महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार में खुश क्यूँ नहीं है कांग्रेस?...


user
Play

Likes  67  Dislikes    views  1073
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पेश है महाराज की उद्धव ठाकरे सरकार से खुश क्यों नहीं है कांग्रेश इसलिए दरबार में सेकंड महत्वपूर्ण भूमिका में राष्ट्रवादी साथ कांग्रेस के नेता शरद पवार हैं वह प्रमुख भूमिका में है दूसरे नंबर पर शिवसेना के बाद और राष्ट्रवादी कांग्रेस कांग्रेस से अलग अस्तित्व दूध के लिए प्रतिस्पर्धा बनी रहती है धारा हिंदुत्व की सरकार उसने

aapka pesh hai maharaj ki uddhav thakare sarkar se khush kyon nahi hai congress isliye darbaar me second mahatvapurna bhumika me rashtrawadi saath congress ke neta sharad power hain vaah pramukh bhumika me hai dusre number par shivsena ke baad aur rashtrawadi congress congress se alag astitva doodh ke liye pratispardha bani rehti hai dhara hindutv ki sarkar usne

आपका पेश है महाराज की उद्धव ठाकरे सरकार से खुश क्यों नहीं है कांग्रेश इसलिए दरबार में से

Romanized Version
Likes  295  Dislikes    views  2621
WhatsApp_icon
play
user

Megh Achaarya

vastu Expert,Motivational Speaker Meditation Studio.

2:51

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकर आ गए इसमें आप एक आम इंसान का अगर ऑपिनियन आप जानना चाहेंगे जो थोड़ा बहुत राजनीति में इंटरेस्ट रखता है या अगर आप किसी ऐसे इंसान से भी पूछना चाहेंगे कि जो राजनीति में पूरी तरह से इंटरेस्ट रखता है वह अपने-अपने नजरिए से अलग अलग जवाब देना चाहेंगे लेकिन अगर आप इसमें महाराष्ट्र में चौथा ठाकरे सरकार है वह उसमें कांग्रेसी खुश क्यों नहीं है देखें कांग्रेस नहीं जो सरकार है वह गठबंधन की सरकार है इस गठबंधन की सरकार को अगर आपका फैमिली अट तौर पर ले ले तो जैसे चाचा मामा और पड़ोस का अंकल वह तीनों मिलकर अगर आपके घर को चला रहे हैं तो घर कैसे चलेगा आप समझ सकते हैं कि उस घर में क्या-क्या आएगा जब एक घर को चलाने के लिए तीन दिमाग लग रहे हैं तीनों तरफ से अलग-अलग विचार चल रहे हैं अभी आ रही है मशवरे भी चल रहे हैं तीन दिमाग अलग अलग तरीके से दिशाएं बदल रही है तो आप अलग-अलग दिशा में चलते हुए कैसे एक सरकार को या एक घर को चला सकते हैं गठबंधन की सरकार में अक्सर ऐसा हो सकता है अगर ऐसा होता भी है कि गठबंधन में बहुत सारे क्रश यस होते हैं एक दूसरे के विचारों में टकरा होते हैं तो कांग्रेस ही नहीं अपितु तीनों एक दूसरे से कहीं ना कहीं असंतुष्ट में रहेंगे असंतुष्ट में रहने का मतलब उनको किसी भी तरह से आप 5 साल निकालने हैं अगर बीच में कुछ भी ऊपर नीचे होता है तो सरकार गिर जाएगी और सरकार गिरने के लिए तीनों में से किसी एक का गिरना मुमकिन हो सकता है स्वभाविक भी हो सकता है क्योंकि कभी भी जब विचारों के टकराव ज्यादा होते हैं अभी जैसा कि मैंने आपको उदाहरण दिया चाचा मामा और पड़ोस का एक अंकन एक परिवार को चला रहे हैं तो तीनों में से अगर बीच में अगर उन्होंने 5 साल का बॉन्ड बनाया है तो 5 साल के बीच में से अगर तीनों में से किसी एक ने भी अपना पल्ला झाड़ लिया पीछे हट तो सरकार उसी टाइम गिर जाएगी और उसी टाइम राष्ट्रपति शासन लागू हो जाएगा तो कांग्रेसी खुश नहीं है बल्कि उधर साहब भी हो सकते हैं उसमें उनको भी थोड़ी बहुत संतुष्टि हो रही होगी क्योंकि सरकार बनाने तक तो हो एक बार आगे आ चुके हैं सरकार उनके हाथ में आ चुकी है ठीक है लेकिन कुछ ना कुछ समस्याएं कुछ ना कुछ संतुष्टि के ऐसे विषय आते ही जिससे आप देखेंगे कि कोई ना कोई आपको मीडिया में सामने से आकर के कहे या फिर अपने ही अंदर बात को दबाकर रखें कि हम खुश नहीं हैं हम संतुष्ट संतुष्ट कैसे मिलेगी भाई 32 के घर को चलाएंगे तो संतुष्टि कैसे मिलेगी तो यह स्वाभाविक है बहुत-बहुत धन्यवाद

