क्या आपको लगता है कि एक भारतीय राजनेताओं को विशेष रूप से शिक्षित होना चाहिए?...


play
user

Kumaresh Haldar

Journalist

0:48

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मध्य प्रदेश

madhya pradesh

मध्य प्रदेश

Romanized Version
Likes  64  Dislikes    views  2013
WhatsApp_icon
20 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vijay Singh

Social Worker

1:17
Play

Likes  95  Dislikes    views  1367
WhatsApp_icon
user

Mo.Azhar Shaikh

Social Worker

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षण बहुत जरूरी है विमल 2018

shikshan bahut zaroori hai vimal 2018

शिक्षण बहुत जरूरी है विमल 2018

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  590
WhatsApp_icon
user

Suman Kumar Gupta

Politician, Social Worker

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल शिक्षा जरूरी है शिक्षा के लिए सर्व शिक्षा अभियान है शिक्षा है लोगों को शिक्षा बीजू योजना बनी है पांच महिलाओं के लिए एमबीए कोर्स करने के लिए इंजीनियरिंग यादव की ताजा खबर सच्ची में हमारे हिंदुस्तान के बहुत लोग हैं

bilkul shiksha zaroori hai shiksha ke liye surv shiksha abhiyan hai shiksha hai logo ko shiksha biju yojana bani hai paanch mahilaon ke liye mba course karne ke liye Engineering yadav ki taaza khabar sachi mein hamare Hindustan ke bahut log hain

बिल्कुल शिक्षा जरूरी है शिक्षा के लिए सर्व शिक्षा अभियान है शिक्षा है लोगों को शिक्षा बीजू

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  245
WhatsApp_icon
user

Sandeep Sharma

Independent Social Worker, Politician

0:56
Play

Likes  15  Dislikes    views  171
WhatsApp_icon
user

Mohd Naseem

Politician

0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप आने का तो होना चाहिए पढ़ा लिखा होना लेकिन यह राजनीति है कुछ अजीब अजीब सी है

aap aane ka toh hona chahiye padha likha hona lekin yah raajneeti hai kuch ajib ajib si hai

आप आने का तो होना चाहिए पढ़ा लिखा होना लेकिन यह राजनीति है कुछ अजीब अजीब सी है

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  245
WhatsApp_icon
user
0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल होना चाहिए क्योंकि जब तक वह आकर्षित नहीं होगा उसे पता ही नहीं होगा कि उसके दिमाग में पता होगा कि क्या प्रोफाइल है मुझे क्या वर्किंग करना है किस तरीके से आगे बढ़ाना करेगा क्या करना चाहिए कैसे करना चाहिए हम दूसरा उसको राय गलत तो गलत रास्ते पर चल जाएगा वह सही रहेगा बहुत जरूरी होगा तुमको जानकारी होगी नॉलेज होगी और यदि नॉलेज नहीं होगी एक अनपढ़ आदमी एक अनपढ़ आदमी जब तक हो जाएगा तब तक देर हो चुकी होगी

bilkul hona chahiye kyonki jab tak vaah aakarshit nahi hoga use pata hi nahi hoga ki uske dimag mein pata hoga ki kya profile hai mujhe kya working karna hai kis tarike se aage badhana karega kya karna chahiye kaise karna chahiye hum doosra usko rai galat toh galat raste par chal jaega vaah sahi rahega bahut zaroori hoga tumko jaankari hogi knowledge hogi aur yadi knowledge nahi hogi ek anpad aadmi ek anpad aadmi jab tak ho jaega tab tak der ho chuki hogi

बिल्कुल होना चाहिए क्योंकि जब तक वह आकर्षित नहीं होगा उसे पता ही नहीं होगा कि उसके दिमाग म

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user

Ranjeet Singh Uppal

Retired GM ONGC

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जागृति का सवाल है 3 लेवल की राजनीति होती है एक रहता है कि पार्षद लेबल का एक बुरी होती है जो राज्य स्तर की राजनीति होती है तीसरी होती है देश के लिए जो सांसद बनते हैं कि अलग-अलग रिक्वायरमेंट है जहां तक पार्षद सुनने का सवाल है मैं नहीं समझता है वहां ज्यादा जरूरत है शिक्षा वगैरह ठीक बा लोगों से मिलजुल के उनको छोटे-छोटे काम करने होते निशुल्क शिक्षा की ज्यादा आवश्यकता नहीं है लेकिन जहां तक हमने लोगों का सवाल है तो वहां पर मैं समझता हूं जरूर जो है लोगों का कुछ शिक्षा की जरूरत है कम से कम मैट्रिक पास तो वह होना चाहिए जिससे कि वह शिक्षा रहेगी तो इस कानून को और लोगों को थोड़ा अच्छा को कर पाएंगे लोगों के भले के लिए जहां तक सांसद लोगों का सवाल है वहां पर मैं समझता हूं शिक्षा बहुत जरूरी है सांसद बनने के लिए कुछ ना कुछ मिनिमम क्वालिफिकेशन हम लोग को फिट करना चाहिए चाहे वह तो चाय कुछ तो अगर ऐसा होता है तो बहुत अच्छा होगा थैंक यू

