अक्सर मैंने देखा है ऐसा क्यों होता है हम जिससे प्यार करते हैं वह हमसे प्यार क्यों नहीं करते?...


user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अक्सर मैंने देखा है ऐसा क्यों होता है हम जिसको जिससे प्यार करते हैं वह हमसे प्यार क्यों नहीं करता इसलिए होता है कि आप जिससे प्यार समझते हो आकर्षण आप जिस से आकर्षित होते हैं सामने वाला की सोच अलग हो सकती है और आप से आकर्षित नहीं हो पाती है तो आकर करो प्यार में जो फर्क होता है वही यहां पर थोड़ा गड़बड़ है उनको उसमें बैलेंस करना पड़ता है जिसे हम पसंद करते हैं जिस व्यक्ति को मेल हो या फिर हम बताएं ओके बाद में उनकी पसंद भी कुछ ना चाहिए जो भी होता है आपस में एक दूसरे के प्रति अगर दो व्यक्ति आकर्षित हो तभी हो संबंध आगे बढ़ इसलिए यह सवाल है कि हम जिससे प्यार करते हैं तो हमसे प्यार क्यों नहीं होता तो प्यार सीधा नहीं हो जाता जिसको भी देखा हमको पसंद आ गया प्यार करने लगे क्योंकि इंसान कोई चाबी वाली घड़ी में कोई लड़की शादी वाली घड़ी क्या मुझे पसंद करते हैं राम को सीधा प्यार करने में ऐसा नहीं क्योंकि इंसान उनके पास दिमाग है सोच है अपनी अपनी सोच होती है अपनी अपनी पसंद होती है उसके घर पे सब लोग चलते हैं और दूसरों की सोच को अब सम्मान देंगे तो बहुत ही सुंदर पल पाएंगे वेल्डर

aksar maine dekha hai aisa kyon hota hai hum jisko jisse pyar karte hain vaah humse pyar kyon nahi karta isliye hota hai ki aap jisse pyar samajhte ho aakarshan aap jis se aakarshit hote hain saamne vala ki soch alag ho sakti hai aur aap se aakarshit nahi ho pati hai toh aakar karo pyar mein jo fark hota hai wahi yahan par thoda gadbad hai unko usme balance karna padta hai jise hum pasand karte hain jis vyakti ko male ho ya phir hum bataye ok baad mein unki pasand bhi kuch na chahiye jo bhi hota hai aapas mein ek dusre ke prati agar do vyakti aakarshit ho tabhi ho sambandh aage badh isliye yah sawaal hai ki hum jisse pyar karte hain toh humse pyar kyon nahi hota toh pyar seedha nahi ho jata jisko bhi dekha hamko pasand aa gaya pyar karne lage kyonki insaan koi chabi wali ghadi mein koi ladki shadi wali ghadi kya mujhe pasand karte hain ram ko seedha pyar karne mein aisa nahi kyonki insaan unke paas dimag hai soch hai apni apni soch hoti hai apni apni pasand hoti hai uske ghar pe sab log chalte hain aur dusro ki soch ko ab sammaan denge toh bahut hi sundar pal payenge welder

अक्सर मैंने देखा है ऐसा क्यों होता है हम जिसको जिससे प्यार करते हैं वह हमसे प्यार क्यों

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  1710
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!