एक मज़दूर इंसान अपने ज़िंदगी में सक्सेस कैसे बने?...


user

Narendra Bhardwaj

Spirituality Reformer

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिंदगी में सक्सेस का नजरिया से बड़ा गहरा संबंध जैसा आपका नजरिया होगा वैसी सक्सेस आपको मिलेगी हम आज जो भी है जहां भी है जैसे भी हैं वह हमारे नजरिए की वजह से नजरिया जीवन में बहुत मायने रखता है अपना नजरिया बदलिए सक्सेस हुई सिंपल फार्मूला सक्सेस का कोई शॉर्टकट नहीं है उसके लिए अच्छी किताबें पढ़ी अच्छी संगति करिए पॉजिटिव सोच वाले लोगों के साथ रहे हो जीत इस विचार रखें धन्यवाद

zindagi me success ka najariya se bada gehra sambandh jaisa aapka najariya hoga vaisi success aapko milegi hum aaj jo bhi hai jaha bhi hai jaise bhi hain vaah hamare nazariye ki wajah se najariya jeevan me bahut maayne rakhta hai apna najariya badaliye success hui simple formula success ka koi shortcut nahi hai uske liye achi kitaben padhi achi sangati kariye positive soch waale logo ke saath rahe ho jeet is vichar rakhen dhanyavad

जिंदगी में सक्सेस का नजरिया से बड़ा गहरा संबंध जैसा आपका नजरिया होगा वैसी सक्सेस आपको मिले

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  89
WhatsApp_icon
15 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vinita Rastogi

Career Counsellor / Life Coach

0:57
Play

Likes  2  Dislikes    views  131
WhatsApp_icon
user

VC. Speaks

Soft Skill Trainer

2:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक मजदूर अपनी जिंदगी में सक्सेस कैसे बनेगी सक्सेसफुल कोई भी हो सकता है चाहे वह एक मजदूर हो चाहे वह डॉक्टर हो चाहे वह टीचर हो चाहे वह सड़क के साइट पर बैठा हुआ पंचर लगाने वाला हो चाहे वह हमारे घर में काम करने वाला हो कोई भी सक्सेसफुल हो सकता है अभी आपने रिसेंटली सुना होगा एक का पानी पूरी बेचने वाला लड़का अब आईपीएल खेल रहा है उसको ढाई करोड़ का कॉन्ट्रैक्ट बहुत-बहुत सक्सेसफुल लोग ढाई करोड़ अचीव करने में अपनी सारी सारी जिंदगी निकाल देते हैं तो यह हो गई पैसे की सख्त एक होती है ओवरऑल सक्सेस जहां पर आप जिस चीज में है जो भी कर रहे हैं उसके अंदर कामयाब है अगर किसी ने घर बनवाना है तो वह कहे यह मेरे को ही बंदा चाहिए अपना घर बनाने के लिए वह भी सच सक्सेस और मजदूर की जहां बात हुई ना आपको एक छोटी सी स्टोरी सुनाता हूं एक बार एक व्यक्ति कहीं जा रहा था वहां पर कुछ मजदूर काम कर रहे थे तो उसने पहले मजदूर से पूछा तुम क्या कर रहे हो तो उसने कहा मैं यहां पर इन तेल लगा रहा हूं आगे बढ़ा उसने दूसरी मजदूर से पूछा तुम क्या कर रहे हो उसने कहा मैं ऊंची दीवार बना रहा हूं तीसरे मजदूर से उसने पूछा तुम क्या काम कर रहे हो यह तीनों मजदूर एक ही जगह पर एक ही काम कर रहे थे पहले ने कहा मैं लगा रहा हूं दूसरे ने कहा मेक ऊंची दीवार बना रहा हूं तीसरे ने कहा मैं इस सुंदर इमारत में अपना योगदान दे रहा हूं तो आज देखिए तीनों सिम काम कर रहे थे लेकिन तीनों की सोच में कितना फर्क था मेरे हिसाब से जो तीसरा मजदूर था ऑलरेडी सक्सेसफुल है क्योंकि उसकी सोच सक्सेसफुल है हम क्या कर रहे हैं अगर हम उसी फीलिंग में एक्सपोर्ट हो जाए तो वह भी एक शख्स है आई होप मेरा आंसर में आपको कुछ अच्छा लगा होगा और इसके तू आप अपनी सोच के अंदर भी एक पॉजिटिविटी लाएंगे सुनने के लिए थैंक यू

ek majdur apni zindagi mein success kaise banegi successful koi bhi ho sakta hai chahen vaah ek majdur ho chahen vaah doctor ho chahen vaah teacher ho chahen vaah sadak ke site par baitha hua puncher lagane vala ho chahen vaah hamare ghar mein kaam karne vala ho koi bhi successful ho sakta hai abhi aapne recently suna hoga ek ka paani puri bechne vala ladka ab IPL khel raha hai usko dhai crore ka contracts bahut bahut successful log dhai crore achieve karne mein apni saree saree zindagi nikaal dete hain toh yah ho gayi paise ki sakht ek hoti hai overall success jaha par aap jis cheez mein hai jo bhi kar rahe hain uske andar kamyab hai agar kisi ne ghar banwana hai toh vaah kahe yah mere ko hi banda chahiye apna ghar banane ke liye vaah bhi sach success aur majdur ki jaha baat hui na aapko ek choti si story sunata hoon ek baar ek vyakti kahin ja raha tha wahan par kuch majdur kaam kar rahe the toh usne pehle majdur se poocha tum kya kar rahe ho toh usne kaha main yahan par in tel laga raha hoon aage badha usne dusri majdur se poocha tum kya kar rahe ho usne kaha main uchi deewaar bana raha hoon teesre majdur se usne poocha tum kya kaam kar rahe ho yah tatvo majdur ek hi jagah par ek hi kaam kar rahe the pehle ne kaha main laga raha hoon dusre ne kaha make uchi deewaar bana raha hoon teesre ne kaha main is sundar imarat mein apna yogdan de raha hoon toh aaj dekhiye tatvo sim kaam kar rahe the lekin tatvo ki soch mein kitna fark tha mere hisab se jo teesra majdur tha already successful hai kyonki uski soch successful hai hum kya kar rahe hain agar hum usi feeling mein export ho jaaye toh vaah bhi ek sakhs hai I hope mera answer mein aapko kuch accha laga hoga aur iske tu aap apni soch ke andar bhi ek positivity layenge sunne ke liye thank you

एक मजदूर अपनी जिंदगी में सक्सेस कैसे बनेगी सक्सेसफुल कोई भी हो सकता है चाहे वह एक मजदूर हो

