राहुल ने कहा कि आर्मी के पास पैसे नहीं, क्यों नहीं दे रही है मोदी सरकार सेना को पैसे?...


user

Vatsal

Engineering Student

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी ने जो कहा है कि आर्मी के बाहर देश की आर्मी की वस्तु पैसे की कमी है यह बात कुछ हद तक सही भी है और इस बात में कुछ हद तक पेचिश की अनदेखी सबसे पहले हमें यह समझना पड़ेगा यह बिल्कुल सही बात है कि जो भारतीय जो आर्मी है जो यह व्यवस्था है उसमें पैसे की कमी है अभी भी उन पर भी इतने अच्छे उपकरण इतनी अच्छी वेपंस इतने अच्छे जो चीजें जरूरत है अन्य देशों के कंपैरिजन गर्म करें अभी भी हम पाकिस्तान के संग और की उम्मीद करें लड़ाई की उम्मीद करें तभी हम अपने पास नहीं रखते हैं क्योंकि हम लड़ने में सक्षम हो सके तो कहीं ना कहीं हमें वजन बढ़ाने की जरूरत है जो है कांग्रेस ने राज किया था तो अगर तब से लेकर अब तक कुछ नहीं हो पाया है आर्मी में था डेवलपमेंट इतना ज्यादा धन की कमी है तो कांग्रेस उसके लिए आदर्श

rahul gandhi ne jo kaha hai ki army ke bahar desh ki army ki vastu paise ki kami hai yah baat kuch had tak sahi bhi hai aur is baat mein kuch had tak pechish ki andekha sabse pehle hamein yah samajhna padega yah bilkul sahi baat hai ki jo bharatiya jo army hai jo yah vyavastha hai usme paise ki kami hai abhi bhi un par bhi itne acche upkaran itni achi weapons itne acche jo cheezen zarurat hai anya deshon ke kampairijan garam kare abhi bhi hum pakistan ke sang aur ki ummid kare ladai ki ummid kare tabhi hum apne paas nahi rakhte hain kyonki hum ladane mein saksham ho sake toh kahin na kahin hamein wajan badhane ki zarurat hai jo hai congress ne raj kiya tha toh agar tab se lekar ab tak kuch nahi ho paya hai army mein tha development itna zyada dhan ki kami hai toh congress uske liye adarsh

राहुल गांधी ने जो कहा है कि आर्मी के बाहर देश की आर्मी की वस्तु पैसे की कमी है यह बात कुछ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  149
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज के इस पर मैं कुछ बात कहना चाहूंगा पहली बात तो यह कि कोई भी सरकार जो है वह नहीं है जान पूछकर जो है अपनी आर्मी को कैसे कम नहीं देगी क्योंकि वह थोड़े ना चाहिए कि उसके आदमी को कमजोर पड़ जाए पैसों के चलते वह जो है मैं जितना होगा उतना किसी भी कंट्री के आदमी होते सॉन्ग बनाना और दूसरी बात यह सब चीजें पब्लिक में डिस्कस करना मेरे को नहीं लगता कि अच्छी बात है और रेट के बारे में कमेंट करना क्योंकि अगर हमारे दुश्मनों को पता चल गया जो हमारे बारे में अच्छा नहीं चाहते हैं जो हमारे शुभ चिंतक नहीं है तो यह बहुत अच्छा अधिकारी साबित हो सकता है हां यह सब चीजें जो है मुझे लगता है कि पब्लिक में नहीं डिस्कस करना चाहिए और क्यों डिफेंस का मेंटेनेंस जो है यह तो पब्लिक में डांस किया किया हमारे आर्मी के पास जो है वह पैसा नहीं दिया था कि अगर आर्मी आज के डेट में वॉक पर जाती है तो उनके पास इतना पैसा भी नहीं है कि वह 10 दिन का बोर्ड जो है कंटिंयू खेल सके एग्जामिनेशन फॉर डिप्रेशन के पास नहीं है तो ऐसा चीज है जो पब्लिक में डिस्कस नहीं करना चाहिए था मेंटल Micromax कॉल करनी चाहिए क्योंकि इससे जो है हमारी डिफेंस कॉलोनी में जो है बहुत असर पड़ सकता है

