बेंगलुरु: प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए DCP ने गाया राष्ट्रगान। क्या आपको लगता है की इस तरह से शांति बनायी जा सकती है देश भर में?...


user

Jitendra Shukla

Politicain

2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां बिल्कुल जो शुरू से रही है परंपरा नीति नियम कानून की सर्वप्रथम सत्य पर असत्य जवाबी हो लगता है पर आप तो नहीं करता जितना भी होता है शांति भंग करता है तो या नीति करती है उसे क्या समझाने के लिए और यह जो पहल है राष्ट्रगान गाने का यह एक अच्छी पहल है इसी को आप समझाना चाहते हैं तो उन्हीं के भाषण उग्र होकर जवाब नहीं दिया जा सकता है पहली कोशिश होनी चाहिए प्रेम पूर्वक समझाना और यह पल बहुत अच्छी है बिल्कुल या इसे गांधीगिरी भी हम कहेंगे लेकिन कभी-कभी जो अति करें अन्याय करें और धर्म करें उसको उसी की भाषा में जवाब देना पड़ेगा मतलब कनेक्ट पर जी बहुत अच्छी पहल है इस बात नहीं बहुत ही अच्छी पालक ची को फुल देना किसी को माला पहनाकर अपमानित करके सम्मानित करना राष्ट्रगान का करके समझाना अच्छी बात है इससे गांधीगिरी करते हैं लेकिन जब बात नहीं बनी ऐसी हालत नहीं सुधरी तो सुभाष चंद्र बोस की तरह करना चाहिए जब गांधी से बात नहीं बने तो सुभाष चंद्र बोस की तरह बात करना चाहिए यह बोलते हैं एक चांटा मार दूसरा गाल दे दो फिर भी परिस्थितियां अनुकूल नहीं हो तो सुभाष चंद्र बोस की तरह बंद करके ही का जवाब पत्थर से देना चाहिए खाना किस तरफ से पूरी व्यवस्था तो नहीं बनाई जा सकती है लेकिन जहां शिक्षित शिक्षित लोग हैं समझदार लोग हैं धर्म के अंधी दौड़ में शामिल नहीं है और समझ सकते हैं

haan bilkul jo shuru se rahi hai parampara niti niyam kanoon ki sarvapratham satya par asatya javaabi ho lagta hai par aap toh nahi karta jitna bhi hota hai shanti bhang karta hai toh ya niti karti hai use kya samjhane ke liye aur yah jo pahal hai rashtragan gaane ka yah ek achi pahal hai isi ko aap samajhana chahte hain toh unhi ke bhashan ugra hokar jawab nahi diya ja sakta hai pehli koshish honi chahiye prem purvak samajhana aur yah pal bahut achi hai bilkul ya ise gandhigiri bhi hum kahenge lekin kabhi kabhi jo ati kare anyay kare aur dharm kare usko usi ki bhasha me jawab dena padega matlab connect par ji bahut achi pahal hai is baat nahi bahut hi achi paalak chee ko full dena kisi ko mala pahnakar apmanit karke sammanit karna rashtragan ka karke samajhana achi baat hai isse gandhigiri karte hain lekin jab baat nahi bani aisi halat nahi sudhari toh subhash chandra bose ki tarah karna chahiye jab gandhi se baat nahi bane toh subhash chandra bose ki tarah baat karna chahiye yah bolte hain ek chaanta maar doosra gaal de do phir bhi paristhiyaann anukul nahi ho toh subhash chandra bose ki tarah band karke hi ka jawab patthar se dena chahiye khana kis taraf se puri vyavastha toh nahi banai ja sakti hai lekin jaha shikshit shikshit log hain samajhdar log hain dharm ke andhi daudh me shaamil nahi hai aur samajh sakte hain

हां बिल्कुल जो शुरू से रही है परंपरा नीति नियम कानून की सर्वप्रथम सत्य पर असत्य जवाबी हो ल

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  404
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr Chandra Shekhar Jain

