गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय है?...


play
user

Manish Bhargava

Trainer/ Mentor in Delhi education deptt.

2:15

Likes  152  Dislikes    views  4511
WhatsApp_icon
22 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
0:16

Likes  167  Dislikes    views  1919
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुस्सा कंट्रोल करने का सबसे अच्छा उपाय है मेडिटेशन करना प्राणायाम करना अपने अध्यात्मिक विश्वा गीता प्रणब को सतत कार्य को समय अपने आप को रोक की पानी पीजिए अवश्य मंथन कीजिए मत गुस्सा जो कर रहा हूं नाराज हो रहा हूं उसमें नाराज इतना महत्वपूर्ण कारण वहां पर नाराज होना भी छोटी-छोटी बातों का ध्यान तो चला गीता का भजन समाज की सेवा के लिए गाय को चारा खिला दीजिए जो मन में खुशियों के लिए अच्छी पक्ष के पड़ गई अगर लेखक है तो अपने मन को लेखन में थोड़ा सा समय दीजिए अच्छी पोस्ट के पढ़ेंगे तो आप को मार्गदर्शन अच्छा मिल जाएगा

gussa control karne ka sabse accha upay hai meditation karna pranayaam karna apne adhyatmik vishva geeta pranab ko satat karya ko samay apne aap ko rok ki paani PGA avashya manthan kijiye mat gussa jo kar raha hoon naaraj ho raha hoon usme naaraj itna mahatvapurna karan wahan par naaraj hona bhi choti choti baaton ka dhyan toh chala geeta ka bhajan samaj ki seva ke liye gaay ko chara khila dijiye jo man me khushiyon ke liye achi paksh ke pad gayi agar lekhak hai toh apne man ko lekhan me thoda sa samay dijiye achi post ke padhenge toh aap ko margdarshan accha mil jaega

गुस्सा कंट्रोल करने का सबसे अच्छा उपाय है मेडिटेशन करना प्राणायाम करना अपने अध्यात्मिक व

Romanized Version
Likes  212  Dislikes    views  957
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चार आपका प्रश्न है गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय देखे गुस्सा कंट्रोल करना हर कोई चाहता है और यहां तक होता है कि वह चाहता है कि उसका गुस्सा ना आए लेकिन जब क्वेश्चन आती है तो लोग गुस्सा कर देते हैं गुस्सा तब ज्यादा होता है जब हमारे मन मुताबिक जिले नहीं होती इसलिए जीवन में एक तो आप सभी कार भाग को लेकर आएगी जीवन में हमेशा हमारी मनपसंद चीजें नहीं होगी जब हम में सभी कार भाग होगा तो कहीं ना कहीं हमारे में गुस्सा कम होगा दूसरा जब गुस्सा आने वाला हूं या आ रहा हो तो आप अपना ध्यान स्वास्थ्य पर लेकर लंबी श्वास छोड़े और लंबी सांस लें इससे भी आपका गुस्सा शांत रहेगा उल्टी गिनती गिनना शुरू कर दे मन ही मन उससे भी आपका ध्यान आपके अंदर चला जाएगा आप वर्तमान में आ जाएंगे कहीं ना कहीं गुस्सा कम हो जाएगा धन्यवाद

char aapka prashna hai gussa control karne ka upay dekhe gussa control karna har koi chahta hai aur yahan tak hota hai ki vaah chahta hai ki uska gussa na aaye lekin jab question aati hai toh log gussa kar dete hain gussa tab zyada hota hai jab hamare man mutabik jile nahi hoti isliye jeevan me ek toh aap sabhi car bhag ko lekar aayegi jeevan me hamesha hamari manpasand cheezen nahi hogi jab hum me sabhi car bhag hoga toh kahin na kahin hamare me gussa kam hoga doosra jab gussa aane vala hoon ya aa raha ho toh aap apna dhyan swasthya par lekar lambi swas chode aur lambi saans le isse bhi aapka gussa shaant rahega ulti ginti ginna shuru kar de man hi man usse bhi aapka dhyan aapke andar chala jaega aap vartaman me aa jaenge kahin na kahin gussa kam ho jaega dhanyavad

चार आपका प्रश्न है गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय देखे गुस्सा कंट्रोल करना हर कोई चाहता है और

Romanized Version
Likes  103  Dislikes    views  1983
WhatsApp_icon
user

अशोक वशिष्ठ

Author, Retired Principal

5:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार बंधु गूगल एक्सपर्ट अशोक वशिष्ठ आपका प्रश्न है गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय क्या है तू दिखे गुस्सा आना स्वाभाविक है मनुष्य है किसी न किसी बात पर हम को गुस्सा आता है अब यह तो उस हिस्से को हम किस डे में लेते हैं उसको किस वे में उस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हैं क्रिया की प्रतिक्रिया क्या होती है क्या आपको अगर किसी ने शूट किया जोर से चिल्लाया तो आप उससे भी जोर से ज्यादा चलाएंगे आप किसी ने एक कप तोड़ दिया तो क्या आपस की उसका हाथ तोड़ देंगे मैंने गुस्से की कोई सीमा नहीं है तो मैं अब मैं तो अगर अपने अनुभव से कहूंगा मुझे भी बहुत आता है ना लेकिन मैंने गुस्से को लेकर साधु सन्यासी कोई नहीं है अगर कोई कहता है तो बहुत गलत बात है गुस्सा साधु संन्यासियों को भी आता होगा ऐसी बात नहीं है बहुत कम ऐसे होंगे जिन्होंने बार-बार अभ्यास करने से जिसको तपस्या बोलते हैं अपने गुस्से पर कंट्रोल कर लिया हो मुझे तो गुस्सा आता है तो मैं उसकी कभी-कभी तुरंत प्रतिक्रिया नहीं देता अगर बहुत गुस्से वाली बात है तो मैं उस समय तुरंत प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं करता मैं उस समय गुम हो जाता हूं चुप हो जाता हूं और आकर अपने या तो किसी काम में लग जाता हूं या बैठ जाता हूं यार लेट जाता हूं चेयर पर बैठ जाता हूं राइटिंग टेबल पर बैठ जाता हूं या उस पल को मैं निकालना चाहता हूं कि भी गुस्से में गुस्सा ही और ज्यादा आएगा अगर उसी समय प्रतिक्रिया व्यक्त करेंगे तो बहुत गुस्सा है अगर का उदाहरण बताता हूं ना कभी एक बार मुझे याद है कोई चिट्ठी आई थी मेरे किसी रिश्तेदारी में कुछ उन्होंने उल्टा सीधा ऐसा कुछ लिखा था मन हुआ कि ऐसा जवाब दिया जाए कि छठी का दूध दिया जाए याद आ जाए उनको लेकिन अगले ही पल मैंने सोचा कि नहीं नहीं इससे तो रिश्तेदारी बिगड़ेगी और ठीक है उन्होंने किसी कारणवश लिखा है ना वह हमारे पूज्य हैं तू ठीक है उन्होंने लिखा है अगर मैं भी वैसा ही लिखूंगा तो फिर मुझ में और उन में फर्क क्या रह गया मेरी समझ और उनकी समझ में फर्क क्या रहेगा तो मैं मैंने वह चिट्ठी रख दी दो-तीन दिन 4 दिन 5 दिन बाद फिर पड़ा और फिर मन शांत हुआ गुस्सा भी शांत हो गया वह समय निकल गया ना फुल निकल गया समय निकल गया समय उसके बाद जो छुट्टी मैंने लिखी हो सब ठीक हूं जमाने बाद उस बात का भी जिक्र आया जो उन्होंने गुस्से की बात लिखी थी लेकिन वह इतनी पॉलिश को कराया बनावटी नहीं स्वाभाविक क्यों बात खत्म हो गई आप कुछ दिनों के बाद ही होता है ऐसा कभी-कभी होता है अगर गिलास की जाए तो अक्षर में देखता हूं कि मां है बहुत कम आए ऐसी होंगी अन्यथा तो माया कोई और लालपरी क्षमा क्लास छोड़ दिया बाप रे हरी बच्चे के पैर में लग सकता था बच्चे के हाथ में लग सकता था वह आपने नहीं पूछा एक गिलास था आपका पंद्रह ₹20 का टूट गया तो इतना पहाड़ टूट गया क्या ठीक है वह भी समझाना चाहिए बच्चे को के बेटा लापरवाही नहीं करनी चाहिए आज बिलासपुर टैकल को कुछ और भी नुकसान हो सकता है लेकिन ऐसा सामान्यतः नहीं होता है कुछ पल के बाद अगर हम प्रतिक्रिया करें उस समय तुम तुरंत बच्चे को मां से हटाए टूटे हुए कांच को ठीक करें वहां से उठाएं गीले कपड़े से पहुंचे साफ करें ताकि और सावधानी के साथ अपने बच्चे से बात करें बेटा क्या हो गया था आपको कहीं लगी तो नहीं लगी है तो सबसे पहले बच्चे का और ट्रीटमेंट होना चाहिए पोस्टेड मिलनी चाहिए तो मेरा कहने का मतलब है कि अगर गुस्सा आता है तो उस समय कंट्रोल करिए का मतलब वहां से या तो हट जाइए उस दिन से से थोड़ी देर के लिए कहीं घूमने चलें बता रहा हूं मैं मुंबई में रहता हूं अभी कुछ ले कुछ साल पहले 5 साल पहले मैं गांव गया तो किसी बात पर मेरा जो हादसा मेरे यानी कि मेरे परिवार के सदस्य दुआएं चचेरे भाई वगैरह उनसे किसी बात पर काफी कहासुनी हो गई बहुत गुस्सा आया मुझे वह अपने बर्बाद कर रहे थे क्या कर रही थी तेरी भाभी है जो भी है ठीक है चाहता तो मैं भी बहुत मिस कर सकता था एक लिमिट तक मैंने बस कि उसके आगे जाता तो वह बहुत अच्छा हो जाता मैं तुरंत वहां से उठा दोपहर का समय तक गर्मी के दिन थे जब कि मुझे नहीं निकलना चाहिए था मैं दूर करीब 1 किलोमीटर दूर जाकर एक धर्मशाला जैसी बनी हुई थी वहां पीपल के पेड़ के नीचे एक दल भी लगा हुआ था वहां जाकर बैठा नल का पानी निकाला पिया बैठा गाने गुनगुनाए वहां से अपनी मैसेज को मस्त फोन किया और थोड़ा सा बता भी दिया कि ऐसा ऐसा हो गया है तो यहां क्यों आ रहे हो प्लासी चला आया हूं एक डेढ़ घंटे 2 घंटे वहां उसके बाद शांत मन से अपने घर में आ गया तब तक घर में भी शांत हो गया था और ऐसा नहीं कि मैं पलायन बादी नहीं बाद में फिर बैठ कर दो दिन के बाद मैंने उनसे बातचीत की तो बढ़िया सोहर तू ढंग से बात हुई तरीका होता है तरीका होता है हाउ यू आप कैसे टैकल करते हैं तो मैं तो यह मानता हूं कि उस समय तुरंत प्रतिक्रिया नहीं चाहिए