aaj ke is par main kuch baat kehna chahunga pehli baat toh yah ki koi bhi sarkar jo hai vaah nahi hai jaan puchkar jo hai apni army ko kaise kam nahi degi kyonki vaah thode na chahiye ki uske aadmi ko kamjor pad jaaye paison ke chalte vaah jo hai jitna hoga utana kisi bhi country ke aadmi hote song banana aur dusri baat yah sab cheezen public mein discs karna mere ko nahi lagta ki achi baat hai aur rate ke bare mein comment karna kyonki agar hamare dushmano ko pata chal gaya jo hamare bare mein accha nahi chahte hain jo hamare shubha chintak nahi hai toh yah bahut accha adhikari saabit ho sakta hai haan yah sab cheezen jo hai mujhe lagta hai ki public mein nahi discs karna chahiye aur kyon defence ka Maintenance jo hai yah toh public mein dance kiya kiya hamare army ke paas jo hai vaah paisa nahi diya tha ki agar army aaj ke date mein walk par jaati hai toh unke paas itna paisa bhi nahi hai ki vaah 10 din ka board jo hai kantinyu khel sake examination for depression ke paas nahi hai toh aisa cheez hai jo public mein discs nahi karna chahiye tha mental Micromax call karni chahiye kyonki isse jo hai hamari defence colony mein jo hai bahut asar pad sakta hai

आज के इस पर मैं कुछ बात कहना चाहूंगा पहली बात तो यह कि कोई भी सरकार जो है वह नहीं है जान प

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  160
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिग राहुल गांधी जिस प्रकार की बातें कर रहे हैं तो मुझे लगता है कि उनसे इस प्रकार की बात से ज्यादा उम्मीद भी नहीं की जा सकती वह देश की सबसे बड़ी पार्टी वाइज़ पोजीशन में उस के सबसे बड़े नेता हैं और मुझे लगता है कांग्रेस हमको कुछ दिनों में प्रोजेक्ट भी करने वाली अजीब PM तो कहीं ना कहीं वह लाइन लाइन में बने भी रहना चाहते हैं अगर आप डिफेंस बजट की बात करोगे तो डिफेंस बजट जो इस बार का है लगभग 307001 पिछली बार से लगभग 5% बढ़ाया गया है और जिस प्रकार एक मोटर से मिली है हमारे देश को जाएं वह चाहे ना हो बांग्लादेश और पाकिस्तान अफगानिस्तान तू कहीं भारत सरकार यह जानती है तो प्रॉपर जितना रिक्वायर्ड है डिफेंस के लिए डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट के लिए उतना दे रही है और आवश्यकता पड़ेगी उससे भी ज्यादा दिया जाएगा और डिफेंस मिनिस्टर इन इस बात की पुष्टि भी की है

big rahul gandhi jis prakar ki batein kar rahe hain toh mujhe lagta hai ki unse is prakar ki baat se zyada ummid bhi nahi ki ja sakti vaah desh ki sabse badi party wise position mein us ke sabse bade neta hain aur mujhe lagta hai congress hamko kuch dino mein project bhi karne wali ajib PM toh kahin na kahin vaah line line mein bane bhi rehna chahte hain agar aap defence budget ki baat karoge toh defence budget jo is baar ka hai lagbhag 307001 pichali baar se lagbhag 5 badhaya gaya hai aur jis prakar ek motor se mili hai hamare desh ko jayen vaah chahen na ho bangladesh aur pakistan afghanistan tu kahin bharat sarkar yah jaanti hai toh proper jitna required hai defence ke liye defence research and development ke liye utana de rahi hai aur avashyakta padegi usse bhi zyada diya jaega aur defence minister in is baat ki pushti bhi ki hai

बिग राहुल गांधी जिस प्रकार की बातें कर रहे हैं तो मुझे लगता है कि उनसे इस प्रकार की बात से

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  181
WhatsApp_icon
play
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