Romanized Version
Likes  136  Dislikes    views  2196
WhatsApp_icon
user

Dinesh Mishra

Theosophists | Accountant

6:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक मजबूर इंसान अपनी जिंदगी में सक्सेस कैसे बने जगह जो मजदूर हुआ करता है उसको मजदूरी मिला करती है कार्ल मार्स ने कहा था कार्ल मार्क्स का सिद्धांत था कि मुझे बात और जो मजदूर का है या मजदूर और जो मालिक का संबंध है वह है निरंतर चला करता है जो मालिक है या जो पूंजीपथरा है वह मजदूर से अधिक से अधिक काम कराना चाहता है और कम से कम रिटर्न देना चाहता है और जो मजदूर है वह कम से कम काम करना चाहता है और अधिक से अधिक पारस में चाय चाय चाय जो बंद आत्मक भौतिकवाद है वही निरंतर चला रहा है वर्तमान में भी चल रहा है और आगे भी चलता चला जाएगा यह जब भी मजदूर की जो स्थिति है वह देनी है और एक मजदूर इंसान अपनी जिंदगी में कैसे सक्सेस हो सकता है या वह है अपने पर मेहनत करके परिश्रम करके उसको जो पारा सुमित मिलता है वह है पारस में कितना कम हुआ करता है उस घर परिवार को उसको चलाना भी उसके लिए दूबर हो जाया करता है ऐसी स्थिति में वह अपनी जिंदगी में ऐसे सक्सेस हो सकता है जो अपने परिवार की रोजी रोटी भी पूरी तरह से नहीं जुटा पाया करता है और उससे भी अपेक्षा की जाए कि वह जिंदगी में सक्सेस हो तो कैसे पॉसिबल है इसकी चुम्मा बना है वह जिंदगी में सक्सेस हो जाएगा फिर भी यह जरूरी है इसमें से भी गलती सक्सेस हो जाया करते हैं आ जाए वह अपने क्षेत्र में जोश का दायित्व दिया गया है बेहतर प्रदर्शन करें परिश्रम करें और परिश्रम करने पर जो उसका पारस में चाहे वह यह सुनिश्चित करें वह उतना पारस मैं कुछ को मिले उसके पास अमित को कोई सरकार कोई पूरी बात कोई मालिक उसके बारे सुमित को ना काट सके यह भी जरूरी है और उसको जिस क्षेत्र में भी वह काम कर रहा है उस क्षेत्र में उसी आगे बढ़ना चाहिए वह टेक्निक जोश ने हासिल की है या जो अनुभव उसने प्राप्त किए हैं उस अनुभव का किस प्रकार से जीवन में उपयोग किया जाए और वह भी बेहतर प्रदर्शन कर सकें और अधिक उससे और अधिक वह पारा सुमित प्राप्त कर सकें और अपनी जिंदगी में वह इस सक्सेस हो सके या उसको विचार करना चाहिए और उसके उच्च पदों पर उस रास्तों पर चलना चाहिए जिससे कि उसकी जिंदगी बेहतर हो सके इसके लिए उसको विभिन्न विभिन्न प्रकार की जो प्रशिक्षण है वह भी प्राप्त करना चाहिए और जिंदगी कैसे बेहतर बनती है उस पर भी ध्यान देना चाहिए और जो उसको पर सुमित है जो पूंजीपति है मालिक है उसके ले लिया करता है उसके भी प्रतिभाएं सजग होना चाहिए कि उसका को जो अधिकार है जितना उसको पर सुमित मिलना चाहिए उतना उसको पारस्परिक मिले और सरकार आदि कोई भी उसके पारस में को चोट न पहुंचा सकें यहां तक कि संगठित होकर के श्रमिक रूप में संगठित होकर किए यदि कोई अत्याचार हो रहा है तो उसका पुरजोर विरोध करना चाहिए सरकार के समक्ष इसका विरोध करना चाहिए और यदि कोई उसके वृद्ध में उसकी हित के लिए कोई कानून है श्रम कानून है उसका भी उसको सरकार क्यों के प्रमुख सरकार में उसका विरोध करना चाहिए और उसे से कानून को हटाने का भी प्रयास करना चाहिए क्या नहीं कहां मारा गया था यह है कि जहां-जहां उसके जो अमृत हुआ करते हैं और जहां जहां उसके साथ में अत्याचार और अनाचार हो रहा है उसका पुरजोर विरोध करके और ऐसी अत्याचारों को खत्म करना चाहिए ताकि वह अपनी जिंदगी में सक्सेस बन सके धन्यवाद

ek majboor insaan apni zindagi mein success kaise bane jagah jo majdur hua karta hai usko mazdoori mila karti hai carl mars ne kaha tha carl marks ka siddhant tha ki mujhe baat aur jo majdur ka hai ya majdur aur jo malik ka sambandh hai vaah hai nirantar chala karta hai jo malik hai ya jo punjipathara hai vaah majdur se adhik se adhik kaam krana chahta hai aur kam se kam return dena chahta hai aur jo majdur hai vaah kam se kam kaam karna chahta hai aur adhik se adhik paras mein chai chai chai jo band aatmkatha bhautikvad hai wahi nirantar chala raha hai vartaman mein bhi chal raha hai aur aage bhi chalta chala jaega yah jab bhi majdur ki jo sthiti hai vaah deni hai aur ek majdur insaan apni zindagi mein kaise success ho sakta hai ya vaah hai apne par mehnat karke parishram karke usko jo para sumit milta hai vaah hai paras mein kitna kam hua karta hai us ghar parivar ko usko chalana bhi uske liye dubar ho jaya karta hai aisi sthiti mein vaah apni zindagi mein aise success ho sakta hai jo apne parivar ki rozi roti bhi puri tarah se nahi jutta paya karta hai aur usse bhi apeksha ki jaaye ki vaah zindagi mein success ho toh kaise possible hai iski chumma bana hai vaah zindagi mein success ho jaega phir bhi yah zaroori hai isme se bhi galti success ho jaya karte hain aa jaaye vaah apne kshetra mein josh ka dayitva diya gaya hai behtar pradarshan kare parishram kare aur parishram karne par jo uska paras mein chahen vaah yah sunishchit kare vaah utana paras main kuch ko mile uske paas amit ko koi sarkar koi puri baat koi malik uske bare sumit ko na kaat sake yah bhi zaroori hai aur usko jis kshetra mein bhi vaah kaam kar raha hai us kshetra mein usi aage badhana chahiye vaah technique josh ne hasil ki hai ya jo anubhav usne prapt kiye hain us anubhav ka kis prakar se jeevan mein upyog kiya jaaye aur vaah bhi behtar pradarshan kar sake aur adhik usse aur adhik vaah para sumit prapt kar sake aur apni zindagi mein vaah is success ho sake ya usko vichar karna chahiye aur uske ucch padon par us raston par chalna chahiye jisse ki uski zindagi behtar ho sake iske liye usko vibhinn vibhinn prakar ki jo prashikshan hai vaah bhi prapt karna chahiye aur zindagi kaise behtar banti hai us par bhi dhyan dena chahiye aur jo usko par sumit hai jo poonjipati hai malik hai uske le liya karta hai uske bhi pratibhayen sajag hona chahiye ki uska ko jo adhikaar hai jitna usko par sumit milna chahiye utana usko paarasparik mile aur sarkar aadi koi bhi uske paras mein ko chot na pohcha sake yahan tak ki sangathit hokar ke shramik roop mein sangathit hokar kiye yadi koi atyachar ho raha hai toh uska purjor virodh karna chahiye sarkar ke samaksh iska virodh karna chahiye aur yadi koi uske vriddh mein uski hit ke liye koi kanoon hai shram kanoon hai uska bhi usko sarkar kyon ke pramukh sarkar mein uska virodh karna chahiye aur use se kanoon ko hatane ka bhi prayas karna chahiye kya nahi kaha mara gaya tha yah hai ki jaha jahan uske jo amrit hua karte hain aur jaha jahan uske saath mein atyachar aur anachar ho raha hai uska purjor virodh karke aur aisi atyacharo ko khatam karna chahiye taki vaah apni zindagi mein success ban sake dhanyavad

एक मजबूर इंसान अपनी जिंदगी में सक्सेस कैसे बने जगह जो मजदूर हुआ करता है उसको मजदूरी मिला क