namaskar bandhu google expert ashok vashistha aapka prashna hai gussa control karne ka upay kya hai tu dikhe gussa aana swabhavik hai manushya hai kisi na kisi baat par hum ko gussa aata hai ab yah toh us hisse ko hum kis day me lete hain usko kis ve me us par pratikriya vyakt karte hain kriya ki pratikriya kya hoti hai kya aapko agar kisi ne choot kiya jor se chillaya toh aap usse bhi jor se zyada chalayenge aap kisi ne ek cup tod diya toh kya aapas ki uska hath tod denge maine gusse ki koi seema nahi hai toh main ab main toh agar apne anubhav se kahunga mujhe bhi bahut aata hai na lekin maine gusse ko lekar sadhu sanyaasi koi nahi hai agar koi kahata hai toh bahut galat baat hai gussa sadhu sannyasiyon ko bhi aata hoga aisi baat nahi hai bahut kam aise honge jinhone baar baar abhyas karne se jisko tapasya bolte hain apne gusse par control kar liya ho mujhe toh gussa aata hai toh main uski kabhi kabhi turant pratikriya nahi deta agar bahut gusse wali baat hai toh main us samay turant pratikriya vyakt nahi karta main us samay gum ho jata hoon chup ho jata hoon aur aakar apne ya toh kisi kaam me lag jata hoon ya baith jata hoon yaar late jata hoon chair par baith jata hoon writing table par baith jata hoon ya us pal ko main nikalna chahta hoon ki bhi gusse me gussa hi aur zyada aayega agar usi samay pratikriya vyakt karenge toh bahut gussa hai agar ka udaharan batata hoon na kabhi ek baar mujhe yaad hai koi chitthi I thi mere kisi rishtedaari me kuch unhone ulta seedha aisa kuch likha tha man hua ki aisa jawab diya jaaye ki chathi ka doodh diya jaaye yaad aa jaaye unko lekin agle hi pal maine socha ki nahi nahi isse toh rishtedaari bigdegi aur theek hai unhone kisi karanvash likha hai na vaah hamare PUJYA hain tu theek hai unhone likha hai agar main bhi waisa hi likhunga toh phir mujhse me aur un me fark kya reh gaya meri samajh aur unki samajh me fark kya rahega toh main maine vaah chitthi rakh di do teen din 4 din 5 din baad phir pada aur phir man shaant hua gussa bhi shaant ho gaya vaah samay nikal gaya na full nikal gaya samay nikal gaya samay uske baad jo chhutti maine likhi ho sab theek hoon jamane baad us baat ka bhi jikarr aaya jo unhone gusse ki baat likhi thi lekin vaah itni polish ko karaya banavati nahi swabhavik kyon baat khatam ho gayi aap kuch dino ke baad hi hota hai aisa kabhi kabhi hota hai agar gilas ki jaaye toh akshar me dekhta hoon ki maa hai bahut kam aaye aisi hongi anyatha toh maya koi aur lalapari kshama class chhod diya baap ray hari bacche ke pair me lag sakta tha bacche ke hath me lag sakta tha vaah aapne nahi poocha ek gilas tha aapka pandrah Rs ka toot gaya toh itna pahad toot gaya kya theek hai vaah bhi samajhana chahiye bacche ko ke beta laparwahi nahi karni chahiye aaj bilaspur tackle ko kuch aur bhi nuksan ho sakta hai lekin aisa samanyatah nahi hota hai kuch pal ke baad agar hum pratikriya kare us samay tum turant bacche ko maa se hataye tute hue kanch ko theek kare wahan se uthaye gile kapde se pahuche saaf kare taki aur savdhani ke saath apne bacche se baat kare beta kya ho gaya tha aapko kahin lagi toh nahi lagi hai toh sabse pehle bacche ka aur treatment hona chahiye posted milani chahiye toh mera kehne ka matlab hai ki agar gussa aata hai toh us samay control kariye ka matlab wahan se ya toh hut jaiye us din se se thodi der ke liye kahin ghoomne chalen bata raha hoon main mumbai me rehta hoon abhi kuch le kuch saal pehle 5 saal pehle main gaon gaya toh kisi baat par mera jo hadsa mere yani ki mere parivar ke sadasya duaen chachere bhai vagera unse kisi baat par kaafi kahasuni ho gayi bahut gussa aaya mujhe vaah apne barbad kar rahe the kya kar rahi thi teri bhabhi hai jo bhi hai theek hai chahta toh main bhi bahut miss kar sakta tha ek limit tak maine bus ki uske aage jata toh vaah bahut accha ho jata main turant wahan se utha dopahar ka samay tak garmi ke din the jab ki mujhe nahi nikalna chahiye tha main dur kareeb 1 kilometre dur jaakar ek dharmasala jaisi bani hui thi wahan pipal ke ped ke niche ek dal bhi laga hua tha wahan jaakar baitha nal ka paani nikaala piya baitha gaane gungunaye wahan se apni massage ko mast phone kiya aur thoda sa bata bhi diya ki aisa aisa ho gaya hai toh yahan kyon aa rahe ho plassey chala aaya hoon ek dedh ghante 2 ghante wahan uske baad shaant man se apne ghar me aa gaya tab tak ghar me bhi shaant ho gaya tha aur aisa nahi ki main palayan badi nahi baad me phir baith kar do din ke baad maine unse batchit ki toh badhiya sohar tu dhang se baat hui tarika hota hai tarika hota hai how you aap kaise tackle karte hain toh main toh yah maanta hoon ki us samay turant pratikriya nahi chahiye

नमस्कार बंधु गूगल एक्सपर्ट अशोक वशिष्ठ आपका प्रश्न है गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय क्या है

Romanized Version
Likes  50  Dislikes    views  1486
WhatsApp_icon
user

Kankan Sarmah

Psychologist

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय तो जब वह एक्सपेक्टेशन सफल नहीं हो पाते हैं तो अभी ऐसे गुस्सा में आते हैं छोटा-मोटा गुस्सा तो नहीं है लेकिन ज्यादा गुस्सा आता था मुक्त और कर देते हैं तो बीच में कोई प्रॉब्लम है कभी-कभी तो यह भी गुस्सा करते भी है और बहुत बुरी हालत अभी जा सकते हैं तो इसमें दोस्तों एक चीज में ध्यान रखना जरूरी है कि गुस्सा का जो चाबी है कुछ अभी हमारे हाथ में है या नहीं हमारे पास ही है हम जब चाहे उसको इस्तेमाल कर सकते हैं जिस हिसाब से चाहते हम उसे इस्तेमाल कर सकते हैं तो संतुलित हमें करना जरूरी है हमें अपने आप पर काबू करना जरूरी है अगर हम खुद पर काबू नहीं कर पाएंगे तो अभी असली वह तो प्रॉब्लम ही होगा ठीक है तो हमें खुद को संतुलित करके रखना है जरूरी है और जितना हो सके यह समझना जरूरी है कि जब श्रवण इसलिए ब्लॉक मन होता है तो गुस्सा भी कम हो जाता है धन्यवाद

gussa control karne ka upay toh jab vaah expectation safal nahi ho paate hain toh abhi aise gussa me aate hain chota mota gussa toh nahi hai lekin zyada gussa aata tha mukt aur kar dete hain toh beech me koi problem hai kabhi kabhi toh yah bhi gussa karte bhi hai aur bahut buri halat abhi ja sakte hain toh isme doston ek cheez me dhyan rakhna zaroori hai ki gussa ka jo chabi hai kuch abhi hamare hath me hai ya nahi hamare paas hi hai hum jab chahen usko istemal kar sakte hain jis hisab se chahte hum use istemal kar sakte hain toh santulit hamein karna zaroori hai hamein apne aap par kabu karna zaroori hai agar hum khud par kabu nahi kar payenge toh abhi asli vaah toh problem hi hoga theek hai toh hamein khud ko santulit karke rakhna hai zaroori hai aur jitna ho sake yah samajhna zaroori hai ki jab shravan isliye block man hota hai toh gussa bhi kam ho jata hai dhanyavad

गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय तो जब वह एक्सपेक्टेशन सफल नहीं हो पाते हैं तो अभी ऐसे गुस्सा म

Romanized Version
Likes  816  Dislikes    views  7932
WhatsApp_icon
user

Naresh Kumar Chaudhary

Mix Martial Art Trainer

0:28
Play

Likes  63  Dislikes    views  1896
WhatsApp_icon
user

Dr. Shakeel Akhtar

Homeopathy Doctor

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अगर किसी बात पर गुस्सा आए तो सबसे पहले तो आप एक गिलास ठंडा पानी पिए फिर अपनी पोजीशन बदल दें अगर आप खड़े हैं तो बैठ जाए या चलना फिरना शुरु कर दी अगर बैठे हैं तो आप खड़े हो जाएं चलना फिरना शुरू करें या लेट जाए और अपने विचारों को आप को बदलना शुरू कर दें जिस बात पर गुस्सा आ रहा है दिमाग से उन विचारों को निकालना शुरू कर दें आप अपने ध्यान को किसी दूसरी तरफ डायवर्ट कर दें अपने गुस्से पर कंट्रोल कर लेंगे एक पल भर के गुस्से पल भर के लिए गुस्से पर कंट्रोल कर लिया जाए तो आने वाली बड़ी मुसीबत टल जाती है थैंक यू

dekhiye agar kisi baat par gussa aaye toh sabse pehle toh aap ek gilas thanda paani piye phir apni position badal de agar aap khade hain toh baith jaaye ya chalna phirna shuru kar di agar baithe hain toh aap khade ho jayen chalna phirna shuru kare ya late jaaye aur apne vicharon ko aap ko badalna shuru kar de jis baat par gussa aa raha hai dimag se un vicharon ko nikalna shuru kar de aap apne dhyan ko kisi dusri taraf divert kar de apne gusse par control kar lenge ek pal bhar ke gusse pal bhar ke liye gusse par control kar liya jaaye toh aane wali badi musibat tal jaati hai thank you

देखिए अगर किसी बात पर गुस्सा आए तो सबसे पहले तो आप एक गिलास ठंडा पानी पिए फिर अपनी पोजीशन

Romanized Version
Likes  260  Dislikes    views  2503
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

1:18
Play

Likes  145  Dislikes    views  4359
WhatsApp_icon
user

Anjana Baliga

Counselor

2:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुस्सा कंट्रोल करने के बहुत सारे उपाय हैं जब भी गुस्सा आए जगह को छोड़ दीजिए किसी अन्य जगह पर चले जाइए पानी पीजिए अपने मन को शांत करिए सबसे पहले और सोचे कि मुझे गुस्सा क्यों आ रहा है तीसरा अपनी self-image पर काम करना शुरू करिए आपकी कहीं ना कहीं चाइल्डहुड की बहुत सारी दबी याद है जिसके कारण आप खुद अपने आप पर गुस्सा है और अब आपको लगता है कि इन परिस्थितियों और लोगों के कारण आपको गुस्सा आता नहीं आपको गुस्सा आपके बचपन के ही कुछ कारणों के कारण आ रहा है फिर आप योगा कर सकते हैं और सांसो को भी ब्रीडिंग कर सकते हैं जब भी आपको गुस्सा आए क्योंकि आप सबसे पहले एक चीज देखी जब भी आप बीवी करेंगे आपके मन में ऑक्सीजन ज्यादा जाएगा मन में ज्यादा उसी दिन आएगा तो ज्यादा जगह बनेगी ज्यादा जगह बनेगी तो पॉजिटिव विचार आने के लिए शक्ति ज्यादा यूज होगी तो इस तरह अपने गुस्से पर काबू कर पूजा-पाठ करिए मंत्र जाप करिए इससे भी गुस्सा कम होता है हल्के कपड़े पहनी है और अपने आप को हल्का महसूस करिए और ठंडा पानी और पानी जो है कम से कम 8 या 10 ग्लास मात्रा में रखें क्योंकि आपका तेज बढ़ रहा है इसका मतलब कि आपका बॉडी टेंपरेचर बढ़ जाता है गुस्सा आने से इसलिए पानी का सेवन सही सही करिए दूसरा आप अपनी भी कर सकते हैं अच्छे म्यूजिक को चुनिए जो आपके मन को भाता जब भी आप फ्री हो अच्छी किताबें पढ़ी है इससे भी गुस्सा कंट्रोल करने में परंतु अंदरूनी जितने भी आपकी भावनाओं से जुड़े समस्या है उसको तो आप एक काउंसलर के जरिए ही सॉल्व कर सकते हैं सर कितना भी मैं आपको कहूं आपको 12 काउंसलिंग सेशन लेकर अपने गुस्से को समझना चाहिए तो एक अच्छा लाइफ कोच और काउंसलर आपकी वह मदद कर सकता है जो एक ज्योतिषी और एक जादूगर नहीं कर सकते तो आपको एक टाइमलाइन एक्सरसाइज में अपने लिए चाइल्डहुड के ऊपर एनालिसिस करना पड़ेगा कि आपको वाकई में गुस्सा क्यों आता है और शांत रहने के लिए क्या क्या प्रक्रिया कर सकते हैं वह आप जरूर करिए पानी की मात्रा अधिक बढ़ाइए और इससे आप नारियल पानी जूस ठंडा मिर्ची का सेवन कम करिए जिससे कि शरीर के अंदर एसिडिटी कम बने लाल मिर्च का उपयोग बिल्कुल भी ना करें तो इससे भी शरीर में बहुत प्रभाव पड़ता है कम मसाले वाला खाना खाए वाला खाना खाए इससे भी गुस्सा आपको कम आएगा और खुश रहने के लिए बहुत सारे चुटकुले और हंसी वाले कार्यक्रम को देखिए जिससे कि मन प्रसन्न है आशा करती हूं तक्षशिला

gussa control karne ke bahut saare upay hain jab bhi gussa aaye jagah ko chhod dijiye kisi anya jagah par chale jaiye paani PGA apne man ko shaant kariye sabse pehle aur soche ki mujhe gussa kyon aa raha hai teesra apni self image par kaam karna shuru kariye aapki kahin na kahin childhood ki bahut saari dabi yaad hai jiske karan aap khud apne aap par gussa hai aur ab aapko lagta hai ki in paristhitiyon aur logo ke karan aapko gussa aata nahi aapko gussa aapke bachpan ke hi kuch karanon ke karan aa raha hai phir aap yoga kar sakte hain aur saanso ko bhi Breeding kar sakte hain jab bhi aapko gussa aaye kyonki aap sabse pehle ek cheez dekhi jab bhi aap biwi karenge aapke man me oxygen zyada jaega man me zyada usi din aayega toh zyada jagah banegi zyada jagah banegi toh positive vichar aane ke liye shakti zyada use hogi toh is tarah apne gusse par kabu kar puja path kariye mantra jaap kariye isse bhi gussa kam hota hai halke kapde pahani hai aur apne aap ko halka mehsus kariye aur thanda paani aur paani jo hai kam se kam 8 ya 10 glass matra me rakhen kyonki aapka tez badh raha hai iska matlab ki aapka body temperature badh jata hai gussa aane se isliye paani ka seven sahi sahi kariye doosra aap apni bhi kar sakte hain acche music ko chuniye jo aapke man ko bhata jab bhi aap free ho achi kitaben padhi hai isse bhi gussa control karne me parantu andaruni jitne bhi aapki bhavnao se jude samasya hai usko toh aap ek counselor ke jariye hi solve kar sakte hain sir kitna bhi main aapko kahun aapko 12 kaunsaling session lekar apne gusse ko samajhna chahiye toh ek accha life coach aur counselor aapki vaah madad kar sakta hai jo ek jyotishi aur ek jaadugar nahi kar sakte toh aapko ek timeline exercise me apne liye childhood ke upar analysis karna padega ki aapko vaakai me gussa kyon aata hai aur shaant rehne ke liye kya kya prakriya kar sakte hain vaah aap zaroor kariye paani ki matra adhik badhaiye aur isse aap nariyal paani juice thanda mirchi ka seven kam kariye jisse ki sharir ke andar acidity kam bane laal mirch ka upyog bilkul bhi na kare toh isse bhi sharir me bahut prabhav padta hai kam masale vala khana khaye vala khana khaye isse bhi gussa aapko kam aayega aur khush rehne ke liye bahut saare chutkule aur hansi waale karyakram ko dekhiye jisse ki man prasann hai asha karti hoon takshashila

गुस्सा कंट्रोल करने के बहुत सारे उपाय हैं जब भी गुस्सा आए जगह को छोड़ दीजिए किसी अन्य जगह

Romanized Version
Likes  424  Dislikes    views  5689
WhatsApp_icon
user

Asi Ankush

Yoga Trainer

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार गुस्सा कंट्रोल करने का सबसे बड़ा उपाय बताता हूं मैं आपको आप हर रोज प्राणायाम और ध्यान का अभ्यास किया से 20 दिन के अंदर ही आप अपने स्वभाव को कोचिंग महसूस करेंगे एक्सपीरियंस करके दीजिए धन्यवाद

namaskar gussa control karne ka sabse bada upay batata hoon main aapko aap har roj pranayaam aur dhyan ka abhyas kiya se 20 din ke andar hi aap apne swabhav ko coaching mehsus karenge experience karke dijiye dhanyavad

