नैन सिंह रावत के बारे में बताये?...


play
user
0:27

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नैन सिंह रावत के बारे में बताएं नैन सिंह रावत का जन्म हुआ था 1 दिन छुट्टी में जौहर वाली है और इनका देहांत हुआ था 13112 में मुरादाबाद में यह जो है वह ब्रिटिश से जमाने के वह पहले व्यक्ति थे जिन्होंने हिमालय पर चढ़ाई करी थी इन्होंने और नेपाल के सूत्र बकरीद का जो है रास्ता वह खोज कर निकाला था

nain Singh rawat ke bare mein bataye nain Singh rawat ka janam hua tha 1 din chhutti mein jauhar wali hai aur inka dehant hua tha 13112 mein muradabad mein yah jo hai vaah british se jamane ke vaah pehle vyakti the jinhone himalaya par chadhai kari thi inhone aur nepal ke sutra bakri eid ka jo hai rasta vaah khoj kar nikaala tha

नैन सिंह रावत के बारे में बताएं नैन सिंह रावत का जन्म हुआ था 1 दिन छुट्टी में जौहर वाली है

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  318
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिनेश सिंह रावत के बारे में बताएं कुमाऊं क्षेत्र के रहने वाले थे उनका अक्टूबर कुमाऊं के पिथौरागढ़ जिले में मक्का में हुआ था उन्होंने प्राथमिक शिक्षा से हासिल की थी लेकिन आर्थिक तंगी के कारण भारत और पाक में छोड़ दे पिता के साथ उन्हें तिब्बत के कई स्थानों पर जाने और समझने का मौका मिला उन्होंने तिब्बती भाषा सीखे जिसने काफी मदद मिली हिंदी पति के अलावा नेपाल से अंग्रेजी का भी अच्छा ज्ञान था महान अन्वेषण अन्वेषण और मानचित्र का नैन सिंह रावत ने अपनी यात्रा की तैयारियों का

dinesh Singh rawat ke bare mein bataye kumaon kshetra ke rehne waale the unka october kumaon ke pithoragarh jile mein makka mein hua tha unhone prathmik shiksha se hasil ki thi lekin aarthik tangi ke karan bharat aur pak mein chhod de pita ke saath unhe tibet ke kai sthano par jaane aur samjhne ka mauka mila unhone tibbati bhasha sikhe jisne kaafi madad mili hindi pati ke alava nepal se angrezi ka bhi accha gyaan tha mahaan anveshan anveshan aur manchitra ka nain Singh rawat ne apni yatra ki taiyariyon ka

दिनेश सिंह रावत के बारे में बताएं कुमाऊं क्षेत्र के रहने वाले थे उनका अक्टूबर कुमाऊं के पि

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  156
WhatsApp_icon
user
0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो सर आपका दर्शन नैन सिंह रावत कौन है जरा बताना चाहता हूं नैन सिंह रावत 19 शताब्दी के उन पंडितों में से थे जिन्होंने अंग्रेजों के लिए हिमालय के क्षेत्र में सोया आंखों में खोजबीन की डांसिंग कुमाऊ घाटी के रहने वाले थे उन्होंने नेपाल से होते हुए

hello sir aapka darshan nain Singh rawat kaun hai zara batana chahta hoon nain Singh rawat 19 shatabdi ke un pandito me se the jinhone angrejo ke liye himalaya ke kshetra me soya aakhon me khojbin ki dancing kumaoo ghati ke rehne waale the unhone nepal se hote hue

हेलो सर आपका दर्शन नैन सिंह रावत कौन है जरा बताना चाहता हूं नैन सिंह रावत 19 शताब्दी के उन

Romanized Version
Likes  45  Dislikes    views  1060
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!