विभिन्न टीवी रियलिटी शो भी आजकल समाज में एक बड़ी समस्या के रूप में अपमानजनक विवाह को पहचानते हैं। Emotional Atyachar शो में आपने जिन विभिन्न मामलों के बारे में सलाह दी है, उनके बारे में बताएं?...


user

Nita Nayyar

Writer ,Motivational Speaker, Social Worker n Counseller.

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां आजकल मैं देखती हूं बहुत से ऐसे टीवी सीरियल है जिनमें कभी बहू पर अत्याचार हो रहा है तो कभी सांसों पर तो कभी वृद्धों पर और कभी-कभी घर के बच्चों पर और कभी-कभी घर के नौकरों पर इमोशनल अत्याचार या यदि कल अत्याचार जो भी आप कह दीजिए यह बहुत कॉमन होता जा रहा है और इसमें अपमानजनक विवाह को भी दिखाया जाता है क्योंकि विवाह में बहुत सारी ऐसी कमियां हैं हमारे देश में ही स्त्रियों को बहुत नीचे माना जाता है तो पुरुष उसमें बहुत ज्यादा लोग जो मारा है और स्त्री बहुत दब रही है सीरियल्स में ऐसा देखा है मैंने लेकिन ज्यादातर मैंने जो मैं सीरियल देखती हूं और उनमें देखा है कलर्स पर ज़ी टीवी पर स्टार प्लस पर उसमें स्त्रियों को बढ़ा बोल्ड और बड़ा ही दिखा दिखाया है कि घर का हर डिसीजन वॉइस प्रिया ले रही हैं पता नहीं वह कौन से जमाने की स्त्रियां है मुझे तो कोई समझ आता नहीं कि जहां तहां वह पहुंच जाती है गुंडों क्या डे पर भी चली जाती हैं और पुलिस ऑफिसर को भी शिकायत करने पहुंच जाती हैं और जहां एक्सीडेंट का सीन होता है वहां भी जीत में बैठकर पहुंच जाएंगी तो मेरे आस-पास तो ऐसी स्त्रियां नहीं है और इमोशनल अत्याचार टीवी में और सीरियल्स में कुछ ज्यादा ही दिखाया जा रहा है तो कई बार तो मैं वह सीरियल देखना बंद कर देती हूं जिसमें इस तरीके की बातें होती हैं और पता नहीं कौन सी दुनिया से वह कहानी लेकर आ रहे हैं कहां से बिल्कुल मेरी समझ से परे हो जाता है यह

haan aajkal main dekhti hoon bahut se aise TV serial hai jinmein kabhi bahu par atyachar ho raha hai toh kabhi shanson par toh kabhi vriddhon par aur kabhi kabhi ghar ke baccho par aur kabhi kabhi ghar ke naukaron par emotional atyachar ya yadi kal atyachar jo bhi aap keh dijiye yah bahut common hota ja raha hai aur isme apamanajanak vivah ko bhi dikhaya jata hai kyonki vivah me bahut saari aisi kamiyan hain hamare desh me hi sthreeyon ko bahut niche mana jata hai toh purush usme bahut zyada log jo mara hai aur stree bahut dab rahi hai siriyals me aisa dekha hai maine lekin jyadatar maine jo main serial dekhti hoon aur unmen dekha hai colors par zee TV par star plus par usme sthreeyon ko badha bold aur bada hi dikha dikhaya hai ki ghar ka har decision voice priya le rahi hain pata nahi vaah kaun se jamane ki striyan hai mujhe toh koi samajh aata nahi ki jaha tahan vaah pohch jaati hai gundo kya day par bhi chali jaati hain aur police officer ko bhi shikayat karne pohch jaati hain aur jaha accident ka seen hota hai wahan bhi jeet me baithkar pohch jayegi toh mere aas paas toh aisi striyan nahi hai aur emotional atyachar TV me aur siriyals me kuch zyada hi dikhaya ja raha hai toh kai baar toh main vaah serial dekhna band kar deti hoon jisme is tarike ki batein hoti hain aur pata nahi kaun si duniya se vaah kahani lekar aa rahe hain kaha se bilkul meri samajh se pare ho jata hai yah

हां आजकल मैं देखती हूं बहुत से ऐसे टीवी सीरियल है जिनमें कभी बहू पर अत्याचार हो रहा है तो

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  563
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Tanay Mishra

Head Control Clerk In Forest Department U.P.

0:48

Likes  6  Dislikes    views  147
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!