lekar aa gaye isme aap ek aam insaan ka agar opinion aap janana chahenge jo thoda bahut raajneeti mein interest rakhta hai ya agar aap kisi aise insaan se bhi poochna chahenge ki jo raajneeti mein puri tarah se interest rakhta hai vaah apne apne nazariye se alag alag jawab dena chahenge lekin agar aap isme maharashtra mein chautha thakare sarkar hai vaah usme congressi khush kyon nahi hai dekhen congress nahi jo sarkar hai vaah gathbandhan ki sarkar hai is gathbandhan ki sarkar ko agar aapka family attack taur par le le toh jaise chacha mama aur pados ka uncle vaah tatvo milkar agar aapke ghar ko chala rahe hain toh ghar kaise chalega aap samajh sakte hain ki us ghar mein kya kya aayega jab ek ghar ko chalane ke liye teen dimag lag rahe hain tatvo taraf se alag alag vichar chal rahe hain abhi aa rahi hai mashvare bhi chal rahe hain teen dimag alag alag tarike se dishaen badal rahi hai toh aap alag alag disha mein chalte hue kaise ek sarkar ko ya ek ghar ko chala sakte hain gathbandhan ki sarkar mein aksar aisa ho sakta hai agar aisa hota bhi hai ki gathbandhan mein bahut saare crush Yes hote hain ek dusre ke vicharon mein takara hote hain toh congress hi nahi apitu tatvo ek dusre se kahin na kahin asantusht mein rahenge asantusht mein rehne ka matlab unko kisi bhi tarah se aap 5 saal nikalne hain agar beech mein kuch bhi upar niche hota hai toh sarkar gir jayegi aur sarkar girne ke liye tatvo mein se kisi ek ka girna mumkin ho sakta hai swabhavik bhi ho sakta hai kyonki kabhi bhi jab vicharon ke takraav zyada hote hain abhi jaisa ki maine aapko udaharan diya chacha mama aur pados ka ek ankan ek parivar ko chala rahe hain toh tatvo mein se agar beech mein agar unhone 5 saal ka Bond banaya hai toh 5 saal ke beech mein se agar tatvo mein se kisi ek ne bhi apna palla jhad liya peeche hut toh sarkar usi time gir jayegi aur usi time rashtrapati shasan laagu ho jaega toh congressi khush nahi hai balki udhar saheb bhi ho sakte hain usme unko bhi thodi bahut santushti ho rahi hogi kyonki sarkar banane tak toh ho ek baar aage aa chuke hain sarkar unke hath mein aa chuki hai theek hai lekin kuch na kuch samasyaen kuch na kuch santushti ke aise vishay aate hi jisse aap dekhenge ki koi na koi aapko media mein saamne se aakar ke kahe ya phir apne hi andar baat ko dabakar rakhen ki hum khush nahi hain hum santusht santusht kaise milegi bhai 32 ke ghar ko chalayenge toh santushti kaise milegi toh yah swabhavik hai bahut bahut dhanyavad

लेकर आ गए इसमें आप एक आम इंसान का अगर ऑपिनियन आप जानना चाहेंगे जो थोड़ा बहुत राजनीति में इ

