सबसे पहले भारत पर किस शासक ने राज किया?...


play
user

RAZIBUL ISLAM KHAN

Teacher- 10 Years experience in colleges as a assistant professor

2:23

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज सबसे पहले भारत पर किस शासक ने राज किया देखिए महान शासक चंद्रगुप्त मिर्चा जिन्होंने मित्र फंक्शन की स्थापन की निविदा बात रूप से भारत के पहले राजा कि वे क्योंकि उन्होंने प्राचीन भारत में सभी खंडित राजा को जीपीए बल्कि उन सभी को मिलाकर एक बड़ा साम्राज्य खड़ा कर दिया जिसकी सीमाएं अफगानिस्तान और भारत के किनारे तक ब्रिटिश थी चंद्रगुप्त मिर्जा का जन्म और पाटलीपुत्र पाटलीपुत्र मगध में 340 इससे पूर्व में हुआ था जो वर्तमान में बिहार के रूप में जाना जाता है उनकी उम्र का भाव 20 वर्षों की जब उन्होंने महान अर्थशास्त्री दर्शनिक और विधान ब्राह्मणों की मदद से स्वागत में विश्व बैंक की स्थापना की अवस्था में यह साला एक ही थे जिन्होंने इंसान से चंद्रगुप्त बेचा की जो खोज की थी अचानक हाथ के तत्कालीन शासक वंश के राजा था ना चलदा धन-धन अंदर से बदला लेना चाहती थी तनक का एक वह जो ताकि होश में थी जो नैना नंद आश्रम राजा को खत्म करने में उनकी मदद करें क्योंकि राजा धान नंदा आने एक बार उनके वक्ष सूरत वह स्कूल के कारण उनका अपमान किया था राजा धनानंद का आदेश आदेशों पर उनके रासायनिक में अचानक गांव को विधानसभा से जबरदस्ती बाहर निकाल दिया था

aaj sabse pehle bharat par kis shasak ne raj kiya dekhiye mahaan shasak chandragupta mircha jinhone mitra function ki sthapan ki nivida baat roop se bharat ke pehle raja ki ve kyonki unhone prachin bharat mein sabhi khandit raja ko GPA balki un sabhi ko milakar ek bada samrajya khada kar diya jiski simaye afghanistan aur bharat ke kinare tak british thi chandragupta mirza ka janam aur patliputra patliputra magadh mein 340 isse purv mein hua tha jo vartaman mein bihar ke roop mein jana jata hai unki umr ka bhav 20 varshon ki jab unhone mahaan arthshastri darshanik aur vidhan brahmanon ki madad se swaagat mein vishwa bank ki sthapna ki avastha mein yah sala ek hi the jinhone insaan se chandragupta becha ki jo khoj ki thi achanak hath ke tatkalin shasak vansh ke raja tha na chalada dhan dhan andar se badla lena chahti thi tanak ka ek vaah jo taki hosh mein thi jo naina nand ashram raja ko khatam karne mein unki madad kare kyonki raja dhaan nanda aane ek baar unke vaksh surat vaah school ke karan unka apman kiya tha raja dhananand ka aadesh aadesho par unke Rasayanik mein achanak gaon ko vidhan sabha se jabardasti bahar nikaal diya tha

आज सबसे पहले भारत पर किस शासक ने राज किया देखिए महान शासक चंद्रगुप्त मिर्चा जिन्होंने मित्

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  174
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!