देश में जो भी राजनीतिक पार्टियां हैं, क्या उन सभी में देशहित की भावना है? आपको क्या लगता है?...


user

Harvinder kaur

Municipal councillor

1:18
Play

Likes  6  Dislikes    views  97
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Suman Kumar Gupta

Politician, Social Worker

0:50

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देश की भावना दूसरी पार्टी को आगे बात करते हैं उनके साथ में बैठकर की जा सकती ऑफ इंडिया वेट करनी चाहिए लोगों को कभी टाइम मिले मरीजों के लिए

desh ki bhavna dusri party ko aage baat karte hain unke saath mein baithkar ki ja sakti of india wait karni chahiye logo ko kabhi time mile marizon ke liye

देश की भावना दूसरी पार्टी को आगे बात करते हैं उनके साथ में बैठकर की जा सकती ऑफ इंडिया वेट

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  250
WhatsApp_icon
user

Manish Kumar

Political Party Worker

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भावना की आईडी व्हाट्सएप पैसा बटोरने में लगे हैं थोड़ा वह दिखाते हैं बाकी चंदन कांग्रेस ने भ्रष्टाचार

bhavna ki id whatsapp paisa batorane mein lage hain thoda vaah dikhate hain baki chandan congress ne bhrashtachar

भावना की आईडी व्हाट्सएप पैसा बटोरने में लगे हैं थोड़ा वह दिखाते हैं बाकी चंदन कांग्रेस ने

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  156
WhatsApp_icon
user

Rajesh Kumar

Worker at Bahujan Mukti Party

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वैज्ञानिकों समेत अपने स्वार्थ के लिए सब पार्टी अतिथि पार्टी आजकल नहीं है इस साल पहले पार्टी करते थे एमएलए एमपी होते थे जो गेम प्ले के चलते थे काम करते थे आज हम किसी के पास नहीं है शाम को आना कल आना चक्कर काटते हैं

vaigyaanikon samet apne swarth ke liye sab party atithi party aajkal nahi hai is saal pehle party karte the mla mp hote the jo game play ke chalte the kaam karte the aaj hum kisi ke paas nahi hai shaam ko aana kal aana chakkar katatey hain

वैज्ञानिकों समेत अपने स्वार्थ के लिए सब पार्टी अतिथि पार्टी आजकल नहीं है इस साल पहले पार्ट

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  206
WhatsApp_icon
user

Mohd Naseem

Politician

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां देखी थी भावना बहुत सारी पार्टियों में है ऐसी बात नहीं है लेकिन बीजेपी किसी को आगे नहीं बढ़ने देना चाहिए चाहती बीजेपी चाहती है कि हमारा राज है और हम आगे चल कर रहे थे

haan dekhi thi bhavna bahut saree partiyon mein hai aisi baat nahi hai lekin bjp kisi ko aage nahi badhne dena chahiye chahti bjp chahti hai ki hamara raj hai aur hum aage chal kar rahe the

हां देखी थी भावना बहुत सारी पार्टियों में है ऐसी बात नहीं है लेकिन बीजेपी किसी को आगे नहीं

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  213
WhatsApp_icon
user

Sandeep Sharma

Independent Social Worker, Politician

0:58
Play

Likes  17  Dislikes    views  174
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आजकल तो पॉलिटिक्स पार्टी है उनके अंदर मुझे यह नहीं पता कि देश हित की भावना है या नहीं पर कुछ जीतने के लिए किसी भी किसी भी हद तक जा सकती है जैसे कांग्रेस को ऐसा नहीं लगता काफी बार क्यों नहीं दे रहे थे उन्होंने ऐसा जरूर लगता है कि कांग्रेस को BJP को नीचे गिराना है वह चाहती कि वह सत्ता में आए इससे कांग्रेस वालों पर उनकी कमियां निकाल रही है तू आजकल ऐसा लग रहा है कि हर को जीतना चाहता है तो पार्टी हो जाती है ना कि कुछ करना चाहती हो तो इसी वजह से मुझे ऐसा लगता है और ऐसा प्रतीत होता है कि जो काफी पार्टी देती है काफी कम मोस्ट ऑफ द पार्टी बनाने पर 90% से लेकर 99% पार्टी से उनका एक ही मुद्दा होता है क्यों नहीं है और वह भी करना है बल्कि उनको यह नहीं देखता कि वह देश का यह कैसे कर सकते हैं जैसे कॉल गर्ल बीजेपी कॉल करे तो कैसे नहीं कांग्रेस देश को इतनी कर सकती वह अच्छे-अच्छे पहुंच रहे थे जैसे BJP सुधरे और उनको उनकी गलतियां पता चल सके पर इस तरीके का नहीं देखा जाता है जहां पर भी कांग्रेस पर स्वयं को जीतने का मौका मिल सकता है वह चीज से आवाज उठाते हैं