jagriti ka sawaal hai 3 level ki raajneeti hoti hai ek rehta hai ki parshad lebal ka ek buri hoti hai jo rajya sthar ki raajneeti hoti hai teesri hoti hai desh ke liye jo saansad bante hai ki alag alag requirement hai jaha tak parshad sunne ka sawaal hai nahi samajhata hai wahan zyada zarurat hai shiksha vagera theek BA logo se miljul ke unko chote chhote kaam karne hote nishulk shiksha ki zyada avashyakta nahi hai lekin jaha tak humne logo ka sawaal hai toh wahan par main samajhata hoon zaroor jo hai logo ka kuch shiksha ki zarurat hai kam se kam metric paas toh vaah hona chahiye jisse ki vaah shiksha rahegi toh is kanoon ko aur logo ko thoda accha ko kar payenge logo ke bhale ke liye jaha tak saansad logo ka sawaal hai wahan par main samajhata hoon shiksha bahut zaroori hai saansad banne ke liye kuch na kuch minimum qualification hum log ko fit karna chahiye chahen vaah toh chai kuch toh agar aisa hota hai toh bahut accha hoga thank you

जागृति का सवाल है 3 लेवल की राजनीति होती है एक रहता है कि पार्षद लेबल का एक बुरी होती है ज

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  108
WhatsApp_icon
user

Anideep Ghosh

Social Activist

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ब्राह्मणों का जो संविधान में क्वालिफिकेशन पास होता तो

brahmanon ka jo samvidhan mein qualification paas hota toh

ब्राह्मणों का जो संविधान में क्वालिफिकेशन पास होता तो

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  78
WhatsApp_icon
user

Sapan Narayan

Journalist

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल जरूरी है बहुत ही आवश्यक है कि इंडियन पॉलिटिक्स में जो भी लीडर है वह पढ़े लिखे होना चाहिए लीडर का मतलब होता है पब्लिक कौन जिसे लोग अपना एक आइकॉन मानते हैं उस के नक्शे कदम पर चलते अगर वह व्यक्ति पढ़ा लिखा नहीं होगा तो सभी की बातें लोगों के बीच की छवि अच्छी नहीं होगी जैसे कि वर्तमान में हमारे जो प्रधानमंत्री हैं प्रधानमंत्री का बात करने का तरीका उनका कम्युनिकेशंस थी बहुत अच्छा है ताकि ऐसे क्यों लोगों को प्रभावित कर पाते हैं इसके उलट कई ऐसे राजनीति हमने राज देता हमने देखे हैं जो हर चीज के लिए अपने पिया पे डिपेंड देते हैं अगर उन्हें कोई भाषण लिखना है वह भाषण देना है या कुछ बोलना है तो उसके लिए वह अपने पिया पे डिपेंड रहते हैं ऐसे राजेंद्र पब्लिक के बीच कभी नहीं बना पाते दूसरी चीज एडमिनिस्ट्रेशन अगर आपको एक आईएएस आईपीएस या एसएस हैंडल करना है तो स्वाभाविक सी बात है इसके लिए बहुत जरूरी है कि आपका स्किल अच्छा हो तो वह आपको कोई काम ना करा सके आपसे और पब्लिक ने जो आपको जिम्मेदारी दी है लीड बनाया है आपको पब्लिक से घर बनाया है उस पर खरा उतरें प्रशासनिक अधिकारी हैं और भी जो कर्मचारी हैं वह काम न करने के कारण कई बार काम को टाल देते हैं तो आप उस पर उस टाइम ले खटिया पर कॉल न सके कि नहीं यह काम आज ही करना है इसमें यह नियम है आपको अपने संविधान की जानकारी आवश्यक होना चाहिए इसके अलावा सारे नियम की जानकारी होना चाहिए तभी आप एक अच्छे बन सकते हैं