Romanized Version
Likes  126  Dislikes    views  784
WhatsApp_icon
user

Vinod Kumar Pandey

Life Coach | Career Counsellor ::Relationship Counsellor :: Parenting Counsellor

5:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने प्रश्न किया है कि एक मजदूर इंसान अपने जिंदगी में सक्सेस कैसे बने इसके लिए मैं यह बताना चाहूंगा कि जब व्यक्ति के जीवन में कहीं ना कहीं उसकी सर बाइबल की दिक्कत आती है यानी उसके रोजी-रोटी घर परिवार के हैं चीजों की जरूरतों के बारे में बात आती है तो व्यक्ति कहीं ना कहीं अपनी स्थिति से निपटने के लिए उसके आसपास जो भी कुछ कार्य होता है वह करने लगता है कि जिससे उसकी आमदनी बढ़े और वह अपने विशेष जरूरतों को पूरा कर पाए तो कहीं ना कहीं अगर आपने अपने जीवन में कुछ ऐसी चीजें थी जिसके लिए आपने यह प्रोफेशन चुन चुन लिया या आप मजदूरी करने लगे बुरी बात नहीं है लेकिन अब बात आती है कि आप जीवन में बहुत सफल कैसे हो सकते हैं देखे जो बहुत सफल होने के लिए जरूरी होता है कि आप कहीं ना कहीं अपने बारे में बहुत अच्छी धारणा रखिए अब जीवन में चाहे जो काम कर रहे हैं वह मैं नहीं करता वह आपकी जीवन की भविष्य को तय नहीं करता तो यह करता है कि आपका नजरिया कैसा है अपने जीवन को लेकर के और आपने क्षमता को ले करके देखिए ज्यादातर जो मैंने देखा इस जीवन में कि ज्यादातर व्यक्ति जिस प्रकार का कार्य करने लगते हैं वह कहीं ना कहीं अपने आपको उसी को डेस्टिनी मानकर उसी को अपना भविष्य मान के उसी काम में ही एक्टिव करके रह जाते हैं क्योंकि अपने नजरिए पर अपने दृष्टिकोण में किसी भी प्रकार का बदलाव करने की कोशिश ही नहीं करते तो इसके लिए मैं आपको बहुत ही अच्छा मान लूंगा कि आपने कहीं ना कहीं मजदूरी करते हुए यह विचार तो बनाया कि आप कुछ अच्छा सफलता हासिल कैसे कर सकते हैं यह बहुत बड़ी बात होती है अगर यह धारणा आप में आए तो यह भी गाने का प्रयास करिए क्योंकि मनुष्य किसी बुरे से बुरे जगह पर हो लेकिन अगर उसके अंदर बहुत सकारात्मक धारणा है उसको जीवन में कुछ अच्छा करने की ललक है तो निश्चित तौर से वह जीवन में कामयाब जरूर होता है जल्दी हो या लेट में हो समय लग सकता है लेकिन वह कामयाब जरूर होगा इसलिए कभी भी अगर आप छोटा काम कर रहे हैं तो अपने अंदर छोटा होने का भाव कभी भी आने देना नहीं चाहिए ध्यान रखिएगा कि ज्यादातर लोग जब छोटे काम कर रहे होते तो कहीं ना कहीं वह अपने आत्मविश्वास को अपनी सकारात्मकता को भी खो देते हैं और अंदर से मान लेते हैं कम से कम कोई बहुत बड़ा कार्य हम नहीं कर सकते जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए हर व्यक्ति में ईश्वर ने या प्रकृति ने बहुत कुछ बना कर भेजता है उसको अंदर बहुत सारी क्षमता होती है और वह जीवन में बहुत कुछ अजीब कर सकता है अगर वह अपनी चीजों को पहचान जाए तब उसके लिए बहुत जरूरी है कि आप भले मजदूरी कर रहे हैं लेकिन आप एक अंदर जज्बा पैदा करिए 11 अंदर से धारणा पैदा करिए और अपने आप को विश्वास दिलाया कि आप भी जीवन में कुछ बहुत अच्छा कर सकते हैं और बहुत कामयाब हो सकते हैं जिस दिन आपके अंदर यह धारणा बैठ गई आपके सबकॉन्शियस माइंड में अगर यह विचार यह विश्वास हो गया तो आपको जीवन में कामयाब होने से कोई नहीं रोक सकता है इसके लिए जरूरी है कि सिर्फ सोचने से काम नहीं होगा इस धारणा को बनाए रखने के लिए अपने अंदर कुछ अच्छा जो है उसको ढूंढने का प्रयास करिए उसी कौन सी चीज है जो आपने बहुत अच्छी है या आपके कहीं ना कहीं आप मानते हैं कि आपके व्यक्ति का वह महत्वपूर्ण पॉइंट है उस प्रतिभा को पहचानने की कोशिश करिए और मजदूरी के साथ-साथ में कुछ समय उस पर भी देने का प्रयास करिए जैसे-जैसे आप अपने उन चीजों को अपनी प्रतिभा को अपने टैलेंट को कुछ पहचानेंगे उनके कुछ कार्य करेंगे तो धीरे-धीरे कहीं ना कहीं ऊंची जाति और अच्छी होती चली जाएगी और जब उन चीजों में उन चीजें बहुत अच्छी हो जाएंगे तब कहीं ना कहीं आप अपना ज्यादा समय और देंगे इससे क्या होगा कि आपके जीवन में जो धीरे-धीरे सफलता आनी शुरू हो जाएगी और फिर आपको जीवन में संतुष्टि भी रहेगा और कहीं ना कहीं आप अपने जीवन को एक नया आयाम दे पाएंगे ध्यान दीजिएगा कि कभी भी जीवन में सफलता जो होती है या सक्सेस होता है वह अपने आप नहीं आते हर व्यक्ति के जीवन में बहुत सारी चुनौतियां होती हैं बहुत सारी समस्याएं होती हैं बहुत सारे परेशानियां होती हैं लेकिन जो व्यक्ति अपनी समस्या अपनी चुनौतियों से लड़ते हुए अपनी सकारात्मकता को बनाए रखता है अपनी पॉजिटिविटी को बनाए रखता है और उसके लिए कुछ अच्छा करने का प्रयास करता है तो निश्चित तौर से उसके जीवन में कामयाबी भी मिलती है और बहुत सफलता मिलती है तो सबसे जो पहली बात है कि आपको अपनी धारणा बदलनी हैं बदलनी यह है कि अगर आप छोटा कार्य कर रहे हैं कोई बात नहीं लेकिन आप कहीं न कहीं अपने अंदर बिठाई है कि हम मुझे वह रास्ता मिलेगा और जरूर मिलेगा और अपने आप से अपने हालात अपने सिचुएशन के चारों तरफ से जरूर प्रश्न करते रहे हो देखने का प्रयास करिए कि आप कैसे और अच्छा करके अपने जीवन को बहुत सफल बना सकते हैं जिस दिन आपने प्रश्न अपने आप से करना शुरू कर दिया और उसको एक सकारात्मक तरीके से कोशिश करना शुरू कर दिया तो कोई ना कोई बहुत अच्छा रास्ता भी मिलेगा और आपको जीवन में कामयाबी भी बहुत मिलेगी इसलिए बहुत जरूरी है कि अपने आप को विश्वास दिलाया और यह उम्मीद रखी है कि जीवन में जो भी होगा वह बहुत अच्छा होगा मेरी बहुत-बहुत शुभकामनाएं आपके लिए धन्यवाद

