अचानक समस्या में फंस जाने पर व्यक्ति को क्या करना चाहिए?...


Likes  8  Dislikes    views  275
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अचानक समस्या में फस जाने पर व्यक्ति को क्या करना चाहिए इस समस्याएं हमारे जीवन का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है और समस्याओं से निकलने पर यह समस्याओं को हल करने पर ही हमें जीवन के नए अनुभव प्राप्त होते हैं तभी हम किसी कार्य को करना भी सीख पाते हैं यदि हमेशा दूसरों पर आश्रित रहते हैं दूसरों की विचारधाराओं को जानने का प्रयास करते हैं तो कभी भी हम समस्याओं को खुद हल नहीं कर पाते हैं और जीवन में अनुभव प्राप्त नहीं कर पाते हैं हमेशा दूसरों के अनुभव से सीखने के बदले आपको अपने समस्याएं अपने कार्य अपने अपने तरीके से करना आना चाहिए धन्यवाद आपका दिन शुभ हो

achanak samasya mein fas jaane par vyakti ko kya karna chahiye is samasyaen hamare jeevan ka ek bahut hi mahatvapurna hissa hai aur samasyaon se nikalne par yah samasyaon ko hal karne par hi hamein jeevan ke naye anubhav prapt hote hain tabhi hum kisi karya ko karna bhi seekh paate hain yadi hamesha dusro par aashrit rehte hain dusro ki vichardharaon ko jaanne ka prayas karte hain toh kabhi bhi hum samasyaon ko khud hal nahi kar paate hain aur jeevan mein anubhav prapt nahi kar paate hain hamesha dusro ke anubhav se sikhne ke badle aapko apne samasyaen apne karya apne apne tarike se karna aana chahiye dhanyavad aapka din shubha ho

अचानक समस्या में फस जाने पर व्यक्ति को क्या करना चाहिए इस समस्याएं हमारे जीवन का एक बहुत ह

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  911
WhatsApp_icon
user

Shipra Ranjan

Life Coach

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपस में फर्स्ट आने पर क्या करना चाहिए था को बता दे समझ से तो किसी के भी सामने कभी भी आ सकती है इस पर कोई पहले से अलार्म क्लॉक करके आता नहीं है दिमाग को ठंडा करने की दिमाग शांत रखने की तभी हम सोच पाएंगे कि हमें उस समस्या से कैसे डील करना है कैसे सिचुएशन से खुद को निकालना है कि अगर हम हर पढ़ा नहीं लग जाएंगे यह उत्साह करेंगे हमारे दिमाग उस तरीके से काम नहीं कर पाएगा जैसे करना चाहिए है और हम उसे शोषण को और ज्यादा वर्ष बना सकते हैं तो बेहतर है यह सबसे पहले दिमाग शांत करें खुद को शांत करें और ठंडे दिमाग से सोचे कि जिस स्टेशन में आपस में है उसे जोशी मुझे खुद को कैसे निकाला जाए आपका दिन शुभ रहे धन्यवाद

aapas mein first aane par kya karna chahiye tha ko bata de samajh se toh kisi ke bhi saamne kabhi bhi aa sakti hai is par koi pehle se alarm clock karke aata nahi hai dimag ko thanda karne ki dimag shaant rakhne ki tabhi hum soch payenge ki hamein us samasya se kaise deal karna hai kaise situation se khud ko nikalna hai ki agar hum har padha nahi lag jaenge yah utsaah karenge hamare dimag us tarike se kaam nahi kar payega jaise karna chahiye hai aur hum use shoshan ko aur zyada varsh bana sakte hain toh behtar hai yah sabse pehle dimag shaant kare khud ko shaant kare aur thande dimag se soche ki jis station mein aapas mein hai use joshi mujhe khud ko kaise nikaala jaaye aapka din shubha rahe dhanyavad

आपस में फर्स्ट आने पर क्या करना चाहिए था को बता दे समझ से तो किसी के भी सामने कभी भी आ सकत

