भारत को ज़्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ या मुगलों से?...


user

Sunil Kumar Pandey

Editor & Writer

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस प्रश्न का उत्तर देना इतना आसान नहीं है कि भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ या मुगलों से मेरी राय ने मुगलों से भी भारत को पर्याप्त नुकसान हुआ और अंग्रेजों से भी भी आता है मुगलों ने भी भारत की संस्कृति को बहुत अधिक तक क्षत-विक्षत किया जबकि अंग्रेजों ने ऐसा नहीं किया अंग्रेजों ने भारत में शिक्षा का प्रचार प्रसार भी किया तथा यहां के लिए बहुत सारे फूल और ऐतिहासिक चीजों का निर्माण भी किया विज्ञान के साथ भी अंग्रेजों ने सामंजस्य बनाने का प्रयास किया जबकि मुगलों ने सिर्फ भारत को नुकसान ही पहुंचाया यहां पर अपनी धर्म का प्रचार प्रसार कर रहे हैं मुगलों के अधिकांश शासक मुस्लिम धर्म के कट्टर समर्थक थे केवल अकबर को छोड़कर पता मेरी राय में भारत को सर्वाधिक नुकसान मुगलों से हुआ अंग्रेजों से नहीं धन्यवाद

is prashna ka uttar dena itna aasaan nahi hai ki bharat ko zyada nuksan angrejo se hua ya mugalon se meri rai ne mugalon se bhi bharat ko paryapt nuksan hua aur angrejo se bhi bhi aata hai mugalon ne bhi bharat ki sanskriti ko bahut adhik tak kshat vikshat kiya jabki angrejo ne aisa nahi kiya angrejo ne bharat me shiksha ka prachar prasaar bhi kiya tatha yahan ke liye bahut saare fool aur etihasik chijon ka nirmaan bhi kiya vigyan ke saath bhi angrejo ne samanjasya banane ka prayas kiya jabki mugalon ne sirf bharat ko nuksan hi pahunchaya yahan par apni dharm ka prachar prasaar kar rahe hain mugalon ke adhikaansh shasak muslim dharm ke kattar samarthak the keval akbar ko chhodkar pata meri rai me bharat ko sarvadhik nuksan mugalon se hua angrejo se nahi dhanyavad

इस प्रश्न का उत्तर देना इतना आसान नहीं है कि भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ या मुग

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  499
WhatsApp_icon
23 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:17
Play

Likes  251  Dislikes    views  3593
WhatsApp_icon
user

Ashok Bajpai

Rtd. Additional Collector P.C.S. Adhikari

1:42
Play

Likes  170  Dislikes    views  3295
WhatsApp_icon
user

Pankaj Vasuja

Cinematographer

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से वो आया मुगलों से अलग-अलग परिस्थिति में देखिए दोनों ही वाक्य में हम कहेंगे कि नुकसान तो नुकसान होता है चाहे छोटे रूप में हो बड़े रूप में और ज्यादा कर दो हमें नुकसान हमें ज्यादा नुकसान अगर धर्म के आधार पर लगाएं तो मुगलों से हुआ क्योंकि मुगलों ने हमारे धर्म को नष्ट करना चाहा गुरु गोविंद सिंह जी जैसे बहुत महान हस्तियों ने बलिदान दिया हमारे धर्म को बचाने के लिए अंग्रेजों ने हमें लूटने का कार्य किया हमारी धन-संपत्ति को लूटने का कार्य किया उन्होंने हमारे धर्म को तोड़ना चाहा एक दूसरे को लड़ा कर हमने एक दूसरे ल हिंदू मुस्लिम लड़के और वह फूट डालो राज करते रहे हम पर लेकिन मुगलों ने अपनी जो रणनीति चलाई उसके अंदर कहीं ना कहीं हिंदू धर्म को नुकसान पहुंचाने का कार्य हुआ नुकसान सोच पर है अभी हम अपने देश को न्यू राष्ट्र की तरह से देखते हैं या दोनों धर्म मिलकर या सभी धर्म मिलकर समृद्ध होने की नजर से देखते हैं उस हिसाब से हमें नुकसान हुआ नुकसान दोनों तरफ से हुआ धन्यवाद

