भारतेंदु युग की विधाएं बताएं?...


user

S P

Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है भारतेंदु युग की विधाएं बताइए भारतेंदु युग में जिसका समय सन उन्नीस सौ से पहले माना जाता है यानी 18 57 की क्रांति के बाद यह समय है भारतेंदु युग का है भारतेंदु हरिश्चंद्र जी बहुत बड़े विद्वान थे उन्होंने दो प्रकार की शैलियों गद्य शैली यानी उर्दू प्रधान गद्य शैली संस्कृत प्रथम पदावली संयुक्त शैली का प्रयोग किया है उन्होंने अनेक विधाओं का प्रारंभ किया नाटक उपन्यास कहानी निबंध समालोचना समाचार पत्र आदि विधाएं उस युग में नवजीवन प्राप्त करती दिखाई देती भारतेंदु हरिश्चंद्र जी के साथ-साथ उस समय माधव प्रसाद मिश्र जी प्रेमघन जी लाला श्रीनिवास दास जी बड़े प्रसिद्ध कलाकार हुए हैं लेकिन इनका नेतृत्व जो किया है वहां तेंदू हरिश्चंद्र जी ने किया है भारतेंदु जी के प्रयत्नों से हिंदी में पत्र-पत्रिकाओं का प्रकाशन हिंदी गद्य की व्यापकता के लिए संजीवनी मंत्र सिद्ध हुआ है हिंदी समाचार पत्रों के प्रकाशन के साथ गद्दे के प्रयोगों को प्रोत्साहन मिला उसका भूमि विकास होने लगा अनेक दृश्यों से विकास होने लगा अशोक में जुगल किशोर के संपादन में अनेक पत्रिका में प्रकाशित हो रही थी जैसे उदंत मार्तंड ऐसी राजा राममोहन राय के संपादन में बंदूक नाम का समाचार पत्र प्रकाशित हुआ इसके बाद पत्र-पत्रिकाओं की संख्या वृद्धि होती चली गई और खड़ी बोली गद्य का विकास हुआ जिसका पूर्णता परिष्कृत और विकसित रूप हमें द्विवेदी युग में मिलता है

aapka sawaal hai bharatendu yug ki vidhaen bataiye bharatendu yug me jiska samay san unnis sau se pehle mana jata hai yani 18 57 ki kranti ke baad yah samay hai bharatendu yug ka hai bharatendu harishchandra ji bahut bade vidhwaan the unhone do prakar ki shailiyon gadya shaili yani urdu pradhan gadya shaili sanskrit pratham padavali sanyukt shaili ka prayog kiya hai unhone anek vidhaon ka prarambh kiya natak upanyas kahani nibandh samalochna samachar patra aadi vidhaen us yug me navjivan prapt karti dikhai deti bharatendu harishchandra ji ke saath saath us samay madhav prasad mishra ji premghan ji lala srinivas das ji bade prasiddh kalakar hue hain lekin inka netritva jo kiya hai wahan tendu harishchandra ji ne kiya hai bharatendu ji ke prayatnon se hindi me patra patrikaon ka prakashan hindi gadya ki vyapakata ke liye sanjeevani mantra siddh hua hai hindi samachar patron ke prakashan ke saath gadde ke prayogon ko protsahan mila uska bhoomi vikas hone laga anek drishyon se vikas hone laga ashok me jugal kishore ke sampadan me anek patrika me prakashit ho rahi thi jaise udant martand aisi raja rammohan rai ke sampadan me bandook naam ka samachar patra prakashit hua iske baad patra patrikaon ki sankhya vriddhi hoti chali gayi aur khadi boli gadya ka vikas hua jiska purnata parishkrit aur viksit roop hamein dwivedi yug me milta hai

आपका सवाल है भारतेंदु युग की विधाएं बताइए भारतेंदु युग में जिसका समय सन उन्नीस सौ से पहले

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  137
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!