आपकी बचपन की पसंदीदा यात्रा स्मृति क्या है?...


user

Shachi Mall

Content creator | Travel & visa coach

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तू मेरे पापा अभी नहीं थी और आदमी में जो है बहुत सारी ग्रुप तकलीफ होती थी शादी की कुंडली टो कैंटोनमेंट के सारे लोग इकट्ठा डेट क्या कभी कभी हो नहीं जाते थे तो एक लंबी मतलब लाइन होती थी आर्मी जीप की जांच की और वह एक लाइन में एक जगह से दूसरी जगह जाती थी और वह पूरा जो यह जो कि लोगों के ग्रुप में पूरा प्लान करके कितने-कितने जाना और गीता भी विकल्प में जाना और बहुत ही

tu mere papa abhi nahi thi aur aadmi mein jo hai bahut saree group takleef hoti thi shadi ki kundali toe kaintonament ke saare log ikattha date kya kabhi kabhi ho nahi jaate the toh ek lambi matlab line hoti thi army jeep ki jaanch ki aur vaah ek line mein ek jagah se dusri jagah jaati thi aur vaah pura jo yah jo ki logo ke group mein pura plan karke kitne kitne jana aur geeta bhi vikalp mein jana aur bahut hi

तू मेरे पापा अभी नहीं थी और आदमी में जो है बहुत सारी ग्रुप तकलीफ होती थी शादी की कुंडली टो

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  431
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

महेश दुबे

कवि साहित्यकार

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बचपन में हमारी परिस्थिति ऐसी नहीं थी कि हम कहीं बहुत दूर घूमने फिरने जा सके बचपन में हम रात को भोजन करने के बाद पिता के कंधे पर बैठकर यहां वहां नजदीक में घूमने चले जाते थे कभी किसी मंदिर में जाकर के खेलने लगते थे यह सभी हमारी यात्रा की स्मृतियां हैं यह जरूरी नहीं है कि आप स्विट्जरलैंड और यूरोप की यात्रा करके लौटे वही आपके जीवन के सुखद स्मृति हो सुखद स्मृतियां तो हमारे मनोभावों से जुड़ी रहती हैं माता-पिता के साथ अगर अगर आप किसी नदी के पार के गार्डन में भी गए होंगे तो वह बचपन की स्मृति आपके दिमाग में सुरक्षित रह सकती है

bachpan mein hamari paristithi aisi nahi thi ki hum kahin bahut dur ghoomne phirne ja sake bachpan mein hum raat ko bhojan karne ke baad pita ke kandhe par baithkar yahan wahan nazdeek mein ghoomne chale jaate the kabhi kisi mandir mein jaakar ke khelne lagte the yah sabhi hamari yatra ki smritiyan hain yah zaroori nahi hai ki aap Switzerland aur europe ki yatra karke laute wahi aapke jeevan ke sukhad smriti ho sukhad smritiyan toh hamare manobhavon se judi rehti hain mata pita ke saath agar agar aap kisi nadi ke par ke garden mein bhi gaye honge toh vaah bachpan ki smriti aapke dimag mein surakshit reh sakti hai

बचपन में हमारी परिस्थिति ऐसी नहीं थी कि हम कहीं बहुत दूर घूमने फिरने जा सके बचपन में हम रा

Romanized Version
Likes  69  Dislikes    views  1421
WhatsApp_icon
user

Ghanshyamvan

मंदिर सेवा

2:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हमने बचपन में यमुनोत्री गंगोत्री केदारनाथ बद्रीनाथ की यात्रा की है साईं भक्तों के साथ अच्छा करने बड़ा आया बहुत सुंदर नाम है भगवान का वास है यमुनोत्री में यमुनाजी का उद्गम हुआ है ख्वाहिश की जलवायु और वहां नानी का गर्म कुंड बिहार चावला जी मारते हैं फिर हमने गंगोत्री की यात्रा की मांगों को लेकर यात्रा गोमुख तो नहीं जा पाए मां गंगोत्री यात्रा की गंगा जी का बहुत ही सुंदर स्थान है मंदिर केदारनाथ में भगवान शिव के ज्योतिर्लिंग के दर्शन किए हुए श्री महाजन की राहों में आदमी का पवित्र जल चढ़ाया फिर हमने बद्रीनाथ भगवान की आरती बद्रीनाथ के दर्शन किए और हां पर हमें बहुत ही सुंदर नजारा देख लेना अलकनंदा बद्रीनाथ का नाम पहुंचाने में माना जुलानिया से सरस्वती माता का भोजपुरी गीत सरस्वती माता को भेजा जिक्र किया है यहां बैठकर वेदव्यास भगवान ने अठारह पुराणों की रचना यात्रा

dekhiye humne bachpan mein yamunotri gangotri kedarnath badrinath ki yatra ki hai sai bhakton ke saath accha karne bada aaya bahut sundar naam hai bhagwan ka was hai yamunotri mein yamunaji ka udgam hua hai khwaahish ki jalvayu aur wahan naani ka garam kund bihar chawla ji marte hain phir humne gangotri ki yatra ki maangon ko lekar yatra gomukh toh nahi ja paye maa gangotri yatra ki ganga ji ka bahut hi sundar sthan hai mandir kedarnath mein bhagwan shiv ke jyotirling ke darshan kiye hue shri mahajan ki rahon mein aadmi ka pavitra jal chadaya phir humne badrinath bhagwan ki aarti badrinath ke darshan kiye aur haan par hamein bahut hi sundar najara dekh lena alaknanda badrinath ka naam pahunchane mein mana julaniya se saraswati mata ka bhojpuri geet saraswati mata ko bheja jikarr kiya hai yahan baithkar vedvyas bhagwan ne athara purano ki rachna yatra

देखिए हमने बचपन में यमुनोत्री गंगोत्री केदारनाथ बद्रीनाथ की यात्रा की है साईं भक्तों के सा

Romanized Version
Likes  106  Dislikes    views  1561
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
अपने बचपन से अपने पसंदीदा स्मृति क्या है ; क्या बचपन से ही अपने पसंदीदा स्मृति है ; बचपन से आपकी पसंदीदा मेमोरी क्या है? ; पूरे वाक्य उपयोगकर्ता में अपने बचपन कृपया जवाब से अपने पसंदीदा स्मृति क्या है अनुसंधान ग्राहकों उत्तरों की गुणवत्ता इस सवाल अप्रासंगिक लगती है ; भले ही कृपया समय और जवाब ध्यान से इतना है कि हमारे सिस्टम की गुणवत्ता का मूल्यांकन कर सकते हैं लेने के बारे में परवाह अपने ; अपने बचपन के जवाब से अपने पसंदीदा स्मृति क्या है ; अपने बचपन से अपने पसंदीदा स्मृति हिंदी में अर्थ क्या है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!