bharat ko zyada nuksan angrejo se vo aaya mugalon se alag alag paristhiti me dekhiye dono hi vakya me hum kahenge ki nuksan toh nuksan hota hai chahen chote roop me ho bade roop me aur zyada kar do hamein nuksan hamein zyada nuksan agar dharm ke aadhar par lagaye toh mugalon se hua kyonki mugalon ne hamare dharm ko nasht karna chaha guru govind Singh ji jaise bahut mahaan hastiyon ne balidaan diya hamare dharm ko bachane ke liye angrejo ne hamein lutane ka karya kiya hamari dhan sampatti ko lutane ka karya kiya unhone hamare dharm ko todna chaha ek dusre ko lada kar humne ek dusre l hindu muslim ladke aur vaah foot dalo raj karte rahe hum par lekin mugalon ne apni jo rananiti chalai uske andar kahin na kahin hindu dharm ko nuksan pahunchane ka karya hua nuksan soch par hai abhi hum apne desh ko new rashtra ki tarah se dekhte hain ya dono dharm milkar ya sabhi dharm milkar samriddh hone ki nazar se dekhte hain us hisab se hamein nuksan hua nuksan dono taraf se hua dhanyavad

भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से वो आया मुगलों से अलग-अलग परिस्थिति में देखिए दोनों ही

Romanized Version
Likes  295  Dislikes    views  1514
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत को ज्यादा नुकसान किससे हुआ अंग्रेजों से मुगलों से मैं मानता हूं अंग्रेजों से ज्यादा नुकसान हुआ क्योंकि अंग्रेजों ने हमारी जो संपत्ति थी हमारी जो इकोनामी थी उसको बर्बाद कर दिया और वह सारा ले गया वह अपने देश में और उन्होंने डिवाइड एंड रूल खेला और हिंदू मुस्लिम के बीच में कल्चर डिफरेंस है उसको उन्होंने खाएगी तेरा बना दिया जिसकी वजह से हिंदू-मुस्लिम आपस में लड़ने लग जाए और एक दूसरे को खूब मारा हालांकि मुगलों के टाइम भी एक हुआ मुगल शासकों ने भी खूब हिंदुओं को मारा धार्मिक तौर पर देखें तो मुगलों ने ज्यादा नुकसान किया है और आर्थिक तौर पर देखे तो अंग्रेजों ने ज्यादा नुकसान किया भारत का थैंक्यू

bharat ko zyada nuksan kisse hua angrejo se mugalon se main manata hoon angrejo se zyada nuksan hua kyonki angrejo ne hamari jo sampatti thi hamari jo economy thi usko barbad kar diya aur vaah saara le gaya vaah apne desh mein aur unhone divide and rule khela aur hindu muslim ke beech mein culture difference hai usko unhone khaegee tera bana diya jiski wajah se hindu muslim aapas mein ladane lag jaaye aur ek dusre ko khoob mara halaki mugalon ke time bhi ek hua mughal shaasakon ne bhi khoob hinduon ko mara dharmik taur par dekhen toh mugalon ne zyada nuksan kiya hai aur aarthik taur par dekhe toh angrejo ne zyada nuksan kiya bharat ka thainkyu

भारत को ज्यादा नुकसान किससे हुआ अंग्रेजों से मुगलों से मैं मानता हूं अंग्रेजों से ज्यादा न

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  1797
WhatsApp_icon
play
user

Mo.Azhar Shaikh

Social Worker

0:40

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अंग्रेजों ने किया दान गढवी की जनगणना आजाद करवाया या बुद्धू

angrejo ne kiya daan gadhavi ki janganana azad karvaya ya buddhu

अंग्रेजों ने किया दान गढवी की जनगणना आजाद करवाया या बुद्धू

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  535
WhatsApp_icon
user
0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुगलों से मैं कहूंगा ऐसा इसलिए बात करें कि रिलीजियस और उन शब्दों को बहुत फायदा किया डेवलपमेंट रुक गया धर्म और मजहब में फंस गया

mugalon se main kahunga aisa isliye baat karein ki religious aur un shabdo ko bahut fayda kiya development ruk gaya dharm aur majhab mein phans gaya

