बैसाखी के बारे में बताये?...


user
2:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों हाउ आर यू क्या आपने जो पूछा है दशमी की बैसाखी के बारे में बताएं तो वैशाखी जो है हमारे हिंदू धार्मिक परंपराओं का एक प्रसिद्ध त्योहार है जो मां गंगा स्नान के साथ आरंभ होता है और जो माह वैशाख होता है इसकी जो जलवायु बताएं इस मौसम में कैसी रहती है अगर इस पर हम देखें तो मां अंबे साहब जो है क्षेत्र के बाद दूसरा महीना माना जाता हिंदू कैलेंडर के कारण तो चैत्र जो है भारतीय कैलेंडर है उसके अनुसार पहला महीना माना जाता है और यह मार्च में आता है 23 मार्च के आसपास 22 को 23 मार्च के आसपास तू अगर वैसा का हम बात करें तो यह अप्रैल में खूब भाई साहब की जो पर्व है यह गेहूं की कटाई के साथ आरंभ होता है ऐसा माना जाता है कि जो रवि की फसलों की कटाई होती है तो उससे सभी घरों में खाद्यान्न की पर्याप्त उपलब्धता होती है घरों के अंदर धन-धान्य और पूरी तरीके से सभी लोग जो है जितना भी हमारा ग्रामीण समाज है जिसमें कृषि पर निर्भर होता है तो सभी के घर में खाने पीने की कोई दिक्कत नहीं होती है तो उस के उपलक्ष में ही जल्द से हमारा खाद्यान्नों जो है कट के घर आता है उसकी खुशी में हम यह त्योहार बैसाखी बनाते हैं इसमें गंगा नदियों में भी स्नान की परंपरा है और उसके साथ-साथ घरों में वैशाख पूर्णिमा के दिन पूजन भी किया जाता है स्थानीय देवताओं का और इसके साथ-साथ अच्छे भविष्य की कामना भी की जाती है ऐसे उत्सव जो है अधिकांश समय में जो है शादियों का सीजन के रहता है तो यह जो है उत्सव शादी या फिर जो है खाद्यान्न की उपलब्धता और इन सब चीजों के आधार पर शुभा निर्धारण किया गया है तो वैशाख का महीना जो है हमारे देश में खुशहाली का महीना होता है उसी समय होली का भी जो है बनाई जाती है उसी समय और होली के साथ-साथ वैशाखी भी बनाई जाती है जुड़े हुए हैं इसी कारण बनाया जाता है

hello doston how R you kya aapne jo poocha hai dashami ki baisakhi ke bare mein bataye toh Vaisakhi jo hai hamare hindu dharmik paramparaon ka ek prasiddh tyohar hai jo maa ganga snan ke saath aarambh hota hai aur jo mah VAISHAKH hota hai iski jo jalvayu bataye is mausam mein kaisi rehti hai agar is par hum dekhen toh maa ambe saheb jo hai kshetra ke baad doosra mahina mana jata hindu calendar ke karan toh chaitra jo hai bharatiya calendar hai uske anusaar pehla mahina mana jata hai aur yah march mein aata hai 23 march ke aaspass 22 ko 23 march ke aaspass tu agar waisa ka hum baat kare toh yah april mein khoob bhai saheb ki jo parv hai yah gehun ki katai ke saath aarambh hota hai aisa mana jata hai ki jo ravi ki fasalon ki katai hoti hai toh usse sabhi gharon mein khadyann ki paryapt upalabdhata hoti hai gharon ke andar dhan dhanya aur puri tarike se sabhi log jo hai jitna bhi hamara gramin samaj hai jisme krishi par nirbhar hota hai toh sabhi ke ghar mein khane peene ki koi dikkat nahi hoti hai toh us ke uplaksh mein hi jald se hamara khadyano jo hai cut ke ghar aata hai uski khushi mein hum yah tyohar baisakhi banate hain isme ganga nadiyon mein bhi snan ki parampara hai aur uske saath saath gharon mein VAISHAKH poornima ke din pujan bhi kiya jata hai sthaniye devatao ka aur iske saath saath acche bhavishya ki kamna bhi ki jaati hai aise utsav jo hai adhikaansh samay mein jo hai shadiyo ka season ke rehta hai toh yah jo hai utsav shadi ya phir jo hai khadyann ki upalabdhata aur in sab chijon ke aadhaar par shubha nirdharan kiya gaya hai toh VAISHAKH ka mahina jo hai hamare desh mein khushahali ka mahina hota hai usi samay holi ka bhi jo hai banai jaati hai usi samay aur holi ke saath saath Vaisakhi bhi banai jaati hai jude hue hain isi karan banaya jata hai

हेलो दोस्तों हाउ आर यू क्या आपने जो पूछा है दशमी की बैसाखी के बारे में बताएं तो वैशाखी जो

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  158
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Faiz

Software Tester at Cognizant Technology Solutions.

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शक्तिमान बनाया जाता है और यह जो कि 2 दिन में सेलिब्रेट किया जाता है यह हर साल 13 या 14 अप्रैल के दिन सेलिब्रेट किया जाता है और यह तो यह जो है यह बेसिकली जब गुरु गोविंद सिंह मेमोरियल का फॉर्मेशन किया था उस खुशी में यह दिन तो कट जाता है

shaktiman banaya jata hai aur yah jo ki 2 din mein celebrate kiya jata hai yah har saal 13 ya 14 april ke din celebrate kiya jata hai aur yah toh yah jo hai yah basically jab guru govind Singh memorial ka formation kiya tha us khushi mein yah din toh cut jata hai

शक्तिमान बनाया जाता है और यह जो कि 2 दिन में सेलिब्रेट किया जाता है यह हर साल 13 या 14 अप्

Romanized Version
Likes  661  Dislikes    views  17840
WhatsApp_icon
user

Prabhat Verma

primary teacher government of bihar

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वैशाखी पंजाब और उसके आसपास के राज्यों के सबसे बड़ा त्यौहार है या रवि की फसल के पकने की खुशी में मनाया जाता है इस दिन 13 अप्रैल यह साला सुनाने को 10:00 में गुरु गोविंद सिंह खालसा पंथ की स्थापना की थी तथा से किस प्रकार को समाहित जन्मदिन जन्म दिवस के रूप में भी मनाते हैं इसमें जो है वह सर्दियों की फसल काटने के लिए के बाद किसान नए साल की खुशियां मनाने के लिए भी इससे पहले को खुशी पूर्वक मनाते हैं जिसका नाम है बैसाखी बैसाखी जयपुर आंतरिक रूप से हर साल दे रहे 14 अप्रैल को मनाया जाता है या तोहार सिख और हिंदू दोनों के लिए महत्वपूर्ण है

Vaisakhi punjab aur uske aaspass ke rajyo ke sabse bada tyohar hai ya ravi ki fasal ke pakne ki khushi mein manaya jata hai is din 13 april yah sala sunaane ko 10 00 mein guru govind Singh khalsa panth ki sthapna ki thi tatha se kis prakar ko samahit janamdin janam divas ke roop mein bhi manate hain isme jo hai vaah sardiyo ki fasal katne ke liye ke baad kisan naye saal ki khushiya manane ke liye bhi isse pehle ko khushi purvak manate hain jiska naam hai baisakhi baisakhi jaipur aantarik roop se har saal de rahe 14 april ko manaya jata hai ya tohar sikh aur hindu dono ke liye mahatvapurna hai

वैशाखी पंजाब और उसके आसपास के राज्यों के सबसे बड़ा त्यौहार है या रवि की फसल के पकने की खुश

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  737
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!