श्वसन किस प्रकार की अभिक्रिया है...


user

Mukesh Prajapat

Career Counsellor

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सैमसंग एक प्रकार की उसमें छिपी अभिक्रिया है क्योंकि उसमें सिद्धि विज्ञान उस्मा का उत्सर्जन होता है और दर्शन की प्रक्रिया में ग्लूकोस तथा ऑक्सीजन का उचित होता है जिससे कुर्ता निकलती है और वह किसी काम से प्रकाशित

samsung ek prakar ki usme chipi abhikriya hai kyonki usme siddhi vigyan ushma ka utsarjan hota hai aur darshan ki prakriya mein Glucose tatha oxygen ka uchit hota hai jisse kurta nikalti hai aur vaah kisi kaam se prakashit

सैमसंग एक प्रकार की उसमें छिपी अभिक्रिया है क्योंकि उसमें सिद्धि विज्ञान उस्मा का उत्सर्जन

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  303
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
2:35

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्वसन की अभिक्रिया भीतर से बाहर शोषण क्या कहलाती है श्वास को अंदर लेना स्वास्थ को बाहर करना महत्वपूर्ण यह नहीं है कि अभिक्रिया क्या है महत्वपूर्ण यह है कि हम उस पर कितना ध्यान लगाते हैं जैसे कि ध्यान योग में कहा गया है कि हर अपना कार्य जो हम कर रहे हैं उस पर ध्यान लगाना बहुत जरूरी है तो श्वसन की अभिक्रिया पर अगर हम ध्यान नहीं लगाते हैं तो शोषण की अभिक्रिया पूरी नहीं होती है वैसे तो हम अपनी प्रतिदिन के कार्यों में श्वास लेते और छोड़ते रहते हैं लेकिन अभिक्रिया करने का अर्थ क्या है जब हम सचिन अंदर ले रहे हैं अंग्रेजी में इन्हीं इन हिल पर ही ध्यान दें श्वास अंदर लिए रहे हैं दे रहे हैं ले रहे हैं फिर जब उसको रोक रहे हैं वह कहलाता है वाइट वाइट खाली स्थान खाली स्थान का ही मस्त बहुत ही अधिक होता है उसका ध्यान में रखें हमेशा ध्यान में रखिए जिसको कि हम ध्यान में नहीं रख पाते श्वास लेने में और छोड़ने में हमारा ध्यान रहता है लेकिन रुकने में हमारे ध्यान नहीं रहता है इसलिए स्वच्छंद अंदर गया रोकिए रुकने की विक्रम होता है उसके बीच की गति को बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है फिर वास्को छोड़िए एक्सएल तो यह सोशल की पूरी किया कर आती है अंदर लेना और छोड़ना महेंद्र क्या है अंतर लेना और छोड़ना लेकिन बीच वाली क्या है रोकना स्टाफ ने ध्यान दिया और किसी का भाई साहब इस पर ध्यान दीजिए और छोड़ना हमारे ध्यान में है लेकिन रुकना क्या ध्यान में है और ध्यान योग वही काल आता है विश्वास कीजिए

shwasan ki abhikriya bheetar se bahar shoshan kya kahalati hai swas ko andar lena swaasth ko bahar karna mahatvapurna yah nahi hai ki abhikriya kya hai mahatvapurna yah hai ki hum us par kitna dhyan lagate hain jaise ki dhyan yog mein kaha gaya hai ki har apna karya jo hum kar rahe hain us par dhyan lagana bahut zaroori hai toh shwasan ki abhikriya par agar hum dhyan nahi lagate hain toh shoshan ki abhikriya puri nahi hoti hai waise toh hum apni pratidin ke karyo mein swas lete aur chodte rehte hain lekin abhikriya karne ka arth kya hai jab hum sachin andar le rahe hain angrezi mein inhin in hil par hi dhyan de swas andar liye rahe hain de rahe hain le rahe hain phir jab usko rok rahe hain vaah kehlata hai white white khaali sthan khaali sthan ka hi mast bahut hi adhik hota hai uska dhyan mein rakhen hamesha dhyan mein rakhiye jisko ki hum dhyan mein nahi rakh paate swas lene mein aur chodne mein hamara dhyan rehta hai lekin rukne mein hamare dhyan nahi rehta hai isliye swacchand andar gaya rokiye rukne ki vikram hota hai uske beech ki gati ko bahut hi mahatvapurna mana jata hai phir vasko chodiye XL toh yah social ki puri kiya kar aati hai andar lena aur chhodna mahendra kya hai antar lena aur chhodna lekin beech wali kya hai rokna staff ne dhyan diya aur kisi ka bhai saheb is par dhyan dijiye aur chhodna hamare dhyan mein hai lekin rukna kya dhyan mein hai aur dhyan yog wahi kaal aata hai vishwas kijiye

श्वसन की अभिक्रिया भीतर से बाहर शोषण क्या कहलाती है श्वास को अंदर लेना स्वास्थ को बाहर करन