नमस्कार गुस्सा कंट्रोल करने का सबसे बड़ा उपाय बताता हूं मैं आपको आप हर रोज प्राणायाम और ध्

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  170
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

3:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत सुंदर प्रश्न है आपका कि गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय क्या है निश्चित रूप से अध्यक्ष क्रोध का मूल कारण है जिसकी क्षेत्र में कितने हैं अतृप्त इच्छाएं हुई उस व्यक्ति को उसे उतना ही क्रोध आएगा क्षेत्र के विद्यार्थी जीवन कहो 6 राजनीत कहो 12 साल का हो क्षेत्र सेवा कहां से सामाजिक संगठन अगर अतृप्त इच्छाएं आपके मन में है आपका क्रोध करना स्वाभाविक है लेकिन आपको चिंतन इस बात का करना है जो अतृप्त इच्छाएं जनक जनक विचार है इतनी विचारों की मात्रा और गुणवत्ता विहीन इच्छाएं यह आपके मस्तिष्क में क्यों पैदा होती है पहला जो गुस्सा कंट्रोल करने के उपाय है स्थाई रूप से कि आप एक निरीक्षक की करें साक्षी भाव में स्थित रहकर आप अपने मन के अंदर आने जाने वाली विचार विचारों की माता और विचारों की गुणवत्ता पर ध्यान दें और कोशिश करें कि अच्छे गुण अपूर्ण जा रही आपके मस्तिष्क में आए और वैसे इच्छाएं हो यह क्रोध दूर करने का एक स्थाई और लंबा हो पाए दूसरा आप यह समझे कि इस मन के शासक आप हैं मन के नियंता आप हैं यू आर द कंट्रोलर ऑफ द माइंड एंड यू आर द कंट्रोलर यूटिलाइजेशन इंद्रियां और मन कहे वैसा आपको नहीं करना है बल्कि जैसा आप कहें वैसा मन और इंडिया करें ऐसा आप पर नियंत्रक और ताकत होने के नाते अपनी इंद्रियों और इच्छाओं का मास्टर होने के नाते आपकी एक पोस्ट स्थाई रूप से ऐसी होनी चाहिए तो आपका गुस्सा कम हो सकता है अगर आपको गुस्सा ज्यादा आता है तो आप बेहतर है क्या आपको स्थान को छोड़ दे थोड़ी देर के लिए स्थान किस जगह पर आप को क्रोध आया क्रिया की प्रतिक्रिया लगातार हो रही है क्रिया की प्रतिक्रिया को रोकने के लिए तुरंत उस स्थान को तात्कालिक रूप से वर्णित प्राणायाम करें प्राणायाम के माध्यम से अपने विचारों को अपने मन को आप अनुशासित करने की कोशिश करें और इच्छाशक्ति और संकल्प शक्ति अपने मन के अंदर लगाएं दूसरा स्थाई रूप से यह रोड आपका शक्ति नाटक है और जाना है और क्रोध हमेशा कायरता पूर्ण करते हैं क्योंकि हमेशा का एक कमजोर ऊपर आता है और कमरों का क्रोध दिखाना ताकत दिखाना यह कायरता की निशानी है जब भी कॉल आए तो आप देखिए क्या मैं क्या मम्मी कमजोर पर हाथ उठा रहा कमजोर पर गुस्सा कर रहा हूं आपको अगर ऐसे विचार आप कर पाएंगे वह शांत होकर तो आप निश्चित रूप से क्रोध की आवृत्ति को क्रोध की मात्रा को आप कम कर पाएंगे थैंक यू

bahut sundar prashna hai aapka ki gussa control karne ka upay kya hai nishchit roop se adhyaksh krodh ka mul karan hai jiski kshetra mein kitne hain atript ichhaen hui us vyakti ko use utana hi krodh aayega kshetra ke vidyarthi jeevan kaho 6 rajanit kaho 12 saal ka ho kshetra seva kahaan se samajik sangathan agar atript ichhaen aapke man mein hai aapka krodh karna swabhavik hai lekin aapko chintan is baat ka karna hai jo atript ichhaen janak janak vichar hai itni vicharon ki matra aur gunavatta vihin ichhaen yah aapke mastishk mein kyon paida hoti hai pehla jo gussa control karne ke upay hai sthai roop se ki aap ek nirikshak ki kare sakshi bhav mein sthit rahkar aap apne man ke andar aane jaane wali vichar vicharon ki mata aur vicharon ki gunavatta par dhyan de aur koshish kare ki acche gun apurn ja rahi aapke mastishk mein aaye aur waise ichhaen ho yah krodh dur karne ka ek sthai aur lamba ho paye doosra aap yah samjhe ki is man ke shasak aap hain man ke niyanta aap hain you R the controller of the mind and you R the controller yutilaijeshan indriya aur man kahe waisa aapko nahi karna hai balki jaisa aap kahein waisa man aur india kare aisa aap par niyantrak aur takat hone ke naate apni indriyon aur ikchao ka master hone ke naate aapki ek post sthai roop se aisi honi chahiye toh aapka gussa kam ho sakta hai agar aapko gussa zyada aata hai toh aap behtar hai kya aapko sthan ko chod de thodi der ke liye sthan kis jagah par aap ko krodh aaya kriya ki pratikriya lagatar ho rahi hai kriya ki pratikriya ko rokne ke liye turant us sthan ko tatkalik roop se varnit pranayaam kare pranayaam ke madhyam se apne vicharon ko apne man ko aap anushasit karne ki koshish kare aur ichchhaashakti aur sankalp shakti apne man ke andar lagaye doosra sthai roop se yah road aapka shakti natak hai aur jana hai aur krodh hamesha kayarata purn karte hain kyonki hamesha ka ek kamjor upar aata hai aur kamron ka krodh dikhana takat dikhana yah kayarata ki nishani hai jab bhi call aaye toh aap dekhiye kya main kya mummy kamjor par hath utha raha kamjor par gussa kar raha hoon aapko agar aise vichar aap kar payenge vaah shaant hokar toh aap nishchit roop se krodh ki aavritti ko krodh ki matra ko aap kam kar payenge thank you

बहुत सुंदर प्रश्न है आपका कि गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय क्या है निश्चित रूप से अध्यक्ष क

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  681
WhatsApp_icon
user

Trainer Yogi Yogendra

Motivational Speaker | Career Coach | Business Coach | Marketing & Management Expert's

2:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स आज हम जिस ट्यूशन पर डिस्कशन करने वाले हैं वह है कि गुस्से को कंट्रोल कैसे किया जाए उसका उपाय क्या है मैं योगेंद्र शर्मा मोटिवेशनल स्पीकर के अरे पहुंच और कॉरपोरेट ट्रेनर आज हम बात कर रहे हैं ऐसे टॉपिक पर जो काफी सारे लोगों के लिए प्रॉब्लम है जिससे काफी सारे रिलेशनशिप जो होते हैं लोगों के वह खत्म हो जाया करते माय डियर में सबसे पहली बात गुस्से को कंट्रोल कैसे करें काफी लोग कहते हैं कि गुस्सा आ जाया करता है मैं कहना चाहूंगा गुस्सा आता नहीं है लाया जाता है कैसे लाया जाता है देखिए मैं आपको बताना चाहूंगा अगर सपोर्ट करिए यही गुस्सा आप कहीं आपकी जॉब है जहां पर ₹50000 महीना आप को सैलरी मिलती है अगर वह बॉस आप पर गुस्सा करता है तो क्या आप मुझ पर गुस्सा करते नहीं करते उसका कारण यह है आपको डर होता है कि आपकी जॉब चली जाएगी माय डियर फ्रेंड्स यह गुस्सा कहां पर आता है यह गुस्सा वहां आता है जहां आपका जहां का दबाव चलता है जहां आपकी चलती है जहां आपका आपकी लोग सुनना पसंद करते हैं और जहां आपका आपकी ताकत जहां पर आप आजमा सकते हो वहां पर आपको गुस्सा आता है माय डियर फ्रेंड्स इसलिए आज से ही सोच को बदल दीजिए कि गुस्सा आता नहीं है लाया जाता है वह कोई बीमारी नहीं है जो आ जाएगी ऐसा कुछ नहीं है उसको लाया जाता है और गुस्सा कंट्रोल करने का एक ही तरीका है जो इंसान आप पर गुस्सा कर रहा है जिस टाइम पर वह गुस्सा कर रहा है उस टाइम पर आप उस जगह को छोड़ दीजिए और कहीं और चले जाइए और अपने आप को किसी और टाइम में लगा लीजिए और वह भी चुप हो जाएंगे वह भी गुस्सा नहीं करेंगे बाद में और उसके बाद जब उनका गुस्सा शांत हो जाए एक दिन 2 दिन बाद उनसे आराम से बैठ कर आप बात कीजिए और बात करने के बाद आपको लगेगा कि वाकई वह उस पल का टाइम था जिस टाइम उनको गुस्सा था वरना वह वैसे ही अच्छे होते हैं तो आपका गुस्सा कम कॉल करने का एक ही तरीका है अगर आपको गुस्सा आता है तो आप उस जगह से छोड़कर चले जाइए अगर आप उनकी बातों को सुनेंगे नहीं तो आपको गुस्सा नहीं आएगा और गुस्सा नहीं आएगा तो आप कुछ गलत बोली क्योंकि कई सारे रिलेशन होते हैं वह खत्म हो जाया करते हैं माय डियर फ्रेंड तो इसी के साथ में योगेंद्र शर्मा आप से अलविदा लेता हूं जय हिंद जय भारत

