ट्रैवल ब्लॉगर का काम कितना मुश्किल है? एक ट्रैवल ब्लॉगर होने के बारे में कुछ बातें क्या हैं जिनके बारे में बहुत से लोग नहीं जानते हैं?...


user

Shachi Mall

Content creator | Travel & visa coach

2:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

और नंबर वन चाहिए जो कि एक वीडियो देखकर समझ में नहीं आती है कि कितना प्लानिंग उस वीडियो के पीछे गया है और एक वीडियो बनाने में जब वीडियो देखते हैं तो नाचूरल बहुत ही लगता है और वह इंप्रॉन्प्टू लगता है ऐसे लगता है कि सब चीज अपने आप हो रही है बट इन रियलिटी ऐसा नहीं है अन्य चीजें ऑफिस सिंह फ्रॉम टू होती है 90% जो प्लांट पर आपको एक सनराइज कब करना है तो आपको सुबह 5:00 बजे उठकर उस लोकेशन पर जाकर पूरा सेटअप करके रेडी होना पड़ेगा उस सनराइज को कैप्चर करने के लिए तो हर चीज में प्लानिंग व्हाट्सएप लेना है और एक शेड्यूल बनाना पड़ता है सुबह मतलब ऐसा नहीं है कि एक तो आप सडिलीट सेट करें कि आज मैं करूंगी अब वह कर भी ऐसा ही होती हो और आपके पास उस दिन के बाद कुछ आउटपुट हो जैसे आप कोई वीडियो बना सकते हैं तो यह मेरे लिए भी बहुत था क्योंकि जब मैं नार्मल वीडियोस बनाती थी उसे डाउन वीडियोस तो उस पर इतनी डिसिप्लिन उपाय नहीं है इतनी प्लानिंग रिक्वायर्ड नहीं है लेकिन जब मैंने चावल वीडियोस बनाना शुरू किया तो मैंने रिलायंस किया की डिस्प्ले और प्लानिंग बहुत ज्यादा जरूरी होती है चाबी वीडियो में नहीं तो आप सच्चे हो जाएंगे और या फिर या तो सिर्फ एक चीज कोई चर्चा करने में बहुत ज्यादा टाइम और सोचना दूध सुनाइए यह मैं बोलूंगी की मौत सरप्राइज जो मेरे लिए

aur number van chahiye jo ki ek video dekhkar samajh mein nahi aati hai ki kitna planning us video ke peeche gaya hai aur ek video banane mein jab video dekhte hain toh nachural bahut hi lagta hai aur vaah chahiye lagta hai aise lagta hai ki sab cheez apne aap ho rahi hai but in reality aisa nahi hai anya cheezen office Singh from to hoti hai 90 jo plant par aapko ek Sunrise kab karna hai toh aapko subah 5 00 baje uthakar us location par jaakar pura setup karke ready hona padega us Sunrise ko capture karne ke liye toh har cheez mein planning whatsapp lena hai aur ek schedule banana padta hai subah matlab aisa nahi hai ki ek toh aap chahiye set kare ki aaj main karungi ab vaah kar bhi aisa hi hoti ho aur aapke paas us din ke baad kuch output ho jaise aap koi video bana sakte hain toh yah mere liye bhi bahut tha kyonki jab main normal videos banati thi use down videos toh us par itni discipline upay nahi hai itni planning required nahi hai lekin jab maine chawal videos banana shuru kiya toh maine reliance kiya ki display aur planning bahut zyada zaroori hoti hai chabi video mein nahi toh aap sacche ho jaenge aur ya phir ya toh sirf ek cheez koi charcha karne mein bahut zyada time aur sochna doodh sunaiye yah main bolungi ki maut surprise jo mere liye

और नंबर वन चाहिए जो कि एक वीडियो देखकर समझ में नहीं आती है कि कितना प्लानिंग उस वीडियो के

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  451
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!