aapne prashna kiya hai ki ek majdur insaan apne zindagi mein success kaise bane iske liye main yah bataana chahunga ki jab vyakti ke jeevan mein kahin na kahin uski sir bible ki dikkat aati hai yani uske rozi roti ghar parivar ke hai chijon ki jaruraton ke bare mein baat aati hai toh vyakti kahin na kahin apni sthiti se nipatane ke liye uske aaspass jo bhi kuch karya hota hai vaah karne lagta hai ki jisse uski aamdani badhe aur vaah apne vishesh jaruraton ko pura kar paye toh kahin na kahin agar aapne apne jeevan mein kuch aisi cheezen thi jiske liye aapne yah profession chun chun liya ya aap mazdoori karne lage buri baat nahi hai lekin ab baat aati hai ki aap jeevan mein bahut safal kaise ho sakte hai dekhe jo bahut safal hone ke liye zaroori hota hai ki aap kahin na kahin apne bare mein bahut achi dharana rakhiye ab jeevan mein chahen jo kaam kar rahe hai vaah main nahi karta vaah aapki jeevan ki bhavishya ko tay nahi karta toh yah karta hai ki aapka najariya kaisa hai apne jeevan ko lekar ke aur aapne kshamta ko le karke dekhiye jyadatar jo maine dekha is jeevan mein ki jyadatar vyakti jis prakar ka karya karne lagte hai vaah kahin na kahin apne aapko usi ko destiny maankar usi ko apna bhavishya maan ke usi kaam mein hi active karke reh jaate hai kyonki apne nazariye par apne drishtikon mein kisi bhi prakar ka badlav karne ki koshish hi nahi karte toh iske liye main aapko bahut hi accha maan lunga ki aapne kahin na kahin mazdoori karte hue yah vichar toh banaya ki aap kuch accha safalta hasil kaise kar sakte hai yah bahut baadi baat hoti hai agar yah dharana aap mein aaye toh yah bhi gaane ka prayas kariye kyonki manushya kisi bure se bure jagah par ho lekin agar uske andar bahut sakaratmak dharana hai usko jeevan mein kuch accha karne ki lalak hai toh nishchit taur se vaah jeevan mein kamyab zaroor hota hai jaldi ho ya late mein ho samay lag sakta hai lekin vaah kamyab zaroor hoga isliye kabhi bhi agar aap chota kaam kar rahe hai toh apne andar chota hone ka bhav kabhi bhi aane dena nahi chahiye dhyan rakhiega ki jyadatar log jab chote kaam kar rahe hote toh kahin na kahin vaah apne aatmvishvaas ko apni sakaraatmakata ko bhi kho dete hai aur andar se maan lete hai kam se kam koi bahut bada karya hum nahi kar sakte jabki aisa nahi hona chahiye har vyakti mein ishwar ne ya prakriti ne bahut kuch bana kar bhejta hai usko andar bahut saree kshamta hoti hai aur vaah jeevan mein bahut kuch ajib kar sakta hai agar vaah apni chijon ko pehchaan jaaye tab uske liye bahut zaroori hai ki aap bhale mazdoori kar rahe hai lekin aap ek andar jajba paida kariye 11 andar se dharana paida kariye aur apne aap ko vishwas dilaya ki aap bhi jeevan mein kuch bahut accha kar sakte hai aur bahut kamyab ho sakte hai jis din aapke andar yah dharana baith gayi aapke subconscious mind mein agar yah vichar yah vishwas ho gaya toh aapko jeevan mein kamyab hone se koi nahi rok sakta hai iske liye zaroori hai ki sirf sochne se kaam nahi hoga is dharana ko banaye rakhne ke liye apne andar kuch accha jo hai usko dhundhne ka prayas kariye usi kaun si cheez hai jo aapne bahut achi hai ya aapke kahin na kahin aap maante hai ki aapke vyakti ka vaah mahatvapurna point hai us pratibha ko pahachanne ki koshish kariye aur mazdoori ke saath saath mein kuch samay us par bhi dene ka prayas kariye jaise jaise aap apne un chijon ko apni pratibha ko apne talent ko kuch pahachanenge unke kuch karya karenge toh dhire dhire kahin na kahin uchi jati aur achi hoti chali jayegi aur jab un chijon mein un cheezen bahut achi ho jaenge tab kahin na kahin aap apna zyada samay aur denge isse kya hoga ki aapke jeevan mein jo dhire dhire safalta aani shuru ho jayegi aur phir aapko jeevan mein santushti bhi rahega aur kahin na kahin aap apne jeevan ko ek naya aayam de payenge dhyan dijiyega ki kabhi bhi jeevan mein safalta jo hoti hai ya success hota hai vaah apne aap nahi aate har vyakti ke jeevan mein bahut saree chunautiyaan hoti hai bahut saree samasyaen hoti hai bahut saare pareshaniya hoti hai lekin jo vyakti apni samasya apni chunautiyon se ladte hue apni sakaraatmakata ko banaye rakhta hai apni positivity ko banaye rakhta hai aur uske liye kuch accha karne ka prayas karta hai toh nishchit taur se uske jeevan mein kamyabi bhi milti hai aur bahut safalta milti hai toh sabse jo pehli baat hai ki aapko apni dharana badalni hai badalni yah hai ki agar aap chota karya kar rahe hai koi baat nahi lekin aap kahin na kahin apne andar bithai hai ki hum mujhe vaah rasta milega aur zaroor milega aur apne aap se apne haalaat apne situation ke charo taraf se zaroor prashna karte rahe ho dekhne ka prayas kariye ki aap kaise aur accha karke apne jeevan ko bahut safal bana sakte hai jis din aapne prashna apne aap se karna shuru kar diya aur usko ek sakaratmak tarike se koshish karna shuru kar diya toh koi na koi bahut accha rasta bhi milega aur aapko jeevan mein kamyabi bhi bahut milegi isliye bahut zaroori hai ki apne aap ko vishwas dilaya aur yah ummid rakhi hai ki jeevan mein jo bhi hoga vaah bahut accha hoga meri bahut bahut subhkamnaayain aapke liye dhanyavad

आपने प्रश्न किया है कि एक मजदूर इंसान अपने जिंदगी में सक्सेस कैसे बने इसके लिए मैं यह बतान

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  500
WhatsApp_icon
user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाई चमक दूर हो चाहे कोई भी हो कर्म तो करना ही पड़ेगा कर्म करते रहो फल प्रभु के हाथ में है लेकिन अपने टर्निंग पॉइंट से कहा जाता है उसके फैसले लेने में आप बेझिझक फैसला करें जब आपके साथ समय बदल रहा हो तो आपको फैसला लेने में सक्षम होना पड़ेगा तभी करके आप अपनी शक्ति

bhai chamak dur ho chahen koi bhi ho karm toh karna hi padega karm karte raho fal prabhu ke hath mein hai lekin apne turning point se kaha jata hai uske faisle lene mein aap bejhijhak faisla kare jab aapke saath samay badal raha ho toh aapko faisla lene mein saksham hona padega tabhi karke aap apni shakti

भाई चमक दूर हो चाहे कोई भी हो कर्म तो करना ही पड़ेगा कर्म करते रहो फल प्रभु के हाथ में है