bilkul zaroori hai bahut hi aavashyak hai ki indian politics mein jo bhi leader hai vaah padhe likhe hona chahiye leader ka matlab hota hai public kaun jise log apna ek icon maante hain us ke nakshe kadam par chalte agar vaah vyakti padha likha nahi hoga toh sabhi ki batein logo ke beech ki chhavi achi nahi hogi jaise ki vartaman mein hamare jo pradhanmantri hain pradhanmantri ka baat karne ka tarika unka kamyunikeshans thi bahut accha hai taki aise kyon logo ko prabhavit kar paate hain iske ulat kai aise raajneeti humne raj deta humne dekhe hain jo har cheez ke liye apne piya pe depend dete hain agar unhe koi bhashan likhna hai vaah bhashan dena hai ya kuch bolna hai toh uske liye vaah apne piya pe depend rehte hain aise rajendra public ke beech kabhi nahi bana paate dusri cheez administration agar aapko ek IAS ips ya SS handle karna hai toh swabhavik si baat hai iske liye bahut zaroori hai ki aapka skill accha ho toh vaah aapko koi kaam na kara sake aapse aur public ne jo aapko jimmedari di hai lead banaya hai aapko public se ghar banaya hai us par Khara utrein prashaasnik adhikari hain aur bhi jo karmchari hain vaah kaam na karne ke karan kai baar kaam ko tal dete hain toh aap us par us time le khatiya par call na sake ki nahi yah kaam aaj hi karna hai isme yah niyam hai aapko apne samvidhan ki jaankari aavashyak hona chahiye iske alava saare niyam ki jaankari hona chahiye tabhi aap ek acche ban sakte hain

बिल्कुल जरूरी है बहुत ही आवश्यक है कि इंडियन पॉलिटिक्स में जो भी लीडर है वह पढ़े लिखे होना

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  64
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लगता है क्योंकि हमारे देश में राजनेताओं के लिए और लोकतंत्र की में जो हमारे देश की व्यवस्था है उसमें एक निरक्षर व्यक्ति भी उच्च राजनीतिक पदों पर सुशोभित हो जाते हैं मैं यह नहीं कहता कि उनमें ज्ञान की कमी है या बिना ज्ञान की किसी दूसरे बलबूते पहुंचते हैं लेकिन पॉलिसी मेकिंग इजी यह हमारी रीड की हड्डी होती है हमारे शरीर को कैसे फॉर्म करना है कैसे हमारा शरीर एक्स करेगा डिसाइड करने वाला जो हमारी रीड की हड्डी हम कैसे उठाएंगे हम कैसे चलेंगे कहां बैठेंगे तो आप एजुकेटेड बनाकर रखते हैं तो दी वेरी बेनिफिशियल आज जो तेजी से बदल रहे इस युग में आज जो स्थिति है उसमें अगर कोई व्यक्ति पूर्ण रूप से शिक्षित नहीं है तो उनके साथ तो दिक्कत होती है और वह तो हमारे पॉलिसी में करें ऐसा तो है नहीं तूने एडमिनिस्ट्रेशन संभालना है एडमिनिस्ट्रेशन को डायरेक्ट करते हैं कि आप को कैसे चलाना अपने देश को देश को चलाने वाले जो नियम व कायदे कानून हैं और जो पॉलिसी हैं उन्हें आने वाले को तो विशेष रूप से दक्ष होना आवश्यक है इसे अनिवार्यता नहीं कहेंगे लेकिन मुझे लगता है कि नेल पॉलिश में जो राजनेता है या लोकतंत्र में जो भी प्रतिनिधि हैं हमारे जनप्रतिनिधि हैं वह किसी किसी विशेष विधाओं में शिक्षित हों जिससे हमारे देश को हमारे सोसाइटी को सभी तरह के विशेषज्ञों का साथ मिल सके policy-making में उन्हें का सहारा लेना पड़ता है तो अच्छी बात है वीरों के लिए होते हैं लेकिन अगर वह खुद भी शिक्षित होंगे विशेष रूप से शिक्षित होंगे तो उन विधाओं में जरूर बेहतर कर सकते हैं और उसका उसके सारे हमारे देश को जरूर एक परिस्थिति में ले जाया जा सकता है शिक्षित होना बहुत ही आवश्यक है