hello friends aaj hum jis tuition par discussion karne waale hai vaah hai ki gusse ko control kaise kiya jaaye uska upay kya hai yogendra sharma Motivational speaker ke are pohch aur corporate trainer aaj hum baat kar rahe hai aise topic par jo kaafi saare logo ke liye problem hai jisse kaafi saare Relationship jo hote hai logo ke vaah khatam ho jaya karte my dear mein sabse pehli baat gusse ko control kaise kare kaafi log kehte hai ki gussa aa jaya karta hai kehna chahunga gussa aata nahi hai laya jata hai kaise laya jata hai dekhiye main aapko bataana chahunga agar support kariye yahi gussa aap kahin aapki job hai jaha par Rs mahina aap ko salary milti hai agar vaah boss aap par gussa karta hai toh kya aap mujhse par gussa karte nahi karte uska karan yah hai aapko dar hota hai ki aapki job chali jayegi my dear friends yah gussa kahaan par aata hai yah gussa wahan aata hai jaha aapka jaha ka dabaav chalta hai jaha aapki chalti hai jaha aapka aapki log sunana pasand karte hai aur jaha aapka aapki takat jaha par aap ajama sakte ho wahan par aapko gussa aata hai my dear friends isliye aaj se hi soch ko badal dijiye ki gussa aata nahi hai laya jata hai vaah koi bimari nahi hai jo aa jayegi aisa kuch nahi hai usko laya jata hai aur gussa control karne ka ek hi tarika hai jo insaan aap par gussa kar raha hai jis time par vaah gussa kar raha hai us time par aap us jagah ko chod dijiye aur kahin aur chale jaiye aur apne aap ko kisi aur time mein laga lijiye aur vaah bhi chup ho jaenge vaah bhi gussa nahi karenge baad mein aur uske baad jab unka gussa shaant ho jaaye ek din 2 din baad unse aaram se baith kar aap baat kijiye aur baat karne ke baad aapko lagega ki vaakai vaah us pal ka time tha jis time unko gussa tha varna vaah waise hi acche hote hai toh aapka gussa kam call karne ka ek hi tarika hai agar aapko gussa aata hai toh aap us jagah se chhodkar chale jaiye agar aap unki baaton ko sunenge nahi toh aapko gussa nahi aayega aur gussa nahi aayega toh aap kuch galat boli kyonki kai saare relation hote hai vaah khatam ho jaya karte hai my dear friend toh isi ke saath mein yogendra sharma aap se alvida leta hoon jai hind jai bharat

हेलो फ्रेंड्स आज हम जिस ट्यूशन पर डिस्कशन करने वाले हैं वह है कि गुस्से को कंट्रोल कैसे कि

Romanized Version
Likes  51  Dislikes    views  729
WhatsApp_icon
user

Subhasini

Counsellor

3:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंस्टिट्यूट माइंड है ऐसी भावना इंसान के अंदर होती हैं खुश होता है प्यार आता है उसी तरीके से गुस्सा भी एक भाव है जो इंसान के अंदर रहता है अगर गुस्सा एक सीमित में है तो ठीक है क्योंकि अगर इंसान है तो उसमें सारी भावनाएं होंगी वह खुश भी होगा वह दुखी भी होगा वह हंसेगा भी वह रोएगा भी तो गुस्सा भी होगा ऐसा नहीं है कि कोई इंसान को गुस्सा आता ही नहीं आता है और थोड़ा बहुत गुस्सा आना भी चाहिए क्योंकि वह इंसान अगर अपनी भावनाओं को स्पर्श करते चले जाता है तो यह उसके हेल्थ के लिए सही नहीं तो थोड़ा बहुत गुस्सा करना तो होता ही है और इंसान को गुस्सा आता ही है परंतु गुस्सा जब हद से ज्यादा बढ़ने लगी तो यह जो है यह नेगेटिविटी की तरफ बढ़ता है यह नेगेटिव साइन है यह पॉजिटिव साइन नहीं है तो उस को कंट्रोल में करना चाहिए क्यों आ रहा है और किस बात पर आ रहा है अगर आपके घर में कोई है जिससे कि बहुत गुस्सा आता है तो यह आप जान सकते हैं कि उसे आखिर किस बात पर गुस्सा आता है क्या रीजन है उसके पीछे और कभी-कभी हो ऐसा होते टॉप माइंड ऐसा हो जाता है छोटी सी छोटी बात क्योंकि आमतौर पर दूसरे आदमी को इतना बुरा नहीं लगेगा वह ऐसा दिया नहीं करेगा वह इंसान जिसे बहुत गुस्सा आता है वह रिया करेगा और बहुत अगले सिम ले लिया करेगा तो अग्रेशन जो है इंसान में अगर धीरे-धीरे बढ़ रहा है उस को कंट्रोल करना बहुत जरूरी है कंट्रोल करने के लिए उसके अपनी सोच को थोड़ा सा परिवर्तन करना होगा वह क्या सोचता है उसको स्टेट ऑफ फाइंड कैसा है वह क्या पसंद करता है क्या लाइक है क्या डिसलाइक है तो यह उसे सोचना होगा और उसके आसपास जो उसके करीबी हैं उनको भी सोचना होगा कि अगर वह बात-बात में अग्रेसिव हो रहा है तो किसी अच्छे साइकोलॉजिस्ट अच्छे से करती से उसको मिला है अगर अग्रेशन बहुत ज्यादा है जिस बातें पर आमतौर पर लोगों को गुस्सा ना आए ना आए उसे गुस्सा आ जाए और बहुत अंग्रेजी में और याद करें तो यह गुड साइन नहीं है यह अच्छी बात नहीं है गुस्सा एक हद से ज्यादा अगर होता है तो उस को कंट्रोल करना चाहिए और सबसे पहले यह प्रयास करना चाहिए कि कोई मन में बताया अब तुरंत हम दिया करें इसको रोकने के लिए जब ऐसा मन में आए तो थोड़ा पानी पीना चाहिए पानी जो है वह अग्रेशन को थोड़ा काम करने में कम करने में काम करता है इंसान को और इंसान जो है थोड़ी देर के लिए ठहर जाए अगर तुरंत उठ कर दिया कि ना देगी ऐसी नहीं है कि अचानक से हो जाएगी थोड़ा प्रैक्टिस करना होगा कि जब भी मेरे हम मुझे गुस्सा आए तो मैं थोड़ा देरी के लिए ठहर जाओ थोड़ी देर के लिए उस गुस्से को अपना कंट्रोल करने का कोशिश करो और ऐसा कहा जाता है तुम गुस्सा आए तो गिनती गिन्नी चाहिए काउंटिंग करना चाहिए 12345 इस तरीके से काउंटिंग करके अपने मन को शांत करने का कुछ भी प्रयास करना चाहिए और इसके बावजूद ये सब के बावजूद भी अगर गुस्सा कंट्रोल नहीं हो रहा है तो किसी अच्छे साइकोलॉजिस से मिलने का प्रयास कीजिए और उसे सही सलाह मिलेगा

institute mind hai aisi bhavna insaan ke andar hoti hain khush hota hai pyar aata hai usi tarike se gussa bhi ek bhav hai jo insaan ke andar rehta hai agar gussa ek simit mein hai toh theek hai kyonki agar insaan hai toh usme saree bhaavnaye hongi vaah khush bhi hoga vaah dukhi bhi hoga vaah hansega bhi vaah roega bhi toh gussa bhi hoga aisa nahi hai ki koi insaan ko gussa aata hi nahi aata hai aur thoda bahut gussa aana bhi chahiye kyonki vaah insaan agar apni bhavnao ko sparsh karte chale jata hai toh yah uske health ke liye sahi nahi toh thoda bahut gussa karna toh hota hi hai aur insaan ko gussa aata hi hai parantu gussa jab had se zyada badhne lagi toh yah jo hai yah negativity ki taraf badhta hai yah Negative sign hai yah positive sign nahi hai toh us ko control mein karna chahiye kyon aa raha hai aur kis baat par aa raha hai agar aapke ghar mein koi hai jisse ki bahut gussa aata hai toh yah aap jaan sakte hain ki use aakhir kis baat par gussa aata hai kya reason hai uske peeche aur kabhi kabhi ho aisa hote top mind aisa ho jata hai choti si choti baat kyonki aamtaur par dusre aadmi ko itna bura nahi lagega vaah aisa diya nahi karega vaah insaan jise bahut gussa aata hai vaah riya karega aur bahut agle sim le liya karega toh aggression jo hai insaan mein agar dhire dhire badh raha hai us ko control karna bahut zaroori hai control karne ke liye uske apni soch ko thoda sa parivartan karna hoga vaah kya sochta hai usko state of find kaisa hai vaah kya pasand karta hai kya like hai kya dislike hai toh yah use sochna hoga aur uske aaspass jo uske karibi hain unko bhi sochna hoga ki agar vaah baat baat mein aggressive ho raha hai toh kisi acche psychologist acche se karti se usko mila hai agar aggression bahut zyada hai jis batein par aamtaur par logo ko gussa na aaye na aaye use gussa aa jaaye aur bahut angrezi mein aur yaad kare toh yah good sign nahi hai yah achi baat nahi hai gussa ek had se zyada agar hota hai toh us ko control karna chahiye aur sabse pehle yah prayas karna chahiye ki koi man mein bataya ab turant hum diya kare isko rokne ke liye jab aisa man mein aaye toh thoda paani peena chahiye paani jo hai vaah aggression ko thoda kaam karne mein kam karne mein kaam karta hai insaan ko aur insaan jo hai thodi der ke liye thahar jaaye agar turant uth kar diya ki na degi aisi nahi hai ki achanak se ho jayegi thoda practice karna hoga ki jab bhi mere hum mujhe gussa aaye toh main thoda deri ke liye thahar jao thodi der ke liye us gusse ko apna control karne ka koshish karo aur aisa kaha jata hai tum gussa aaye toh ginti ginni chahiye counting karna chahiye 12345 is tarike se counting karke apne man ko shaant karne ka kuch bhi prayas karna chahiye aur iske bawajud ye sab ke bawajud bhi agar gussa control nahi ho raha hai toh kisi acche saikolajis se milne ka prayas kijiye aur use sahi salah milega

