लोकसभा से विधानसभा चुनावों तक साल 2019 भाजपा के लिए कैसा रहा? आपकी क्या राय है?...


user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

7:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लोकसभा से विधानसभा चुनाव तक केवल 6 महीने गुजरने इन 6 महीनों के दौरान भारतीय जनता पार्टी का वोट प्रतिशत पर्सेंट गिरी जाए और उसके हाथ से पांच राज्य निकल गए राजस्थान महाराष्ट्र मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ और यह संकट आने वाले अगले 2 साल में जो शेशराज बच्चे हैं जो शेष 15 राज्य बच्चे हैं मेरे को लगता है कि इन 15 राज्यों में से जहां-जहां चुनाव होने हैं वह बाहर का रास्ता दिखाने वाले याद करिए 2013 में राजस्थान मध्य प्रदेश हरियाणा दिल्ली त्यागी से दिल्ली में केजरीवाल की सरकार आई बाकी में भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव जीतने की शुरुआत की और 2014 का लोकसभा चुनाव जीता 11 राज्य कांग्रेसी चिमटे चले गए और यह बताते चले गए कि हमारे हमने 7 राज्य में जीत ली हमने नॉमिनी हमने ट्रक में ली हमने 11 में ली हमने पंडा में नहीं हमने 19 मिली समय किसी का नहीं होता समय ने करवट ले ली है अब उठकर वोट ने उन्हीं राज्यों से जहां यह नारा था कि कांग्रेस मुक्त भारत उन्हीं राज्यों के समय ने पलटवार शुरू कर दी है राजस्थान मध्य प्रदेश महाराष्ट्र छत्तीसगढ़ और झारखंड जो भी राज्य या शुरू हो गया है भारतीय जनता पार्टी पहुंची क्योंकि समय ने करवट ले ली है और प्रणाम क्या है यह इन्हीं राज्यों से ट्रेन की सट्टा भी जाने का रास्ता खुल गया है इसमें सच्चाई क्या है सबको दिख रहा है इस प्रकार या एक नागरिक या एक कोई भी बुद्धिजीवी वर्ग अगर अपनी आवाज रखता है तो सत्ताधारी सरकार को उसे गंभीरता से सोचना चाहिए कि सामने वाले ने हमें कुछ आईना दिखाया है गोली मरवा दो ना कि उसको उठा दो बड़ी गंभीरता से सोचो कि उसने हमें एक रास्ता दिखाया है और अभी मदन लें अन्यथा तो होई है वही जो राम रचि राखा तो अब आपने राय पूछी है कुछ राय का मैं जवाब दे रहा हूं कल मुझे बड़ा सरप्राइज़ हुआ कि ज़ी टीवी न्यूज़ बड़ी समाज का काम किया कि भाई जो लोग इस नागरिकता कानून के पक्ष में है उनको एक उन्होंने नंबर डिलीट किया क्या आप इसके पक्ष में समर्थन में हुए टीवी को एक नंबर डिलीट करना चाहिए जो उसके विपक्ष में विपक्ष में रिलीज करते तो जीटीवी निष्पक्ष कहलाता भेदभाव वाला था भाई हिंसा खत्म हो जाएगी अगर लोग निष्पक्ष होकर अपनी बातें रख सकेंगे कितने लोग हमें कितने लोग नाम है इसमें बुराई यह तो सरकार की सरेआम सरकार की एक गुलामी हो गई इसलिए मीडिया को सजीव निष्पक्ष होना चाहिए मीडिया हो पुलिस डिपार्टमेंट तो कमीशन इलेक्शन कमीशन सीबीआईओ रिजर्व बैंक ने भी हमारी वाइफ संस्थाएं हैं इन्हें बिल्कुल निष्पक्ष होना चाहिए तभी एक सरकार मजबूत होती है सरकार को नहीं भूलना चाहिए कि अगर विपक्ष मजबूत होगा तो हम काम करेंगे अगर विपक्ष को खत्म कर देंगे तो राज किस पर करेंगे सम्राट अशोक ने कलिंग का युद्ध खून खराबा किया था इतना खून खराबा किया इतना खून खराबा किया किलो अशोक की शक्ल भी देखना पसंद नहीं करते थे लेकिन कनम की रात को कलिंग की राजकुमारी ने अशोक की आंखें खोल दी और वही जो अत्याचारी दुराचारी भ्रष्टाचारी और चलाता था आज उसको लोगों को धर्म का अधिष्ठाता मानते क्योंकि उसने अपनी गलती को दुरुस्त किया और समाज के लिए देश के लिए जगा जगा तारा कुवे सारी व्यवस्थाएं करी जनता का ध्यान रखा और उस दिन उन्होंने कसम खाई थी आज के बाद रक्त नहीं रहेगा धरती पर यह समय लौट के आएगा देखिए समझने वालों के लिए सीखने वालों के लिए तो बहुत कुछ है और जोड़ना सीखना चाहे या ना कुछ समझना चाहे तो वह जो कर रहे हैं वह करेंगे जनता को अपनी आवाज रखने का अवसर है किसी भी रूप में हम राजनेता पहने जी हम तो एक जन जागरण एक साधारण नागरिक हैं और प्रधान नागरिक के नाते हमें अपनी बात कहने का अधिकार है

