पति और पत्नी को कैसे रहना चाहिए?...


user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पति पत्नी को कैसे रहना चाहिए पति पत्नी को जनवरी में भगवान ने विवाह करने का सुखद अनुभव किया है और बहुत ही अच्छे लोगों को ही यह पति पत्नी के रूप में रहने का अवसर मिलता है जिंदगी एक यात्रा है और पति पत्नी जो है उसके पड़ता है दो शरीर एक जान जाने पति पत्नियों से फिर भी कभी कभी थोड़ी-बहुत नोकझोंक भी होती है लेकिन कोई ना कोई एक आदमी जॉब जाता है और फिर बाद में समझौता हो जाता है खट्टे मीठे स्वाद जिंदगी के लेते हुए पति पत्नी को भेजना चाहिए जो एक पति का नाम है तो पत्नी को नरम हो जाना चाहिए पत्नी का नाम है तो पति को नरम पड़ जाना चाहिए ताकि कोई जगह ना हो और बच्चों के ऊपर भी खराब प्रभाव ना पड़े बच्चों के सामने कभी झगड़ा नहीं करना चाहिए जितनी अंजनी है उसी में गुजारा करना चाहिए जरूरत से ज्यादा पढ़ती हो या पत्नियों खर्च नहीं करना चाहिए जहां तक हो सके बचत करनी चाहिए और आने वाले भविष्य में लोग दोनों जने सुख से रह सकें अपना जीवन यापन जिंदगी की यात्रा अच्छे तरीके से सुखद अनुभव के रूप में तो बहुत ही सुंदर जीवन यात्रा हो जाएगी खास करके बुढ़ापे में दूसरे का तो सहारा बनेंगे तो बहुत ही सुंदर होगा बच्चों को बड़ा होते हुए देखकर पति पत्नी दोनों को अपना बचपन याद आता है और बच्चों को बड़ा होते हुए देखना वह भी एक सुखद अनुभूति होती है पति पत्नी को बुढ़ापे तक अच्छी तरह से रहना चाहिए और जीना चाहिए

pati patni ko kaise rehna chahiye pati patni ko january mein bhagwan ne vivah karne ka sukhad anubhav kiya hai aur bahut hi acche logo ko hi yah pati patni ke roop mein rehne ka avsar milta hai zindagi ek yatra hai aur pati patni jo hai uske padta hai do sharir ek jaan jaane pati patniyon se phir bhi kabhi kabhi thodi bahut nokjhonk bhi hoti hai lekin koi na koi ek aadmi job jata hai aur phir baad mein samjhauta ho jata hai khatte meethe swaad zindagi ke lete hue pati patni ko bhejna chahiye jo ek pati ka naam hai toh patni ko naram ho jana chahiye patni ka naam hai toh pati ko naram pad jana chahiye taki koi jagah na ho aur baccho ke upar bhi kharab prabhav na pade baccho ke saamne kabhi jhadna nahi karna chahiye jitni anjani hai usi mein gujara karna chahiye zarurat se zyada padhati ho ya patniyon kharch nahi karna chahiye jaha tak ho sake bachat karni chahiye aur aane waale bhavishya mein log dono jane sukh se reh sake apna jeevan yaapan zindagi ki yatra acche tarike se sukhad anubhav ke roop mein toh bahut hi sundar jeevan yatra ho jayegi khaas karke budhape mein dusre ka toh sahara banenge toh bahut hi sundar hoga baccho ko bada hote hue dekhkar pati patni dono ko apna bachpan yaad aata hai aur baccho ko bada hote hue dekhna vaah bhi ek sukhad anubhuti hoti hai pati patni ko budhape tak achi tarah se rehna chahiye aur jeena chahiye

पति पत्नी को कैसे रहना चाहिए पति पत्नी को जनवरी में भगवान ने विवाह करने का सुखद अनुभव किय

Romanized Version
Likes  73  Dislikes    views  1493
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

सुरेश चंद आचार्य

Social Worker ( Self employed )

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों पति और पत्नी को जैसे आटे में नमक डाल देते हैं और क्रिस्पी रोटी बन जाती है और उसके बाद उस आटा और नमक को कोई अलग नहीं कर सकता और उसका नया रूप सभी के उदर पूर्ति के काम आता है उसी प्रकार पति पत्नी को भी मिलकर रहना चाहिए और पति को पत्नी की बौछार बन जानी चाहिए जिससे केवल मृत्यु रूपी अंधकार के अलावा कोई नही मिटा सकता तभी उनके जीवन सफल सुंदर और सार्थक होते हैं

namaskar doston pati aur patni ko jaise aate me namak daal dete hain aur crispy roti ban jaati hai aur uske baad us atta aur namak ko koi alag nahi kar sakta aur uska naya roop sabhi ke udar purti ke kaam aata hai usi prakar pati patni ko bhi milkar rehna chahiye aur pati ko patni ki bauchar ban jani chahiye jisse keval mrityu rupee andhakar ke alava koi nahi mita sakta tabhi unke jeevan safal sundar aur sarthak hote hain

नमस्कार दोस्तों पति और पत्नी को जैसे आटे में नमक डाल देते हैं और क्रिस्पी रोटी बन जाती है