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  266
WhatsApp_icon
user

RAJNISH SINGH

Teacher/Singer/Business.. What'sAp .7491907565

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो सर आपका क्वेश्चन है एक मजदूर इंसान अपनी जिंदगी में सक्सेस कैसे बनते कि मजदूर हो या कोई भी हो आपको जिंदगी में स्वच्छ बनना है तो परेशान करनी होगी ठीक है सब सो जाएंगे सर

hello sir aapka question hai ek majdur insaan apni zindagi me success kaise bante ki majdur ho ya koi bhi ho aapko zindagi me swachh banna hai toh pareshan karni hogi theek hai sab so jaenge sir

हेलो सर आपका क्वेश्चन है एक मजदूर इंसान अपनी जिंदगी में सक्सेस कैसे बनते कि मजदूर हो या को

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  402
WhatsApp_icon
user

Pramodan swami (PK.VERMAN)

Prem Hi Dharm Hai Premi Karm Hi Prem Hi Safar

2:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक मित्र ने पूछा कि एक मजदूर इंसान अपनी जिंदगी में सक्सेस कैसे बने पहले तो अब उसे अपनी पुरानी धारणाओं को तोड़ना पड़ेगा जिस समाज में आया है उचित सूची की अवधारणा उस पर थोपी गई है उन्हें पीछे छोड़ना पड़ेगा और नई सोच को विकसित करना होगा कह कि अगर आप गरीब है गरीब सोचते हैं तो अब उतना ही सोच सकते हैं जितना कि आप सो सकते हैं अगर आपकी गरीब सोचे तो आप थोड़े ही सोचेंगे मैं आर्थिक स्थिति को वरी नहीं बता रहा हूं मैं सोच को गरीब बता रहा हूं अगर आपकी सोच अमीरों वाली है बहुत सोचती है तो सोच के आधार पर आपकी भविष्य का निर्माण होता है अगर आप सोचते हैं कि आप ₹100000 1 साल में कमा पाएंगे तो इतने ही कमा पाएंगे अगर आप सोचते हैं कि तबला कृपया 1 महीने में कमा सकते हैं तो आप कमा सकते हैं आपका जो समाज था जिसमें आप बड़े हुए हैं वह ज्यादा सोचने की अनुमति नहीं दे सकता था क्योंकि उन्हें कभी हो पाया ही नहीं जिसकी अब चाह रखते हैं तो पहले तो आपको उस समाज को छोड़ना पड़ेगा जिस स्थिति कि आप इच्छा करते हैं उसके सामान व्यक्तियों के समाज में आपको आना पड़ेगा उसके समान व्यक्तियों से व्यवहार रखना पड़ेगा जिस स्थिति में वह हैं क्योंकि अगर आप समानता कार्य करेंगे जो आपके आसपास के लोग अभी कर रहे हैं तो आप उतना ही पा सकते हैं जितना कि उनके पास ज्यादा नहीं

ek mitra ne poocha ki ek majdur insaan apni zindagi me success kaise bane pehle toh ab use apni purani dharnaon ko todna padega jis samaj me aaya hai uchit suchi ki avdharna us par thopi gayi hai unhe peeche chhodna padega aur nayi soch ko viksit karna hoga keh ki agar aap garib hai garib sochte hain toh ab utana hi soch sakte hain jitna ki aap so sakte hain agar aapki garib soche toh aap thode hi sochenge main aarthik sthiti ko worry nahi bata raha hoon main soch ko garib bata raha hoon agar aapki soch amiron wali hai bahut sochti hai toh soch ke aadhar par aapki bhavishya ka nirmaan hota hai agar aap sochte hain ki aap Rs 1 saal me kama payenge toh itne hi kama payenge agar aap sochte hain ki tabla kripya 1 mahine me kama sakte hain toh aap kama sakte hain aapka jo samaj tha jisme aap bade hue hain vaah zyada sochne ki anumati nahi de sakta tha kyonki unhe kabhi ho paya hi nahi jiski ab chah rakhte hain toh pehle toh aapko us samaj ko chhodna padega jis sthiti ki aap iccha karte hain uske saamaan vyaktiyon ke samaj me aapko aana padega uske saman vyaktiyon se vyavhar rakhna padega jis sthiti me vaah hain kyonki agar aap samanata karya karenge jo aapke aaspass ke log abhi kar rahe hain toh aap utana hi paa sakte hain jitna ki unke paas zyada nahi

एक मित्र ने पूछा कि एक मजदूर इंसान अपनी जिंदगी में सक्सेस कैसे बने पहले तो अब उसे अपनी पुर

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
user

kabeer01

Student

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज का क्वेश्चन यह है एक मजदूर इंसान अपनी जिंदगी में सक्सेस कैसे बने अगर आप मजदूर हो पहली बात तो यह आपके अंदर जो जुनून हर मोटिवेशन ऐसा होना चाहिए क्या आपको लगे कि हां आप कुछ कर सकते हो और आपको हालत बिल्कुल ही बात क्योंकि अगर आप हार गए आप फिर मजदूर हो या फिर कोई भी हो आप अपनी मंजिल को पाने के लिए हार गए तो आपको पर उठाने वाला कोई है भी नहीं क्योंकि आप इतना नीचे गिर जाओगे कि आपको फिर तो उठाने वाला कोई है भी तो आप अपनी मंजिल तक नहीं पहुंच पाओगे इसलिए मजबूर इंसान कोशिश करेगा जरूर वह भी अपने मंजिल के लिए सक्सेस होगा चाहे वह सब्जी बेचने या वह कुछ भी करें एनी बडी कोई भी वर्क करें मजदूर मजदूरी होता है लेकिन वह यह भूल जाता है कि हम कुछ कर नहीं सकते हम मजदूर हैं मजदूरी बनके रहेंगे आगे तो बढ़ नहीं सकते इसलिए आगे बढ़ना भी नहीं चाहते उनकी सोच यही हो जाती है अपनी सोच को बदलें और हो सके तो आगे बढ़ने की कोशिश करें अगर आप आगे बढ़ने की कोशिश करेंगे तो आप जरुर सफल होंगे जरूर सफल होंगे आप की कामयाबी आपके कदम चूमेगी जय हिंद जय भारत

aaj ka question yah hai ek majdur insaan apni zindagi me success kaise bane agar aap majdur ho pehli baat toh yah aapke andar jo junun har motivation aisa hona chahiye kya aapko lage ki haan aap kuch kar sakte ho aur aapko halat bilkul hi baat kyonki agar aap haar gaye aap phir majdur ho ya phir koi bhi ho aap apni manjil ko paane ke liye haar gaye toh aapko par uthane vala koi hai bhi nahi kyonki aap itna niche gir jaoge ki aapko phir toh uthane vala koi hai bhi toh aap apni manjil tak nahi pohch paoge isliye majboor insaan koshish karega zaroor vaah bhi apne manjil ke liye success hoga chahen vaah sabzi bechne ya vaah kuch bhi kare any badi koi bhi work kare majdur mazdoori hota hai lekin vaah yah bhool jata hai ki hum kuch kar nahi sakte hum majdur hain mazdoori banke rahenge aage toh badh nahi sakte isliye aage badhana bhi nahi chahte unki soch yahi ho jaati hai apni soch ko badale aur ho sake toh aage badhne ki koshish kare agar aap aage badhne ki koshish karenge toh aap zaroor safal honge zaroor safal honge aap ki kamyabi aapke kadam choomegi jai hind jai bharat

