 2017 se laagu gst ki dar aur isme yah thi ki darj hue vibhinn karo ko shaamil kiya gaya pehla hai utpaad shulk doosra atirikt utpaad shulk teesra seva kar chautha atirikt seema shulk panchava shiksha upakar anup kar hata seema shulk aur jo vibhinn karo ko shaamil baith aap karya kar bhoomi kar STAMP duty samanya trikar vidhyut kar manoranjan kar pravesh kar lata kar jua vala tree kar rajya mein lagne waale shulk va adhikaar kar do toh main aapko bataana chahta hoon aapko jaha saare gst samvidhan mein kab shaamil kiya gaya tha tripura vistarapurvak bataya lekin ab choti si line mein aapke answer ko main clear kar dunga toh gst jo hai ek july 2017 se laagu kiya hai bharat mein iski sabhi maine aap par tax bata diye gst kyon laya gaya tha kis samvidhan sanshodhan laya tha 122 va samvidhan sanshodhan kiya isse pehle parishad bani hai usme 101 ve samvidhan sanshodhan adhiniyam ke antargat samvidhan mein anuched 269a jodkar vastu evam seva kar parishad ke dhan ka pravadhan kiya gaya matlab yahan par vastu aur seva kar ke gathan ka pravadhan kiya parishad ka pravadhan kiya gaya hai jo 101 ve samvidhan sanshodhan ajab gst hetu jab gst kanoon banaya tha aur lok sabha mein pesh kiya gaya tha toh uske liye 122 va samvidhan sanshodhan kiya gaya jo ki bharat mein 1 july 2017 se gst laagu ho gaya main aapko jitni jaankari batata hoon main pehle padhata hoon kala jaankari se main khud darta hoon ki main aapko galat jaankari do toh usse aap ka ghata hua lekin meri jitni jaankari hoti hai toh achi achi jo maine kitaben li hai jo main khud study karta hoon usse aapko ek koshish karta hoon acche se acche jaankari aapko de saku yahan par jitne maine car likhvaye sorry aapko bataye ki sabhi ka jo hai bjp mein shaamil hai aur iske alava agar aapko koi aur milta hai toh main samajhata hoon toh pura jo maine aapko bataya wahi hoga aur just ki maine jitni bhi aapko kanoon ki jitni jaankari hai bataye toh sabhi jo hai jo bilkul fact wali cheez hai vaah maine aapko bataye aur main galat chije bata se bahut darta hoon kyonki galat jaankari subah kisi bhi student ke liye mere khud ke liye bahut galat hai dhanyavad

हेलो गाइस जीएसटी संविधान में कब शामिल किया गया था एक क्वेश्चन है आपका तो उसका पूरा नाम है

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!