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  520
WhatsApp_icon
user

Vimal Kumar Gour

General Physician

3:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो नमस्कार सभी लोगों पल भर के लिए आप कहना महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार से खुश क्यों नहीं है कांग्रेसी उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र की सरकार से खुश इसीलिए नहीं है कि वह 3:00 वाली सरकार बनी है तीन पैरों वाली सरकार बनी है एक दूसरे से ना एक अंग्रेज और एक संगठन संगठन की सरकार बनी है कांग्रेस सोनिया गांधी की दिल्ली में पकड़ है तो उसकी वजह से जल्द उठा कर खुश नहीं रह सकते स्वाद के साथ मेरे दोस्त फादर शिव सेना के एक वाहन से रेणिगुंटा ठाकरे जो हुए तो उनके 33 अलंकार है इसीलिए वह खुश नहीं है तो यार तेरा चेतक में जब सब से खुश नहीं हो तो खुश नहीं होंगे तो मैं तेरे हमारे उद्धव ठाकरे जो पहले इससे पहले भी सरकार रह चुकी थी तो उधर ठाकरे ऑफिस बदले बदले थे ठाकरे के निधन के बाद भी हुए हैं उससे इनको और हैरानी हुई है तो ढंग भाई तो हर जगह प्रशासन यहां पर शक्ति नहीं थी वहां पर दंगे हुए हैं और यहां पर शासन शक्ति तथा तो आने में पोजीशन सब हवाई शक्ति में होती है उद्धव ठाकरे फुल सॉन्ग

hello namaskar sabhi logo pal bhar ke liye aap kehna maharashtra ki uddhav thakare sarkar se khush kyon nahi hai congressi uddhav thakare maharashtra ki sarkar se khush isliye nahi hai ki vaah 3 00 wali sarkar bani hai teen pairon wali sarkar bani hai ek dusre se na ek angrej aur ek sangathan sangathan ki sarkar bani hai congress sonia gandhi ki delhi mein pakad hai toh uski wajah se jald utha kar khush nahi reh sakte swaad ke saath mere dost father shiv sena ke ek vaahan se renigunta thakare jo hue toh unke 33 alankar hai isliye vaah khush nahi hai toh yaar tera chetak mein jab sab se khush nahi ho toh khush nahi honge toh main tere hamare uddhav thakare jo pehle isse pehle bhi sarkar reh chuki thi toh udhar thakare office badle badle the thakare ke nidhan ke baad bhi hue hain usse inko aur hairani hui hai toh dhang bhai toh har jagah prashasan yahan par shakti nahi thi wahan par dange hue hain aur yahan par shasan shakti tatha toh aane mein position sab hawai shakti mein hoti hai uddhav thakare full song

हेलो नमस्कार सभी लोगों पल भर के लिए आप कहना महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार से खुश क्यों न

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  331
WhatsApp_icon
user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

2:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी की अगर बात की जाए या कांग्रेस की सरकार की कांग्रेस की जो सरकार है वह तो पिछले सात-आठ सालों में कहीं भी खुश नहीं है और अभी जो हमें हमारा आज का जो चुनाव हुआ था उसमें जो नाटक की है जिससे हमारी किसी हिंदी फिल्म की बॉलीवुड फिल्म होती है जिसका जो बहुत ही अचंभित करने वाला होता है ठीक उसी तरीके से हुआ कि पहले की है पहले भाजपा ने सरकार बनाई और फिर उसके बाद शिवसेना ने कांग्रेस और एनसीपी के साथ वाली कांग्रेसी कांग्रेसी इस समय एक बड़ी पार्टी है उसका जो राजनीति में जो वर्चस्व है वो पूरी तरह से खत्म हो चुका है पहले कांग्रेस को और सहयोगी दल सहयोग देने से सरकार बनाने में आज की स्थिति यह है कि कांग्रेस सहयोगी दलों को सहयोग देगी सरकार बनाने में तो यह सुनने में होना बहुत अजीब सा लगता है तो यह है या कांग्रेस की एक रचना गवारा है इसलिए वह मन माल के अपनी जो सहयोग दे रही है महाराष्ट्र में और बहुत सी जगह सरकार बनाने में तो इस वजह से कांग्रेस की जो सरकार है वह महाराष्ट्र की सरकार में कुछ नहीं है और उद्धव ठाकरे का जो काम करने का तरीका है वह हमेशा शिवसेना के प्रारूप में रहा है शिवसेना हमेशा कांग्रेस के एंटी रही है लेकिन इस समय तो मजबूरी में दोनों का डेंगू से दाल मिल चुकी है और सरकार बनाने के लिए हाथ मिलाना महात्मा गांधी की सरकार जय कांग्रेस की हो जाए ऐसे ना कि वो जनता को यह ध्यान रखना चाहिए कि इस बार भी उन्होंने सरकार को गिराने के लिए वोट दिया था अगर वह सरकार नहीं बन पाई है को अगली बार ऐसा कुछ करें कि यह जो विरोधी दल होते हैं कि समय आने पर कहीं भी पलटी मार लेते हैं उनको वोट ना दें पहले से स्पष्ट करें कि हम वोट उसी को देंगे जो एकमत होकर सरकार बनाएगा ऐसा नहीं कि चुनाव से पहले तो आप उसका विरोध कर रहे थे जैसे ही आपको जरूरत पड़ी आप उसके साथ जाकर मिल गए सोच कर देखिए को देश का क्या भला करे तो इन सभी चीजों को देखते हैं हमें इन चीजों को फॉलो करना