MBBS, Yoga Therapist Yoga Psychotherapist

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इन प्रदर्शनकारियों में अधिकांश मुसलमान है जो कि आन पड़े हैं और उनको ना एनआरसी मालूम है यह भी मालूम है बस उनको पीछे थे धकेलने वालों ने जानवरों की तरह काल दिया है वह लोग प्रदर्शन में शामिल हो गए शांति राष्ट्रगान यह सब बातें हमको समझ में नहीं आती है उनको समझ में आती है कि उनके ऊपर जो सुप्रिया बैठा हुआ है उसने क्या आर्डर दिया है बस आप मुझे और गधों की तरह आगे बढ़ते चलो जो कुछ पढ़े लिखे लोग हैं उनकी बुद्धि काम करती नहीं है क्यों ले रहे जिनके नाम पर इस देश को जितना बर्बाद किया गया है दुनिया की किसी देश को बर्बाद नहीं किया गया परंतु अब हमें इस बात को सीखना है कि सेकुलरिज्म के नाम पर हिंसा नहीं बर्दाश्त की जा सकती और जिस तरह केसे पुलिस शांति फैलाने की कोशिश कर रही है उसे शांति फैलने वाली नहीं है अगर गवर्नमेंट उनको आर्डर कर दे कि कोई भी व्यक्ति यदि किस प्रकार की हिंसा फैलाता है और विशेष तौर पर सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाता है कोई भी मोटरबाइक से कारों में आग लगाता है तो उसको देखते ही गोली मारने के आदेश दे दिए जाएं तो देखी सारे के सारे पढ़े-लिखे दोनों चूहे की तरह बिल में घुस जाएंगे

in pradarshankariyo mein adhikaansh muslim hai jo ki Aan pade hain aur unko na NRC maloom hai yah bhi maloom hai bus unko peeche the dhakelane walon ne jaanvaro ki tarah kaal diya hai vaah log pradarshan mein shaamil ho gaye shanti rashtragan yah sab batein hamko samajh mein nahi aati hai unko samajh mein aati hai ki unke upar jo supriya baitha hua hai usne kya order diya hai bus aap mujhe aur gadhon ki tarah aage badhte chalo jo kuch padhe likhe log hain unki buddhi kaam karti nahi hai kyon le rahe jinke naam par is desh ko jitna barbad kiya gaya hai duniya ki kisi desh ko barbad nahi kiya gaya parantu ab hamein is baat ko sikhna hai ki secularism ke naam par hinsa nahi bardaasht ki ja sakti aur jis tarah kaise police shanti felane ki koshish kar rahi hai use shanti failane wali nahi hai agar government unko order kar de ki koi bhi vyakti yadi kis prakar ki hinsa failata hai aur vishesh taur par sarkari sampatti ko nuksan pohchta hai koi bhi motorbike se kaaron mein aag lagaata hai toh usko dekhte hi goli maarne ke aadesh de diye jaye toh dekhi saare ke saare padhe likhe dono chuhe ki tarah bill mein ghus jaenge

इन प्रदर्शनकारियों में अधिकांश मुसलमान है जो कि आन पड़े हैं और उनको ना एनआरसी मालूम है यह

Romanized Version
Likes  133  Dislikes    views  1693
WhatsApp_icon
user

Mr. Mukesh Kumar

Youtuber, https://youtu.be/lxwi7CXLHSQ

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि बेंगलुरु में प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए डीसीपी ने राष्ट्रीय गान का हम सब जानते हैं कि राष्ट्रीय गान प्रत्येक राष्ट्र की धरोहर होती है और उसकी मान सम्मान बनाए रखना प्रत्येक देश के कर्तव्य बनता है तो ऐसी परिस्थिति में महान जगह राष्ट्रगान का प्रयोग नहीं कर सकते हैं क्योंकि यहां उचित होते हुए भी अनुचित है क्योंकि जब कुछ ऐसी परिस्थितियां हो जाती है जहां पर हम राष्ट्रगान का सम्मान नहीं कर पाते हैं और वहां पर हमेशा हाय होते हैं चलो क्रोध में आवेश में हो उस पर ध्यान नहीं देते हैं तो ऐसी परिस्थिति में हमारे लिए यह उचित नहीं होगा इसलिए मैं जहां तक राय है इसका हर जगह प्रयोग करना गलत

aapka prashna hai ki bengaluru mein pradarshankariyo ko rokne ke liye DCP ne rashtriya gaan ka hum sab jante hain ki rashtriya gaan pratyek rashtra ki dharohar hoti hai aur uski maan sammaan banaye rakhna pratyek desh ke kartavya banta hai toh aisi paristithi mein mahaan jagah rashtragan ka prayog nahi kar sakte hain kyonki yahan uchit hote hue bhi anuchit hai kyonki jab kuch aisi paristhiyaann ho jaati hai jaha par hum rashtragan ka sammaan nahi kar paate hain aur wahan par hamesha hi hote hain chalo krodh mein aavesh mein ho us par dhyan nahi dete hain toh aisi paristithi mein hamare liye yah uchit nahi hoga isliye main jaha tak rai hai iska har jagah prayog karna galat

आपका प्रश्न है कि बेंगलुरु में प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए डीसीपी ने राष्ट्रीय गान का