Romanized Version
Likes  289  Dislikes    views  3612
WhatsApp_icon
user

Sanjay Naik

Career Counselor

1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर कोई व्यक्ति अचानक समझता में फंस जाता है तो उसे उस समस्या का हल निकालना चाहिए उस समस्या पर अगर करेंगे तो वह समस्या का हल भी तुम्हारे पास से होता है लेकिन क्या होता है कि समस्या आती हम सोचना बंद कर देते हैं उसका टेंशन आ जाते प्रेशराइजेशन नहीं आने दिया पेशन नहीं किया तो उसका हाल भी मिलता है और वह सलूशन अपने आप आपके सामने आ जाता ज्यादातर लोग किसी भी समस्या आने पर पहले हिल जाते हैं डर जाते हैं नुकसान के बारे में सोचते और नुकसान क्या हो सकता है उसके बारे में सोच कर सोच सोच कर उसी में दंग रह जाते और समस्या का हल सोचने के लिए पूरी कोशिश भी नहीं कर सकते वह कोशिश भी नहीं कर सकते इस हालत में आपको पहली बात है कि खुद को कंट्रोल करना है समस्या तो हर किसी के सामने आती है छोटी हो बड़ी हो जिंदगी में सीखने का तो यही है की समस्या का हल निकाले और आगे पढ़े अध्यक्ष आपको याद कर जाती है आपके लिए जिंदगी आसान हो जाती है धन्यवाद

agar koi vyakti achanak samajhata mein fans jata hai toh use us samasya ka hal nikalna chahiye us samasya par agar karenge toh vaah samasya ka hal bhi tumhare paas se hota hai lekin kya hota hai ki samasya aati hum sochna band kar dete hain uska tension aa jaate presharaijeshan nahi aane diya peshan nahi kiya toh uska haal bhi milta hai aur vaah salution apne aap aapke saamne aa jata jyadatar log kisi bhi samasya aane par pehle hil jaate hain dar jaate hain nuksan ke bare mein sochte aur nuksan kya ho sakta hai uske bare mein soch kar soch soch kar usi mein deng reh jaate aur samasya ka hal sochne ke liye puri koshish bhi nahi kar sakte vaah koshish bhi nahi kar sakte is halat mein aapko pehli baat hai ki khud ko control karna hai samasya toh har kisi ke saamne aati hai choti ho badi ho zindagi mein sikhne ka toh yahi hai ki samasya ka hal nikale aur aage padhe adhyaksh aapko yaad kar jaati hai aapke liye zindagi aasaan ho jaati hai dhanyavad

अगर कोई व्यक्ति अचानक समझता में फंस जाता है तो उसे उस समस्या का हल निकालना चाहिए उस समस्य

Romanized Version
Likes  91  Dislikes    views  1844
WhatsApp_icon
user

Trainer Yogi Yogendra

Motivational Speaker || Career Coach || Business Coach || Marketing & Management Expert's

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स मैं योगेंद्र शर्मा मोटिवेशनल स्पीकर केरियर कोच और कॉरपोरेट ट्रेनर अजीत से बात करने वाले हैं वह है कि अचानक समस्या में फस जाने पर व्यक्ति को क्या करना चाहिए आपकी लाइफ में अचानक से कोई समस्या आ जाती है अचानक से कोई बहुत बड़ी प्रॉब्लम है आपकी लाइफ में आ जाती है तो उस कंडीशन में जो है ज्यादा तनाव ना लेकर ज्यादा टेंशन ना ले कर अपने माइंड को संतुलित रखना चाहिए अपने माइंड को एक बैलेंस में रखना चाहिए क्योंकि अगर आप पूरी तरह से तनाव और टेंशन में चले जाएंगे और उसी समस्या के बारे में सोचने लग जाएंगे तो आप उसके सलूशन के बारे में कब सोचेंगे अगर उस टाइम पर उस समस्या के टाइम पर अगर आपने पोलूशन के बारे में नहीं सोचा अपने आप को नॉर्मल नहीं रखा और सॉल्यूशन उसका नहीं निकाल पाए तो आप ग्रोथ नहीं कर पाएंगे उस समस्या से ही आप अपना दम तोड़ देंगे और आप जो है एक हारे हुए इंसान हो जाएंगे तो मैं एक ही बात आपको बोलना चाहता हूं की समस्या सुख दुख तो जीवन का हिस्सा है आते हैं और जाते रहते हैं तो इन चीजों का अपने माइंड पर और अपने ऊपर ज्यादा प्रभाव ना पड़ने दें और सिर्फ और सिर्फ के इस समस्या से निकलते हैं इसके ऊपर फोकस करें ना कि उस समस्या पर खड़े किए कैसे आ गई मेरे साथ ऐसा कैसे हो गया इन चीजों की बजाय आप एक ही चीज का सलूशन में कैसे निकाल सकता हूं उस पर फोकस करें तो आपको सलूशन जल्दी ही मिल जाएगा और इस टॉपिक से रिलेटेड आप ज्यादा बात करना चाहते हैं ज्यादा अच्छे से टोपी को समझना चाहते हैं तो हमें कॉल कर सकते हैं हमारा कांटेक्ट नंबर है 7618 0537 पर आप बात कर सकते हैं जैसे