इंस्टिट्यूट माइंड है ऐसी भावना इंसान के अंदर होती हैं खुश होता है प्यार आता है उसी तरीके स

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1238
WhatsApp_icon
user

Greeshma Nataraj

Psychology Counseling, Life Coach, NLP, Cognitive Behavioral Therapist, Motivational Speaker, Handwriting Signature Analyst.

2:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वेरी गुड मॉर्निंग टू यू पहली बात तो जब गुस्सा आए तो गुस्सा क्यों नहीं कारणों की वजह से आता है और गुस्सा क्यों आता है यह जरूर देखिएगा जो चीजें हमारे मन के खिलाफ होती है जिनके लिए हम हम ही नहीं भरते हैं यह जो चीजें अपने प्रिंसिपल के अगेंस्ट होती है उन कारणों की वजह से गुस्सा आता है जब अपने आप को कंट्रोल करना है तो हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि अपनी बॉडी समय कुछ ना कुछ सिग्नल देती है कि हमें उस बात से चिढ़ हो रही है हमारे शरीर में कुछ हलचल पैदा होती है जो हमारे दिमाग तक वह मोमेंट्स पहुंचाती है तब यह देखिएगा कि सामने कितने भी लोग होने दो कोई भी होने दो लाइटली बोलिए गा मुझे 5 मिनट का ब्रेक चाहिए वहां से उठकर अब बाहर जाइए बाहर जाने के बाद अगर आपको लगता है आपको कॉफी पीनी चाहिए या जस्ट 15 मिनट तक टहलना चाहिए यह करके देखिएगा ऑटोमेटिकली आपका गुस्सा ठंडा हो जाएगा और फिर आप वापस आकर अपना काम शुरू कर सकते हो दूसरा तरीका यह है कि आप वहां से उस क्वेश्चन से बाहर निकलेगा बाहर जाइएगा रिवर्स काउंटिंग कीजिएगा under-20 देखिए ऑटोमेटिकली गुस्सा काबू में हो जाता है और अगर यही गुस्सा अपने परिवार जनों के सामने आता है या फिर घर पर आप इतने गुस्से हो जाते हो तो जरूर देखिएगा उस वक्त उस जगह से उठ जाएगा और हो सके तो कुछ ठंडी चीज या कुछ ठंडे पानी से शावर ऐसा कुछ करके देखिएगा क्योंकि जो ही अपने बॉडी में जनरेट होती है या जो गर्मी बोलिए गुस्से की वजह से और जो ब्लड प्रेशर हाई होने का शुरू हो जाता है और जो मैटिक लीवर कम हो जाता स्वीट खाने से या चाय पीने से या फिर ठंडे पानी का घर के नीचे खड़े रहने से एंड आपको अगर सच में अपने गुस्से पर काबू करना है तो थोड़ा बहुत अपने मन को अपने सोच को कंट्रोल करने के लिए मेडिटेशन सुबह 8:00 क्लीन 5 मिनट तक जरूर करके देखिए का धन्यवाद

very good morning to you pehli baat toh jab gussa aaye toh gussa kyon nahi karanon ki wajah se aata hai aur gussa kyon aata hai yah zaroor dekhiega jo cheezen hamare man ke khilaf hoti hai jinke liye hum hum hi nahi bharte hain yah jo cheezen apne principal ke against hoti hai un karanon ki wajah se gussa aata hai jab apne aap ko control karna hai toh hamein yah dhyan rakhna chahiye ki apni body samay kuch na kuch signal deti hai ki hamein us baat se chidh ho rahi hai hamare sharir mein kuch hulchul paida hoti hai jo hamare dimag tak vaah moments pohchti hai tab yah dekhiega ki saamne kitne bhi log hone do koi bhi hone do laitali bolie jayega mujhe 5 minute ka break chahiye wahan se uthakar ab bahar jaiye bahar jaane ke baad agar aapko lagta hai aapko coffee peeni chahiye ya just 15 minute tak tahalana chahiye yah karke dekhiega atometikli aapka gussa thanda ho jaega aur phir aap wapas aakar apna kaam shuru kar sakte ho doosra tarika yah hai ki aap wahan se us question se bahar niklega bahar jaiega reverse counting kijiega under 20 dekhiye atometikli gussa kabu mein ho jata hai aur agar yahi gussa apne parivar jano ke saamne aata hai ya phir ghar par aap itne gusse ho jaate ho toh zaroor dekhiega us waqt us jagah se uth jaega aur ho sake toh kuch thandi cheez ya kuch thande paani se shower aisa kuch karke dekhiega kyonki jo hi apne body mein generate hoti hai ya jo garmi bolie gusse ki wajah se aur jo blood pressure high hone ka shuru ho jata hai aur jo matic liver kam ho jata sweet khane se ya chai peene se ya phir thande paani ka ghar ke niche khade rehne se and aapko agar sach mein apne gusse par kabu karna hai toh thoda bahut apne man ko apne soch ko control karne ke liye meditation subah 8 00 clean 5 minute tak zaroor karke dekhiye ka dhanyavad

वेरी गुड मॉर्निंग टू यू पहली बात तो जब गुस्सा आए तो गुस्सा क्यों नहीं कारणों की वजह से आता

Romanized Version
Likes  355  Dislikes    views  4486
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

3:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि गुस्सा कंट्रोल करने का क्या उपाय है देखिए गुस्सा कंट्रोल करने का सबसे बढ़िया उपाय है वह आपकी समझदारी है आप पहले से ही मान लेते हो कि मुझे बहुत गुस्सा करता है मैं किसी भी बात में गुस्से गुस्से से एकदम लाल हो जाता हूं मैं गुस्से में किसी को भी अनाप-शनाप बोल देता हूं मैं गुस्से में मार झगड़ा करने लगता हूं यह आपकी सोच है जो आपको गुस्सा भर आती है और आपने पहले से ही फिट करके रखा है दिमाग में अगर आप गुस्सा नहीं करना चाहते हो तो आप इन सभी चीजों को दिमाग से निकाल कर जापान इतना दूर फेंक दीजिए आप सोचिए कि मुझे कभी गुस्सा आता ही नहीं है मैं किसी भी लड़ाई झगड़े के मैटर को प्यार से सुलझा सकता हूं मुझे कोई अगर गाली भी देगा तो मुझे गुस्सा नहीं आता है मैं उसको प्यार से अपने तरीके से समझा सकता हूं हां देखे कुछ ऐसी सिचुएशन होती है जिसमें गुस्सा का आना भी बहुत जरूरी है सब कुछ करिए किसी की बहन बेटी के साथ कोई अन्याय कर रहा है उस टाइम अगर किसी व्यक्ति को गुस्सा नहीं आता है तो उस व्यक्ति का धरती पर रहना बेकार है क्योंकि अन्याय के खिलाफ भ्रष्टाचार के खिलाफ गुस्सा आना चाहिए और लड़ाई भी करना चाहिए शास्त्र भी उठाना चाहिए और मारने मरने की क्षमता भी होनी चाहिए जब हम सभी लोग सही टाइम पर गुस्सा करना सीखेंगे इस देश का भला होगा आप भी यह मान के चलिए की हर एक बात तो मुझे गुस्सा नहीं करना है कुछ लोग होता है ना कोई अगर उन्हें सही बात भी बोलता है तूने गुस्सा पर जाता है यह क्या बात हुई भैया आपको मैं बात सही बता रहा हूं और आपको गुस्सा आ रहा है का कारण क्या है यानी आप कमजोर हो जो हर बात में गुस्सा करता है वह व्यक्ति दुनिया का सबसे कमजोर व्यक्ति होता है वह कुछ नहीं कर सकता है और वह कुछ करेगा भी नहीं कुछ व्यक्ति होते हैं जिन्हें हमेशा गुस्सा नहीं पड़ता है कोई अगर गलत बात बोल दे या किसी की चापलूसी कर दे या किसी की बहन बेटी की बुराई करें उनसे या किसी अपने सगे संबंधी की आलोचना करें बुराई करें तब उस व्यक्ति को गुस्सा बढ़ता है पहले तो व्यक्ति समझाता है प्यार से कि आप ऐसा मत बोलिए लेकिन अगला व्यक्ति फिर भी नहीं मानता है तो फिर वह व्यक्ति गुस्से में उसे समझाता है और कहता है कि आज के बाद मुझसे ऐसी बात मत करना उसे वार्निंग देता है तो फिर वह व्यक्ति से उस व्यक्ति से बुराई नहीं करता है किसी की तो गुस्सा अगर आपको हमेशा आता है तो फिर इस गुस्से को कम सकते हो आप पहले से सकारात्मक हो जाओ अपने दिमाग में फिट कर लो कि मैं दुनिया का सबसे ओल्ड मैन हूं मतलब ठंडे दिमाग वाला इंसान हूं और मुझसे सारी समस्याओं का समाधान कोई निकलवा सकता है और मैं बहुत प्यार से किसी भी मैटर को सुलझा सकता हूं और कसम खाना होगा आपको आपको एक दृढ़ संकल्प करना होगा कि मुझे अब कभी गुस्सा नहीं करना है सिर्फ गलत बात पर गुस्सा करना है हमेशा प्यार से बात करना है लोगों की बात सुननी भी है और अपनी बात रखनी भैया लोगों के सामने धीरे-धीरे आपका गुस्सा ठंडा हो जाएगा धन्यवाद