abhi ki agar baat ki jaaye ya congress ki sarkar ki congress ki jo sarkar hai vaah toh pichle saat aath salon mein kahin bhi khush nahi hai aur abhi jo hamein hamara aaj ka jo chunav hua tha usme jo natak ki hai jisse hamari kisi hindi film ki bollywood film hoti hai jiska jo bahut hi achambhit karne vala hota hai theek usi tarike se hua ki pehle ki hai pehle bhajpa ne sarkar banai aur phir uske baad shivsena ne congress aur ncp ke saath wali congressi congressi is samay ek baadi party hai uska jo raajneeti mein jo varchaswa hai vo puri tarah se khatam ho chuka hai pehle congress ko aur sahyogi dal sahyog dene se sarkar banane mein aaj ki sthiti yah hai ki congress sahyogi dalon ko sahyog degi sarkar banane mein toh yah sunne mein hona bahut ajib sa lagta hai toh yah hai ya congress ki ek rachna gawara hai isliye vaah man maal ke apni jo sahyog de rahi hai maharashtra mein aur bahut si jagah sarkar banane mein toh is wajah se congress ki jo sarkar hai vaah maharashtra ki sarkar mein kuch nahi hai aur uddhav thakare ka jo kaam karne ka tarika hai vaah hamesha shivsena ke prarup mein raha hai shivsena hamesha congress ke anti rahi hai lekin is samay toh majburi mein dono ka dengue se daal mil chuki hai aur sarkar banne liye hath milana mahatma gandhi ki sarkar jai congress ki ho jaaye aise na ki vo janta ko yah dhyan rakhna chahiye ki is baar bhi unhone sarkar ko girane ke liye vote diya tha agar vaah sarkar nahi ban payi hai ko agli baar aisa kuch kare ki yah jo virodhi dal hote hai ki samay aane par kahin bhi palati maar lete hai unko vote na de pehle se spasht kare ki hum vote usi ko denge jo ekamat hokar sarkar banayega aisa nahi ki chunav se pehle toh aap uska virodh kar rahe the jaise hi aapko zarurat padi aap uske saath jaakar mil gaye soch kar dekhiye ko desh ka kya bhala kare toh in sabhi chijon ko dekhte hai hamein in chijon ko follow karna

अभी की अगर बात की जाए या कांग्रेस की सरकार की कांग्रेस की जो सरकार है वह तो पिछले सात-आठ स

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  152
WhatsApp_icon
user

N. K. SINGH 'Nitesh'

Educator, Life Coach, Writer and Expert in British English Language, Author of Book/Fiction Lucky Girl (Love vs Marriage)

2:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लकी महाराष्ट्रीय उद्धव ठाकरे सरकार में कांग्रेसी बहुत ज्यादा खुश इसलिए नहीं देखते कि कांग्रेसी और शिवसेना दोनों के जेंडर लंबे समय से अलग अलग और दोनों ही पार्टियां जो भरी हुई है वह अपने अपने एजेंडे के बल पर बुरे हो शिवसेना इतनी बड़ी संख्या में महाराष्ट्र में आई और इलेक्शन से पहले शिवसेना को जो रिलायंस था वह बीजेपी के साथ था यानी कि बीजेपी और शिवसेना के मुद्दों पर अब वहां पर जो काम मिनिमम प्रोग्राम के तहत सरकार चलाई जा रही है और उसने बहुत सारे मुद्दे पीछे छूट रहे हैं और जब कभी इस तरह की हलचल होती है राजनीतिक हलचल जिसमें शिवसेना का पुराना एजेंडा कहीं ना कहीं शामिल होता है तो वैसे ही स्थिति में शिवसेना इस कांग्रेस के एजेंट से उलट अपना पक्ष रखें और इधर कांग्रेश ऐसा सोचने लगती है कि शिवसेना को ऐसा नहीं करना चाहिए या कांग्रेस के लिए नुकसानदेह इस तरह से अंदरूनी खींचतान चलती है कांग्रेसी सिन्हा के बीच जब कभी भी इस तरह के मुद्दे आते हैं जैसे अभी वीर सावरकर के नाम पर जो व्यक्ति दिए गए कांग्रेसी नेताओं के द्वारा और शिवसेना ने सावरकर जी का पक्ष लिया उससे इस बात को समझा जा सकता है कि दोनों के कई पॉइंट आपस में कभी नहीं मिल सकते क्योंकि दोनों ही पार्टियां अपने अलग-अलग एजेंडे पर अपने पांव जमाए दोनों लंबे समय तक प्रोग्राम करें जैसे ही देश में कोई इस तरह की हलचल आती है जिस पर दोनों का अपना अपना पक्ष रखना होगा तो निश्चित रूप से शिवसेना अपनी पुरानी छवि में दिखेगी क्योंकि यदि शिवसेना अपनी पुरानी छवि में नहीं दिखती है तो फिर फिर से ना कश्ती तो नहीं रहेगा शिवसेना को भी अपना अस्तित्व बचाना है और वह कांग्रेस को भी अपना अस्तित्व बचाना है कि शिवसेना किरण में नहीं लगेगा शिवसेना के अलावा माता-पिता में विभिन्नता जो हम कहेंगे यानी दोनों में मतभेद नेता यह दोनों ही पार्टियों में खींचतान का कारण बनती रहेगी और यदा-कदा इसे देखने को भी मिलेगा यही वजह है कि कांग्रेश महाराष्ट्र के उद्धव ठाकरे सरकार में खुश नहीं धन्यवाद

lucky maharashtriya uddhav thakare sarkar mein congressi bahut zyada khush isliye nahi dekhte ki congressi aur shivsena dono ke gender lambe samay se alag alag aur dono hi partyian jo bhari hui hai vaah apne apne agent ke bal par bure ho shivsena itni badi sankhya mein maharashtra mein I aur election se pehle shivsena ko jo reliance tha vaah bjp ke saath tha yani ki bjp aur shivsena ke muddon par ab wahan par jo kaam minimum program ke tahat sarkar chalai ja rahi hai aur usne bahut saare mudde peeche chhut rahe hain aur jab kabhi is tarah ki hulchul hoti hai raajnitik hulchul jisme shivsena ka purana agenda kahin na kahin shaamil hota hai toh waise hi sthiti mein shivsena is congress ke agent se ulat apna paksh rakhen aur idhar congress aisa sochne lagti hai ki shivsena ko aisa nahi karna chahiye ya congress ke liye nukasaanadeh is tarah se andaruni khinchtan chalti hai congressi sinha ke beech jab kabhi bhi is tarah ke mudde aate hain jaise abhi veer savarkar ke naam par jo vyakti diye gaye congressi netaon ke dwara aur shivsena ne savarkar ji ka paksh liya usse is baat ko samjha ja sakta hai ki dono ke kai point aapas mein kabhi nahi mil sakte kyonki dono hi partyian apne alag alag agent par apne paav jamaye dono lambe samay tak program kare jaise hi desh mein koi is tarah ki hulchul aati hai jis par dono ka apna apna paksh rakhna hoga toh nishchit roop se shivsena apni purani chhavi mein dikhegi kyonki yadi shivsena apni purani chhavi mein nahi dikhti hai toh phir phir se na kashti toh nahi rahega shivsena ko bhi apna astitva bachaana hai aur vaah congress ko bhi apna astitva bachaana hai ki shivsena kiran mein nahi lagega shivsena ke alava mata pita mein vibhinnata jo hum kahenge yani dono mein matbhed neta yah dono hi partiyon mein khinchtan ka karan banti rahegi aur yada kada ise dekhne ko bhi milega yahi wajah hai ki congress maharashtra ke uddhav thakare sarkar mein khush nahi dhanyavad

लकी महाराष्ट्रीय उद्धव ठाकरे सरकार में कांग्रेसी बहुत ज्यादा खुश इसलिए नहीं देखते कि कांग्

