UPSC के लिए कौन-कौन से सब्जेक्ट पढ़ने होंगे कौन-कौन सी किताबें पढ़नी होगी?...


user

Saurabh Akhouri

UPSC Faculty

3:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी के लिए आपको सामान्य अध्ययन के लिए एनसीईआरटी की किताब अवश्य करनी चाहिए क्लास 10वीं से लेकर क्लास बारहवीं तक का जिससे कि आपको राजनीतिक शास्त्र यानी समाजशास्त्र सिविक्स उसके अलावा इतिहास भूगोल और उसके बाद सामान्य विज्ञान में भौतिकी रसायन और जीव विज्ञान का आपको अच्छी तरह से 12 वीं स्तर का ज्ञान हो जाए उसके अलावा समसामयिक विषय पर आपको लगातार समाचार पत्र पढ़ना चाहिए आप को साथ में न्यूज़ मैगजीन भी पढ़ना चाहिए और विश्लेषण भी पढ़ना चाहिए इकोनामिक एंड पॉलीटिकल वीकली पड़ी है आप अगर हिंदी में पढ़ना है तो प्रतियोगिता दर्पण पढ़ सकते हैं आप उसको इस तरह से पढ़िए जिससे कि आत्मसात कर सके और आपको ऐसा लगे कि आप उस विषय के अच्छे ज्ञाता हो गए हैं उसके अलावा आपको एक अपने आप सब्जेक्ट यूज करना चाहिए इस सब्जेक्ट में आपको मास्टरी हासिल हो उस से रिलेटेड जितने भी कांसेप्ट से उसको क्लियर करना चाहिए उसके लिए स्नातक स्तर की जो भी किताब वह आप पढ़े इतिहास के लिए अलग उसको तो हो सकता है भूगोल के लिए अलग मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लिए अलग गणित के लिए अलग हो सकता है बाजार में बहुत सारा की पुस्तक मौजूद हैं आप उनको पढ़ सकते हैं लेकिन मुख्य बात यह है उस तक आप कोई भी पढ़ें उसको आत्मसात करें बिना आत्मसात किए बिना उसका ज्ञाता बने कोई भी प्रतियोगिता परीक्षा में उत्तीर्ण होना संभव नहीं है जो भी पड़े तो रो पड़े सबसे बड़ी बात यह है और आप हमेशा जो उसका पाठ्यक्रम है यूपीएससी का उस पर ध्यान दें कि उस से रिलेटेड जो भी मटेरियल है बाजार में बहुत तरह के शोर से आपको मिल सकता है ऑनलाइन भी मिल सकता है आप उसको गेदर करें और नोट्स बनाएं उसका नोट्स बनाना बहुत जरूरी होता है शार्ट नोट्स बनाएं सपोर्ट कीजिए इतिहास की बातें इतिहास में आप किस तरह से नोट्स बनाएं इसवी सन उसके अलावा आप मूड बनाए इस मिशन में क्या-क्या घटनाएं घटी थी उसके अलावा उस कालखंड में क्या अर्थ व्यवस्था थी उस कार्ड का खंडन वास्तुकला कैसी थी उस कालखंड में व्यापार किस तरह से होता था उस कालखंड में मूर्तिकला कैसी थी उस कालखंड में कौन-कौन से युद्ध हुए थे और कालखंड इतिहास में ऑलरेडी बटा हुआ है प्राचीन इतिहास मध्यकालीन इतिहास आना अर्वाचीन इतिहास और आजादी के पहले का इतिहास है ना और अभी तो मॉडर्न हिस्ट्री में और थोड़ी बहुत भी बातें आ गई है मतलब मोटा मोटी तौर पर जो बातें हैं उनको आप आत्मसात कीजिए एनसीईआरटी की किताब पढ़ना जरूरी है उसको आप पढ़ेंगे तो आपको बहुत अच्छा अनुभव होगा है ना और आप उस तरह से अपने को तैयार कर सकते हैं धन्यवाद

upsc ke liye aapko samanya adhyayan ke liye ncert ki kitab avashya karni chahiye class vi se lekar class baarvi tak ka jisse ki aapko raajnitik shastra yani samajshastra civics uske alava itihas bhugol aur uske baad samanya vigyan mein bhautiki rasayan aur jeev vigyan ka aapko achi tarah se 12 vi sthar ka gyaan ho jaaye uske alava samasamayik vishay par aapko lagatar samachar patra padhna chahiye aap ko saath mein news magazine bhi padhna chahiye aur vishleshan bhi padhna chahiye economic and political weekly padi hai aap agar hindi mein padhna hai toh pratiyogita darpan padh sakte hain aap usko is tarah se padhiye jisse ki aatmsat kar sake aur aapko aisa lage ki aap us vishay ke acche gyaata ho gaye hain uske alava aapko ek apne aap subject use karna chahiye is subject mein aapko mastery hasil ho us se related jitne bhi concept se usko clear karna chahiye uske liye snatak sthar ki jo bhi kitab vaah aap padhe itihas ke liye alag usko toh ho sakta hai bhugol ke liye alag mechanical Engineering ke liye alag ganit ke liye alag ho sakta hai bazaar mein bahut saara ki pustak maujud hain aap unko padh sakte hain lekin mukhya baat yah hai us tak aap koi bhi padhen usko aatmsat kare bina aatmsat kiye bina uska gyaata bane koi bhi pratiyogita pariksha mein uttirna hona sambhav nahi hai jo bhi pade toh ro pade sabse badi baat yah hai aur aap hamesha jo uska pathyakram hai upsc ka us par dhyan de ki us se related jo bhi material hai bazaar mein bahut tarah ke shor se aapko mil sakta hai online bhi mil sakta hai aap usko gedar kare aur notes banaye uska notes banana bahut zaroori hota hai shaart notes banaye support kijiye itihas ki batein itihas mein aap kis tarah se notes banaye iswi san uske alava aap mood banaye is mission mein kya kya ghatnaye ghati thi uske alava us kalakhand mein kya arth vyavastha thi us card ka khandan vastukala kaisi thi us kalakhand mein vyapar kis tarah se hota tha us kalakhand mein murtikala kaisi thi us kalakhand mein kaun kaunsi yudh hue the aur kalakhand itihas mein already bataa hua hai prachin itihas madhyakalin itihas aana arvachin itihas aur azadi ke pehle ka itihas hai na aur abhi toh modern history mein aur thodi bahut bhi batein aa gayi hai matlab mota moti taur par jo batein hain unko aap aatmsat kijiye ncert ki kitab padhna zaroori hai usko aap padhenge toh aapko bahut accha anubhav hoga hai na aur aap us tarah se apne ko taiyar kar sakte hain dhanyavad

यूपीएससी के लिए आपको सामान्य अध्ययन के लिए एनसीईआरटी की किताब अवश्य करनी चाहिए क्लास 10वीं

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  210
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!