राज्यसभा और लोकसभा का गठन कैसे होता है?...


user
1:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लोकसभा का गठन व्यस्त मतदान के आधार पर चुनाव द्वारा चुने गए जनता के प्रतिनिधियों से होता है लोकसभा के सदस्यों की अधिकतम संख्या 552 हो सकती है जैसा कि संविधान में उल्लेख किया गया है जिसमें से 530 सदस्य राज्यों का और 20 सदस्य संघ राज्य क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करते हैं साथ ही राष्ट्रपति महोदय यदि ऐसा मानते हैं कि आंग्ल भारतीय समुदाय को सभा में पूरी तरह तक नहीं मिला है तो उस समुदाय क्या तुम दो व्यक्तियों को लोकसभा का सदस्य नामित कर सकते हैं इसी प्रकार संविधान के अनुच्छेद 80 में राज्य सभा के सदस्यों की अधिकतम संख्या 250 निर्धारित की गई है जिसे 12 सदस्य राष्ट्रपति द्वारा नामित किए जाते हैं और 238 सदस्य राज्य के और संघ राज्य क्षेत्रों के का प्रतिनिधित्व करते हैं राज्यसभा के सदस्यों की वर्तमान संख्या 245 है इनमें से 233 सदस्य राज्य और संघ राज्य क्षेत्र दिल्ली पुजारी का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं 12 सदस्य राष्ट्रपति द्वारा नाम निर्देशित है राष्ट्रपति द्वारा नाम निर्देशित किए जाने वाले सदस्य ऐसे व्यक्ति होते हैं जो साहित्य विज्ञान कला और समाज सेवा ऐसे विषयों क्षेत्र में विशेष अनुभव और व्यावहारिक ज्ञान हूं राज्यसभा भारत भारत संसद का उच्च सदन है

lok sabha ka gathan vyast matdan ke aadhaar par chunav dwara chune gaye janta ke pratinidhiyo se hota hai lok sabha ke sadasyon ki adhiktam sankhya 552 ho sakti hai jaisa ki samvidhan mein ullekh kiya gaya hai jisme se 530 sadasya rajyo ka aur 20 sadasya sangh rajya kshetro ka pratinidhitva karte hain saath hi rashtrapati mahoday yadi aisa maante hain ki angle bharatiya samuday ko sabha mein puri tarah tak nahi mila hai toh us samuday kya tum do vyaktiyon ko lok sabha ka sadasya naamit kar sakte hain isi prakar samvidhan ke anuched 80 mein rajya sabha ke sadasyon ki adhiktam sankhya 250 nirdharit ki gayi hai jise 12 sadasya rashtrapati dwara naamit kiye jaate hain aur 238 sadasya rajya ke aur sangh rajya kshetro ke ka pratinidhitva karte hain rajya sabha ke sadasyon ki vartaman sankhya 245 hai inme se 233 sadasya rajya aur sangh rajya kshetra delhi pujari ka pratinidhitva kar rahe hain 12 sadasya rashtrapati dwara naam nirdeshit hai rashtrapati dwara naam nirdeshit kiye jaane waale sadasya aise vyakti hote hain jo sahitya vigyan kala aur samaj seva aise vishyon kshetra mein vishesh anubhav aur vyavaharik gyaan hoon rajya sabha bharat bharat sansad ka ucch sadan hai

लोकसभा का गठन व्यस्त मतदान के आधार पर चुनाव द्वारा चुने गए जनता के प्रतिनिधियों से होता है

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  1020
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!