lagta hai kyonki hamare desh mein rajnetao ke liye aur loktantra ki mein jo hamare desh ki vyavastha hai usme ek nirakshar vyakti bhi ucch raajnitik padon par sushobhit ho jaate hain main yah nahi kahata ki unmen gyaan ki kami hai ya bina gyaan ki kisi dusre balbute pahunchate hain lekin policy making easy yah hamari read ki haddi hoti hai hamare sharir ko kaise form karna hai kaise hamara sharir x karega decide karne vala jo hamari read ki haddi hum kaise uthayenge hum kaise chalenge kaha baitheange toh aap educated banakar rakhte hain toh di very benifishiyal aaj jo teji se badal rahe is yug mein aaj jo sthiti hai usme agar koi vyakti purn roop se shikshit nahi hai toh unke saath toh dikkat hoti hai aur vaah toh hamare policy mein kare aisa toh hai nahi tune administration sambhaalna hai administration ko direct karte hain ki aap ko kaise chalana apne desh ko desh ko chalane waale jo niyam va kayade kanoon hain aur jo policy hain unhe aane waale ko toh vishesh roop se daksh hona aavashyak hai ise aniwaryaata nahi kahenge lekin mujhe lagta hai ki nail polish mein jo raajneta hai ya loktantra mein jo bhi pratinidhi hain hamare janapratinidhi hain vaah kisi kisi vishesh vidhaon mein shikshit ho jisse hamare desh ko hamare society ko sabhi tarah ke vishesagyon ka saath mil sake policy making mein unhe ka sahara lena padta hai toh achi baat hai veero ke liye hote hain lekin agar vaah khud bhi shikshit honge vishesh roop se shikshit honge toh un vidhaon mein zaroor behtar kar sakte hain aur uska uske saare hamare desh ko zaroor ek paristithi mein le jaya ja sakta hai shikshit hona bahut hi aavashyak hai

लगता है क्योंकि हमारे देश में राजनेताओं के लिए और लोकतंत्र की में जो हमारे देश की व्यवस्था

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  86
WhatsApp_icon
user

Pankaj Sharma

Journalist | Advocate

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय राजनेताओं को बिल्कुल और 100% में इस बात का पक्षधर हूं कि शिक्षित होना चाहिए अशिक्षित लोगों की वजह से ही देश में विकास की तरह कम है वह लोग राजनीति के क्षेत्र में और इन पदों पर बैठे हुए हैं हाई स्कूल भी पास नहीं है और उसके बावजूद क्षेत्र के विकास किया उन लोगों की बात करती हैं उनके निर्देशन करते हैं जो लोग आईएएस आईपीएस और बहुत योग्य इसलिए मैं इस बात का पक्षधर हूं कि निश्चित रूप से पॉलीटिशियन को हाई एजुकेटेड होना चाहिए

bharatiya rajnetao ko bilkul aur 100 mein is baat ka pakshadhar hoon ki shikshit hona chahiye ashikshit logo ki wajah se hi desh mein vikas ki tarah kam hai vaah log raajneeti ke kshetra mein aur in padon par baithe hue hain high school bhi paas nahi hai aur uske bawajud kshetra ke vikas kiya un logo ki baat karti hain unke nirdeshan karte hain jo log IAS ips aur bahut yogya isliye main is baat ka pakshadhar hoon ki nishchit roop se politician ko high educated hona chahiye

भारतीय राजनेताओं को बिल्कुल और 100% में इस बात का पक्षधर हूं कि शिक्षित होना चाहिए अशिक्षि

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
user

Pritam Singh

Journalist

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे हिसाब से तो एक नेता जो है उसका पढ़ा लिखा होना बहुत जरूरी है क्योंकि जब वह पढ़ा लिखा रहेगा तभी तो देश का विकास कर सकता है और देश का विकास करने के लिए कानून की धाराएं बगैरा सारी चीजें जानी जरूरी है और जाने का तकरीर जयपुर एक अच्छा इंटेलिजेंट एजुकेटेड पर्सन हो और उसे लोकी समझ जाओ और अंडरस्टैंड को कि वह लोकतंत्र में क्या बोल रहा है क्या नहीं बोल रहा है वरना अगर आप लोग लोकतंत्र में कुछ भी बोलते जाओगे आप एक बार के लिए राजगद्दी ले सकते हो लेकिन दोबारा जनता आपसे भरोसा नहीं करती

mere hisab se toh ek neta jo hai uska padha likha hona bahut zaroori hai kyonki jab vaah padha likha rahega tabhi toh desh ka vikas kar sakta hai aur desh ka vikas karne ke liye kanoon ki dharayen bagaira saree cheezen jani zaroori hai aur jaane ka takrir jaipur ek accha Intelligent educated person ho aur use laukee samajh jao aur understand ko ki vaah loktantra mein kya bol raha hai kya nahi bol raha hai varna agar aap log loktantra mein kuch bhi bolte jaoge aap ek baar ke liye rajagaddi le sakte ho lekin dobara janta aapse bharosa nahi karti

मेरे हिसाब से तो एक नेता जो है उसका पढ़ा लिखा होना बहुत जरूरी है क्योंकि जब वह पढ़ा लिखा र

