क्या प्यार अच्छा है या दोस्ती?...


user

Kavita Panyam

Certified Award Winning Counseling Psychologist

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्ती और प्यार में डिफरेंट दोस्ती की जीत होगी क्योंकि दोस्ती जो है वह कंडीशनर नहीं है दोस्त अगर सच्चा दोस्त है तो वह जीवन भर आपके साथ रहेगा प्यार का भरोसा नहीं क्योंकि प्यारे कंडीशनर चीज है अगर आप के प्रेमी ने आप को टेंशन नहीं दिया हो फोन नहीं किया हो गया नहीं लेकर आए हो या फिर सही बर्ताव नहीं किया हो तो हो सकता है कि प्यार कम हो जाए या खत्म हो जाए लेकिन दोस्ती जो है अगर आप में अनबन हैं तो भी उसको सुला की जा सकती है और दो दोस्त फिर से वापस आ सकते हैं क्योंकि वह एक बार क्रिएट होता है जो बचत फॉर लाइफ प्यार काम ही नहीं कह सकते अगर दोस्ती के बाद प्यार हुआ हो तो रखेंगे के तो कोई ऐसा रिश्ता जो दोस्ती के बाद प्यार में जो होता है वह बहुत ही मजबूत रिश्ता होता है तो अगर आप पूछेंगे कि दोस्ती और प्यार में क्या दादा आप इंपॉर्टेंट है क्या ज्यादा अच्छा है तो डेफिनेटली शुरुआत दोस्ती से कीजिए तो ज्यादा निभाएगी अगर डायरेक्टली आप XXX ट्रैक्शन देखिए प्यार तक पहुंचते हैं और दोस्ती नहीं है तो उसको फिर आप प्यार कैसे कह सकते उसको प्यार का नाम कैसे देख सकते हैं उसकी एंड प्यार बोतल इंटरनेट अगर आप किसी के दोस्त नहीं है तो उसे प्यार कैसे कर सकते हैं अगर आप अगर आप किसी से प्यार करते हैं उसके दोस्त नहीं है तो प्यार कैसे हो सकता है तो प्लीज सोचिए उसके बारे में और आपके विचार क्या है जरा बताइए बताइए

dosti aur pyar mein different dosti ki jeet hogi kyonki dosti jo hai vaah conditioner nahi hai dost agar saccha dost hai toh vaah jeevan bhar aapke saath rahega pyar ka bharosa nahi kyonki pyare conditioner cheez hai agar aap ke premi ne aap ko tension nahi diya ho phone nahi kiya ho gaya nahi lekar aaye ho ya phir sahi bartaav nahi kiya ho toh ho sakta hai ki pyar kam ho jaaye ya khatam ho jaaye lekin dosti jo hai agar aap mein anban hain toh bhi usko sula ki ja sakti hai aur do dost phir se wapas aa sakte hain kyonki vaah ek baar create hota hai jo bachat for life pyar kaam hi nahi keh sakte agar dosti ke baad pyar hua ho toh rakhenge ke toh koi aisa rishta jo dosti ke baad pyar mein jo hota hai vaah bahut hi majboot rishta hota hai toh agar aap puchenge ki dosti aur pyar mein kya dada aap important hai kya zyada accha hai toh definetli shuruat dosti se kijiye toh zyada nibhayegi agar directly aap XXX traction dekhiye pyar tak pahunchate hain aur dosti nahi hai toh usko phir aap pyar kaise keh sakte usko pyar ka naam kaise dekh sakte hain uski and pyar bottle internet agar aap kisi ke dost nahi hai toh use pyar kaise kar sakte hain agar aap agar aap kisi se pyar karte hain uske dost nahi hai toh pyar kaise ho sakta hai toh please sochiye uske bare mein aur aapke vichar kya hai zara bataye bataiye

दोस्ती और प्यार में डिफरेंट दोस्ती की जीत होगी क्योंकि दोस्ती जो है वह कंडीशनर नहीं है दोस

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  917
KooApp_icon
WhatsApp_icon
17 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!