lok sabha se vidhan sabha chunav tak keval 6 mahine guzarne in 6 mahinon ke dauran bharatiya janta party ka vote pratishat percent giri jaaye aur uske hath se paanch rajya nikal gaye rajasthan maharashtra madhya pradesh chattisgarh aur yah sankat aane waale agle 2 saal mein jo sheshraj bacche hai jo shesh 15 rajya bacche hai mere ko lagta hai ki in 15 rajyo mein se jaha jahan chunav hone hai vaah bahar ka rasta dikhane waale yaad kariye 2013 mein rajasthan madhya pradesh haryana delhi tyagi se delhi mein kejriwal ki sarkar I baki mein bharatiya janta party ne chunav jitne ki shuruat ki aur 2014 ka lok sabha chunav jita 11 rajya congressi chimte chale gaye aur yah batatey chale gaye ki hamare humne 7 rajya mein jeet li humne nominee humne truck mein li humne 11 mein li humne panda mein nahi humne 19 mili samay kisi ka nahi hota samay ne karavat le li hai ab uthakar vote ne unhi rajyo se jaha yah naara tha ki congress mukt bharat unhi rajyo ke samay ne palatwaar shuru kar di hai rajasthan madhya pradesh maharashtra chattisgarh aur jharkhand jo bhi rajya ya shuru ho gaya hai bharatiya janta party pahuchi kyonki samay ne karavat le li hai aur pranam kya hai yah inhin rajyo se train ki satta bhi jaane ka rasta khul gaya hai isme sacchai kya hai sabko dikh raha hai is prakar ya ek nagarik ya ek koi bhi buddhijeevi varg agar apni awaaz rakhta hai toh sattadhari sarkar ko use gambhirta se sochna chahiye ki saamne waale ne hamein kuch aaina dikhaya hai goli marava do na ki usko utha do baadi gambhirta se socho ki usne hamein ek rasta dikhaya hai aur abhi madan le anyatha toh hoi hai wahi jo ram rachi rakha toh ab aapne rai puchi hai kuch rai ka main jawab de raha hoon kal mujhe bada sarapraiz hua ki zee TV news baadi samaj ka kaam kiya ki bhai jo log is nagarikta kanoon ke paksh mein hai unko ek unhone number delete kiya kya aap iske paksh mein samarthan mein hue TV ko ek number delete karna chahiye jo uske vipaksh mein vipaksh mein release karte toh GTV nishpaksh kehlata bhedbhav vala tha bhai hinsa khatam ho jayegi agar log nishpaksh hokar apni batein rakh sakenge kitne log hamein kitne log naam hai isme burayi yah toh sarkar ki sareaam sarkar ki ek gulaami ho gayi isliye media ko sajeev nishpaksh hona chahiye media ho police department toh commision election commision CBIO reserve bank ne bhi hamari wife sansthayen hai inhen bilkul nishpaksh hona chahiye tabhi ek sarkar majboot hoti hai sarkar ko nahi bhoolna chahiye ki agar vipaksh majboot hoga toh hum kaam karenge agar vipaksh ko khatam kar denge toh raj kis par karenge samrat ashok ne kalinga ka yudh khoon kharaaba kiya tha itna khoon kharaaba kiya itna khoon kharaaba kiya kilo ashok ki shakl bhi dekhna pasand nahi karte the lekin kanam ki raat ko kalinga ki rajkumari ne ashok ki aankhen khol di aur wahi jo atyachari durachari bhrashtachaari aur chalata tha aaj usko logo ko dharm ka adhishthata maante kyonki usne apni galti ko durast kiya aur samaj ke liye desh ke liye jagah jagah tara kuve saree vyavasthaen kari janta ka dhyan rakha aur us din unhone kasam khai thi aaj ke baad rakt nahi rahega dharti par yah samay lot ke aayega dekhiye samjhne walon ke liye sikhne walon ke liye toh bahut kuch hai aur jodna sikhna chahen ya na kuch samajhna chahen toh vaah jo kar rahe hai vaah karenge janta ko apni awaaz rakhne ka avsar hai kisi bhi roop mein hum raajneta pehne ji hum toh ek jan jagran ek sadhaaran nagarik hai aur pradhan nagarik ke naate hamein apni baat kehne ka adhikaar hai

लोकसभा से विधानसभा चुनाव तक केवल 6 महीने गुजरने इन 6 महीनों के दौरान भारतीय जनता पार्टी क

Romanized Version
Likes  79  Dislikes    views  1753
KooApp_icon
WhatsApp_icon
9 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!