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  104
WhatsApp_icon
user

Shreekant

Startups

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल यह तो पॉलिटिशन की जबरदस्ती है बहुत ही मतलब ऊपर वाली भर्तियों की पद है और किसानों का नेतृत्व करना है तो बिल्कुल पॉलिटिशियन मुझे बहुत अच्छे से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन एंड मैनेजमेंट और सभी चीजें अच्छे होने चाहिए पवन डिग्री होनी चाहिए तो मुझे लगता है बिल्कुल कि भारत में जो पॉलिटिशंस होना चाहिए कि वह मास्टर से कपड़े किसने किसने लीला पड़ी है पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन पड़ा है तो उन लोग को जरूर जो है इस सब में लोग पॉलिटिक्स पॉलिटिक्स में आना चाहिए

ji bilkul yah toh politician ki jabardasti hai bahut hi matlab upar wali bhartiyo ki pad hai aur kisano ka netritva karna hai toh bilkul politician mujhe bahut acche se public administration and management aur sabhi cheezen acche hone chahiye pawan degree honi chahiye toh mujhe lagta hai bilkul ki bharat mein jo politicians hona chahiye ki vaah master se kapde kisne kisne leela padi hai public administration pada hai toh un log ko zaroor jo hai is sab mein log politics politics mein aana chahiye

जी बिल्कुल यह तो पॉलिटिशन की जबरदस्ती है बहुत ही मतलब ऊपर वाली भर्तियों की पद है और किसानो

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  210
WhatsApp_icon
user

Rajeev Saxena

General practicner,Journalist

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जो हमारे देश के संविधान में है कि मतलब किसी भी तरह का कोई व्यक्ति घायल हो गया किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता है मैं चाहे जितना जी चाहे में चुनाव लड़ सकता है और नेता कहना है कि जो हमारे कोई संविधान के अनुसार कितना भ्रष्टाचार है

dekhiye jo hamare desh ke samvidhan mein hai ki matlab kisi bhi tarah ka koi vyakti ghayal ho gaya kisi ko koi fark nahi padta hai chahen jitna ji chahen mein chunav lad sakta hai aur neta kehna hai ki jo hamare koi samvidhan ke anusaar kitna bhrashtachar hai

देखिए जो हमारे देश के संविधान में है कि मतलब किसी भी तरह का कोई व्यक्ति घायल हो गया किसी क

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
user
2:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको इतना अच्छा था ना इसका जवाब दूंगा उसको स्कूल जाते हैं स्कूल में हाई स्कूल सेंट जोसेफ स्कूल करता है उसकी आईडी पूजा-पाठ बनाना किशन कपूर लेते हैं कि राजनेताओं का 5 आईएएस आईपीएस की परीक्षा में 1 परसेंटेज देकर मैरिज डे के रिजल्ट निकलता है वैसे ही मैं भी सोचता हूं कि अपने देश का बड़ा नेता होना चाहिए शिक्षित होना चाहिए अभी आपने बनारस में मोदी की सारी सीटें व्हाट क्वालिफिकेशन और मुख्तार अंसारी का छोटा भाई देश का दुर्भाग्य को ठुकराया जाता है और नेता भूखा जाता है इसमें कोई ऐसा नेताओं की सर्टिफिकेट विच क्या ग्रेजुएशन

aapko itna accha tha na iska jawab dunga usko school jaate hain school mein high school sent joseph school karta hai uski id puja path banana kishan kapur lete hain ki rajnetao ka 5 IAS ips ki pariksha mein 1 percentage dekar marriage day ke result nikalta hai waise hi main bhi sochta hoon ki apne desh ka bada neta hona chahiye shikshit hona chahiye abhi aapne banaras mein modi ki saree seaten what qualification aur mukhtar ansari ka chota bhai desh ka durbhagya ko thukaraya jata hai aur neta bhukha jata hai isme koi aisa netaon ki certificate which kya graduation

आपको इतना अच्छा था ना इसका जवाब दूंगा उसको स्कूल जाते हैं स्कूल में हाई स्कूल सेंट जोसेफ स