hello friends main yogendra sharma Motivational speaker Career coach aur corporate trainer ajit se baat karne waale hai vaah hai ki achanak samasya mein fas jaane par vyakti ko kya karna chahiye aapki life mein achanak se koi samasya aa jaati hai achanak se koi bahut baadi problem hai aapki life mein aa jaati hai toh us condition mein jo hai zyada tanaav na lekar zyada tension na le kar apne mind ko santulit rakhna chahiye apne mind ko ek balance mein rakhna chahiye kyonki agar aap puri tarah se tanaav aur tension mein chale jaenge aur usi samasya ke bare mein sochne lag jaenge toh aap uske salution ke bare mein kab sochenge agar us time par us samasya ke time par agar aapne pollution ke bare mein nahi socha apne aap ko normal nahi rakha aur solution uska nahi nikaal paye toh aap growth nahi kar payenge us samasya se hi aap apna dum tod denge aur aap jo hai ek hare hue insaan ho jaenge toh main ek hi baat aapko bolna chahta hoon ki samasya sukh dukh toh jeevan ka hissa hai aate hai aur jaate rehte hai toh in chijon ka apne mind par aur apne upar zyada prabhav na padane de aur sirf aur sirf ke is samasya se nikalte hai iske upar focus kare na ki us samasya par khade kiye kaise aa gayi mere saath aisa kaise ho gaya in chijon ki bajay aap ek hi cheez ka salution mein kaise nikaal sakta hoon us par focus kare toh aapko salution jaldi hi mil jaega aur is topic se related aap zyada baat karna chahte hai zyada acche se topi ko samajhna chahte hai toh hamein call kar sakte hai hamara Contact number hai 7618 0537 par aap baat kar sakte hai jaise

हेलो फ्रेंड्स मैं योगेंद्र शर्मा मोटिवेशनल स्पीकर केरियर कोच और कॉरपोरेट ट्रेनर अजीत से बा

Romanized Version
Likes  280  Dislikes    views  3155
WhatsApp_icon
user

Dr Asha B Jain

Dip in Naturopathy, Yoga therapist Pranic healer, Counselor

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी किसी भी समस्या में अचानक अगर आप पर जाते हैं तो हमेशा अपने आप को कैसे शांत करना चाहिए जगह शांत होकर बैठ जाना चाहिए हड़बड़ाहट में है जल्दी करने से काम और ज्यादा बिगड़ जाता है और ज्यादा टेंशन फालतू के और बढ़ जाते हैं तो उससे बैठा है कि आप बिल्कुल शांत होकर बैठे कुछ अपने आप को टाइम दे विचार करने का बहुत अच्छी तरीके से बहुत तरीके से ऑप्शन ढूंढने की समस्या को कैसे हल किया जा सकता है कैसे सॉल्व किया जा सकता है यदि वे में या और किसी के साथ आप भी कर सकते हैं पहले तो स्वयं ही कोई नहीं कोशिश करें और थोड़ी समस्या अगर ज्यादा है तो किसी और से जो कि आपको इंटेलिजेंट लगता है उससे आप बिस्तर से अपनी बात शेयर करें और जो चला मिले उस हिसाब से मैं छोरा लेकर और अपनी बात का समय निकालें