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  2135
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे की सरकार से खुश क्यों नहीं आ कांग्रेस के उदय ठाकरे की सरकार जो बनी है तो उसको कहते हैं कि 3:00 वाली सरकार बनी है उधर चटर्जी शिवसेना के प्रमुख हैं और कांग्रेस सोनिया गांधी जी की तिल्ली से उनकी कंट्रोल होता है और एनसीपी शरद पवार ने उसके भीष्म पितामह बनी सरकार की सरकार बन गई लेकिन उनकी सरकार से कांग्रेस को थोड़ा हंस संतोष होने की पूरी संभावना है क्योंकि कांग्रेस के सामने ही वह चुनाव लड़े हैं कांग्रेस का विरोध करके ही ही वह चुनाव जीते हैं बीजेपी के साथ रहकर यह सब तो होना ही है और आने वाले समय में कॉन्ग्रेस और उद्धव ठाकरे का शिवसेना का जो विरोध एक दूसरे का सैद्धांतिक हीरो जो है वह धीमे-धीमे उजागर होगा एनसीपी में मुफ्त बनके कब तक बैठेगी उसको भी इस युद्ध में शामिल होना पड़ेगा और बीजेपी तो समझती है और बिल्कुल अच्छे से उसको मालूम है कि तीनों जने मिलकर उनके सिद्धांत सिंह मतभेद के कारण लंबे समय तक सरकार नहीं चला पाएंगे

maharashtra ki uddhav thakare ki sarkar se khush kyon nahi aa congress ke uday thakare ki sarkar jo bani hai toh usko kehte hain ki 3 00 wali sarkar bani hai udhar chatterjee shivsena ke pramukh hain aur congress sonia gandhi ji ki tilli se unki control hota hai aur ncp sharad power ne uske bhishma pitamah bani sarkar ki sarkar ban gayi lekin unki sarkar se congress ko thoda hans santosh hone ki puri sambhavna hai kyonki congress ke saamne hi vaah chunav lade hain congress ka virodh karke hi hi vaah chunav jeete hain bjp ke saath rahkar yah sab toh hona hi hai aur aane waale samay mein congress aur uddhav thakare ka shivsena ka jo virodh ek dusre ka saiddhaantik hero jo hai vaah dhime dhime ujagar hoga ncp mein muft banke kab tak baithegi usko bhi is yudh mein shaamil hona padega aur bjp toh samajhti hai aur bilkul acche se usko maloom hai ki tatvo jane milkar unke siddhant Singh matbhed ke karan lambe samay tak sarkar nahi chala payenge

महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे की सरकार से खुश क्यों नहीं आ कांग्रेस के उदय ठाकरे की सरकार जो ब

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  508
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जहां तक महाराष्ट्र की राजनीति की बात है लेकिन महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मराठा की संख्या है और उसके बाद में हिंदू मुस्लिम ओबीसी ऑल फैक्टर कमा बट महाराष्ट्र में कैसा है कि जो बीजेपी है वह इस साल बहुत ज्यादा लेट से आया था ना मैं जब उनके 10 से 105 सीटें थी और मोदी की सरकार है उनकी बचपन से और राष्ट्रवादी की और कांग्रेस कैसे मिल गए इन्होंने सरकार तो बना दे लेकिन कैसा होता है कि जब गठबंधन होता है कोई भी सरकार हो तो 3 को एक साथ लेकर चलना मुश्किल होता है वही उद्धव जी के साथ भी हो रहा है वह शरद पवार के साथ उनकी ज्यादा मिलती है इसलिए वह किसी मुद्दे पर आसानी से सलामत लत करते हैं यहां कि कांग्रेस एक ओपिनियन था अब से पहले जब आप 2530 सालों से अगर महाराष्ट्र की राजनीति देखी होगी तो उद्धव ठाकरे शिवसेना जो है वह कांग्रेस के आगे ही तो अभी अचानक से एक हो गए और उनकी जो भी जो भी कांग्रेस के नेता है उनकी और उद्धव जी की सरकार शिवसेना इंची विचारधारा है वह मेल नहीं खाती और इनका जो कॉमन मैन है वह है शरद राव जी पवार यह इनके ऊपर बहुत सारा डिपेंड करता है इतना कुछ उनसे करवाते हैं इस पर ज्यादा डिपेंड करता है और यहां तक कांग्रेस नाराज होने की बात है तो उनको ना ही कोई मंत्रिमंडल में विस्तार में कैबिनेट मंत्री में लिया जा रहा है ना ही उनको कुछ जो इंपॉर्टेंट खाते हैं जो भी इंपॉर्टेंट मंत्री है वह सब शिवसेना के और राष्ट्रवादी के हैं तो इसलिए हो सकता है कि कांग्रेस थोड़ा शिवसेना से नाराज होता है क्यू वेरी मच