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  83
WhatsApp_icon
user

Ashok Singh

Software Engineer

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं यहां पर आपकी बात से बिल्कुल सहमत हूं कि एक भारतीय राजनेता को शिक्षित होना जरूरी है और जैसे कि अपने संविधान में ऐसा कोई रूल नहीं है की एक शिक्षित व्यक्ति ही राजनेताओं सकता है बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है हमारे लिए एक एक रूल्स एक रूल होनी चाहिए कि अगर कोई व्यक्ति ग्रेजुएशन किया हो या कुछ भी कुछ-कुछ तो होनी चाहिए ग़म नहीं थोड़ी कुछ शिक्षित होना जरूरी है ना बन जाते हैं बताइए जो कि जनप्रतिनिधि होते हैं जो कि एक राजनेता क्या करते हैं राजनेता समस्याओं को सुनते हैं जो जनता की समस्याओं का निदान करते हैं ग्रुप विशेष शिक्षित नहीं होंगे तो कैसे समस्याओं को सॉल्व करेंगे वह जैसे कि आप जानते हैं कि राजनेता और जो हमारे ब्यूरोक्रेट्स होते हैं या नहीं इस विशेष लोगों को साथ में सिर्फ एक सामान्य और असामान्य होना चाहिए जैसे कि आप जानते हैं कि आई एस लोग बड़े पढ़े-लिखे होते हैं उनके पास एक बहुत ही उत्तम कोटि के लोग होते हैं जो कि यह बहुत ही उच्च कोटि के प्रतियोगी परीक्षा पास करके जाते हैं और आप जैसे देखते हैं कि एक राजनेता होता है जो कि मान लीजिए ज्यादा पढ़ा लिखा ना हो फिर भी उसके अधीन काम करते हैं तो यह हमारे लिए शर्म की बात है लेकिन ऐसा जरूर होना चाहिए जो कि एक राजनेता होते हैं जो जनता की समस्याओं को कि समाधान के लिए चुने जाते हैं उनको तो शिक्षित होना बहुत उन्हीं चाहिए बहुत ही जरूरी है और ऐसे ही भूल भी होनी चाहिए हमारे संविधान में जैसा की अभी तक नहीं

main yahan par aapki baat se bilkul sahmat hoon ki ek bharatiya raajneta ko shikshit hona zaroori hai aur jaise ki apne samvidhan mein aisa koi rule nahi hai ki ek shikshit vyakti hi rajnetao sakta hai bahut hi durbhagyapurn hai hamare liye ek ek rules ek rule honi chahiye ki agar koi vyakti graduation kiya ho ya kuch bhi kuch kuch toh honi chahiye gam nahi thodi kuch shikshit hona zaroori hai na ban jaate hain bataye jo ki janapratinidhi hote hain jo ki ek raajneta kya karte hain raajneta samasyaon ko sunte hain jo janta ki samasyaon ka nidan karte hain group vishesh shikshit nahi honge toh kaise samasyaon ko solve karenge vaah jaise ki aap jante hain ki raajneta aur jo hamare bureaucrats hote hain ya nahi is vishesh logo ko saath mein sirf ek samanya aur asamanya hona chahiye jaise ki aap jante hain ki I s log bade padhe likhe hote hain unke paas ek bahut hi uttam koti ke log hote hain jo ki yah bahut hi ucch koti ke pratiyogi pariksha paas karke jaate hain aur aap jaise dekhte hain ki ek raajneta hota hai jo ki maan lijiye zyada padha likha na ho phir bhi uske adheen kaam karte hain toh yah hamare liye sharm ki baat hai lekin aisa zaroor hona chahiye jo ki ek raajneta hote hain jo janta ki samasyaon ko ki samadhan ke liye chune jaate hain unko toh shikshit hona bahut unhi chahiye bahut hi zaroori hai aur aise hi bhool bhi honi chahiye hamare samvidhan mein jaisa ki abhi tak nahi

मैं यहां पर आपकी बात से बिल्कुल सहमत हूं कि एक भारतीय राजनेता को शिक्षित होना जरूरी है और

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  185
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक जवाब का सवाल है इस सवाल से मैं निश्चित बिल्कुल सौ प्रतिशत सहमत और हर एक जने को होना चाहिए अन्यथा राजनीतिक व्यक्ति संसद भवन में चुने जाने वाला व्यक्ति पूरे देश को चला रहे हैं हकीकत ऐसे ही लोग प्रॉपर शिक्षित नहीं होंगे लेकिन शिक्षा उसमें कितना भी सामान्य ज्ञान रखते होनी चाहिए वही डिफरेंस क्रिएट हो जाता है एक टैलेंटेड राजनेता में और एक केवल नॉर्मल राजनेता में जो मतलब यकीन मानिए अगर आप शिक्षित है तो आप किसी काम को करने का आसान तरीका चुप सकते हैं सस्ता तरीका चुन सकते हैं लेकिन वहीं अगर आप चीज का ध्यान नहीं रखते हैं तो अपनी सोच अनुसार ब्रह्म करेंगे वही काम गलत रास्ते पर

ek jawab ka sawaal hai is sawaal se main nishchit bilkul sau pratishat sahmat aur har ek jane ko hona chahiye anyatha raajnitik vyakti sansad bhawan mein chune jaane vala vyakti poore desh ko chala rahe hai haqiqat aise hi log proper shikshit nahi honge lekin shiksha usme kitna bhi samanya gyaan rakhte honi chahiye wahi difference create ho jata hai ek talented raajneta mein aur ek keval normal raajneta mein jo matlab yakin maniye agar aap shikshit hai toh aap kisi kaam ko karne ka aasaan tarika chup sakte hai sasta tarika chun sakte hai lekin wahi agar aap cheez ka dhyan nahi rakhte hai toh apni soch anusaar Brahma karenge wahi kaam galat raste par

