लड़की पर और रुपयों पर इंसान क्यों मर मिट जाता है?...


user

Naresh Kumar

Sports Coach and Ayurveda Treatment

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज का इंसान क्या है लालची हो चुका है जिसके कारण यह सब कुछ हो रहा है क्योंकि जो इंसान हैं वह किसी की अहमियत नहीं जानता बल्कि एक पैसे की ही अहमियत जानता है

aaj ka insaan kya hai lalchi ho chuka hai jiske karan yah sab kuch ho raha hai kyonki jo insaan hain vaah kisi ki ahamiyat nahi jaanta balki ek paise ki hi ahamiyat jaanta hai

आज का इंसान क्या है लालची हो चुका है जिसके कारण यह सब कुछ हो रहा है क्योंकि जो इंसान हैं व

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  940
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लड़की पर आरोपियों पर इंसान क्यों मन मिलता है इंसान की सोच होती है समझ होती है श्मशान में सभी लोग एक जैसे नहीं होते कुछ लोग दौलत के भूखे होते हैं और सुंदरता की बूटी होते हैं और कुछ लोग दौलत तो सुंदरता को केवल यह समझते हैं कि जीवन का एक हिस्सा है उसी को उपभोग की वस्तु नहीं मानते इसलिए वे लोग इनसे प्रभावित नहीं होते लेकिन जो लोग अगर उसे उपभोग की वस्तु मांगते हैं तो निश्चित रूप से उनकी तरफ आकर्षित होते हैं इसलिए आए वह लड़की हो या ताशा हो लो कुछ भी कर गुजरते हैं कितने से बड़े से बड़ा सांप कितने बड़े से बड़ा अपराध तो की आकर्षण इंसान को बुराई की तरफ खींचता है और साधारण इंसान के अंदर सद्गुण को जन्म देता है

ladki par aaropiyon par insaan kyon man milta hai insaan ki soch hoti hai samajh hoti hai shmashan me sabhi log ek jaise nahi hote kuch log daulat ke bhukhe hote hain aur sundarta ki buti hote hain aur kuch log daulat toh sundarta ko keval yah samajhte hain ki jeevan ka ek hissa hai usi ko upbhog ki vastu nahi maante isliye ve log inse prabhavit nahi hote lekin jo log agar use upbhog ki vastu mangate hain toh nishchit roop se unki taraf aakarshit hote hain isliye aaye vaah ladki ho ya tasha ho lo kuch bhi kar gujarate hain kitne se bade se bada saap kitne bade se bada apradh toh ki aakarshan insaan ko burayi ki taraf khinchata hai aur sadhaaran insaan ke andar sadgun ko janam deta hai

लड़की पर आरोपियों पर इंसान क्यों मन मिलता है इंसान की सोच होती है समझ होती है श्मशान में

Romanized Version
Likes  386  Dislikes    views  3015
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका फेसबुक लड़की पढ़ती है पर इंसान क्या मांगू जाता है अपनी भूमिका के कारण और अपनी लड़की और पैसों का अपनी जान देते हैं

aapka facebook ladki padhati hai par insaan kya maangu jata hai apni bhumika ke karan aur apni ladki aur paison ka apni jaan dete hain

आपका फेसबुक लड़की पढ़ती है पर इंसान क्या मांगू जाता है अपनी भूमिका के कारण और अपनी लड़की औ

Romanized Version
Likes  220  Dislikes    views  1886
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

0:53
Play

Likes  154  Dislikes    views  3549
WhatsApp_icon
user

DR. MANISH

MULTI TASKER & DR.M.D (A.M.), B-PHARMA, PGDM-M

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो लड़की पर आरोपियों पर इंसान ही मरता है क्यों बैठता है क्योंकि दोनों की है जो मुझे देखती है इसलिए मर मिट जाए तो मजे नहीं देती उसको कोई नहीं मिटता समझ गया तू भी असली मिठाई की लड़की मुझे तेरी है और ऊपर भी मजे ले रहे थे गाड़ी ले आया रुपए थे मोबाइल ले आया रुपए थे रिचार्ज करा ले रुपए बढ़िया-बढ़िया

dekho ladki par aaropiyon par insaan hi marta hai kyon baithta hai kyonki dono ki hai jo mujhe dekhti hai isliye mar mit jaaye toh maje nahi deti usko koi nahi mitta samajh gaya tu bhi asli mithai ki ladki mujhe teri hai aur upar bhi maje le rahe the gaadi le aaya rupaye the mobile le aaya rupaye the recharge kara le rupaye badhiya badhiya