aapka sawaal hai ki gussa control karne ka kya upay hai dekhiye gussa control karne ka sabse badhiya upay hai vaah aapki samajhdari hai aap pehle se hi maan lete ho ki mujhe bahut gussa karta hai kisi bhi baat mein gusse gusse se ekdam laal ho jata hoon main gusse mein kisi ko bhi anap shanap bol deta hoon main gusse mein maar jhadna karne lagta hoon yah aapki soch hai jo aapko gussa bhar aati hai aur aapne pehle se hi fit karke rakha hai dimag mein agar aap gussa nahi karna chahte ho toh aap in sabhi chijon ko dimag se nikaal kar japan itna dur fenk dijiye aap sochiye ki mujhe kabhi gussa aata hi nahi hai kisi bhi ladai jhagde ke matter ko pyar se suljha sakta hoon mujhe koi agar gaali bhi dega toh mujhe gussa nahi aata hai usko pyar se apne tarike se samjha sakta hoon haan dekhe kuch aisi situation hoti hai jisme gussa ka aana bhi bahut zaroori hai sab kuch kariye kisi ki behen beti ke saath koi anyay kar raha hai us time agar kisi vyakti ko gussa nahi aata hai toh us vyakti ka dharti par rehna bekar hai kyonki anyay ke khilaf bhrashtachar ke khilaf gussa aana chahiye aur ladai bhi karna chahiye shastra bhi uthana chahiye aur maarne marne ki kshamta bhi honi chahiye jab hum sabhi log sahi time par gussa karna sikhenge is desh ka bhala hoga aap bhi yah maan ke chaliye ki har ek baat toh mujhe gussa nahi karna hai kuch log hota hai na koi agar unhe sahi baat bhi bolta hai tune gussa par jata hai yah kya baat hui bhaiya aapko main baat sahi bata raha hoon aur aapko gussa aa raha hai ka karan kya hai yani aap kamjor ho jo har baat mein gussa karta hai vaah vyakti duniya ka sabse kamjor vyakti hota hai vaah kuch nahi kar sakta hai aur vaah kuch karega bhi nahi kuch vyakti hote hain jinhen hamesha gussa nahi padta hai koi agar galat baat bol de ya kisi ki chaaplusi kar de ya kisi ki behen beti ki burayi kare unse ya kisi apne sage sambandhi ki aalochana kare burayi kare tab us vyakti ko gussa badhta hai pehle toh vyakti samajhaata hai pyar se ki aap aisa mat bolie lekin agla vyakti phir bhi nahi manata hai toh phir vaah vyakti gusse mein use samajhaata hai aur kahata hai ki aaj ke baad mujhse aisi baat mat karna use warning deta hai toh phir vaah vyakti se us vyakti se burayi nahi karta hai kisi ki toh gussa agar aapko hamesha aata hai toh phir is gusse ko kam sakte ho aap pehle se sakaratmak ho jao apne dimag mein fit kar lo ki main duniya ka sabse old man hoon matlab thande dimag vala insaan hoon aur mujhse saree samasyaon ka samadhan koi nikalava sakta hai aur main bahut pyar se kisi bhi matter ko suljha sakta hoon aur kasam khana hoga aapko aapko ek dridh sankalp karna hoga ki mujhe ab kabhi gussa nahi karna hai sirf galat baat par gussa karna hai hamesha pyar se baat karna hai logo ki baat sunnani bhi hai aur apni baat rakhni bhaiya logo ke saamne dhire dhire aapka gussa thanda ho jaega dhanyavad

आपका सवाल है कि गुस्सा कंट्रोल करने का क्या उपाय है देखिए गुस्सा कंट्रोल करने का सबसे बढ़ि

Romanized Version
Likes  214  Dislikes    views  4277
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय एक ही गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय सिर्फ आप सेंड हो अपने मन को शांत रखो इसके लिए कोई मार्केट से टेबलेट नहीं आता कि मैं आपको एडवाइज कर दो उसको खा लो और उस हत्या को गुस्सा कंट्रोल हो जाएगा गुस्सा खुद भी आप करते हो मैंने आपके अंदर जो मनुष्य की होती है वह कहीं न कहीं ज्यादा एक्साइटेड हो जाती कभी आपके अंदर गुस्सा आ जाता है किसी बात से कुंठित होते तभी गुस्सा आता है तो जो कुंठा होती है जो उसे निकालने के लिए सबसे ज्यादा आप मन को शांत रखिए अपना इसके बावजूद नहीं होता था मेडिटेशन बीके मेडिटेशन से अपने मन को शांत कि अब गुस्सा कंट्रोल में आ जाएगा

gussa control karne ka upay ek hi gussa control karne ka upay sirf aap send ho apne man ko shaant rakho iske liye koi market se tablet nahi aata ki main aapko edavaij kar do usko kha lo aur us hatya ko gussa control ho jaega gussa khud bhi aap karte ho maine aapke andar jo manushya ki hoti hai vaah kahin na kahin zyada excited ho jaati kabhi aapke andar gussa aa jata hai kisi baat se kunthit hote tabhi gussa aata hai toh jo kuntha hoti hai jo use nikalne ke liye sabse zyada aap man ko shaant rakhiye apna iske bawajud nahi hota tha meditation BK meditation se apne man ko shaant ki ab gussa control mein aa jaega

गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय एक ही गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय सिर्फ आप सेंड हो अपने मन को

Romanized Version
Likes  279  Dislikes    views  1781
WhatsApp_icon
user

Dr. Swatantra Jain

Psychotherapist, Family & Career Counsellor and Parenting & Life Coach

3:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न है गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय है क्या मामला है नकारात्मक भावना है गुस्सा ऑलमोस्ट नहीं आना चाहिए या कम आना चाहिए लेकिन गुस्सा एक की भावना है सब में होता है हर भावना के पीछे कुछ दूर चलते चलते हैं कहां को भावना शुरू करें कहां नहीं करें कितने इंटरसिटी में करें कितने इंटेंसिटी मैं नहीं करें किस पर वह भावना प्रकट करेंगे पर नहीं करें कितनी देर में करें कब करें कब नहीं करें तो यह सारे एटेंपट 421202 जानू कटिंग करने के चित्र कहां से चले जाओ मोहन या तो डाइवर्ट कर दो टॉपिक क्या वहां से चले जाओ सॉरी करके और फिर जब शांत हो जाए तब सोच उसको तब जवाब दो कभी गुस्से में जवाब दिया तो मेरा देश महान गया दूसरा जब गुस्सा आ रहा तब तब को नहीं बोलना लेकिन जब गुस्सा शांत हो जाए तभी उसका गुस्सा जहां आ रहा है आप सोचिए कि क्या यह गुस्सा प्रकट करने की सही जगह है भाभी जी आपको किसी पर गुस्सा आया आपने कुछ ग्रुप में उसको डांट दिया और इतना तो उससे आपका भी इंप्रेशन खराब होगा और उसका भी उसके भी वैसे ठीक हूं आप कैसे खराब होगा कि आपको कल नहीं है आप आपने तो समझा नहीं है कि ना सुनते जानते हैं तो यह गुस्सा है दुधारी है दोनों तरफ से उसकी धारा करोगे तो भी बुरा ना करोगे तो इसलिए आपको मुझसे छोड़ देना चाहिए

prashna hai gussa control karne ka upay hai kya maamla hai nakaratmak bhavna hai gussa alamost nahi aana chahiye ya kam aana chahiye lekin gussa ek ki bhavna hai sab me hota hai har bhavna ke peeche kuch dur chalte chalte hain kaha ko bhavna shuru kare kaha nahi kare kitne intercity me kare kitne intention main nahi kare kis par vaah bhavna prakat karenge par nahi kare kitni der me kare kab kare kab nahi kare toh yah saare etempat 421202 janu cutting karne ke chitra kaha se chale jao mohan ya toh Divert kar do topic kya wahan se chale jao sorry karke aur phir jab shaant ho jaaye tab soch usko tab jawab do kabhi gusse me jawab diya toh mera desh mahaan gaya doosra jab gussa aa raha tab tab ko nahi bolna lekin jab gussa shaant ho jaaye tabhi uska gussa jaha aa raha hai aap sochiye ki kya yah gussa prakat karne ki sahi jagah hai bhabhi ji aapko kisi par gussa aaya aapne kuch group me usko dant diya aur itna toh usse aapka bhi impression kharab hoga aur uska bhi uske bhi waise theek hoon aap kaise kharab hoga ki aapko kal nahi hai aap aapne toh samjha nahi hai ki na sunte jante hain toh yah gussa hai dudhari hai dono taraf se uski dhara karoge toh bhi bura na karoge toh isliye aapko mujhse chhod dena chahiye