एक जवाब का सवाल है इस सवाल से मैं निश्चित बिल्कुल सौ प्रतिशत सहमत और हर एक जने को होना चाह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मैं इस बात से पूरी तरह से सहमत हूं और क्या एक भारतीय राजनेता विशेष रूप से शिक्षित होना चाहिए क्योंकि अगर कोई राजनेता शिक्षित नहीं है तो वह कैसे देश की अवधि से समझ पाएगा देश की कॉलोनी समझ पाएगा और देश के अलग-अलग चीजें सामने जो भी हो रही है उनके कारण समझ पाएगा और उसका समाधान कर पाएगा जब तक इंसान पढ़ा-लिखा नहीं होगा चाहे वह किसी भी फील्ड में हूं तब तक उसके लिए कोई भी चीज समझना आसान नहीं है और जो भी अनपढ़ नेता होते हैं वह कहीं ना कहीं चीजों को समझ नहीं पाते और उनको सहायता चाहिए होती है दूसरे लोगों की और जिस तरह दूसरे लोग उनको समझा देते हैं क्या आपको इस तरह का करें करिए यार आप इस तरह का करिए इससे जनता का भला होगा जनता आपको पसंद करेगी वह उसी तरह का कर देते हैं लेकिन वह खुद की कोई नॉलेज होश में नहीं होती है तो मुझे लगता है कि अगर हमारे देश के नेता शिक्षित होंगे तो वह देश का भी ज्यादा अच्छा सोच पाएंगे क्या करना है क्या नहीं करना वह दूसरों की सलाह लेते हुए भी अपना खुद का नॉलेज यूज कर पाएंगे उसके अलावा अगर नेता ही देश के पढ़े-लिखे नहीं होंगे तो वह कैसे समाज में एक अच्छा बदलाव लेकर आ पाएंगे समाज में और लोगों को शिक्षित कर पाएंगे और लोगों के लिए अच्छा कर पाएंगे तो मुझे लगता है कि नीता का शिक्षित होना एक बहुत बड़ी चीज है और नेता शिक्षित नहीं होगा तो वह समाज भी आगे नहीं बढ़ पाएगा कहीं ना कहीं वह पिछड़ी हुई सोच में ही फस कर रह जाएगा और रब नेता शिक्षित होंगे तो वह अच्छा भला सोच पाएंगे वह खुद से कुछ ना कुछ कर पाएंगे इसीलिए हम कहते हैं कि अगर देश के नेता नहीं पढ़े लिखे होंगे तो उसकी ओर जो युवा पीढ़ी है जो समाज है वह किस तरह से आगे बढ़ेगा और कैसे अपने आप को अच्छा बना पाएगा

ji haan main is baat se puri tarah se sahmat hoon aur kya ek bharatiya raajneta vishesh roop se shikshit hona chahiye kyonki agar koi raajneta shikshit nahi hai toh vaah kaise desh ki awadhi se samajh payega desh ki colony samajh payega aur desh ke alag alag cheezen saamne jo bhi ho rahi hai unke karan samajh payega aur uska samadhan kar payega jab tak insaan padha likha nahi hoga chahen vaah kisi bhi field mein hoon tab tak uske liye koi bhi cheez samajhna aasaan nahi hai aur jo bhi anpad neta hote hain vaah kahin na kahin chijon ko samajh nahi paate aur unko sahayta chahiye hoti hai dusre logo ki aur jis tarah dusre log unko samjha dete kya aapko is tarah ka kare kariye yaar aap is tarah ka kariye isse janta ka bhala hoga janta aapko pasand karegi vaah usi tarah ka kar dete hain lekin vaah khud ki koi knowledge hosh mein nahi hoti hai toh mujhe lagta hai ki agar hamare desh ke neta shikshit honge toh vaah desh ka bhi zyada accha soch payenge kya karna hai kya nahi karna vaah dusro ki salah lete hue bhi apna khud ka knowledge use kar payenge uske alava agar neta hi desh ke padhe likhe nahi honge toh vaah kaise samaj mein ek accha badlav lekar aa payenge samaj mein aur logo ko shikshit kar payenge aur logo ke liye accha kar payenge toh mujhe lagta hai ki neeta ka shikshit hona ek bahut badi cheez hai aur neta shikshit nahi hoga toh vaah samaj bhi aage nahi badh payega kahin na kahin vaah pichhadi hui soch mein hi fas kar reh jaega aur rab neta shikshit honge toh vaah accha bhala soch payenge vaah khud se kuch na kuch kar payenge isliye hum kehte hain ki agar desh ke neta nahi padhe likhe honge toh uski aur jo yuva peedhi hai jo samaj hai vaah kis tarah se aage badhega aur kaise apne aap ko accha bana payega