1:35

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी ने बोला है कि आदमी के पास पैसे हैं जो आदमी हमारे देश की रक्षा करते हैं जो अपनी नींद हराम करके हम लोग को सोने सोने के लिए उनके पास पैसे नहीं है तो खुद आवाज उठा सकते हैं इसमें किसी पार्टी और पॉलिटिक्स की जरूरत है क्योंकि शिक्षा के प्रति ब्रिटिश से आदमी आदमी जो है एक सिपाही की जो वेतन होती है उनको कम लगेगा तो आवाज उठाएंगे उनके लिए वह कम है या 1 तारीख पे तारीख का दिन की जो बटन है आप जिनके पास मिलते हैं 5 और 3 पास मिलती हैं और बाकी की दोस्ती बिस्मिल जिसमें आधे आधे पैसे की फैमिली को लगते काफी आगे कुछ देना चाहे तो बीजेपी बजे कोई निशाना साधा कि अगर उनको कुछ कम मिल रहा है तो बिल्कुल अपनी आवाज

rahul gandhi ne bola hai ki aadmi ke paas paise hain jo aadmi hamare desh ki raksha karte hain jo apni neend haraam karke hum log ko sone sone ke liye unke paas paise nahi hai toh khud awaaz utha sakte hain isme kisi party aur politics ki zarurat hai kyonki shiksha ke prati british se aadmi aadmi jo hai ek sipahi ki jo vetan hoti hai unko kam lagega toh awaaz uthayenge unke liye vaah kam hai ya 1 tarikh pe tarikh ka din ki jo button hai aap jinke paas milte hain 5 aur 3 paas milti hain aur baki ki dosti bismil jisme aadhe aadhe paise ki family ko lagte kaafi aage kuch dena chahen toh bjp baje koi nishana saadha ki agar unko kuch kam mil raha hai toh bilkul apni awaaz

राहुल गांधी ने बोला है कि आदमी के पास पैसे हैं जो आदमी हमारे देश की रक्षा करते हैं जो अपनी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  155
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा नहीं है कि मोदी सरकार आदमी को पैसे नहीं दे रही है बल्कि जो आर्मी होती है उनका भी प्रॉपर बजट होता है हर साल और जो कि तय किया जाता है और उनके पास वह बजट का पूरा पैसा पूरी चीजें पहुंचाई जाती है आदमी जो होती है वह देश की सबसे अच्छी चीज होती है वही देश को हर तरह से गाइड करती है उन को बचाती है हर किसी मुसीबत से जो बाहर से आने वाली होती है तो आदमी के पास है तो फंडिंग टाइम पर टाइम नहीं पहुंचेगी तो कहीं ना कहीं वह देश के लिए बहुत बड़ा खतरा साबित होगा तो ऐसा नहीं है कि इंडिया कॉमेडी यानी कि बीजेपी गवर्नमेंट आदमी के पास पढ़ने नहीं पहुंचा रही है उनके पास पैसे नहीं है बल्कि उनको भी प्रॉपर पैसे भेजे जा रहे हैं और राहुल जी अगर ऐसा कह रहे हैं तो जरूर उनको कुछ मिस अंडरस्टेंडिंग हुई है क्योंकि अगर नए बजट में देखें तो उसमें आदमी के लिए हमेशा से ही एक को फंडिंग अलग से तैयार की जाती है जो उनके पास जाती है उसमें कोई भी कटौती नहीं की गई है तो राहुल जी को पहले अपने हिसाब से स्वीट करनी चाहिए उसके बाद कुछ ऐसा बोलना चाहिए

aisa nahi hai ki modi sarkar aadmi ko paise nahi de rahi hai balki jo army hoti hai unka bhi proper budget hota hai har saal aur jo ki tay kiya jata hai aur unke paas vaah budget ka pura paisa puri cheezen pahunchai jaati hai aadmi jo hoti hai vaah desh ki sabse achi cheez hoti hai wahi desh ko har tarah se guide karti hai un ko bachati hai har kisi musibat se jo bahar se aane wali hoti hai toh aadmi ke paas hai toh funding time par time nahi pahunchegi toh kahin na kahin vaah desh ke liye bahut bada khatra saabit hoga toh aisa nahi hai ki india comedy yani ki bjp government aadmi ke paas padhne nahi pohcha rahi hai unke paas paise nahi hai balki unko bhi proper paise bheje ja rahe hai aur rahul ji agar aisa keh rahe hai toh zaroor unko kuch miss andarastending hui hai kyonki agar naye budget mein dekhen toh usme aadmi ke liye hamesha se hi ek ko funding alag se taiyar ki jaati hai jo unke paas jaati hai usme koi bhi katauti nahi ki gayi hai toh rahul ji ko pehle apne hisab se sweet karni chahiye uske baad kuch aisa bolna chahiye

ऐसा नहीं है कि मोदी सरकार आदमी को पैसे नहीं दे रही है बल्कि जो आर्मी होती है उनका भी प्रॉप

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!