देखो लड़की पर आरोपियों पर इंसान ही मरता है क्यों बैठता है क्योंकि दोनों की है जो मुझे देखत

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  384
WhatsApp_icon
user

Ansh jalandra

Motivational speaker & criminal lawyer

0:29
Play

Likes  118  Dislikes    views  2332
WhatsApp_icon
user

Dinesh Mishra

Theosophists | Accountant

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लड़की पर और रुपयों पर इंसान क्यों मर मिट जाता है देखिए जीवन में यह दोनों ही आकर्षण के केंद्र बिंदु हुआ करते हैं इस कारण से व्यक्ति जो है वह है इनमें आनंदित हुआ करता है व्यक्ति जो है लड़की और रुपए यह दोनों आकर्षण होने के कारण इस पर मर मिट जाता है यह हकीकत हुआ करती है

ladki par aur rupyon par insaan kyon mar mit jata hai dekhiye jeevan me yah dono hi aakarshan ke kendra bindu hua karte hain is karan se vyakti jo hai vaah hai inmein anandit hua karta hai vyakti jo hai ladki aur rupaye yah dono aakarshan hone ke karan is par mar mit jata hai yah haqiqat hua karti hai

लड़की पर और रुपयों पर इंसान क्यों मर मिट जाता है देखिए जीवन में यह दोनों ही आकर्षण के केंद

Romanized Version
Likes  201  Dislikes    views  1606
WhatsApp_icon
user

Vinod Kumar Pandey

Life Coach | Career Counsellor ::Relationship Counsellor :: Parenting Counsellor

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप ने प्रश्न किया कि लड़की पर और रुपए पर इंसान क्यों मर मिट जाता है यह कहीं ना कहीं व्यक्त किया जानता होती है ना समझी होती है कि वह यह नहीं समझ पाता कि हमारे जीवन में हमारे जीवन की खुशी के लिए महत्वपूर्ण क्या है कहीं ना कहीं उसे यह गलतफहमी होती है कि अगर यह दोनों चीजें हमारे जीवन में आ गई तो फिर हमारे जीवन में किसी चीज की कमी नहीं रह जाएगी इसीलिए कहीं ना कहीं इन चीजों को पाने के लिए वह किसी भी हद तक जाता है और कोई भी कार्य कहना कहीं का डालता है ध्यान रखेंगे कि इन दोनों चीजों को पाने के लिए व्यर्थ कहीं ना कहीं कभी ना कभी गलत रास्ते भी तय कर लेता है लेकिन वह उन चीजों को गलत रास्ते को तय करने के भी वह चीज बात हो जाता है लेकिन कहीं ना कहीं उसके जीवन से शांति उसके जीवन से खुशी और संतुष्टि कहीं ना कहीं बिल्कुल गायब हो जाती है और वह अपने जो मैं कहीं ना कहीं बहुत अत्यधिक तनाव ले लेता है इसलिए ध्यान रखेंगे कि इन दोनों चीजों की जीवन में आवश्यकता तो होती है लेकिन कभी भी जीवन का मुख्य लक्ष्य बिल्कुल नहीं बनाना चाहिए ध्यान रखेंगे आप रूपों से अपनी जरूरतें खरीद सकते हैं आपकी नी सुख सुविधाएं करे सकते हैं लेकिन जीवन में मानसिक शांति को नहीं खरीद सकते हैं संतुष्टि को नहीं खरीद सकते खुशी को नहीं खरीद सकते इसलिए बहुत जरूरी है कि आप जो आवश्यकता वाली चीजें हैं उनको सिर्फ उतना ही इंपॉर्टेंस दीजिए कि जैसे आपके जीवन की जरूरत की सारी चीजें पूरी हो जाए मेरी बहुत-बहुत शुभकामनाएं धन्यवाद