jahan tak maharashtra ki raajneeti ki baat hai lekin maharashtra mein sabse zyada maratha ki sankhya hai aur uske baad mein hindu muslim obc all factor kama but maharashtra mein kaisa hai ki jo bjp hai vaah is saal bahut zyada late se aaya tha na main jab unke 10 se 105 seaten thi aur modi ki sarkar hai unki bachpan se aur rashtrawadi ki aur congress kaise mil gaye inhone sarkar toh bana de lekin kaisa hota hai ki jab gathbandhan hota hai koi bhi sarkar ho toh 3 ko ek saath lekar chalna mushkil hota hai wahi uddhav ji ke saath bhi ho raha hai vaah sharad power ke saath unki zyada milti hai isliye vaah kisi mudde par aasani se salamat lat karte hain yahan ki congress ek opinion tha ab se pehle jab aap 2530 salon se agar maharashtra ki raajneeti dekhi hogi toh uddhav thakare shivsena jo hai vaah congress ke aage hi toh abhi achanak se ek ho gaye aur unki jo bhi jo bhi congress ke neta hai unki aur uddhav ji ki sarkar shivsena inchi vichardhara hai vaah male nahi khati aur inka jo common man hai vaah hai sharad rav ji power yah inke upar bahut saara depend karta hai itna kuch unse karwaate hain is par zyada depend karta hai aur yahan tak congress naaraj hone ki baat hai toh unko na hi koi mantrimandal mein vistaar mein cabinet mantri mein liya ja raha hai na hi unko kuch jo important khate hain jo bhi important mantri hai vaah sab shivsena ke aur rashtrawadi ke hain toh isliye ho sakta hai ki congress thoda shivsena se naaraj hota hai kyu very match

जहां तक महाराष्ट्र की राजनीति की बात है लेकिन महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मराठा की संख्या ह

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  478
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

3:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार में खुश क्यों नहीं है कांग्रेस देखकर कांग्रेस का विचार अलग है शिवसेना का विचार अलग है और एनसीपी का विचार अलग है मैं पहले भी उत्तर दिया हूं कि यह तीन पहिए वाली गाड़ी है और यह तीन पहिए वाली गाड़ी की तरह जो सरकार है यह ज्यादा दिन तक नहीं चल पाएगी और ज्यादा तेज नहीं चल पाएगी और ज्यादा दूर तक भी नहीं चल पाएगी क्योंकि शिवसेना हिंदुत्व के नाम पर राजनीति करती है कांग्रेस पार्टी राष्ट्र विरोध के नाम पर राजनीति करती है और एनसीपी भी राष्ट्रों के नाम पर राजनीति करती और शिवसेना ने खुद को मुख्यमंत्री बनाने के लिए उधव ठाकरे साहब ने गठबंधन कर लिया और इस गठबंधन से आने वाले चुनाव में सबसे अधिक नुकसान शिवसेना का होगा क्योंकि शिवसेना ने भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था चुनाव लड़ने के बाद बाद में शिवसेना बोल रही है कि हमें मुख्यमंत्री बनाया जाए भैया आपका सीट भी कम है और आप मुख्यमंत्री भी बनना चाहते हो जबकि पहले चुनाव के पहले आपने बोला था कि देवेंद्र फडणवीस जी मुख्यमंत्री बनेंगे तो बात से शिवसेना पार्टी मुकर गई अब जो बात से राजनीति में मुकर जाता है उसको जनता जवाब देती है अगले चुनाव में कांग्रेस का विचार एकदम अलग है और कांग्रेस के विपक्ष में रहने वाली शिवसेना पार्टी है कांग्रेस पार्टी आतंकवादियों के साथ चाय पीती है धारा 370 नहीं हटाने की बात करती थी राम मंदिर नहीं बनने देंगे उसकी बात करती थी वहीं शिवसेना बोलती थी कि राम मंदिर बनना चाहिए धारा 370 हटना चाहिए आज वहीं शिवसेना जो लोग धारा 370 नहीं हटने देना चाहते थे उनके साथ मिलकर सरकार बनाए हैं यानी बालासाहेब ठाकरे साहब के सम्मान का मजाक उड़ाया है शिवसेना पार्टी के प्रमुख उद्धव ठाकरे साहब ने और उनकी आत्मा आज उधव ठाकरे साहब को देखती होगी कि मेरे बेटे ने कितना गलत कदम उठाया है और इसका खामियाजा आने वाले चुनाव में शिवसेना पार्टी को भुगतना पड़ेगा क्योंकि शिवसेना को बनाने वाले उधव ठाकरे बालासाहेब ठाकरे साहब का यह देश बहुत सम्मान करता है और उसी सम्मान के माध्यम से शिवसेना के वर्तमान के प्रमुख को भी सम्मान मिलता था लेकिन उन्होंने सम्मान का मजाक बनाया और कांग्रेस के साथ गठबंधन कर लिया जिस कांग्रेसका शिवसेना हमेशा विरोध करती थी आज उसके साथ मिलकर यह लोग सरकार चला रहे हैं तो हम कह सकते हैं कि यह सरकार ज्यादा दिन तक नहीं चल पाएगी और कांग्रेस पार्टी शिवसेना को पक्का झटका देगी इसमें कोई दो राय नहीं है उस समय बहुत जल्दी आएगा जब महाराष्ट्र में सरकार गिरेगी और भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनेगी देवेंद्र फडणवीस जी वहां के मुख्यमंत्री बनेंगे धन्यवाद