मुगलों से मैं कहूंगा ऐसा इसलिए बात करें कि रिलीजियस और उन शब्दों को बहुत फायदा किया डेवलपम

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  219
WhatsApp_icon
user
0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत को अंग्रेजों से भी नुकसान हुआ और मुगलों से नुकसान होगा दोनों ने भारत का बहुत नुकसान किया लेकिन अंग्रेजों ने नुकसान ज्यादा किया लेकिन आखिरी में उसका नतीजा यह निकला कि भारत के विभाजन होगा और अंग्रेजों ने जितना नुकसान है क्या उससे ज्यादा नुकसान मुसलमानों ने देश का करवा दिया

bharat ko angrejo se bhi nuksan hua aur mugalon se nuksan hoga dono ne bharat ka bahut nuksan kiya lekin angrejo ne nuksan zyada kiya lekin aakhiri mein uska natija yah nikala ki bharat ke vibhajan hoga aur angrejo ne jitna nuksan hai kya usse zyada nuksan musalmanon ne desh ka karva diya

भारत को अंग्रेजों से भी नुकसान हुआ और मुगलों से नुकसान होगा दोनों ने भारत का बहुत नुकसान क

Romanized Version
Likes  315  Dislikes    views  3777
WhatsApp_icon
user

Ved prakash Mishra

Journalist Dainik jagran { Naidunia}

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आपका प्रश्न है कि भारत को ज्यादा नुकसान लग रही है सोया मुगलों से तो निश्चित रूप से मुगलों से भारत को काफी नुकसान हुआ अभी से नुकसान हुआ लेकिन अंग्रेजों से भारत में बहुत कुछ सीखने को मिला मुगलों ने भारत को आक्रमण करके केवल लूटपाट मचाया लेकिन अंग्रेजों ने भारत में शासन किया और एक नई शासन पद्धति जो है भारत को b71 संविधान दिया समय सर पर 14 रन के द्वारा जो नियम कानून बनाए गए आज भी हम देखते हैं कि हमारे संविधान में कुल साईं 735 का झुमका एकता उससे दिया गया है कई सारी बातें ब्रिटिश संसद से ली गई है इतना ही नहीं अंग्रेजों ने भारत को विकास की राह का रोड़ा है तथा अंग्रेजी में बात करने में कोई कसर नहीं छोड़ा बुनीफ़ू उत्पात मचाया लेकिन अंग्रेजों से कुछ सीखने को मिला हम जिस आदमी बिजी रहे थे उसमें बदलाव लाने में अगर जो की महत्वपूर्ण भूमिका थी इस बात से इनकार नहीं कर सकता आप देखेंगे आज भी जो अंग्रेजी शासनकाल के दौरान जो है जब भारत देश आजाद हुआ था उस समय की इमारतें बनी हुई है जो उस समय के जो वास्तु कला का नमूना है जो उसमें का स्ट्रक्चर है आज भी इतना मजबूत और स्थान से खुला हुआ है लेकिन आज जो नए भवन या पुर वगैरह बनते हैं उधर ऐसा ही हो जाते हैं तो कहीं ना कहीं उन्हें भ्रष्टाचार नहीं था और वह ईमानदारी से अपना काम करते थे इसीलिए ही अंग्रेज जो है तो 100 साल तक भारत में शासन कर सके