aap ne prashna kiya ki ladki par aur rupaye par insaan kyon mar mit jata hai yah kahin na kahin vyakt kiya jaanta hoti hai na samjhi hoti hai ki vaah yah nahi samajh pata ki hamare jeevan mein hamare jeevan ki khushi ke liye mahatvapurna kya hai kahin na kahin use yah galatfahamee hoti hai ki agar yah dono cheezen hamare jeevan mein aa gayi toh phir hamare jeevan mein kisi cheez ki kami nahi reh jayegi isliye kahin na kahin in chijon ko paane ke liye vaah kisi bhi had tak jata hai aur koi bhi karya kehna kahin ka dalta hai dhyan rakhenge ki in dono chijon ko paane ke liye vyarth kahin na kahin kabhi na kabhi galat raste bhi tay kar leta hai lekin vaah un chijon ko galat raste ko tay karne ke bhi vaah cheez baat ho jata hai lekin kahin na kahin uske jeevan se shanti uske jeevan se khushi aur santushti kahin na kahin bilkul gayab ho jaati hai aur vaah apne jo main kahin na kahin bahut atyadhik tanaav le leta hai isliye dhyan rakhenge ki in dono chijon ki jeevan mein avashyakta toh hoti hai lekin kabhi bhi jeevan ka mukhya lakshya bilkul nahi banana chahiye dhyan rakhenge aap roopon se apni jaruratein kharid sakte hain aapki ni sukh suvidhaen kare sakte hain lekin jeevan mein mansik shanti ko nahi kharid sakte hain santushti ko nahi kharid sakte khushi ko nahi kharid sakte isliye bahut zaroori hai ki aap jo avashyakta wali cheezen hain unko sirf utana hi importance dijiye ki jaise aapke jeevan ki zarurat ki saree cheezen puri ho jaaye meri bahut bahut subhkamnaayain dhanyavad

आप ने प्रश्न किया कि लड़की पर और रुपए पर इंसान क्यों मर मिट जाता है यह कहीं ना कहीं व्यक्त

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  10
WhatsApp_icon
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अकबर से लड़की और रुपयों परेशान क्यों मर मिट जाता है तो यहां को बताए जाएंगे कि पुरातन काल से एक ही कहावत चली आ रही है कि इंसान सिर्फ तीन चीजों के पीछे भागता है 10 जोरू और जमीन अगर इन तीन चीजों को अपने दिमाग से निकाल दिया जाए तो दुनिया से आधे से ज्यादा लड़ाई के कारण खत्म हो जाएंगे मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद

akbar se ladki aur rupyon pareshan kyon mar mit jata hai toh yahan ko bataye jaenge ki puratan kaal se ek hi kahaavat chali aa rahi hai ki insaan sirf teen chijon ke peeche bhagta hai 10 joru aur jameen agar in teen chijon ko apne dimag se nikaal diya jaaye toh duniya se aadhe se zyada ladai ke karan khatam ho jaenge main subhkamnaayain aapke saath hain dhanyavad

अकबर से लड़की और रुपयों परेशान क्यों मर मिट जाता है तो यहां को बताए जाएंगे कि पुरातन काल स

Romanized Version
Likes  747  Dislikes    views  7046
WhatsApp_icon
user
0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लड़की और रुपए को इंसान इस वजह से मार मिलता है कि जो समय खुद को देना चाहिए वह अपने लिए दे नहीं पाता है इस वजह से यह कि यह कहा जाए कि दुनिया की जो हर एक जरूरतमंद पूरा करने के लिए होता है उसे ही वह समझ बैठता है

ladki aur rupaye ko insaan is wajah se maar milta hai ki jo samay khud ko dena chahiye vaah apne liye de nahi pata hai is wajah se yah ki yah kaha jaaye ki duniya ki jo har ek jaruratmand pura karne ke liye hota hai use hi vaah samajh baithta hai

लड़की और रुपए को इंसान इस वजह से मार मिलता है कि जो समय खुद को देना चाहिए वह अपने लिए दे न

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!