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  208
WhatsApp_icon
user

Jeetender

leacturer

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्वसन में एक प्रकार की उस वक्त सैफी अभिक्रिया है इस अभिक्रिया के अंदर उस्मा निकलती है सब सून का मतलब होता है कि ग्लूकोज का ऑक्सीजन की उपस्थिति में ऑक्सीकरण होना ग्लूकोस प्लस ऑक्सीजन किस के दहन से उर्जा उत्पन्न होती है और उसमें भी निकलती है अतः यह एक प्रकार की उस्मा खेती अभिक्रिया है उसमें छिपी अभिक्रिया है उसको बोलते हैं जिनमें उस्मान निकलती है धन्यवाद

shwasan mein ek prakar ki us waqt saifi abhikriya hai is abhikriya ke andar ushma nikalti hai sab soon ka matlab hota hai ki glucose ka oxygen ki upasthitee mein oxykaran hona Glucose plus oxygen kis ke dahan se urja utpann hoti hai aur usme bhi nikalti hai atah yah ek prakar ki ushma kheti abhikriya hai usme chipi abhikriya hai usko bolte hain jinmein usman nikalti hai dhanyavad

श्वसन में एक प्रकार की उस वक्त सैफी अभिक्रिया है इस अभिक्रिया के अंदर उस्मा निकलती है सब स

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
user

Mani

Teacher, Educator,

0:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्वसन ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया है इसमें उसमें का निकलता है उत्सर्जित होता है इसलिए उसमें क्षेत्र

svasan ushmakshepi abhikriya hai isme usme ka nikalta hai utsarjit hota hai isliye usme kshetra

स्वसन ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया है इसमें उसमें का निकलता है उत्सर्जित होता है इसलिए उसमें क्षे

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
user

Lokesh

Student

1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप जानना चाहते हैं क्वेश्चन किस प्रकार बिजली के श्वसन एक किताब लिखने के लिए कैटाबॉलिक में क्या होता है कि कैटाबॉलिक में टूटते हैं और इसकी जस्ट ऑपोजिट होती है ना बोली गई एक्शन जिसमें अनूप बनते हैं और कैटाबॉलिक प्रक्रिया और एना बोली प्रक्रिया दोनों को सम्मिलित रूप से मेटाबोलिज्म पाचन क्रिया कहते हैं यानी कि आप सीख लिया दो टाइप की हो गई क्या बोली प्रक्रिया और अमोली कर लिया क्या बोली प्रक्रिया में लुट गए हैं और और अनाबॉलिक में उड़ते हैं तो कौन सा अंग टूटता है शोषण में तो वह श्वसन रूम में जो अनु टूटता है वह होता है ब्लू को धर्म और इसकी जस्ट ऑपोजिट श्वसन की प्रक्रिया और प्रकाश संश्लेषण की प्रक्रिया दोनों सेम रिलेटेड चलती है प्रकाश संश्लेषण में ग्लूकोज अनूप बनता है और श्वसन की प्रक्रिया में बिल्कुल अनु टूटता है लेकिन वो गुरुकुल स्कूल का है वह हमारे शरीर में टूटता है हमारे सेक्स में टूटता है उससे एनर्जी मुक्त होती हैं और सेना जैसे हमारे शरीर चलता है इस प्रकार यह संपूर्ण प्रोसेस चलती है बहुत इंपॉर्टेंट कोशिश होती हैं इसी के माध्यम से CO2 वेस्ट मटेरियल के रूप में हमारे शरीर में बनता है शोषण की प्रक्रिया सही है मैं उठ जा मिलते हैं इस प्रकार एक सौ संकटा बोली प्रक्रिया जिसमें ग्लूकोज टूटता है और एनर्जी निकलते हैं धन्यवाद

aap janana chahte hain question kis prakar bijli ke shwasan ek kitab likhne ke liye kaitabalik mein kya hota hai ki kaitabalik mein tutate hain aur iski just opposite hoti hai na boli gayi action jisme anup bante hain aur kaitabalik prakriya aur ena boli prakriya dono ko sammilit roop se metabolijm pachan kriya kehte hain yani ki aap seekh liya do type ki ho gayi kya boli prakriya aur amoli kar liya kya boli prakriya mein lut gaye hain aur aur anabalik mein udte hain toh kaun sa ang tootata hai shoshan mein toh vaah shwasan room mein jo anu tootata hai vaah hota hai blue ko dharm aur iski just opposite shwasan ki prakriya aur prakash sanshleshan ki prakriya dono same related chalti hai prakash sanshleshan mein glucose anup banta hai aur shwasan ki prakriya mein bilkul anu tootata hai lekin vo gurukul school ka hai vaah hamare sharir mein tootata hai hamare sex mein tootata hai usse energy mukt hoti hain aur sena jaise hamare sharir chalta hai is prakar yah sampurna process chalti hai bahut important koshish hoti hain isi ke madhyam se CO2 west material ke roop mein hamare sharir mein banta hai shoshan ki prakriya sahi hai uth ja milte hain is prakar ek sau sankata boli prakriya jisme glucose tootata hai aur energy nikalte hain dhanyavad

आप जानना चाहते हैं क्वेश्चन किस प्रकार बिजली के श्वसन एक किताब लिखने के लिए कैटाबॉलिक में

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  122
WhatsApp_icon
user
0:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्वसन कमीशन अभिक्रिया है

svasan commision abhikriya hai

स्वसन कमीशन अभिक्रिया है

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  126
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!