स्कूल कैसा स्कूल है सरकारी स्कूल में प्राइवेट स्कूल?...


user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. [email protected]

3:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है स्कूल कैसा स्कूल है सरकारी स्कूल में प्राइवेट स्कूल दोनों स्कूल की विभिन्न टाइम सरकारी स्कूल तो फिर सरकारी खर्चे पर चलता है इसलिए उसमें संसाधन तो लगभग सभी होते हैं लेकिन बहुत अधिक सुविधा वाला जो स्थिति है वह इन सरकारी स्कूलों में नहीं होती है अर्थात एडवांस कह लीजिए या हर तरह की फैसिलिटी कर दीजिएगा या डिफरेंट टाइप की एक्टिविटी या मॉर्डनाइज कर दीजिएगा यह प्राइवेट स्कूलों में पाया जाता है क्यों पाया जाता है क्योंकि प्राइवेट स्कूल ईश्वर से उनके गार्डन से हाई-फाई फीस ली जाती है नॉर्मल फीस भी हाई-फाई की गिनती में आती है नहीं हजारों रुपए महीने के हिसाब से फीस ली जाती है जबकि गवर्नमेंट स्कूल में सरकार बच्चे की पढ़ाई पर पैसा भी खर्च करती है लहसुन के लिए किताबों जैसी सुविधाएं भी देती है और गरीब बच्चों को स्कॉलरशिप भेज देती है उनके तेजाजी का भी इंतजाम करती है तुम्हें यह नहीं कहूंगा कि सरकारी स्कूल में पढ़ाई नहीं होती हां सरकारी स्कूल को लोग बहुत घटिया नजर से देखते हैं खासकर के वो लोग जो मिडिल क्लास है प्रकाश के बच्चे जानकी पेंट्स गवर्नमेंट स्कूल में देखना पसंद नहीं करते क्योंकि उनके पास 26 एंड फंक्शन क्लास वाले सरकारी स्कूल में भेजना तो नहीं समझते क्यों क्यों नहीं लगता है कि हमारे बच्चे जो है या हमारा स्टेटस डाउनलोड जाएगा यदि वह जिस भी स्कूल में एडमिशन दिलाते प्राइवेट में उसका स्टैंडर्ड वाकई पब्लिक स्कूल जैसा नहीं होता पब्लिक स्कूल है लेकिन नाम को है तू ऐसे स्कूलों में बच्चों को भेजकर मैं तो समझता हूं धन की बर्बादी करना है अगर इतना ही पैसा मिडिल क्लास की फैमिली बच्चे की पढ़ाई पर लगा दे एक अच्छा एडीजेजे और सरकारी स्कूल में उस पैसे से मदद करें तो निस्संदेह सरकारी स्कूल का प्रणाम और शिक्षा और भी सुधर सकती है सरकारी स्कूलों को तनखा गवर्नमेंट से मिलती है और अच्छी मिलती है लेकिन बच्चों को सुविधा नहीं मिल पाती इतने चकाई स्कूल के टीचर भी शिक्षा में इंटरेस्ट कम लेते हैं तो अपनी कमी वह भी सुधारें और हमारे गार्डन भी सरकारी स्कूलों को एस्पेक्ट दे और अपने बच्चों को उसमें भेजकर सरकारी स्कूलों की अप्रत्यक्ष रूप से मदद करें

aapka prashna hai school kaisa school hai sarkari school mein private school dono school ki vibhinn time sarkari school toh phir sarkari kharche par chalta hai isliye usme sansadhan toh lagbhag sabhi hote hain lekin bahut adhik suvidha vala jo sthiti hai vaah in sarkari schoolon mein nahi hoti hai arthat advance keh lijiye ya har tarah ki facility kar dijiyega ya different type ki activity ya mardanaij kar dijiyega yah private schoolon mein paya jata hai kyon paya jata hai kyonki private school ishwar se unke garden se high fai fees li jaati hai normal fees bhi high fai ki ginti mein aati hai nahi hazaro rupaye mahine ke hisab se fees li jaati hai jabki government school mein sarkar bacche ki padhai par paisa bhi kharch karti hai lehsun ke liye kitabon jaisi suvidhaen bhi deti hai aur garib baccho ko scholarship bhej deti hai unke tejaji ka bhi intajam karti hai tumhe yah nahi kahunga ki sarkari school mein padhai nahi hoti haan sarkari school ko log bahut ghatiya nazar se dekhte hain khaskar ke vo log jo middle class hai prakash ke bacche janki paints government school mein dekhna pasand nahi karte kyonki unke paas 26 and function class waale sarkari school mein bhejna toh nahi samajhte kyon kyon nahi lagta hai ki hamare bacche jo hai ya hamara status download jaega yadi vaah jis bhi school mein admission dilate private mein uska standard vaakai public school jaisa nahi hota public school hai lekin naam ko hai tu aise schoolon mein baccho ko bhejkar main toh samajhata hoon dhan ki barbadi karna hai agar itna hi paisa middle class ki family bacche ki padhai par laga de ek accha ADJJ aur sarkari school mein us paise se madad kare toh nissandeh sarkari school ka pranam aur shiksha aur bhi sudhar sakti hai sarkari schoolon ko tankha government se milti hai aur achi milti hai lekin baccho ko suvidha nahi mil pati itne chakai school ke teacher bhi shiksha mein interest kam lete hain toh apni kami vaah bhi sudhare aur hamare garden bhi sarkari schoolon ko espekt de aur apne baccho ko usme bhejkar sarkari schoolon ki apratyaksh roop se madad karen

आपका प्रश्न है स्कूल कैसा स्कूल है सरकारी स्कूल में प्राइवेट स्कूल दोनों स्कूल की विभिन्न

Romanized Version
Likes  77  Dislikes    views  1594
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!