dekhiye aapka prashna hai ki bharat ko zyada nuksan lag rahi hai soya mugalon se toh nishchit roop se mugalon se bharat ko kaafi nuksan hua abhi se nuksan hua lekin angrejo se bharat mein bahut kuch sikhne ko mila mugalon ne bharat ko aakraman karke keval lutpat machaya lekin angrejo ne bharat mein shasan kiya aur ek nayi shasan paddhatee jo hai bharat ko b71 samvidhan diya samay sir par 14 run ke dwara jo niyam kanoon banaye gaye aaj bhi hum dekhte hai ki hamare samvidhan mein kul sai 735 ka jhumka ekta usse diya gaya hai kai saari batein british sansad se li gayi hai itna hi nahi angrejo ne bharat ko vikas ki raah ka roda hai tatha angrezi mein baat karne mein koi kesar nahi choda bunifu utpat machaya lekin angrejo se kuch sikhne ko mila hum jis aadmi busy rahe the usme badlav lane mein agar jo ki mahatvapurna bhumika thi is baat se inkar nahi kar sakta aap dekhenge aaj bhi jo angrezi shasankal ke dauran jo hai jab bharat desh azad hua tha us samay ki imaraten bani hui hai jo us samay ke jo vastu kala ka namuna hai jo usme ka structure hai aaj bhi itna majboot aur sthan se khula hua hai lekin aaj jo naye bhawan ya pur vagera bante hai udhar aisa hi ho jaate hai toh kahin na kahin unhe bhrashtachar nahi tha aur vaah imaandaari se apna kaam karte the isliye hi angrej jo hai toh 100 saal tak bharat mein shasan kar sake

देखिए आपका प्रश्न है कि भारत को ज्यादा नुकसान लग रही है सोया मुगलों से तो निश्चित रूप से म

Romanized Version
Likes  152  Dislikes    views  1730
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह तो सही क्वेश्चन है कि महाराष्ट्र को ज्यादा नुकसान अंग्रेजी सोया हुआ मुगलों से तो मैं यह कहना चाहूंगी कि भारत को सबसे ज्यादा नुकसान खुद अपनी जीत में रहे राजाओं से हुआ अगर वह लोग समय पर यह समय पर प्रबंध कर दिए रहते समय पर जैसे कि अकबर में अकबर पहली बार आया था भारत पर आक्रमण करने के लिए लेकिन वह सफल नहीं हुआ लेकिन वह हम लोग के यहां के राजपूत राजा यह नहीं सोचते कि हां फिर से वो आ सकता है या फिर तैमूर लंग यह सब अखबारों के बाद तो भी यह नहीं समझे कि हां भारत में कोई आंख मारे तो हम लोग तो कैसे इसका समाधान कर सके इसीलिए मैं कहना चाहूंगी कि भारत को सबसे ज्यादा नुकसान खुद अपने ही राजाओं से हुआ ना कि अंग्रेजो और मुगलों से

yah toh sahi question hai ki maharashtra ko zyada nuksan angrezi soya hua mugalon se toh main yah kehna chahungi ki bharat ko sabse zyada nuksan khud apni jeet me rahe rajaon se hua agar vaah log samay par yah samay par prabandh kar diye rehte samay par jaise ki akbar me akbar pehli baar aaya tha bharat par aakraman karne ke liye lekin vaah safal nahi hua lekin vaah hum log ke yahan ke rajput raja yah nahi sochte ki haan phir se vo aa sakta hai ya phir taimur lung yah sab akhbaron ke baad toh bhi yah nahi samjhe ki haan bharat me koi aankh maare toh hum log toh kaise iska samadhan kar sake isliye main kehna chahungi ki bharat ko sabse zyada nuksan khud apne hi rajaon se hua na ki angrejo aur mugalon se

यह तो सही क्वेश्चन है कि महाराष्ट्र को ज्यादा नुकसान अंग्रेजी सोया हुआ मुगलों से तो मैं यह

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  190
WhatsApp_icon
user
9:58
Play

Likes  21  Dislikes    views  428
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  5  Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user

Masoom

Teacher

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने प्रश्न किया है भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ या मुगलों से तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ था कि कि मुगल जब 1526 से भारत आए थे उन्होंने भारत को अनेक लाला शिलालेखों और आधारभूत संरचनाओं से सुंदर जिवड़ाया जैसे कुतुब मीनार का निर्माण दिल्ली के लाल किला का निर्माण जामा मस्जिद का निर्माण आगरे का ताजमहल का निर्माण यह सभी मुगलों की देन थी लेकिन अंग्रेजों के आने से और इसमें हरा सुनने लगा यहां तक कि जो कोहिनूर का हीरा था वह भी अंग्रेजी अपने साथ लेते चला गया और भारत पर कई वर्षों तक उन्होंने क्रूरता पूर्वक शासन किया था तो यह कह सकते हैं कि भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ था