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  544
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेंगलुरु प्रदर्शनकारी हमको तो लगता है दूसरी साइड में जो किया वो सही किया लेकिन मरने वाले इंडियन उन्होंने इस बात को भाजपा दिया कि हमारा नेशनल एंथम चालू है वो हमको शांत रहना एसीपी साहब की जो भावना है वह सही है लेकिन उनके साथ साथ वहां की पश्चिम जनता उनकी भावनाओं को हम सैल्यूट करते हैं उन्होंने नेशनल एंथम को मान लिया इज्जत किया इसी तरह से भारतीयता गेस्ट व देशप्रेम उजागर होता है और वहां पर उपस्थित जो भी लोग थे उनको हम एक भारतीय होने के नाते धन्यवाद बहुत स्वीट कच्चे रिस्पेक्ट और जाए प्रशांत पेशेंट एंड ट्रैक्टर

bengaluru pradarshankari hamko toh lagta hai dusri side mein jo kiya vo sahi kiya lekin marne waale indian unhone is baat ko bhajpa diya ki hamara national Anthem chaalu hai vo hamko shaant rehna ACP saheb ki jo bhavna hai vaah sahi hai lekin unke saath saath wahan ki paschim janta unki bhavnao ko hum salute karte hain unhone national Anthem ko maan liya izzat kiya isi tarah se bharatiyta guest va deshprem ujagar hota hai aur wahan par upasthit jo bhi log the unko hum ek bharatiya hone ke naate dhanyavad bahut sweet kacche respect aur jaaye prashant patient and tractor

बेंगलुरु प्रदर्शनकारी हमको तो लगता है दूसरी साइड में जो किया वो सही किया लेकिन मरने वाले इ

Romanized Version
Likes  64  Dislikes    views  1307
WhatsApp_icon
user

N. K. SINGH 'Nitesh'

Educator, Life Coach, Writer and Expert in British English Language, Author of Book/Fiction Lucky Girl (Love vs Marriage)

2:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए बेंगलुरु में प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए डीसीपी ने राष्ट्रगान गाया और यह पूछा गया कि इस तरह से शांति बनाई जा सकती देश परमेश्वर की नहीं डीसीपी ने उस समय एक तत्काल ही कदम उठाया कि किस तरह से इन आंदोलनकारियों को रोका जा सकता उन्होंने राष्ट्रगान राष्ट्रगान के द्वारा उनके अंदर राष्ट्रभक्ति भी तो लगाई जा सकती है या झंडे के सम्मान करने की भावना को जो दबी हुई है उसको ऊपर लाया जा सकता है और इस तरह से उस समय तत्काल जो उनके द्वारा दंगा फसाद किया जाता रोक दिया गया डीसीपी के द्वारा इसको आप पूरे देश से मत जोड़िए कि क्या इससे पूरे देश में किया जा सकता है नहीं जाएगा और इसकी कोई जरूरत भी नहीं होनी चाहिए राशि वालों की जो हमारा राष्ट्रगान है जो हमारे राष्ट्रीय झंडा है हम सबके एकता का प्रतीक है इसके द्वारा हम सब में एक तो की भावना को भरते हैं और सामने वाला व्यक्ति भी उसे उसी एकता के सूत्र में दिखाई देता है तो दोनों ही जो पक्ष से उस समय पुलिस ने और दूसरी तरफ जो आंदोलनकारी थे इन दोनों को जोड़ने का उस समय जो सशक्त माध्यम दिखा दे चिंटू राष्ट्रगान सभा में राष्ट्रगान गाया या बेहतर कदम पर आधारित बनाए रखें अग्रवाल की यह कितना उचित था और उनकी था तो मेरे हिसाब से हंड्रेड परसेंट यू धन्यवाद

dekhiye bengaluru mein pradarshankariyo ko rokne ke liye DCP ne rashtragan gaaya aur yah poocha gaya ki is tarah se shanti banai ja sakti desh parmeshwar ki nahi DCP ne us samay ek tatkal hi kadam uthaya ki kis tarah se in andolanakariyon ko roka ja sakta unhone rashtragan rashtragan ke dwara unke andar rashtra bhakti bhi toh lagayi ja sakti hai ya jhande ke sammaan karne ki bhavna ko jo dabi hui hai usko upar laya ja sakta hai aur is tarah se us samay tatkal jo unke dwara danga fasad kiya jata rok diya gaya DCP ke dwara isko aap poore desh se mat joodiye ki kya isse poore desh mein kiya ja sakta hai nahi jaega aur iski koi zarurat bhi nahi honi chahiye rashi walon ki jo hamara rashtragan hai jo hamare rashtriya jhanda hai hum sabke ekta ka prateek hai iske dwara hum sab mein ek toh ki bhavna ko bharte hain aur saamne vala vyakti bhi use usi ekta ke sutra mein dikhai deta hai toh dono hi jo paksh se us samay police ne aur dusri taraf jo andolankari the in dono ko jodne ka us samay jo sashakt madhyam dikha de chintu rashtragan sabha mein rashtragan gaaya ya behtar kadam par aadharit banaye rakhen agrawal ki yah kitna uchit tha aur unki tha toh mere hisab se hundred percent you dhanyavad