आज का क्वेश्चन यह है एक मजदूर इंसान अपनी जिंदगी में सक्सेस कैसे बने अगर आप मजदूर हो पहली

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  53
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  3  Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
user

AKASH SHARMA

Business Owner

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड मेरा नाम प्रकाश शर्मा है मैं बताना चाहता हूं आपका जो क्वेश्चन है वह है एक मजदूर इंसान अपनी जिंदगी में शिक्षक कैसे बने दोस्त उसका सशक्त बनने का पूरा जाना चाहता हूं क्योंकि एक गरीब इंसान जो होता है तो दोस्त गरीब कोई नहीं होता गरीब वह खुद अपने हालात से होता है क्या उस पर अच्छा प्लेटफार्म नहीं मिल पाता अगर मिलता है तू तो करता नहीं है दोस्तों की वह अकेला काम कर रहा होता है ठीक है अगर उसको लगता है कि हम मुझे अपनी लाइफ में कुछ बड़ा करना है या मुझे ब्लैक मेरे को ड्रीम दे मुझे अपने कुछ बोल रहा है यार मैं अपनी फैमिली को एक अच्छी स्पॉट दे सकूं अपनी फैमिली के सपनों को पूरा कर सकूं कम एक साइड से आ रही होती है चाहे वह 15000 किया है प्यार किया है चाहे वह 50000 किया है ठीक है ऐसा नहीं होता क्योंकि इंसान की जिंदगी होती है वह जॉब क्यों इलाज के ऊपर करती है ठीक है और आज आप जॉब करो कल आप जॉब करोगे कल आपकी फैमिली जॉब करेगी उसके बाद आप कितनी जॉब चेंज कर पाओगे और दोस्त जॉब से जरूरतें पूरी हो तो सपने कभी पूरे नहीं होते अगर सपने पूरे करने के लिए आपको मैं क्लास देना चाहता हूं कि हमें ऐसे लोगों की जरूरत है जो लोग मिलकर हम सब मिलकर एक ऐसा बिजनेस करें जहां आपके सपनों को पूरा कर सके और यहां पर बड़े-बड़े पतलू गाली काम करते हैं अगर मैं आपके लिए कुछ काम करूं मेरी पूरी टीम आपके लिए काम करें आपको सपना जल्द से जल्द पूरे होंगे क्योंकि आप अकेले काम नहीं करते आप की पूरी टीम काम करती है दोस्त मेरा नाम राज शर्मा मेरा कांटेक्ट नंबर है 4982 918 026 इस नंबर पर कांटेक्ट किए जा हिमेश हमें आपके सपोर्ट करने के लिए तैयार हूं बाकी बाद में करूंगा फिर कॉल पिया मेरे से मिलने के बैंक यू दोस्त धन्यवाद

hello friend mera naam prakash sharma hai main batana chahta hoon aapka jo question hai vaah hai ek majdur insaan apni zindagi me shikshak kaise bane dost uska sashakt banne ka pura jana chahta hoon kyonki ek garib insaan jo hota hai toh dost garib koi nahi hota garib vaah khud apne haalaat se hota hai kya us par accha platform nahi mil pata agar milta hai tu toh karta nahi hai doston ki vaah akela kaam kar raha hota hai theek hai agar usko lagta hai ki hum mujhe apni life me kuch bada karna hai ya mujhe black mere ko dream de mujhe apne kuch bol raha hai yaar main apni family ko ek achi spot de sakun apni family ke sapno ko pura kar sakun kam ek side se aa rahi hoti hai chahen vaah 15000 kiya hai pyar kiya hai chahen vaah 50000 kiya hai theek hai aisa nahi hota kyonki insaan ki zindagi hoti hai vaah job kyon ilaj ke upar karti hai theek hai aur aaj aap job karo kal aap job karoge kal aapki family job karegi uske baad aap kitni job change kar paoge aur dost job se jaruratein puri ho toh sapne kabhi poore nahi hote agar sapne poore karne ke liye aapko main class dena chahta hoon ki hamein aise logo ki zarurat hai jo log milkar hum sab milkar ek aisa business kare jaha aapke sapno ko pura kar sake aur yahan par bade bade patalu gaali kaam karte hain agar main aapke liye kuch kaam karu meri puri team aapke liye kaam kare aapko sapna jald se jald poore honge kyonki aap akele kaam nahi karte aap ki puri team kaam karti hai dost mera naam raj sharma mera Contact number hai 4982 918 026 is number par Contact kiye ja himesh hamein aapke support karne ke liye taiyar hoon baki baad me karunga phir call piya mere se milne ke bank you dost dhanyavad

हेलो फ्रेंड मेरा नाम प्रकाश शर्मा है मैं बताना चाहता हूं आपका जो क्वेश्चन है वह है एक मजदू

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  83
WhatsApp_icon
user

Rahul Kumar

Business Owner

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक मजदूर इंसान अपने जिंदगी में सेक्स अपने दिमाग यानी माइंड से हो सकता है अपने मन को कम सेट करें अपने तंत्रिका तंत्र पर ध्यान दें कि हमारा मन क्या कर रहा है और अपने दिल का समय अपने और अपने आसपास के लोग वालों से सलाह लें उसे बताएं मीटिंग करें कि भाई मैं इस कार्य में बहुत ज्यादा जानता हूं जयपुर में मकान बनाना बहुत ज्यादा जानता हूं तो उसमें आप मुझे मदद करें मैं डालूंगा और इससे मैं अपने लाइफ में आप सबके लाइफ को बहुत सक्सेना ने बहुत प्रोग्रेस की ओर बढ़ा सकते हैं आपकी मदद कीजिए मैं यही कहना चाहता हूं मेरे बात को अच्छा लगे तो थैंक यू और बुरा लगे तो भी

ek majdur insaan apne zindagi mein sex apne dimag yani mind se ho sakta hai apne man ko kam set kare apne tantrika tantra par dhyan de ki hamara man kya kar raha hai aur apne dil ka samay apne aur apne aaspass ke log walon se salah le use bataye meeting kare ki bhai main is karya mein bahut zyada jaanta hoon jaipur mein makan banana bahut zyada jaanta hoon toh usme aap mujhe madad kare main daalunga aur isse main apne life mein aap sabke life ko bahut saxena ne bahut progress ki aur badha sakte hain aapki madad kijiye main yahi kehna chahta hoon mere baat ko accha lage toh thank you aur bura lage toh bhi

एक मजदूर इंसान अपने जिंदगी में सेक्स अपने दिमाग यानी माइंड से हो सकता है अपने मन को कम सेट