aapne prashna kiya hai bharat ko zyada nuksan angrejo se hua ya mugalon se toh aapki jaankari ke liye bata de ki bharat ko zyada nuksan angrejo se hua tha ki ki mughal jab 1526 se bharat aaye the unhone bharat ko anek lala shilalekho aur adharbhut sanrachanaon se sundar jivadaya jaise qutub minar ka nirmaan delhi ke laal kila ka nirmaan jama masjid ka nirmaan agre ka tajmahal ka nirmaan yah sabhi mugalon ki then thi lekin angrejo ke aane se aur isme hara sunne laga yahan tak ki jo kohinoor ka heera tha vaah bhi angrezi apne saath lete chala gaya aur bharat par kai varshon tak unhone krurta purvak shasan kiya tha toh yah keh sakte hain ki bharat ko zyada nuksan angrejo se hua tha

आपने प्रश्न किया है भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ या मुगलों से तो आपकी जानकारी के

Romanized Version
Likes  47  Dislikes    views  1000
WhatsApp_icon
user

MonuTiwari

Little Businessman And Motivational Teacher

4:52
Play

Likes  31  Dislikes    views  626
WhatsApp_icon
user

Rajan

Peaceful divine soul

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे हिसाब से अंग्रेज होते हैं उनके वजह से हमारे देश को ज्यादा नुकसान पहुंचा है ठीक है क्योंकि अंग्रेज का विचारधारा जो था वह वह शुरू में तो यार बिज़नस करने आए थे बट बाद में उन्होंने हमारे देश को लूटने लग जाएगा हमारे देश के लिए देश को लूटने चले गए लूट के ले कर जाने लग गए ठीक है और और एक हमारे हम लोगों को अक्सर हम लोगों को असम भी बता कर उन्होंने क्या किया कि अपने विचार धारा को तो अपने लग गए हो कि हम लोग हैं हमें कुछ नहीं पता है कि आप अगर इंडिया के इतिहास को पड़े तो इंडस वैली सिविलाइज़ेशन आप पढ़ते हैं तो उसमें अब देखते हैं बहुत सारे ऐसे चीज है जो अंग्रेज भी नहीं जानते थे ठीक है अंग्रेजी हरप्पन सिविलाइजेशन से मिलता है तो करने वाले कौन हम इंडियन से थे तो यही था कि अंग्रेज अंग्रेज बेसिकली रोकने के उपाय और हम पर शासन करने आए थे शासन तो उन्होंने किया पर हमें साधन करने के साथ-साथ हमें लूटकर भी लेकर चले गए और जो मुगल मुगल थे उन्होंने भी बहुत ऐसा क्रूरता की है ऐसा नहीं कि उन्होंने नहीं किया उन्होंने भी किया लेकिन अगर उन्होंने कुछ किया है तो उन्होंने बोल दिया भी है ठीक है जो भी आज धरोहर वगैरह जो भी है Google के लिए ब्रिटिश तो आपको पता ही है कि उन्होंने जितना दिया नहीं है उससे ज्यादा लेकर चले गए

mere hisab se angrej hote hai unke wajah se hamare desh ko zyada nuksan pohcha hai theek hai kyonki angrej ka vichardhara jo tha vaah vaah shuru mein toh yaar business karne aaye the but baad mein unhone hamare desh ko lutane lag jaega hamare desh ke liye desh ko lutane chale gaye loot ke le kar jaane lag gaye theek hai aur aur ek hamare hum logo ko aksar hum logo ko assam bhi bata kar unhone kya kiya ki apne vichar dhara ko toh apne lag gaye ho ki hum log hai hamein kuch nahi pata hai ki aap agar india ke itihas ko pade toh indus valley sivilaizeshan aap padhte hai toh usme ab dekhte hai bahut saare aise cheez hai jo angrej bhi nahi jante the theek hai angrezi harappan civilisation se milta hai toh karne waale kaun hum indian se the toh yahi tha ki angrej angrej basically rokne ke upay aur hum par shasan karne aaye the shasan toh unhone kiya par hamein sadhan karne ke saath saath hamein lutakar bhi lekar chale gaye aur jo mughal mughal the unhone bhi bahut aisa krurta ki hai aisa nahi ki unhone nahi kiya unhone bhi kiya lekin agar unhone kuch kiya hai toh unhone bol diya bhi hai theek hai jo bhi aaj dharohar vagera jo bhi hai Google ke liye british toh aapko pata hi hai ki unhone jitna diya nahi hai usse zyada lekar chale gaye