aapka sawaal hai ki maharashtra ki uddhav thakare sarkar mein khush kyon nahi hai congress dekhkar congress ka vichar alag hai shivsena ka vichar alag hai aur ncp ka vichar alag hai pehle bhi uttar diya hoon ki yah teen pahiye wali gaadi hai aur yah teen pahiye wali gaadi ki tarah jo sarkar hai yah zyada din tak nahi chal payegi aur zyada tez nahi chal payegi aur zyada dur tak bhi nahi chal payegi kyonki shivsena hindutv ke naam par raajneeti karti hai congress party rashtra virodh ke naam par raajneeti karti hai aur ncp bhi rashtro ke naam par raajneeti karti aur shivsena ne khud ko mukhyamantri banne liye udhav thakare saheb ne gathbandhan kar liya aur is gathbandhan se aane waale chunav mein sabse adhik nuksan shivsena ka hoga kyonki shivsena ne bharatiya janta party ke saath milkar chunav lada tha chunav ladane ke baad baad mein shivsena bol rahi hai ki hamein mukhyamantri banaya jaaye bhaiya aapka seat bhi kam hai aur aap mukhyamantri bhi bana chahte ho jabki pehle chunav ke pehle aapne bola tha ki devendra fadnavis ji mukhyamantri banenge toh baat se shivsena party mukar gayi ab jo baat se raajneeti mein mukar jata hai usko janta jawab deti hai agle chunav mein congress ka vichar ekdam alag hai aur congress ke vipaksh mein rehne wali shivsena party hai congress party aatankwadion ke saath chai piti hai dhara 370 nahi hatane ki baat karti thi ram mandir nahi banne denge uski baat karti thi wahi shivsena bolti thi ki ram mandir bana chahiye dhara 370 hatna chahiye aaj wahi shivsena jo log dhara 370 nahi hatane dena chahte the unke saath milkar sarkar banaye hai yani balasaheb thakare saheb ke sammaan ka mazak udaya hai shivsena party ke pramukh uddhav thakare saheb ne aur unki aatma aaj udhav thakare saheb ko dekhti hogi ki mere bete ne kitna galat kadam uthaya hai aur iska khamiyaja aane waale chunav mein shivsena party ko bhugatna padega kyonki shivsena ko banane waale udhav thakare balasaheb thakare saheb ka yah desh bahut sammaan karta hai aur usi sammaan ke madhyam se shivsena ke vartaman ke pramukh ko bhi sammaan milta tha lekin unhone sammaan ka mazak banaya aur congress ke saath gathbandhan kar liya jis kangresaka shivsena hamesha virodh karti thi aaj uske saath milkar yah log sarkar chala rahe hai toh hum keh sakte hai ki yah sarkar zyada din tak nahi chal payegi aur congress party shivsena ko pakka jhatka degi isme koi do rai nahi hai us samay bahut jaldi aayega jab maharashtra mein sarkar giregi aur bharatiya janta party ki sarkar banegi devendra fadnavis ji wahan ke mukhyamantri banenge dhanyavad

आपका सवाल है कि महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार में खुश क्यों नहीं है कांग्रेस देखकर कांग्

Romanized Version
Likes  141  Dislikes    views  3564
WhatsApp_icon
play
user

Priybrat

Blogger Motivation Speker Writer

0:30

Likes  4  Dislikes    views  79
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!