aajkal toh politics party hai unke andar mujhe yah nahi pata ki desh hit ki bhavna hai ya nahi par kuch jitne ke liye kisi bhi kisi bhi had tak ja sakti hai jaise congress ko aisa nahi lagta kaafi baar kyon nahi de rahe the unhone aisa zaroor lagta hai ki congress ko BJP ko niche girana hai vaah chahti ki vaah satta mein aaye isse congress walon par unki kamiyan nikaal rahi hai tu aajkal aisa lag raha hai ki har ko jeetna chahta hai toh party ho jaati hai na ki kuch karna chahti ho toh isi wajah se mujhe aisa lagta hai aur aisa pratit hota hai ki jo kaafi party deti hai kaafi kam most of the party banane par 90 se lekar 99 party se unka ek hi mudda hota hai kyon nahi hai aur vaah bhi karna hai balki unko yah nahi dekhta ki vaah desh ka yah kaise kar sakte hain jaise call girl bjp call kare toh kaise nahi congress desh ko itni kar sakti vaah acche acche pohch rahe the jaise BJP sudhre aur unko unki galtiya pata chal sake par is tarike ka nahi dekha jata hai jaha par bhi congress par swayam ko jitne ka mauka mil sakta hai vaah cheez se awaaz uthate hain

आजकल तो पॉलिटिक्स पार्टी है उनके अंदर मुझे यह नहीं पता कि देश हित की भावना है या नहीं पर क

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वर्तमान समय में हमारे देश में ज्यादातर जो राजनीतिक पार्टियां हैं उन्हें देश हित से कोई लेना देना नहीं है और उन्हें बस सत्ता का लालच रहता है कि किस प्रकार उनकी पार्टी सत्ता में आ जाए और शासन व्यवस्था अपने हाथों में ले ले बहुत सारी राजनीतिक पार्टियों में इस तरह के आपराधिक छवि वाले लोग हैं जिन्हें जनता की भलाई से कोई मतलब नहीं रहता है और वह बस मंत्री बनना चाहते हैं विधायक बनना चाहते हैं ताकि जितने भी फंड आते हैं सरकार की तरफ से उन्हें वह घोटाला कर सके अपने बैंक बैलेंस को बना सके अपने परिवार वालों के लिए ज्यादा से ज्यादा प्रॉपर्टी इकट्ठा कर पाए जो भी सांसद विधायक बनते हैं उनमें से अधिकांश ऐसे ही होते हैं जो अपने पद का गलत इस्तेमाल करते हैं और उन्हें देश की भलाई करने में कोई भी इंटरेस्ट नहीं रहता है इसलिए मुझे लगता है कि ज्यादातर जो राजनीतिक पार्टियां है वर्तमान समय में हमारे देश में वह करप्ट हो चुकी उन्हें देश हित से कोई लेना देना नहीं है लेकिन अगर इसी तरह से हमारे देश में राजनैतिक पार्टियां काम करते रहेंगे तो मुझे लगता है हमारा देश आने वाले समय में इतनी प्रगति नहीं कर पाएगा जितना कि उन्हें करना चाहिए क्योंकि जो नेता होते हैं वही जनप्रतिनिधि होते हैं और उनके वजह से ही हमारा देश आगे बढ़ता है तो सभी राजनीतिक पार्टियों को यह सोचना चाहिए कि किस प्रकार से देश हित के कार्य किए जाएं ना कि खुद के हित के बारे में

vartmaan samay mein hamare desh mein jyadatar jo raajnitik partyian hain unhe desh hit se koi lena dena nahi hai aur unhe bus satta ka lalach rehta hai ki kis prakar unki party satta mein aa jaaye aur shasan vyavastha apne hathon mein le le bahut saree raajnitik partiyon mein is tarah ke apradhik chhavi waale log hain jinhen janta ki bhalai se koi matlab nahi rehta hai aur vaah bus mantri banna chahte hain vidhayak banna chahte hain taki jitne bhi fund aate hain sarkar ki taraf se unhe vaah ghotala kar sake apne bank balance ko bana sake apne parivar walon ke liye zyada se zyada property ikattha kar paye jo bhi saansad vidhayak bante hain unmen se adhikaansh aise hi hote hain jo apne pad ka galat istemal karte hain aur unhe desh ki bhalai karne mein koi bhi interest nahi rehta hai isliye mujhe lagta hai ki jyadatar jo raajnitik partyian hai vartaman samay mein hamare desh mein vaah corrupt ho chuki unhe desh hit se koi lena dena nahi hai lekin agar isi tarah se hamare desh mein rajnaitik partyian kaam karte rahenge toh mujhe lagta hai hamara desh aane waale samay mein itni pragati nahi kar payega jitna ki unhe karna chahiye kyonki jo neta hote hain wahi janapratinidhi hote hain aur unke wajah se hi hamara desh aage badhta hai toh sabhi raajnitik partiyon ko yah sochna chahiye ki kis prakar se desh hit ke karya kiye jayen na ki khud ke hit ke bare mein

वर्तमान समय में हमारे देश में ज्यादातर जो राजनीतिक पार्टियां हैं उन्हें देश हित से कोई लेन

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  139
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!