बच्चों का भविष्य बनाने के लिए राजनीतिक गतिविधियों  से कैसे दूर रखना चाहिए?...


user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

2:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यहां पर आपने बताया नहीं है कि क्या आप राजनीति में है क्या आपके घर परिवार में दिन-रात राजनीति की बात होती है अगर ऐसी बात है तो मेरा जवाब दूसरा होता है लेकिन अगर आप साधारण किसी और इंसान की तरह जैसे जीवन है वैसा जीवन बिता रहे हो और राजनीति से दूर रहने की बात कर रहे तू जवाब दूसरा रहता अनिवेश कोई बात नहीं मैं इसलिए बता रहा हूं क्योंकि जब कोई किसी का घर और राजनीति से जुड़ा होता है बहुत घने तरीके से तो जैसे निकली घर का जो वातावरण होता है उसमें जो भी कुछ होता है वह एकदम अलग हो जाता है अलग से होते हैं कि भाई लोगों का आना जाना होता है दिन-रात राजनीति की बातें होती है बहुत सारी चीजें होती हैं अब चाहिए सिनरी हो जाए वह सीन आ रही हो दोनों में भाई जवाब बोलते हैं कि बच्चों का भविष्य बनाने के लिए राजनीतिक गतिविधियों से कैसे दूर रखना चाहिए तो वही बच्चों को जिनका अभी उम्र बगैर आपने बताया नहीं है यह देखने की जरूरत है कि वह इस एनरोलमेंट में ऐसा वातावरण में कम से कम रहे कम से कम आय कम से कम देखें कम से कम महसूस करें यह कैसे हो सकता है बच्चे अपनी पढ़ाई लिखाई है उनका जो भी इसके ड्यूल है वह उसमें ध्यान दें अगर हो सके तो उनका कमरा अलग हो अगर हो सके तो उनके सामने ही राजनीति की कोई भी बात है ना की जाए ताकि वह इन सब चीजों से थोड़े दूर रहें अगर हो जितना हो सके आप उनको इन चीजों में काम इंवॉल्व करें उनका एक्सपीरियंस इसको लेकर बहुत कम हो तभी यह बेहतर रहेगा और यह सब पॉसिबल है इसमें कोई ऐसी बात नहीं है कि यह पॉसिबल नहीं है एकदम पॉसिबल है अगर आप उनको आइसोलेटेड करके रखेंगे थोड़ा सा इसका मतलब यह नहीं हुआ कि आपकी उनसे बातचीत ना हो प्यार ना हो आपका उन पर ध्यान ना हो वह सब कुछ हो लेकिन अभी राजनीति वाला जो चैप्टर है के सामने ना हो इनके सामने आप किसी और से इन सब चीजों को लेकर बात ना करें अपनी वाइफ से भी उन बच्चों के सामने यह सारी चीजें बातें ना करें वगैरा वगैरा तो घर का जो माहौल है उसको राजनीति वाला मत बनाइए जहां पर बच्चे भी हैं बच्चों को इनसे थोड़ा दूर रखिए उनको अपने नित्य नियम पर कार्यक्रम पर ध्यान देने के लिए आधावन बनाइए और कोई दिक्कत परेशानी नहीं है

dekhiye yahan par aapne bataya nahi hai ki kya aap raajneeti mein hai kya aapke ghar parivar mein din raat raajneeti ki baat hoti hai agar aisi baat hai toh mera jawab doosra hota hai lekin agar aap sadhaaran kisi aur insaan ki tarah jaise jeevan hai waisa jeevan bita rahe ho aur raajneeti se dur rehne ki baat kar rahe tu jawab doosra rehta anivesh koi baat nahi main isliye bata raha hoon kyonki jab koi kisi ka ghar aur raajneeti se juda hota hai bahut ghane tarike se toh jaise nikli ghar ka jo vatavaran hota hai usme jo bhi kuch hota hai vaah ekdam alag ho jata hai alag se hote hain ki bhai logo ka aana jana hota hai din raat raajneeti ki batein hoti hai bahut saree cheezen hoti hain ab chahiye scenery ho jaaye vaah seen aa rahi ho dono mein bhai jawab bolte hain ki baccho ka bhavishya banne liye raajnitik gatividhiyon se kaise dur rakhna chahiye toh wahi baccho ko jinka abhi umr bagair aapne bataya nahi hai yah dekhne ki zarurat hai ki vaah is enrollment mein aisa vatavaran mein kam se kam rahe kam se kam aay kam se kam dekhen kam se kam mehsus kare yah kaise ho sakta hai bacche apni padhai likhai hai unka jo bhi iske duel hai vaah usme dhyan de agar ho sake toh unka kamra alag ho agar ho sake toh unke saamne hi raajneeti ki koi bhi baat hai na ki jaaye taki vaah in sab chijon se thode dur rahein agar ho jitna ho sake aap unko in chijon mein kaam invalwa kare unka experience isko lekar bahut kam ho tabhi yah behtar rahega aur yah sab possible hai isme koi aisi baat nahi hai ki yah possible nahi hai ekdam possible hai agar aap unko isolated karke rakhenge thoda sa iska matlab yah nahi hua ki aapki unse batchit na ho pyar na ho aapka un par dhyan na ho vaah sab kuch ho lekin abhi raajneeti vala jo chapter hai ke saamne na ho inke saamne aap kisi aur se in sab chijon ko lekar baat na kare apni wife se bhi un baccho ke saamne yah saree cheezen batein na kare vagera vagaira toh ghar ka jo maahaul hai usko raajneeti vala mat banaiye jaha par bacche bhi hain baccho ko inse thoda dur rakhiye unko apne nitya niyam par karyakram par dhyan dene ke liye adhavan banaiye aur koi dikkat pareshani nahi hai

देखिए यहां पर आपने बताया नहीं है कि क्या आप राजनीति में है क्या आपके घर परिवार में दिन-रात

Romanized Version
Likes  496  Dislikes    views  6318
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!