dekhi kisi bhi samasya mein achanak agar aap par jaate hain toh hamesha apne aap ko kaise shaant karna chahiye jagah shaant hokar baith jana chahiye hadabadahat mein hai jaldi karne se kaam aur zyada bigad jata hai aur zyada tension faltu ke aur badh jaate hain toh usse baitha hai ki aap bilkul shaant hokar baithe kuch apne aap ko time de vichar karne ka bahut achi tarike se bahut tarike se option dhundhne ki samasya ko kaise hal kiya ja sakta hai kaise solve kiya ja sakta hai yadi ve mein ya aur kisi ke saath aap bhi kar sakte hain pehle toh swayam hi koi nahi koshish kare aur thodi samasya agar zyada hai toh kisi aur se jo ki aapko Intelligent lagta hai usse aap bistar se apni baat share kare aur jo chala mile us hisab se main chhora lekar aur apni baat ka samay nikaalein

देखी किसी भी समस्या में अचानक अगर आप पर जाते हैं तो हमेशा अपने आप को कैसे शांत करना चाहिए

Romanized Version
Likes  188  Dislikes    views  2335
WhatsApp_icon
user
1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अचानक समस्या में फस जाने पर व्यक्ति को सबसे पहला कार्य तो यह करना चाहिए गहरे रखना चाहिए और अपने ऊपर आत्मविश्वास रखना चाहिए परिस्थितियां दिन-रात बदलती रहती हैं हो सकता है किसी भी कारण से वह समस्या में आया हो तो सबसे पहले उसे समस्या में आने का कारण पता करना चाहिए और अपने विश्वसनीय व्यक्ति को उसके विषय में बताना चाहिए और उस समस्या को दूर करने की कोशिश करनी चाहिए समस्या गलतफहमी से भी आ सकती है या अनजाने में कोई काम करने से भी आ सकती हैं तो धैर्य रखते हुए और अपने ऊपर आत्मविश्वास रखते हुए व्यक्ति को उस समस्या का समाधान करना चाहिए और किसी अपने परिचित समझदार व्यक्ति को बीच में लेकर और उस समस्या को जिस व्यक्ति से वह समस्या उत्पन्न हुई है उससे जाकर बात करनी चाहिए शालीनता से बात करनी चाहिए ताकि वह उस समस्या का दोनों मिलकर निराकरण कर ले और बिल्कुल भी चिंतित ना हो क्योंकि समस्याएं हर व्यक्ति के जीवन में आती हैं और उन्हें समझाने की कोशिश करनी चाहिए समस्याओं का समाधान निश्चित रूप से निकलता है लेकिन बातचीत से ही निकलता है बातचीत करें और समस्या का समाधान करें अपने पर विश्वास रखें और घबराए नहीं

achanak samasya mein fas jaane par vyakti ko sabse pehla karya toh yah karna chahiye gehre rakhna chahiye aur apne upar aatmvishvaas rakhna chahiye paristhiyaann din raat badalti rehti hain ho sakta hai kisi bhi karan se vaah samasya mein aaya ho toh sabse pehle use samasya mein aane ka karan pata karna chahiye aur apne viswasniya vyakti ko uske vishay mein bataana chahiye aur us samasya ko dur karne ki koshish karni chahiye samasya galatfahamee se bhi aa sakti hai ya anjaane mein koi kaam karne se bhi aa sakti hain toh dhairya rakhte hue aur apne upar aatmvishvaas rakhte hue vyakti ko us samasya ka samadhan karna chahiye aur kisi apne parichit samajhdar vyakti ko beech mein lekar aur us samasya ko jis vyakti se vaah samasya utpann hui hai usse jaakar baat karni chahiye shalinata se baat karni chahiye taki vaah us samasya ka dono milkar nirakaran kar le aur bilkul bhi chintit na ho kyonki samasyaen har vyakti ke jeevan mein aati hain aur unhe samjhane ki koshish karni chahiye samasyaon ka samadhan nishchit roop se nikalta hai lekin batchit se hi nikalta hai batchit kare aur samasya ka samadhan kare apne par vishwas rakhen aur ghabraye nahi

अचानक समस्या में फस जाने पर व्यक्ति को सबसे पहला कार्य तो यह करना चाहिए गहरे रखना चाहिए और

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!