मेरे हिसाब से अंग्रेज होते हैं उनके वजह से हमारे देश को ज्यादा नुकसान पहुंचा है ठीक है क्य

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुगलों ने भारत को अपना लिया और फिर यहां पर शासन किया जबकि अंग्रेजों ने भारत को बिना अपनाए बिना इस का शोषण करते हुए शासन किया तो इस प्रकार भारत को अंग्रेजों से ज्यादा नुकसान हुआ है ना कि मुगलों से धन्यवाद

mugalon ne bharat ko apna liya aur phir yahan par shasan kiya jabki angrejo ne bharat ko bina apnaye bina is ka shoshan karte hue shasan kiya toh is prakar bharat ko angrejo se zyada nuksan hua hai na ki mugalon se dhanyavad

मुगलों ने भारत को अपना लिया और फिर यहां पर शासन किया जबकि अंग्रेजों ने भारत को बिना अपनाए

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  96
WhatsApp_icon
user

Teacher

Teacher

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने प्रश्न किया है कि भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ या मुगलों से तो जानकारी के लिए बता दें कि भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ था कि मुगलों ने बहुत सारी चीजें भारत को दी है जैसे ताजमहल लाल किला जामा मस्जिद कुतुब मीनार यह सभी मुगलों की देन है जिससे भारतीय राजस्व की पूर्ति भी हो रही है लेकिन अंग्रेज तो कोहिनूर के हीरा तक को भी उठा कर यहां से लेकर आ और जो उन्होंने भारतीयों को दरदिया वह काफी दुखदाई था तो इस स्थिति में कह सकते हैं कि भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से ही हुआ था

aapne prashna kiya hai ki bharat ko zyada nuksan angrejo se hua ya mugalon se toh jaankari ke liye bata de ki bharat ko zyada nuksan angrejo se hua tha ki mugalon ne bahut saari cheezen bharat ko di hai jaise tajmahal laal kila jama masjid qutub minar yah sabhi mugalon ki then hai jisse bharatiya rajaswa ki purti bhi ho rahi hai lekin angrej toh kohinoor ke heera tak ko bhi utha kar yahan se lekar aa aur jo unhone bharatiyon ko dardiya vaah kaafi dukhdai tha toh is sthiti me keh sakte hain ki bharat ko zyada nuksan angrejo se hi hua tha

आपने प्रश्न किया है कि भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ या मुगलों से तो जानकारी के ल

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  770
WhatsApp_icon
user

User

Teacher

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने प्रश्न किया है भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ या मुगलों से दोस्त ऐसा है कि मुगल बाहर से आए और यहां पर अपना शासन साम्राज्य बना करके यही के रह गए उन्होंने यहीं पर भारत पर शासन किया वह लूट कर के यहां से फिर अपने मूल देश को लेकर क्यों नहीं गए अंग्रेज आए वहां पर तू अंग्रेज व्यापार करने की नियत से हमारे भारत को अपना उपनिवेश बनाया और यहां का खजाना लूटा और अपने देशों में भरा लेकिन मुगलों ने ऐसा नहीं किया तो हमारे देश को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ है

aapne prashna kiya hai bharat ko zyada nuksan angrejo se hua ya mugalon se dost aisa hai ki mughal bahar se aaye aur yahan par apna shasan samrajya bana karke yahi ke reh gaye unhone yahin par bharat par shasan kiya vaah loot kar ke yahan se phir apne mul desh ko lekar kyon nahi gaye angrej aaye wahan par tu angrej vyapar karne ki niyat se hamare bharat ko apna upnivesh banaya aur yahan ka khajana loota aur apne deshon me bhara lekin mugalon ne aisa nahi kiya toh hamare desh ko zyada nuksan angrejo se hua hai