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेहनत करके

mehnat karke

मेहनत करके

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  41
WhatsApp_icon
user

सुनील सिंह

अध्यापक

7:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार प्रश्न है कि एक मजदूर इंसान अपनी जिंदगी में शिक्षक कैसे बने कोई भी इंसान कोई भी इंसान इस दुनिया का छोटे से छोटा काम करने वाला इंसान चाहे वह पंचर लगाता हो चाहे वह पानीपुरी भेजता हो चाहे वह खाने का ठेला लगाकर खाना भेजता हूं चाहे वह जूते पॉलिश करता हूं वह क्षक्षक्ष है उसने उस काम को इतना बढ़ा दिया है कि सभी लोग उसके पास वह काम करवाने जा रहे हैं भैया क्यों जा रहे हैं क्योंकि वह इंसान उस काम को करना अच्छे से जानता है देखिए अब तक सेक्स कहेगी एक मतलब एक मजदूर इंसान है क्वालिफाइड नहीं है पढ़ा लिखा नहीं है तो वह एक अध्यापक बन जाए और शिक्षक तक शायद तो ऐसा मुमकिन नहीं है यह कैसे मुमकिन हो सकता है एक इंसान फर्स्ट क्लास से अपनी स्टडी छोड़ कर पढ़ाई छोड़कर अध्यापक कैसे बन सकते हैं नहीं हो सकता ना वह उसी अपने काम में ऐसी तीव्रता दिखाएं उस काम में एकदम एक्सपर्ट हो जाए तो भैया सक्ससी तो है वह है कि नहीं चाहे आप एक बिजली ठीक करने वाला इंसान है चाहे आप एक पंखा चलाने वाला इंसान है आप पंखा ठीक करने वाला इंसान है आप टेलीविजन ठीक करने वाला इंसान है आप घड़ियां बेचने वाला इंसान एगो आश्चर्य बेचने वाला इंसान है आप किसी इमारत का निर्माण करने वाला इंसान है भैया सक्सेस ही तो है एक मजदूर की वजह से ही तो यह पूरा संसार चलता है बड़े-बड़े ऑफिस का निर्माण किसने किया मजदूर ने बड़ी बिल्डिंग का निर्माण किसने किया एक मजदूर ने ठीक है ना बड़ी-बड़ी गाड़ियां किसने बनाई एक मजदूर ने बड़ी-बड़ी रेलवे ट्रैक किसने बिछाई एक मजदूर ने तो भैया सक्सेस ही तो है पूरे देश का निर्माण कर रहा है एक मजदूर और आपका प्रश्न है कि एक मजदूर इंसान अपनी जिंदगी में सक्सेस कैसे बने देखिए मेरे पिताजी एक मजदूर इंसान है नेक अपना वाक्य बता रहा हूं मैं गवर्नमेंट हाई स्कूल कमरदंगा रियासी में मतलब नाइंथ क्लास में पढ़ रहा था तो मेरे पिताजी सामान ढोने वाला जो ठेला होता है ना उस पर समान भर के धक्का देकर उस्मान अलग-अलग दुकानों में पहुंचाते थे बहुत साल पहले की बात है मेरा डिबेट कंपटीशन था और मैं हाई सेकेंडरी स्कूल गया हुआ था कंपटीशन के लिए तो मैंने फर्स्ट प्राइज हासिल किया वहां पर विश्वास हासिल किया डिबेट कंपटीशन में और मेरे सहपाठी जो मेरे साथ में गए हुए थे विस्फोट के लिए सपोर्ट करने के लिए मेरा मनोबल बढ़ाने के लिए तो वह भी मेरे साथ थे मैं जैसे गोला आइस कैंडी स्कूल के पास में पहुंचा तो मेरे पापा एक 22 जून-जुलाई मतलब इतनी गर्मी जितनी जून-जुलाई महीने में गर्मी होती है इतनी गर्मी थी भयंकर गर्मी मतलब इतनी इतनी ज्यादा गर्मी थी कि हमारा चल पाना बहुत मुश्किल था मैंने देखा मेरे पापा जी थे टॉफी मेरे हाथ में थी मेरे पापा जी के और रेडी को वह जो ठेला था उसको धक्का दे रहे थे वह चढ़ाई चढ़ा रहे थे अकेले पूरा बोतला जो है सामान से भरा हुआ था वह दुकानों में सामान देना होता था तो वह सामान से ठेला भरा हुआ था पूरी तरह से मैंने मतलब ट्रॉफी जो मेरे पास थी उस ट्राफी को मैंने साइड में दीवार के ऊपर छोड़ और मैं भागता हो गया तब मैं बहुत कम छोटा था मतलब बहुत ज्यादा छोटा था तो उस से मतलब खेले को मैंने बता उनके साथ दिया तो वह चढ़ाई उनके चढ़ाने का प्रयास किया हुआ मेरे से कि नहीं हुआ मेरा जोर लगा उस पर कि नहीं लगा मैं मोड मैं नहीं जानता ठीक है ना मुझे नहीं पता लेकिन मुझे इतना पता है कि मेरे पापा तब पसीने से मतलब इतने अच्छे नहीं हो चुके थे धूप से इतने मतलब हो चुके थे कि पूरी तरह से से मतलब मुझे मेरा अंदर जो कलेजा है वह बाहर निकलने को आ गया देख कर कि मतलब मैं पढ़ रहा हूं तो कैसे पढ़ रहा हूं मैं गया मैंने उसको धोखा दिया मैं तो ठेले को धोखा दिया वह चढ़ाई ऊपर रख चढ़ाई और जब मैं अपने सहपाठियों के पास गया तो मेरे से पार्टी कहते हैं क्या इंसान है यार तू तो यह ट्रॉफी मिली और तू वह चौकी ऐसे रोड पर थैंक के एक मजदूर के साथ धोखा देने चला गया मेघा भैया सुन मेरी बात जो भी मैं आज हूं ना यह मेरे पास तो अभी है कुछ नहीं था मैं फिर भी एक स्टूडेंट ही था कुछ बड़ी उपलब्धि हासिल नहीं कर ली थी मैंने एक स्टूडेंट हीरा में टेंथ क्लास में पढ़ रहा था मेरे हाथ में वो ट्रॉफी थी मैंने कहा यह ट्रॉफी मेरे हाथ में है यह सर्टिफिकेट मेरे हाथ में और कुछ पैसे दिए थे मुझे अध्यापकों ने खुश होकर तुम्हें जो पैसे जो मेरे पास है अभी यह जो कुछ भी मेरे पास है ना ही मजदूर की वजह से यह मेरे पापा तुम मेरी सक्सेस जो मैं सक्सेस था उसमें ऑडिट कंपटीशन में फर्स्ट हुआ मैं आज मैं आप सबके सामने बोल पा रहा हूं अगर मैं अनपढ़ होता तो मैं क्या इन सवालों के जवाब दे बात आपके सामने बैठकर चाय सही देता हूं चाहे गलत देता हूं बोल पाता क्या ठीक है ना तू उस समय मैंने उनको रिप्लाई करा कि देखो मेरे पापा है इन्हीं की वजह से आगे ट्रॉफी मेरे हाथ में तो वह शक्स शख्स मेरे पापा की हुई मेरी नहीं थी अगर मेरे पापा खुद काम से जी चुरा कर कहते कि मैं नहीं पड़ा लूंगा अपने बच्चों को करते हैं मजदूरी मेरे साथ करें हम भी कर लेते कोई समस्या नहीं थी लेकिन हमें हमारे पापा ने मजदूरी नहीं करने दी जैसे भी कमाया जोर लगा कर पसीना बहा कर कमाया चाहे अपने काम को पूरा पूरी पूरी ऐसे मतलब दिल से किया तो हमें यहां तक पहुंचाया हम बोल पाए हम फर्स्ट प्राइज हासिल कर पाए मैं आपके सामने बैठकर यह बोल पा रहा हूं कुछ भी बोल पा रहा हूं अच्छा लग रहा है आपको बुरा लग रहा है वह आप मतलब बोल तो पा रहा हूं ना ठीक है ना तो वह सक्सेस है भाई वही सक्सेस है एक मजदूर के लिए मैं कभी हाथ में पकड़ कर उनके सामने जा पाया शत-शत मेरे पापा की मजदूर की है ठीक है ना और सब और सक्सेस किसी की का नाम नहीं है सच्चा वही है दिल को सुकून मिले और वह मुझे देखकर मेरे पापा को मिला धन्यवाद