देखिए बेंगलुरु में प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए डीसीपी ने राष्ट्रगान गाया और यह पूछा गय

Romanized Version
Likes  135  Dislikes    views  2704
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

7:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए बेंगलुरु के डीसीपी साहब ने राष्ट्रगान गाया अच्छी बात है अगर राष्ट्रगान गाने से प्रदर्शनकारी प्रदर्शन बंद कर देते हैं तो बहुत अच्छी बात है लेकिन सभी जगहों पर प्रदर्शनकारी तोड़फोड़ कर रहे हैं बसों में आग लगा रहे हैं और भी बहुत ज्यादा देश का नुकसान कर रहे हैं प्रदर्शनकारी ऐसे वैसे प्रदर्शनकारी नहीं है इनके ऊपर जब तक पुलिस का लाठीचार्ज नहीं होगा तब तक यह मानेंगे नहीं कहां गया है ना तो लात के देवता होते हैं वह बात से नहीं मानते तो यह लाख के देवता है इनके ऊपर प्रशासन को लाठीचार्ज करना होगा अगर लाठीचार्ज करने से भी यह नहीं मानते हैं तो इनके ऊपर गोली चलाना होगा गोली तो छोड़िए इनके ऊपर बम फेंकना होगा बहुत दुख होता है जामा मस्जिद पर खड़ा होकर प्रदर्शन अरे मैं बोलना चाहता हूं सबसे कि नागरिकता संशोधन कानून के माध्यम से किसी भी भारतीय नागरिक के नागरिकता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा चाहे वह किसी भी धर्म का हो बांग्लादेश पाकिस्तान और अफगानिस्तान में जो हिंदू पारसी बौद्ध सिख ईसाई लोगों को धर्म के आधार पर प्रताड़ना मिली है वह हमारे देश में आकर रह सकते हैं उनको नागरिकता भारत सरकार देगी यह बहुत ही अच्छा कदम है भारत सरकार का जाएंगे क्या मुस्लिम कंट्री तो बहुत है पूरे वर्ल्ड में लेकिन हिंदू कंट्री क्या है पूरे वर्ल्ड में नहीं है ना तो उन्हें कौन देगा देगा हमारा हिंदुस्तान ही देगा और देना भी चाहिए भारतीय मुसलमान दंगा फसाद कर रहे हैं भारतीय मुसलमान के वोट बैंक की राजनीति कांग्रेस पार्टी ने पहले भी किया और आज भी कांग्रेस पार्टी कर रही है कांग्रेस पार्टी ने आपको क्या दिया गरीबी दिया शिक्षा दिया बेरोजगारी दिया आपके समुदाय में सबसे अशिक्षित लोग हैं और सबसे ज्यादा गरीब लोग भी हैं और आप लोग दंगा फसाद कर रहे हो आप लोगों के प्रति पूरी दुनिया के लोगों का विचार खराब है क्योंकि आप लोगों ने गलत काम किया है आतंकवाद को बढ़ावा दिया है तो लोग आप से नफरत करते हैं क्यों नहीं नफरत करें छोटी सी बात है जिस बात को आप समझ नहीं रहे हो दंगा फसाद कर रहे हो बसों में आग लगा रहे हो ऑटो में बैठे सवारी को परेशान कर रहे हो अपनी छवि को सुधारना होगा मुसलमान समुदाय के लोगों को क्योंकि आपकी छवि पहले ही खराब है पूरी दुनिया में और आप अपनी छवि को सुधार सकते हो डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम साहब को आप अपना आदर्श बनाइए आप आदर्श बाबर को मत बनाइए बाबर के विचारों पर चलोगे तो आपको ना तो कोई रूम देगा रहने के लिए ना तो आपकी दुकान से कोई सामान खरीदे गाना आपको कोई जमीन खरीद बेटे का आप की स्थिति बहुत खराब हो जाएगी आतंकवादी बनोगे अच्छे-अच्छे फैमिली के लोग की आतंकवादी बनेंगे और आतंकवादी बनोगे तो जानते ही हो मारे जाओगे खुश कर प्रशासन मारेगी आपको तो अपनी छवि को सुधारने की कोशिश करिए डॉ एपीजे अब्दुल कलाम साहब को फॉलो करिए वीर अब्दुल हमीद को फॉलो करिए और भी जो देश में जिन्होंने मुसलमान भाई थे जिन्होंने नायक की भूमिका निभाई है उनको फॉलो करिए उनके