Romanized Version
Likes  84  Dislikes    views  1221
WhatsApp_icon
user

vedprakash singh

Psychologist

3:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है पति और पत्नी को कैसे रहना चाहिए मैं आपको बताना चाहूंगा पति-पत्नी एक अच्छा रिश्ता होता है मैं वेदप्रकाश मैं आपको बताना चाहूंगा कि पति-पत्नी एक ऐसा रिश्ता होता है जो दूसरा रिश्ते नहीं होती पति-पत्नी में एक गलत चले कि अच्छे दोनों तरह के रिश्ते का समावेश होता है और मिश्रित समावेश है तो इसमें गया ना आपको एक दूसरे के गुणों को तो आप जानते होंगे तो ऐसे नहीं किया कभी गुस्से हो जाए और उनकी गुड़िया करने लगे या तो फिर उसे आत्मग्लानि हो उसे आत्म संतुष्टि ना हो तो यह तो बराबर का संघर्ष है यह तो होता ही रहेगा लेकिन फिर भी आपको यह जानना चाहिए कि जब वह उतावलापन में है या फिर उसके अभी दिमागी या दिल की की सुविधाएं की छोरी करवरिया है या कोई कमियां है तो आप उस समय ना बोले ऐसा करने से यह होगा कि आप जैसे ही नहीं बोलोगे फिर इस तरीके आपकी पत्नी कभी शांत रहेगी आपको बहुत ही याद करेगी वह बहुत ही अच्छा है क्या तो फिर जब वह ऐसा हो तो आप करोगे इस तरीके से एक तालमेल के साथ सुर और ताल अलंकार के साथ जैसे होता है सा रे गा मा पा धा नि सा इसमें ऐसे बोलते हैं सा सा रे रे गा गा मा मा मा पा धा धा नि सा सा सा सा रे गा मा पा धा नि सा सा रे गा मा पा धा नि सा रे गा मा पा धा नि सा सा सा सा सा रे दिल्ली मतलब क्या यह 420 अलंकार निकालते हैं इस तरीके से होना चाहिए कॉमेडी रूप में आपको बोला हूं कॉमेडी अलग में होना चाहिए ताकि हम ही मिले और उसको ज्यादा न करें उसको यदि हम जगह पर पकड़ा में करते यदि हम गेट के दरवाजे को पकड़ते हैं तो फिर गेट के दरवाजे का ध्यान भी रखना होगा इसीलिए आप अपने लिए खाली टाइम भी पहले उसकी यह ना देख रे करे क्यों कहां गया नहीं क्या इस तरीके से उस पर ज्यादा हम ध्यान देते हैं तो फिर यह होगा कि बंधन फायदा होगा और प्रेम में बंद नहीं होता है प्रेम में एक विश्वास होता है और विश्वास पर थोड़ी सी ध्यान देने की जरूरत होती है क्योंकि यदि आप पूरे विश्वास करते हैं तो उसको बारे में जानने का प्रयास रुक जाता है क्योंकि विश्वास का मतलब होता है आपकी खोज खत्म हो गई इसीलिए आपको विश्वास उतने नहीं करनी लेकिन विश्वास करने हैं इसके लिए आपको भरोसा उस पर रखना होगा उसे भी एक खुला जिंदगी देना होगा लेकिन एक सबसे सोचने वाली बात है कि कोई भी ऐसी बात हो जो आप दोनों हंसने लगे उनको बोल देना चाहिए

aapka sawaal hai pati aur patni ko kaise rehna chahiye main aapko bataana chahunga pati patni ek accha rishta hota hai vedprakash main aapko bataana chahunga ki pati patni ek aisa rishta hota hai jo doosra rishte nahi hoti pati patni mein ek galat chale ki acche dono tarah ke rishte ka samavesh hota hai aur mishrit samavesh hai toh isme gaya na aapko ek dusre ke gunon ko toh aap jante honge toh aise nahi kiya kabhi gusse ho jaaye aur unki gudiya karne lage ya toh phir use atmaglani ho use aatm santushti na ho toh yah toh barabar ka sangharsh hai yah toh hota hi rahega lekin phir bhi aapko yah janana chahiye ki jab vaah utavalapan mein hai ya phir uske abhi dimagi ya dil ki ki suvidhaen ki chhori karavriya hai ya koi kamiya hai toh aap us samay na bole aisa karne se yah hoga ki aap jaise hi nahi bologe phir is tarike aapki patni kabhi shaant rahegi aapko bahut hi yaad karegi vaah bahut hi accha hai kya toh phir jab vaah aisa ho toh aap karoge is tarike se ek talmel ke saath sur aur taal alankar ke saath jaise hota hai sa ray jayega ma paa dha ni sa isme aise bolte hain sa sa ray ray jayega jaayega ma ma ma paa dha dha ni sa sa sa sa ray jayega ma paa dha ni sa sa ray jayega ma paa dha ni sa ray jayega ma paa dha ni sa sa sa sa sa ray delhi matlab kya yah 420 alankar nikalate hain is tarike se hona chahiye comedy roop mein aapko bola hoon comedy alag mein hona chahiye taki hum hi mile aur usko zyada na kare usko yadi hum jagah par pakada mein karte yadi hum gate ke darwaze ko pakadten hain toh phir gate ke darwaze ka dhyan bhi rakhna hoga isliye aap apne liye khaali time bhi pehle uski yah na dekh ray kare kyon kahaan gaya nahi kya is tarike se us par zyada hum dhyan dete hain toh phir yah hoga ki bandhan fayda hoga aur prem mein band nahi hota hai prem mein ek vishwas hota hai aur vishwas par thodi si dhyan dene ki zarurat hoti hai kyonki yadi aap poore vishwas karte hain toh usko bare mein jaanne ka prayas ruk jata hai kyonki vishwas ka matlab hota hai aapki khoj khatam ho gayi isliye aapko vishwas utne nahi karni lekin vishwas karne hain iske liye aapko bharosa us par rakhna hoga use bhi ek khula zindagi dena hoga lekin ek sabse sochne wali baat hai ki koi bhi aisi baat ho jo aap dono hasne lage unko bol dena chahiye

आपका सवाल है पति और पत्नी को कैसे रहना चाहिए मैं आपको बताना चाहूंगा पति-पत्नी एक अच्छा रिश

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!