namaskar prashna hai ki ek majdur insaan apni zindagi mein shikshak kaise bane koi bhi insaan koi bhi insaan is duniya ka chote se chota kaam karne vala insaan chahen vaah puncher lagaata ho chahen vaah panipuri bhejta ho chahen vaah khane ka thela lagakar khana bhejta hoon chahen vaah joote polish karta hoon vaah kshakshaksh hai usne us kaam ko itna badha diya hai ki sabhi log uske paas vaah kaam karwane ja rahe hai bhaiya kyon ja rahe hai kyonki vaah insaan us kaam ko karna acche se jaanta hai dekhiye ab tak sex kahegi ek matlab ek majdur insaan hai qualified nahi hai padha likha nahi hai toh vaah ek adhyapak ban jaaye aur shikshak tak shayad toh aisa mumkin nahi hai yah kaise mumkin ho sakta hai ek insaan first kashi se apni study chod kar padhai chhodkar adhyapak kaise ban sakte hai nahi ho sakta na vaah usi apne kaam mein aisi teevrata dikhaen us kaam mein ekdam expert ho jaaye toh bhaiya saksasi toh hai vaah hai ki nahi chahen aap ek bijli theek karne vala insaan hai chahen aap ek pankha chalane vala insaan hai aap pankha theek karne vala insaan hai aap television theek karne vala insaan hai aap ghadiyan bechne vala insaan ego aashcharya bechne vala insaan hai aap kisi imarat ka nirmaan karne vala insaan hai bhaiya success hi toh hai ek majdur ki wajah se hi toh yah pura sansar chalta hai bade bade office ka nirmaan kisne kiya majdur ne baadi building ka nirmaan kisne kiya ek majdur ne theek hai na baadi badi gadiyan kisne banai ek majdur ne baadi badi railway track kisne bichhai ek majdur ne toh bhaiya success hi toh hai poore desh ka nirmaan kar raha hai ek majdur aur aapka prashna hai ki ek majdur insaan apni zindagi mein success kaise bane dekhiye mere pitaji ek majdur insaan hai neck apna vakya bata raha hoon main government high school kamardanga reasi mein matlab ninth kashi mein padh raha tha toh mere pitaji saamaan dhone vala jo thela hota hai na us par saman bhar ke dhakka dekar usman alag alag dukaano mein pahunchate the bahut saal pehle ki baat hai mera debate competition tha aur main high secondary school gaya hua tha competition ke liye toh maine first prize hasil kiya wahan par vishwas hasil kiya debate competition mein aur mere sahpathi jo mere saath mein gaye hue the visphot ke liye support karne ke liye mera manobal badhane ke liye toh vaah bhi mere saath the main jaise gola ice candy school ke paas mein pohcha toh mere papa ek 22 june july matlab itni garmi jitni june july mahine mein garmi hoti hai itni garmi thi bhayankar garmi matlab itni itni zyada garmi thi ki hamara chal paana bahut mushkil tha maine dekha mere papa ji the toffee mere hath mein thi mere papa ji ke aur ready ko vaah jo thela tha usko dhakka de rahe the vaah chadhai chadha rahe the akele pura botla jo hai saamaan se bhara hua tha vaah dukaano mein saamaan dena hota tha toh vaah saamaan se thela bhara hua tha puri tarah se maine matlab trophy jo mere paas thi us trophy ko maine side mein deewaar ke upar chod aur main bhagta ho gaya tab main bahut kam chota tha matlab bahut zyada chota tha toh us se matlab khele ko maine bata unke saath diya toh vaah chadhai unke chadhane ka prayas kiya hua mere se ki nahi hua mera jor laga us par ki nahi laga main mode main nahi jaanta theek hai na mujhe nahi pata lekin mujhe itna pata hai ki mere papa tab pasine se matlab itne acche nahi ho chuke the dhoop se itne matlab ho chuke the ki puri tarah se se matlab mujhe mera andar jo kaleja hai vaah bahar nikalne ko aa gaya dekh kar ki matlab main padh raha hoon toh kaise padh raha hoon main gaya maine usko dhokha diya main toh thele ko dhokha diya vaah chadhai upar rakh chadhai aur jab main apne sahapathiyon ke paas gaya toh mere se party kehte hai kya insaan hai yaar tu toh yah trophy mili aur tu vaah chowki aise road par thank ke ek majdur ke saath dhokha dene chala gaya megha bhaiya sun meri baat jo bhi main aaj hoon na yah mere paas toh abhi hai kuch nahi tha main phir bhi ek student hi tha kuch baadi upalabdhi hasil nahi kar li thi maine ek student heera mein tenth kashi mein padh raha tha mere hath mein vo trophy thi maine kaha yah trophy mere hath mein hai yah certificate mere hath mein aur kuch paise diye the mujhe adhyapakon ne khush hokar tumhe jo paise jo mere paas hai abhi yah jo kuch bhi mere paas hai na hi majdur ki wajah se yah mere papa tum meri success jo main success tha usme audit competition mein first hua main aaj main aap sabke saamne bol paa raha hoon agar main anpad hota toh main kya in sawalon ke jawab de baat aapke saamne baithkar chai sahi deta hoon chahen galat deta hoon bol pata kya theek hai na tu us samay maine unko reply kara ki dekho mere papa hai inhin ki wajah se aage trophy mere hath mein toh vaah shaks sakhs mere papa ki hui meri nahi thi agar mere papa khud kaam se ji chura kar kehte ki main nahi pada lunga apne baccho ko karte hai mazdoori mere saath kare hum bhi kar lete koi samasya nahi thi lekin hamein hamare papa ne mazdoori nahi karne di jaise bhi kamaya jor laga kar paseena baha kar kamaya chahen apne kaam ko pura puri puri aise matlab dil se kiya toh hamein yahan tak pahunchaya hum bol paye hum first prize hasil kar paye main aapke saamne baithkar yah bol paa raha hoon kuch bhi bol paa raha hoon accha lag raha hai aapko bura lag raha hai vaah aap matlab bol toh paa raha hoon na theek hai na toh vaah success hai bhai wahi success hai ek majdur ke liye main kabhi hath mein pakad kar unke saamne ja paya shat shat mere papa ki majdur ki hai theek hai na aur sab aur success kisi ki ka naam nahi hai saccha wahi hai dil ko sukoon mile aur vaah mujhe dekhkar mere papa ko mila dhanyavad

नमस्कार प्रश्न है कि एक मजदूर इंसान अपनी जिंदगी में शिक्षक कैसे बने कोई भी इंसान कोई भी इं

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  102
WhatsApp_icon
user

Nishant Rajput

Optical Employee

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहली बात तो यह कि शिक्षित से कोई पैमाना नहीं होता हां इंसान का सेक्स का पैमाना लगता होता है सही बात मजदूर कि अगर वह पैसे की मालूम से पहले अपने फिल्म एक्सपर्ट छोटा कॉन्टेक्टर बंसी ठीक है ना

pehli baat toh yah ki shikshit se koi paimaana nahi hota haan insaan ka sex ka paimaana lagta hota hai sahi baat majdur ki agar vaah paise ki maloom se pehle apne film expert chota kantektar bansi theek hai na

पहली बात तो यह कि शिक्षित से कोई पैमाना नहीं होता हां इंसान का सेक्स का पैमाना लगता होता ह

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  61
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!