आपने प्रश्न किया है भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ या मुगलों से दोस्त ऐसा है कि मु

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  534
WhatsApp_icon
user
0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ या मुगलों से दोस्त ऐसा है कि मुगल बाहर से आए और यहां पर अपना शासन साम्राज्य बना करके यही के रह गए उन्होंने यहीं पर भारत पर शासन किया वह लूट कर के यहां से फिर अपने मूल देश को लेकर के नहीं गए अंग्रेज आए यहां पर तू अंग्रेज व्यापार करने की नियत से आए हमारे भारत को अपना उपनिवेश बनाया और यहां का खजाना लूटा और अपने देशों में भरा लेकिन मुगलों ने ऐसा नहीं किया तो हमारे देश को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ है

bharat ko zyada nuksan angrejo se hua ya mugalon se dost aisa hai ki mughal bahar se aaye aur yahan par apna shasan samrajya bana karke yahi ke reh gaye unhone yahin par bharat par shasan kiya vaah loot kar ke yahan se phir apne mul desh ko lekar ke nahi gaye angrej aaye yahan par tu angrej vyapar karne ki niyat se aaye hamare bharat ko apna upnivesh banaya aur yahan ka khajana loota aur apne deshon me bhara lekin mugalon ne aisa nahi kiya toh hamare desh ko zyada nuksan angrejo se hua hai

भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ या मुगलों से दोस्त ऐसा है कि मुगल बाहर से आए और यहा

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  604
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जहां तक मुझे लगता है कि अंग्रेजों ने क्योंकि पूरी भारत की लोगों ने अंग्रेजों को समर्थन नहीं दिया और उसके खिलाफ युद्ध में लड़ने आ गए यानी को कुछ तो खराबी अंग्रेजी में होगी जिसे पूरी भारत उसके विरूद्ध उप्पड़ा

jaha tak mujhe lagta hai ki angrejo ne kyonki puri bharat ki logo ne angrejo ko samarthan nahi diya aur uske khilaf yudh me ladane aa gaye yani ko kuch toh kharabi angrezi me hogi jise puri bharat uske virudh uppada

जहां तक मुझे लगता है कि अंग्रेजों ने क्योंकि पूरी भारत की लोगों ने अंग्रेजों को समर्थन नही

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  115
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत को आर्थिक तौर पर ज्यादा नुकसान अंग्रेजों ने पहुंचाया इस बात से स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है क्योंकि मुगलों ने जो भी आक्रमण किया और जब भारत पर वह शासन करने लगे तो जो भी धन का राजस्व के माध्यम से जो गोधन वह प्राप्त करते थे उसका उपयोग हो अपने ही देश को भारत भूमि को यह जो है उन्नत बनाने में करते थे चाहे वह स्थापत्य कला हो या मस्जिदों अपने धार्मिक रूप से जो है खुद को सुदृढ़ करने का प्रयास किए लेकिन वह वापस अपने देश नहीं लेकर गए यहीं बस गए थे जबकि अंग्रेजो ने हमारे देश का शोषण किया बहुत अधिक आर्थिक शोषण किया हमारे धन का दोहन किया जिसका सिद्धांत सबसे पहले दादा भाई नौरोजी ने पॉवर्टी एंड अनब्रिटिश रूल इन इंडिया जिसमें की एक रुपए के मूल्य का अवमूल्यन पहली बार किया गया और उसे बताया गया कि किस तरीके से हमारे धर्म को ले जाकर इंग्लैंड में जो है वह खुद को समृद्ध बना रहे हो और हमारे देश को जो है आर्थिक रूप से खोखला कर रहे हैं तो इस प्रश्न के अनुसार भारत को ज्यादा नुकसान अंग्रेजों से हुआ ना कि मुगलों से