आदर्शों पर चलने की कोशिश करिए आप कहां है जितना इस देश में हिंदुओं का अधिकार है उतना इस देश पर मुस्लिम सिख ईसाई का भी अधिकार है जो इस देश के नागरिक हैं प्रधानमंत्री मोदी जी के माध्यम से किसी को भी कोई प्रताड़ित नहीं कर सकता है यह 132 करोड़ देशवासियों की सरकार है आपके ऊपर घर आ जाएगी किसी मुस्लिम भाई के ऊपर तो हिंदू भाई खड़ा होगा आपकी रक्षा करेगा तो गलतफहमी में मत पढ़िए और अच्छे से प्रदर्शन करिए अगर आपका कोई कंफ्यूजन है तो आप सबसे पहले नागरिकता संशोधन बिल के बारे में कानून के बारे में पढ़िए इसका एनआरसी से कोई लेना-देना नहीं है एनआरसी सिर्फ असम में लागू हुआ है इन 8 सीटों पर भी विचार-विमर्श होगा तो कहने का मतलब है सभी भारत वासियों से मेरा निवेदन है आप भ्रमित मत होइए कांग्रेस पार्टी आपको भ्रमित कर की कोशिश कर रही है सपा बसपा कांग्रेस पार्टी यह लोग आपको आपसे दंगे करवा रहे हैं जब प्रशासन आपको पकड़ लेगी तो फिर आपके सुला लोगे जेल में आप जाओगे श्रीमती सोनिया गांधी नहीं जाएंगे राहुल गांधी जी नहीं जाएंगे अखिलेश यादव नहीं जाएंगे तेजस्वी यादव नहीं जाएंगे पुलिस की लाठी पड़ेगी तो आपके ऊपर पड़ेगी बच के रहिए सोच समझ कर रहिए इससे कोई दिक्कत नहीं होगी आप जितना सहयोग करोगे भारत सरकार का भारत सरकार भी आप आपकी देखरेख करेगी भारत सरकार आपको जो आपके आपके लायक जो फैसिलिटी है वह फैसिलिटी भी देगी और भारत सरकार ऐसी सरकार है मोदी जी की जिसके माध्यम से बहुत ही जागरूकता हमारे देश में आया है और हमारा देश तरक्की कर रहा है धर्म के आधार पर हम लोगों को बांटना नहीं है हम लोगों को सभी धर्मों का आदर कर अगर मुसलमान नमाज पढ़ता है तो उसे उसकी रक्षा करना हमारा कर्तव्य है हम हिंदू भाइयों का अगर हिंदू भाई अपना पूजा करता है तो मुसलमान भाई का भी कर्तव्य दायित्व है कि हिंदू भाई के पूजा पाठ में वह डिस्टर्ब एस न करें सिख भाई अपना पूजा पाठ कर रहा है अपने तरीके से तो उसने डिस्टरबेंस कोई न करें ऐसा होना चाहिए हिंदू मुस्लिम सिख इसाई एक भाईचारा का संबंध सिर्फ हिंदुस्तान में देखने को मिलता है हमें गर्व होना चाहिए कि हम हिंदुस्तान में रहते हैं 132 करोड़ जनसंख्या आ जाएं कि जहां पर दो 4 किलोमीटर के अंतराल से भाषाएं बदलती हैं हम लोगों को अखंड भारत के सपने को पूरा करना है माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में अखंड भारत का सपना पूरा हो रहा है जो श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी ने देखा था सरदार वल्लभ भाई पटेल जी ने देखा था महात्मा गांधी ने देखा था हम लोगों को मिल जुल कर रहना होगा किसी भी प्रदर्शन को करने से पहले सोचिए समझिए उसके बारे में अच्छे से जानने की कोशिश करिए जो लोग उसके बारे में अच्छे से नहीं जानते हैं उनको अच्छे से बताने की कोशिश करिए सभी लोग जब समझेंगे सभी लोग अपना महत्वपूर्ण योगदान देंगे तभी हमारे देश की कौन निकल सी अच्छी होगी भारत विकसित देश बनेगा अगर आप तोड़फोड़ करोगे आग लगाओगे नुकसान होगा तो क्या इकोनॉमिकल स्थिति अच्छी होगी इकोनॉमिकल स्थिति और खराब होगी हम लोगों को अपने देश की कौन हो निकाल स्थिति जीडीपी को बढ़ाना है - नहीं है तो आइए हम सभी हिंदू मुस्लिम सिख इसाई मिलकर भारत सरकार का समर्थन करें प्रधानमंत्री मोदी जी का समर्थन करें मोदी जी जो भी करेंगे देश हित के लिए करेंगे हम लोगों को यह सोच कर रखना है धन्यवाद

