नौकरी करनी चाहिए या बिजनेस करना चाहिए?...


user

Mr. Mukesh Kumar

Youtuber, https://youtu.be/lxwi7CXLHSQ

2:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज के समय में लोग नौकरी पाना ज्यादा पसंद करते हैं यही वजह है कि हमारा देश भारत बहुत पिछड़ा हुआ है क्योंकि कोई भी नौकरी से विशेषकर सरकारी नौकरी मिल जाता है तो उनकी जीवन स्थिर हो जाते हैं आज इतनी सैलरी मिलती हो तो उनका जीवन गुजारने का एक बिछड़ बन जाता है जीवन तो सामान्य रूप से चल जाता है विकास नहीं हो पाता उस गति से जिसमें 2 से 10 वर्ष की आयु में चार्ज करते हैं यही वजह है कि हमारे भारत बिछड़ा हुआ मेरा मन है क्योंकि हम बिजनेस में ज्यादा से ज्यादा इमेज करके मुझे आदत ज्यादा आदमी कर सकते अंतिम नौकरी में ना तुम ज्यादा इन्वेस्ट कर सकते हो ना ही ज्यादा है और नहीं कर सकते हो या फिक्स होता है राखी बहुतों का मानना है कि नौकरी में आजादी घर आती है मैं ज्यादा टेंशन रहता है ना ही किसी प्रकार का कोई अन्य देखते रहते हैं नौकरी अच्छी बिजनेस अच्छा कुछ नहीं ना तो किसी का ना करना है और ना ही समय बाद हम अपने समय से बिजनेस करें और उसको अधिक से अधिक में पैसा लगाया है वह अवनीश आगे बढ़ा सकते हैं सनम की नौकरी में ऐसा नहीं होता है एक सामान्य जीवन जीने वाले लोगों की सोच है और बिजनेस सिगरेट के लोग होते हैं जो कि कम समय में ज्यादा तो फिर कमाना चाहते हैं और जब एक बार फिर से माने जाएंगे तो उसे कई बिजनौर अनोखी से कुछ नहीं होने वाला है बस एक सामान्य तौर पर विरोध किया जा सकता इसलिए मैं राय दूंगा तुम्हें बस्सी करना उचित है

aaj ke samay mein log naukri paana zyada pasand karte hain yahi wajah hai ki hamara desh bharat bahut pichda hua hai kyonki koi bhi naukri se visheshkar sarkari naukri mil jata hai toh unki jeevan sthir ho jaate hain aaj itni salary milti ho toh unka jeevan gujarne ka ek bichhad ban jata hai jeevan toh samanya roop se chal jata hai vikas nahi ho pata us gati se jisme 2 se 10 varsh ki aayu mein charge karte hain yahi wajah hai ki hamare bharat bichda hua mera man hai kyonki hum business mein zyada se zyada image karke mujhe aadat zyada aadmi kar sakte antim naukri mein na tum zyada invest kar sakte ho na hi zyada hai aur nahi kar sakte ho ya fix hota hai rakhi bahuton ka manana hai ki naukri mein azadi ghar aati hai zyada tension rehta hai na hi kisi prakar ka koi anya dekhte rehte hain naukri achi business accha kuch nahi na toh kisi ka na karna hai aur na hi samay baad hum apne samay se business kare aur usko adhik se adhik mein paisa lagaya hai vaah avnish aage badha sakte hain sanam ki naukri mein aisa nahi hota hai ek samanya jeevan jeene waale logo ki soch hai aur business cigarette ke log hote hain jo ki kam samay mein zyada toh phir kamana chahte hain aur jab ek baar phir se maane jaenge toh use kai bijnor anokhi se kuch nahi hone vala hai bus ek samanya taur par virodh kiya ja sakta isliye main rai dunga tumhe bassi karna uchit hai

आज के समय में लोग नौकरी पाना ज्यादा पसंद करते हैं यही वजह है कि हमारा देश भारत बहुत पिछड़ा

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  627
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!