Solar Eclipse 2019: सूर्य ग्रहण से जुड़ी कुछ अंधविश्वासी बातें क्या हैं?...


play
user

Megh Achaarya

vastu Expert,Motivational Speaker Meditation Studio.

2:20

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सूर्य ग्रहण से जुड़े कुछ अंधविश्वासी बातें तो कुछ ज्यादा खास नहीं है लेकिन हां मैं आपको एक जानकारी जरूर देना चाहूंगा कि कि वह जो जानकारी है वह सूर्य ग्रहण से ही जुड़ी हुई हैं देखें तो हमारा जीवन है हमको जो जीवन मिला है जो पृथ्वी पर जीवन संभव हुआ है जब उसमें सूर्य चंद्र दोनों का बहुत बड़ा हाथ है अगर सूर्य और चंद्र नहीं होते तो हमारा जीवन इस पृथ्वी पर संभव नहीं होता इसलिए यह दोनों पूजनीय है क्योंकि इनकी वजह से ही आज हमें जीवन मिला है तो बस आप इनकी पूछा मत कीजिए लेकिन बस इनको थोड़ा सम्मान दीजिए इसलिए सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण से जुड़ी हुई बहुत सारी बातों को अंधविश्वासी माना जाता है लेकिन कहीं ना कहीं उम्र में थोड़ी बहुत सच्चाई है क्योंकि इन्हीं से हमारा जीवन संभव हुआ तो बहुत सारी चीजें हम जो हमारा आज का विज्ञान है विज्ञान के बारे में भी मैं एक बात कहना चाहूंगा कि हम जो हमारे शास्त्रों में लिखा है उसको विज्ञान नहीं मानते उसको अंधविश्वास मानते लेकिन धीरे-धीरे जो नशा अगर उसको सर्टिफाइड कर कर दे तो हम उसे माने ले जाते हैं तो हम देख रहे हैं कि ना सब बहुत सारी ऐसी चीजों को सर्टिफाइड करते चले जा रहे हैं जिसको हमारे शास्त्रों में 15000 साल पहले लिख दिया गया था तो अच्छी बात है आप सर्टिफिकेट के हिसाब से चली है और कुछ लोग ऐसे हैं जो शास्त्रों के हिसाब से चलते हैं इसलिए बहुत सारी चीजें जैसे के पेड़ों में जान होती है पेड़ एक दूसरे को मैसेज भेज सकते हैं अगर नया 2 किलोमीटर दूर एक पेड़ है उसको नमी की जरूरत है तो 2 किलोमीटर 10 किलोमीटर मतलब काफी दूर से भी पेट उसका नाम भेज सकते हैं यह साइंस में प्रूफ किया है लेकिन हमारे शास्त्रों में तो हम पीपल की पहले से ही पूजा करते आ रहे हैं पेपर की पूजा इसलिए की जाती है क्योंकि वह 480 जन्म देता है और बरगद का पेड़ भी तो बेशक विचारधारा अलग अलग है लेकिन अगर साइंटिफिक तरीके से देखा जाए तो इनमें काफी सच्चाई है शायद हम उसको बाद में फॉलो करना शुरू करेंगे क्योंकि जब हमें सर्टिफिकेट मिल जाएगा वह भी नासा से बहुत-बहुत शुभकामनाएं मेरी आपके साथ हैं बहुत-बहुत धन्यवाद

surya grahan se jude kuch andhavishvasi batein toh kuch zyada khaas nahi hai lekin haan main aapko ek jaankari zaroor dena chahunga ki ki vaah jo jaankari hai vaah surya grahan se hi judi hui hain dekhen toh hamara jeevan hai hamko jo jeevan mila hai jo prithvi par jeevan sambhav hua hai jab usme surya chandra dono ka bahut bada hath hai agar surya aur chandra nahi hote toh hamara jeevan is prithvi par sambhav nahi hota isliye yah dono pujaniya hai kyonki inki wajah se hi aaj hamein jeevan mila hai toh bus aap inki poocha mat kijiye lekin bus inko thoda sammaan dijiye isliye surya grahan aur chandra grahan se judi hui bahut saree baaton ko andhavishvasi mana jata hai lekin kahin na kahin umr mein thodi bahut sacchai hai kyonki inhin se hamara jeevan sambhav hua toh bahut saree cheezen hum jo hamara aaj ka vigyan hai vigyan ke bare mein bhi main ek baat kehna chahunga ki hum jo hamare shastron mein likha hai usko vigyan nahi maante usko andhavishvas maante lekin dhire dhire jo nasha agar usko Certified kar kar de toh hum use maane le jaate hain toh hum dekh rahe hain ki na sab bahut saree aisi chijon ko Certified karte chale ja rahe hain jisko hamare shastron mein 15000 saal pehle likh diya gaya tha toh achi baat hai aap certificate ke hisab se chali hai aur kuch log aise hain jo shastron ke hisab se chalte hain isliye bahut saree cheezen jaise ke pedon mein jaan hoti hai ped ek dusre ko massage bhej sakte hain agar naya 2 kilometre dur ek ped hai usko nami ki zarurat hai toh 2 kilometre 10 kilometre matlab kaafi dur se bhi pet uska naam bhej sakte hain yah science mein proof kiya hai lekin hamare shastron mein toh hum pipal ki pehle se hi puja karte aa rahe hain paper ki puja isliye ki jaati hai kyonki vaah 480 janam deta hai aur bargad ka ped bhi toh beshak vichardhara alag alag hai lekin agar scientific tarike se dekha jaaye toh inme kaafi sacchai hai shayad hum usko baad mein follow karna shuru karenge kyonki jab hamein certificate mil jaega vaah bhi NASA se bahut bahut subhkamnaayain meri aapke saath hain bahut bahut dhanyavad

सूर्य ग्रहण से जुड़े कुछ अंधविश्वासी बातें तो कुछ ज्यादा खास नहीं है लेकिन हां मैं आपको एक

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  411
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!