pradarshankariyo ko rokne ke liye bengaluru ke DCP saheb ne rashtragan gaaya achi baat hai agar rashtragan gaane se pradarshankari pradarshan band kar dete hai toh bahut achi baat hai lekin sabhi jagaho par pradarshankari thorphor kar rahe hai bason mein aag laga rahe hai aur bhi bahut zyada desh ka nuksan kar rahe hai pradarshankari aise waise pradarshankari nahi hai inke upar jab tak police ka lathicharj nahi hoga tab tak yah manenge nahi kahaan gaya hai na toh laat ke devta hote hai vaah baat se nahi maante toh yah lakh ke devta hai inke upar prashasan ko lathicharj karna hoga agar lathicharj karne se bhi yah nahi maante hai toh inke upar goli chalana hoga goli toh chodiye inke upar bomb phenkana hoga bahut dukh hota hai jama masjid par khada hokar pradarshan are main bolna chahta hoon sabse ki nagarikta sanshodhan kanoon ke madhyam se kisi bhi bharatiya nagarik ke nagarikta par koi prabhav nahi padega chahen vaah kisi bhi dharm ka ho bangladesh pakistan aur afghanistan mein jo hindu parasi Baudh sikh isai logo ko dharm ke aadhaar par prataadana mili hai vaah hamare desh mein aakar reh sakte hai unko nagarikta bharat sarkar degi yah bahut hi accha kadam hai bharat sarkar ka jaenge kya muslim country toh bahut hai poore world mein lekin hindu country kya hai poore world mein nahi hai na toh unhe kaun dega dega hamara Hindustan hi dega aur dena bhi chahiye bharatiya muslim danga fasad kar rahe hai bharatiya muslim ke vote bank ki raajneeti congress party ne pehle bhi kiya aur aaj bhi congress party kar rahi hai congress party ne aapko kya diya garibi diya shiksha diya berojgari diya aapke samuday mein sabse ashikshit log hai aur sabse zyada garib log bhi hai aur aap log danga fasad kar rahe ho aap logo ke prati puri duniya ke logo ka vichar kharab hai kyonki aap logo ne galat kaam kiya hai aatankwad ko badhawa diya hai toh log aap se nafrat karte hai kyon nahi nafrat kare choti si baat hai jis baat ko aap samajh nahi rahe ho danga fasad kar rahe ho bason mein aag laga rahe ho auto mein baithe sawari ko pareshan kar rahe ho apni chhavi ko sudharna hoga muslim samuday ke logo ko kyonki aapki chhavi pehle hi kharab hai puri duniya mein aur aap apni chhavi ko sudhaar sakte ho doctor apj abdul kalam saheb ko aap apna adarsh banaiye aap adarsh babar ko mat banaiye babar ke vicharon par chaloge toh aapko na toh koi room dega rehne ke liye na toh aapki dukaan se koi saamaan kharide gaana aapko koi jameen kharid bete ka aap ki sthiti bahut kharab ho jayegi aatankwadi banogey acche acche family ke log ki aatankwadi banenge aur aatankwadi banogey toh jante hi ho maare jaoge khush kar prashasan maregi aapko toh apni chhavi ko sudhaarne ki koshish kariye Dr. apj abdul kalam saheb ko follow kariye veer abdul hameed ko follow kariye aur bhi jo desh mein jinhone muslim bhai the jinhone nayak ki bhumika nibhaai hai unko follow kariye unke aadarshon par chalne ki koshish kariye aap kahaan hai jitna is desh mein hinduon ka adhikaar hai utana is desh par muslim sikh isai ka bhi adhikaar hai jo is desh ke nagarik hai pradhanmantri modi ji ke madhyam se kisi ko bhi koi pratarit nahi kar sakta hai yah 132 crore deshvasiyon ki sarkar hai aapke upar ghar aa jayegi kisi muslim bhai ke upar toh hindu bhai khada hoga aapki raksha karega toh galatfahamee mein mat padhiye aur acche se pradarshan kariye agar aapka koi confusion hai toh aap sabse pehle nagarikta sanshodhan bill ke bare mein kanoon ke bare mein padhiye iska NRC se koi lena dena nahi hai NRC sirf assam mein laagu hua hai in 8 seaton par bhi vichar vimarsh hoga toh kehne ka matlab hai sabhi bharat vasiyo se mera nivedan hai aap bharmit mat hoiye congress party aapko bharmit kar ki koshish kar rahi hai sapa BSP congress party yah log aapko aapse dange karva rahe hai jab prashasan aapko pakad legi toh phir aapke sula loge jail mein aap jaoge shrimati sonia gandhi nahi jaenge rahul gandhi ji nahi jaenge akhilesh yadav nahi jaenge tejaswi yadav nahi jaenge police ki lathi padegi toh aapke upar padegi bach ke rahiye soch samajh kar rahiye isse koi dikkat nahi hogi aap jitna sahyog karoge bharat sarkar ka bharat sarkar bhi aap aapki dekhrekh karegi bharat sarkar aapko jo aapke aapke layak jo facility hai vaah facility bhi degi aur bharat sarkar aisi sarkar hai modi ji ki jiske madhyam se bahut hi jagrukta hamare desh mein aaya hai aur hamara desh tarakki kar raha hai dharm ke aadhaar par hum logo ko bantana nahi hai hum logo ko sabhi dharmon ka aadar kar agar muslim namaz padhata hai toh use uski raksha karna hamara kartavya hai hum hindu bhaiyo ka agar hindu bhai apna puja karta hai toh muslim bhai ka bhi kartavya dayitva hai ki hindu bhai ke puja path mein vaah disturb s na kare sikh bhai apna puja path kar raha hai apne tarike se toh usne distarabens koi na kare aisa hona chahiye hindu muslim sikh isai ek bhaichara ka sambandh sirf Hindustan mein dekhne ko milta hai hamein garv hona chahiye ki hum Hindustan mein rehte hai 132 crore jansankhya aa jaye ki jaha par do 4 kilometre ke antaral se bhashayen badalti hai hum logo ko akhand bharat ke sapne ko pura karna hai mananiya shri narendra modi ji ke netritva mein akhand bharat ka sapna pura ho raha hai jo shyaama prasad mukherjee ji ne dekha tha sardar vallabh bhai patel ji ne dekha tha mahatma gandhi ne dekha tha hum logo ko mil jul kar rehna hoga kisi bhi pradarshan ko karne se pehle sochiye samjhiye uske bare mein acche se jaanne ki koshish kariye jo log uske bare mein acche se nahi jante hai unko acche se batane ki koshish kariye sabhi log jab samjhenge sabhi log apna mahatvapurna yogdan denge tabhi hamare desh ki kaun nikal si achi hogi bharat viksit desh banega agar aap thorphor karoge aag lagaoge nuksan hoga toh kya economical sthiti achi hogi economical sthiti aur kharab hogi hum logo ko apne desh ki kaun ho nikaal sthiti gdp ko badhana hai nahi hai toh aaiye hum sabhi hindu muslim sikh isai milkar bharat sarkar ka samarthan kare pradhanmantri modi ji ka samarthan kare modi ji jo bhi karenge desh hit ke liye karenge hum logo ko yah soch kar rakhna hai dhanyavad