जी हां मैं इस बात से पूरी तरह से सहमत हूं और क्या एक भारतीय राजनेता विशेष रूप से शिक्षित ह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  144
WhatsApp_icon
user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मैं आपकी बात से सहमत हूं बिल्कुल मुझे लगता है कि एक राजनेता को विशेष रूप से शिक्षित होना चाहिए क्योंकि वह जनता का प्रतिनिधित्व करते हैं जनता अपना बहुमूल्य वोट देकर एक जनप्रतिनिधि को चुनती है इसी आशा और विश्वास के साथ कि वह जनप्रतिनिधि उनकी समस्याओं को समझेंगे और उनके जीवन में जो भी अब खत्म करेंगे क्योंकि उन्हें लगता है कि एक राजनेता में इतना पावर होता है इतनी शक्ति होती है कि वह उनकी समस्याओं को सुलझा सके और उनके जीवन में जो भी कठिनाइयां हैं जो भी प्रॉब्लम से उनसे उन्हें नीचा दिला सके और जब तक हमारे नेता पढ़े लिखे नहीं होंगे मुझे लगता है कहीं ना कहीं उनकी कार्य क्षमता में फर्क आएगा जिस तरह हमारे शरीर को चलायमान रखने के लिए स्वस्थ रखने के लिए हमें खाने पीने की और अच्छे खान-पान की जरूरत होती है उसी पर मुझे लगता है कि हमारे दिमाग को भी चलाएं मन रखने के लिए और स्वस्थ रखने के लिए हमें ज्ञान और पढ़ाई-लिखाई की जरूरत होती है उससे हमारी दिमाग का विकास होता है हम ज्यादा अच्छी तरह से पत्नी को समझ पाते हैं और दुनिया में क्या हो रहा है उसे समझ पाते हैं और फिर उन सब को अपने ज्ञान के द्वारा हम अपने जीवन में रख पाते ही ढंग से ताकि हमारा भी जीवन और उनकी तरह सुरक्षित सरंक्षित स्वस्थ और अच्छी तरह से रहे इसके मुझे लगता है कि जो राजनेता है वह हमारे देश का एक आइडियल इंसान होता है जो जनता जिनके विचारों से जिनकी बातों से प्रेरणा लेती है और जिन पर बहुत विश्वास करके अपना बहुमूल्य है इसलिए राजनेताओं को भी शिक्षित होना बहुत जरूरी है आज ही चलन बदला है और मुझे लगता है आने वाले समय में इसमें एक और नया अध्याय जरूर

ji haan main aapki baat se sahmat hoon bilkul mujhe lagta hai ki ek raajneta ko vishesh roop se shikshit hona chahiye kyonki vaah janta ka pratinidhitva karte hain janta apna bahumulya vote dekar ek janapratinidhi ko chunati hai isi asha aur vishwas ke saath ki vaah janapratinidhi unki samasyaon ko samjhenge aur unke jeevan mein jo bhi ab khatam karenge kyonki unhe lagta hai ki ek raajneta mein itna power hota hai itni shakti hoti hai ki vaah unki samasyaon ko suljha sake aur unke jeevan mein jo bhi kathinaiyaan hain jo bhi problem se unse unhe nicha dila sake aur jab tak hamare neta padhe likhe nahi honge mujhe lagta hai kahin na kahin unki karya kshamta mein fark aayega jis tarah hamare sharir ko chalayman rakhne ke liye swasth rakhne ke liye hamein khane peene ki aur acche khan pan ki zarurat hoti hai usi par mujhe lagta hai ki hamare dimag ko bhi chalaye man rakhne ke liye aur swasth rakhne ke liye hamein gyaan aur padhai likhai ki zarurat hoti hai usse hamari dimag ka vikas hota hai hum zyada achi tarah se patni ko samajh paate hain aur duniya mein kya ho raha hai use samajh paate hain aur phir un sab ko apne gyaan ke dwara hum apne jeevan mein rakh paate hi dhang se taki hamara bhi jeevan aur unki tarah surakshit sarankshit swasth aur achi tarah se rahe iske mujhe lagta hai ki jo raajneta hai vaah hamare desh ka ek ideal insaan hota hai jo janta jinke vicharon se jinki baaton se prerna leti hai aur jin par bahut vishwas karke apna bahumulya hai isliye rajnetao ko bhi shikshit hona bahut zaroori hai aaj hi chalan badla hai aur mujhe lagta hai aane waale samay mein isme ek aur naya adhyay zaroor

जी हां मैं आपकी बात से सहमत हूं बिल्कुल मुझे लगता है कि एक राजनेता को विशेष रूप से शिक्षित

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  151
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!