bharat ko aarthik taur par zyada nuksan angrejo ne pahunchaya is baat se spasht roop se kaha ja sakta hai kyonki mugalon ne jo bhi aakraman kiya aur jab bharat par vaah shasan karne lage toh jo bhi dhan ka rajaswa ke madhyam se jo godhan vaah prapt karte the uska upyog ho apne hi desh ko bharat bhoomi ko yah jo hai unnat banane me karte the chahen vaah sthaapaty kala ho ya masjidon apne dharmik roop se jo hai khud ko sudridh karne ka prayas kiye lekin vaah wapas apne desh nahi lekar gaye yahin bus gaye the jabki angrejo ne hamare desh ka shoshan kiya bahut adhik aarthik shoshan kiya hamare dhan ka dohan kiya jiska siddhant sabse pehle dada bhai naurojee ne poverty and anabritish rule in india jisme ki ek rupaye ke mulya ka avamulyan pehli baar kiya gaya aur use bataya gaya ki kis tarike se hamare dharm ko le jaakar england me jo hai vaah khud ko samriddh bana rahe ho aur hamare desh ko jo hai aarthik roop se khokhla kar rahe hain toh is prashna ke anusaar bharat ko zyada nuksan angrejo se hua na ki mugalon se

भारत को आर्थिक तौर पर ज्यादा नुकसान अंग्रेजों ने पहुंचाया इस बात से स्पष्ट रूप से कहा जा स

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
user

Kapil Sengar

Business Owner

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने क्वेश्चन किया है पारस गुजर का नुक्सा अंग्रेजों से हमको हमलों से इसका जवाब है भारत को ज्यादा नुकसान मुगलों से हुआ क्योंकि उन्होंने हमारे देश के खजाने को लूटा और हमारे देश के व्यापारियों को लूटा था अंग्रेजो ने हमारे भारत में शिक्षा का प्रचार प्रसार करवाया था

apne question kiya hai paras gujar ka nuskha angrejo se hamko hamlo se iska jawab hai bharat ko zyada nuksan mugalon se hua kyonki unhone hamare desh ke khajaane ko loota aur hamare desh ke vyapariyon ko loota tha angrejo ne hamare bharat me shiksha ka prachar prasaar karvaya tha

अपने क्वेश्चन किया है पारस गुजर का नुक्सा अंग्रेजों से हमको हमलों से इसका जवाब है भारत को

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  146
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे ऐसा लगता है कि अंजाम अंग्रेजों के आने से हम ज्यादा हमें हानि पहुंची है क्योंकि मुगलों के अंदर रहता कि लोग लड़ रहे थे पर इस तरीके का टॉर्चर अंग्रेजों ने कहा है और जितना उन्हें अपने बिजनेस परपस से सोचा है मुझे लगता और किसी ना किसी ने तो सोचा मुगल सोते हुए आए उन्हें भूल करना शुरू करो फिर अंग्रेजों ने तो पूरे भारत को एक तरह से अपना बना लिया तो हम लोगों को हम लोगों के खिलाफ बन गए थे वह अंग्रेजों अंग्रेजों ने करो वह तो बिल्कुल ही गलत था और एकदम से पूरे भारत को जरूर करना और उन पर हावी हो जाना उनके लिए काफी ज्यादा स्ट्रांग पॉइंट आ गया था

mujhe aisa lagta hai ki anjaam angrejo ke aane se hum zyada hamein hani pahuchi hai kyonki mugalon ke andar rehta ki log lad rahe the par is tarike ka torture angrejo ne kaha hai aur jitna unhe apne business parpas se socha hai mujhe lagta aur kisi na kisi ne toh socha mughal sote hue aaye unhe bhool karna shuru karo phir angrejo ne toh poore bharat ko ek tarah se apna bana liya toh hum logo ko hum logo ke khilaf ban gaye the vaah angrejo angrejo ne karo vaah toh bilkul hi galat tha aur ekdam se poore bharat ko zaroor karna aur un par haavi ho jana unke liye kaafi zyada strong point aa gaya tha

मुझे ऐसा लगता है कि अंजाम अंग्रेजों के आने से हम ज्यादा हमें हानि पहुंची है क्योंकि मुगलों

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  143
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!