प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए बेंगलुरु के डीसीपी साहब ने राष्ट्रगान गाया अच्छी बात है अग

Romanized Version
Likes  242  Dislikes    views  4840
WhatsApp_icon
user
1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पीके बिल्कुल बहुत ही सही काम किया मेरे नजर में डिसीवर्स आपने बहुत ही अच्छा काम किया राष्ट्रगान एक शांति का प्रतीक है हमारे यहां और हम सभी लोग जानते हैं कि राष्ट्रगान का क्या महत्व है हिंदुस्तान में हर एक हिंदुस्तानी के लिए तो जो गाया है वह जो भी चीजें धार्मिक या जो भी चीजें बनाई गई है कहीं ना कहीं आप कुछ न कुछ और किसी न किसी चीज से में जोड़ी गई है अब जैसे की धारा राष्ट्रगान है इसे जोड़ने से हमारे दिमाग क्योंकि शांत होता है राष्ट्रगान को अगर हम ध्यान से सुने हैं तो हमारा दिमाग बिल्कुल शांत हो जाता है और हम बिल्कुल अगर किसी क्रोध में है तो बिल्कुल हम उस बात को भूल जाते हैं छोटी सी मिसाल हमारे स्कूल में लगभग राष्ट्रगान होता है क्या आप जानते हैं क्यों होता नहीं जानते मेरे हिसाब से बिल्कुल नहीं जानते बने प्रश्न नहीं जाते आप राष्ट्रगान इसलिए होता है कि अगर घर से हम कोई चीज सोच कर निकले हैं कि घर में माता दिखाइए करना है वह करना है काम करना है सिलेंडर बनाने सब्जी लानी तुझे घर में स्कूल में प्रार्थना होती है तो जब राष्ट्रगान होता है तो राष्ट्रगान जब होता है तो हमारे दिमाग में एक चीज आ जाती है कि हम यहां पर आए किसलिए हम वह सारे काम खूब भूल जाते हैं और फिर हम वह काम करने लगते हैं जो उस समय जो चीज बताई जाती है और फिर जब जैसे ही वह काम पूरा होता है तुम ही बाद में भले ही वो हमको याद आ जाए लेकिन कुछ समय आप भूल जाते अगर आप स्टूडेंट हैं तो आप इस बात का अनुभव बहुत ही अच्छे से कर सकते हैं और नहीं है तो हम भी तो साला कभी नहीं कभी स्टूडेंट रहे होंगे तो आप इस बात को सोच सकते हैं