प्रश्न है गुस्सा कंट्रोल करने का उपाय है क्या मामला है नकारात्मक भावना है गुस्सा ऑलमोस्ट न

Romanized Version
Likes  328  Dislikes    views  4270
WhatsApp_icon
user

Dr.Vinod Mune Nagpur.

clinical Hypnotherapist & DMIT Counselor

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुस्सा कम करने के लिए हीरो लिंग्विस्टिक प्रोग्रामिंग किए माइक्रोटेक्निक है जिसके माध्यम से आप अपने गुस्से को कंट्रोल कर सकते हैं गुस्सा आना ही पड़ता है आपके पास लाइफ में आपका जो पिछला जो भी कुछ रोमांस है जो आपके नेगेटिव एक्सप्रेस है उसको जिससे आपका गुस्सा आता है तो वह वापस कर सकते हैं मेरी वेबसाइट के ऊपर www.unipune.com यूट्यूब

gussa kam karne ke liye hero linguistic programming kiye maikroteknik hai jiske madhyam se aap apne gusse ko control kar sakte hain gussa aana hi padta hai aapke paas life mein aapka jo pichla jo bhi kuch romance hai jo aapke Negative express hai usko jisse aapka gussa aata hai toh vaah wapas kar sakte hain meri website ke upar www unipune com youtube

गुस्सा कम करने के लिए हीरो लिंग्विस्टिक प्रोग्रामिंग किए माइक्रोटेक्निक है जिसके माध्यम से

Romanized Version
Likes  103  Dislikes    views  1149
WhatsApp_icon
user

Vimla Bidawatka

Spiritual Thinker

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पूछना है कि गुस्सा कंट्रोल करने का क्या उपाय है तो सबसे पहले जिसको गुस्सा आता है उसको पता चलना चाहिए कि मुझे गुस्सा आ रहा है उसके बाद अगर वह शांति से सोचे कि मुझे गुस्सा क्यों आ रहा है तो गुस्सा तीन कारणों से आता है या तो उसको लगता है मैं सही हूं यह सामने वाला गलत है नंबर वन नंबर दो उसको जैसा चाहिए सपूत जैसा उसका काम चाहिए सफलतेक मालिक है उसको चाहिए कि घर इस तरह से रखना चाहिए लेकिन उसके तो गुस्सा कंट्रोल करने का एक तो यह है कि लगता है जैसे कि अब वह मैं सही हूं अरे सामने वाला गलत काम कर रहा है तीसरी बात यह हो जाती कि कभी ऐसे उठाई कि शारीरिक कमजोरी रहती है यार थोड़ा सा कोई डिप्रेशन टाइप करता है नहीं है मन बेचैन है उस समय भी गुस्सा आता है तो सबसे पहले तो पता चलना चाहिए कि गुस्सा क्यों आ रहा है किस कारण से आ रहा है और जैसी पता चलेगा तो फिर आराम से कंट्रोल हो सकता है किसी और का गुस्सा नहीं है जो हमारे पास हमारी चीज हमारे मन पर हमारे गुस्से पर अगर हम कंट्रोल नहीं कर सके हम मनुष्य हमको विवेक मिला है तो हम आराम से उस को कंट्रोल कर सकते हैं बशर्ते हमारी इच्छा शक्ति होनी चाहिए क्या पता चल गया जैसे कि अभी गुस्सा क्यों आता है एक तरह की बीमारी है पता चला कि मुझे यह तकलीफ है तो फिर इसको तकलीफ अगर पता चलने बाद में इसको उपाय भी मिल जाते हैं दूर करने के थोड़ा मेडिटेशन करने से भी गुस्सा कंट्रोल में रहता है तो गुस्सा कंट्रोल फिर पता चलने के बाद तो बहुत इजी है उस को कंट्रोल करना थैंक यू

aapka poochna hai ki gussa control karne ka kya upay hai toh sabse pehle jisko gussa aata hai usko pata chalna chahiye ki mujhe gussa aa raha hai uske baad agar vaah shanti se soche ki mujhe gussa kyon aa raha hai toh gussa teen karanon se aata hai ya toh usko lagta hai sahi hoon yah saamne vala galat hai number van number do usko jaisa chahiye sapoot jaisa uska chahiye safalatek malik hai usko chahiye ki ghar is tarah se rakhna chahiye lekin uske toh gussa control karne ka ek toh yah hai ki lagta hai jaise ki ab vaah main sahi hoon are saamne vala galat kaam kar raha hai teesri baat yah ho jaati ki kabhi aise uthayi ki sharirik kamzori rehti hai yaar thoda sa koi depression type karta hai nahi hai man bechain hai us samay bhi gussa aata hai toh sabse pehle toh pata chalna chahiye ki gussa kyon aa raha hai kis karan se aa raha hai aur jaisi pata chalega toh phir aaram se control ho sakta hai kisi aur ka gussa nahi hai jo hamare paas hamari cheez hamare man par hamare gusse par agar hum control nahi kar sake hum manushya hamko vivek mila hai toh hum aaram se us ko control kar sakte hain basharte hamari iccha shakti honi chahiye kya pata chal gaya jaise ki abhi gussa kyon aata hai ek tarah ki bimari hai pata chala ki mujhe yah takleef hai toh phir isko takleef agar pata chalne baad mein isko upay bhi mil jaate hain dur karne ke thoda meditation karne se bhi gussa control mein rehta hai toh gussa control phir pata chalne ke baad toh bahut easy hai us ko control karna thank you

आपका पूछना है कि गुस्सा कंट्रोल करने का क्या उपाय है तो सबसे पहले जिसको गुस्सा आता है उसको

Romanized Version
Likes  78  Dislikes    views  1561
WhatsApp_icon
user

BOB

Teacher

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आकाश माल है उसका कंट्रोल करने का सबसे अच्छा उपाय बताएं तो मेरे भाई मेरे दोस्त अगर आपको पता है तो आप पहले ही दिखी का को गुस्सा क्यों आता है उसका रीजन क्या है क्योंकि हर चीज से कुछ ना कुछ बजे होती है जलन होती है ज्यादा बहुत ज्यादा कुछ नहीं है आपको हर बात बुरी लगती है शायद आपकी आदत सी पड़ गई है कि आप सिर्फ आपको बनवाना चाहते हैं उनसे बात नहीं मानी जाती है तो आपकी भी आपको जब भी गुस्सा आए तो आप चले जाओ पानी पी लें और अगर आप खड़े हैं तो आप बैठे बैठे हैं और आप उस टाइम पर उस बात को और ना करते रहे किसी और बात के तरफ अपने आप को मजबूत करने की कोई बात है अगर कोई इंसान कह रहा है आप उसी से बात कर रहा है वह उस बात पर उस टाइम पर ज्यादा हो ना करें जो क्या और करेंगे तो गुस्सा आएगा तो आप अपने आप को कहीं और बिजी कर ले कुछ और काम करने लगे होते हैं तो आप फायदा

akash maal hai uska control karne ka sabse accha upay bataye toh mere bhai mere dost agar aapko pata hai toh aap pehle hi dikhi ka ko gussa kyon aata hai uska reason kya hai kyonki har cheez se kuch na kuch baje hoti hai jalan hoti hai zyada bahut zyada kuch nahi hai aapko har baat buri lagti hai shayad aapki aadat si pad gayi hai ki aap sirf aapko banwana chahte hain unse baat nahi maani jaati hai toh aapki bhi aapko jab bhi gussa aaye toh aap chale jao paani p le aur agar aap khade hain toh aap baithe baithe hain aur aap us time par us baat ko aur na karte rahe kisi aur baat ke taraf apne aap ko majboot karne ki koi baat hai agar koi insaan keh raha hai aap usi se baat kar raha hai vaah us baat par us time par zyada ho na kare jo kya aur karenge toh gussa aayega toh aap apne aap ko kahin aur busy kar le kuch aur kaam karne lage hote hain toh aap fayda

आकाश माल है उसका कंट्रोल करने का सबसे अच्छा उपाय बताएं तो मेरे भाई मेरे दोस्त अगर आपको पता

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  277
WhatsApp_icon
user
0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब भी कभी आपको गुस्सा ना आए उस समय गुस्साए लाएं और गुस्सा लाकर उसकी एक्टिंग करें मेरा कहने का मतलब है आप गुस्से की एक्टिंग करें तब जब आपको गुस्सा ना आए और आपकी परेशानी सुलझ जाएगी एक बार करके देखें थोड़ा सा पागलपन है और कुछ नहीं मगर असर जरूर होगा करके देखें धन्यवाद

jab bhi kabhi aapko gussa na aaye us samay gussaye laye aur gussa lakar uski acting kare mera kehne ka matlab hai aap gusse ki acting kare tab jab aapko gussa na aaye aur aapki pareshani sulajh jayegi ek baar karke dekhen thoda sa pagalpan hai aur kuch nahi magar asar zaroor hoga karke dekhen dhanyavad

जब भी कभी आपको गुस्सा ना आए उस समय गुस्साए लाएं और गुस्सा लाकर उसकी एक्टिंग करें मेरा कहने

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  115
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!