pk bilkul bahut hi sahi kaam kiya mere nazar mein disivars aapne bahut hi accha kaam kiya rashtragan ek shanti ka prateek hai hamare yahan aur hum sabhi log jante hain ki rashtragan ka kya mahatva hai Hindustan mein har ek hindustani ke liye toh jo gaaya hai vaah jo bhi cheezen dharmik ya jo bhi cheezen banai gayi hai kahin na kahin aap kuch na kuch aur kisi na kisi cheez se mein jodi gayi hai ab jaise ki dhara rashtragan hai ise jodne se hamare dimag kyonki shaant hota hai rashtragan ko agar hum dhyan se sune hain toh hamara dimag bilkul shaant ho jata hai aur hum bilkul agar kisi krodh mein hai toh bilkul hum us baat ko bhool jaate hain choti si misal hamare school mein lagbhag rashtragan hota hai kya aap jante hain kyon hota nahi jante mere hisab se bilkul nahi jante bane prashna nahi jaate aap rashtragan isliye hota hai ki agar ghar se hum koi cheez soch kar nikle hain ki ghar mein mata dikhaaiye karna hai vaah karna hai kaam karna hai cylinder banane sabzi lani tujhe ghar mein school mein prarthna hoti hai toh jab rashtragan hota hai toh rashtragan jab hota hai toh hamare dimag mein ek cheez aa jaati hai ki hum yahan par aaye kisliye hum vaah saare kaam khoob bhool jaate hain aur phir hum vaah kaam karne lagte hain jo us samay jo cheez batai jaati hai aur phir jab jaise hi vaah kaam pura hota hai tum hi baad mein bhale hi vo hamko yaad aa jaaye lekin kuch samay aap bhool jaate agar aap student hain toh aap is baat ka anubhav bahut hi acche se kar sakte hain aur nahi hai toh hum bhi toh sala kabhi nahi kabhi student rahe honge toh aap is baat ko soch sakte hain

पीके बिल्कुल बहुत ही सही काम किया मेरे नजर में डिसीवर्स आपने बहुत ही अच्छा काम किया राष्ट्

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  459
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शांति बनाए रखने के लिए यह कोई जरूरी नहीं है कि हर जगह राष्ट्रगान आएगा या जाएगा वह तो वहां का माहौल के ऊपर डिपेंड करता है कि है जहां पर प्रदर्शनकारी हो या काफी लोग इकट्ठा होकर अब तक सरकार के खिलाफ सिया मतलब जो चल रहा है करो ना उसके खिलाफ इकट्ठा हो जाते हैं तो वहां का मानसिकता बताता है क्योंकि इस मानसिकता से वह आदमी अभी गुजर रहा है उसके आधार पर ही करवाई किया जाता है कि कोई जरूरी नहीं है कि हर जगह राष्ट्रगान या कुछ भी कहा करो शांति किया जाए वह तो वहां का डीसीपी ने उनको लगा कि यहां पड़े इस टाइप का करवाई करने से यह शांति बनाई जा सकती है तो उन्होंने यह गाना गाया और राष्ट्रीय राष्ट्रीय गीत थोड़ी अच्छी बातें और माहौल को पर डिपेंड करता है धन्यवाद

shanti banaye rakhne ke liye yah koi zaroori nahi hai ki har jagah rashtragan aayega ya jaega vaah toh wahan ka maahaul ke upar depend karta hai ki hai jaha par pradarshankari ho ya kaafi log ikattha hokar ab tak sarkar ke khilaf sia matlab jo chal raha hai karo na uske khilaf ikattha ho jaate hain toh wahan ka mansikta batata hai kyonki is mansikta se vaah aadmi abhi gujar raha hai uske aadhar par hi karwai kiya jata hai ki koi zaroori nahi hai ki har jagah rashtragan ya kuch bhi kaha karo shanti kiya jaaye vaah toh wahan ka DCP ne unko laga ki yahan pade is type ka karwai karne se yah shanti banai ja sakti hai toh unhone yah gaana gaaya aur rashtriya rashtriya geet thodi achi batein aur maahaul ko par depend karta hai dhanyavad

शांति बनाए रखने के लिए यह कोई जरूरी नहीं है कि हर जगह राष्ट्रगान आएगा या जाएगा वह तो वहां

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!