पानी को उबालकर क्यों पीना चाहिए?...


user

Dr. Shakeel Akhtar

Homeopathy Doctor

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दूषित पानी को उबालकर पीने से जोश में बैक्टीरिया और वायरस से वह खत्म हो जाते हैं और भी कोई किसी तरह की उसमें खराबी है पानी में तो वह सब खत्म हो जाती है तो उबालकर पानी पीना बहुत फायदेमंद है वह इस तरह से डिस्टिल्ड वाटर हो जाता है क्यों रिफाई हो जाता है व्हाट्सएप तो उबालकर पानी पीना बहुत फायदेमंद है थैंक यू

dushit paani ko ubalkar peene se josh me bacteria aur virus se vaah khatam ho jaate hain aur bhi koi kisi tarah ki usme kharabi hai paani me toh vaah sab khatam ho jaati hai toh ubalkar paani peena bahut faydemand hai vaah is tarah se distilled water ho jata hai kyon rifai ho jata hai whatsapp toh ubalkar paani peena bahut faydemand hai thank you

दूषित पानी को उबालकर पीने से जोश में बैक्टीरिया और वायरस से वह खत्म हो जाते हैं और भी कोई

Romanized Version
Likes  254  Dislikes    views  1851
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम जी की आपका पानी को उबालकर कैल्शियम इतने ज्यादा होता है तो गर्म करने से आप देख मेरे सफेद सफेद पानी जमा हो जाता है उसे छानकर पिएंगे थोड़ा हल्का पानी हो जाता है जो हमारे शरीर के लाभ है क्या भारी पानी उसे पानी बचाने में दिक्कत हो जाती तो जाता है और जो हम 3 ईयर में हमें कोई परेशानी नहीं होती और पानी जो स्पष्ट हो जाता है कि कोई भी गंदा पानी कर लेते हैं और स्वच्छ व साफ हो जाता है और आप क्या पानी रहता है पानी इतना बढ़िया पानी हो जाता है क्या जो एक बोतल वाला पानी

ram ji ki aapka paani ko ubalkar calcium itne zyada hota hai toh garam karne se aap dekh mere safed safed paani jama ho jata hai use chanakar piyenge thoda halka paani ho jata hai jo hamare sharir ke labh hai kya bhari paani use paani bachane me dikkat ho jaati toh jata hai aur jo hum 3 year me hamein koi pareshani nahi hoti aur paani jo spasht ho jata hai ki koi bhi ganda paani kar lete hain aur swachh va saaf ho jata hai aur aap kya paani rehta hai paani itna badhiya paani ho jata hai kya jo ek bottle vala paani

राम जी की आपका पानी को उबालकर कैल्शियम इतने ज्यादा होता है तो गर्म करने से आप देख मेरे सफे

Romanized Version
Likes  426  Dislikes    views  4932
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पानी को उबालकर पीना पानी को उबालने से उसके अंदर रहे जो व्यक्ति किया है वह मर जाते हैं और पानी उबालकर छानकर पीने से हमें शुद्ध पानी मिलता है बच्चा रुक रुक के जीवन में मरने की वजह से हम पानी प्रतिज्ञा मुक्त कर सकते हैं अगर हम पानी को उबालकर और के बाद में छान कर ठंडा कर सकती हैं तो हमें कोई भी समस्या अजीत डाइजेस्टिव या किसी तरह की नहीं आएगी इसलिए पानी को उबालकर पीना चाहिए धन्यवाद

paani ko ubalkar peena paani ko ubaalane se uske andar rahe jo vyakti kiya hai vaah mar jaate hain aur paani ubalkar chanakar peene se hamein shudh paani milta hai baccha ruk ruk ke jeevan mein marne ki wajah se hum paani pratigya mukt kar sakte hain agar hum paani ko ubalkar aur ke baad mein chhan kar thanda kar sakti hain toh hamein koi bhi samasya ajit digestive ya kisi tarah ki nahi aayegi isliye paani ko ubalkar peena chahiye dhanyavad

पानी को उबालकर पीना पानी को उबालने से उसके अंदर रहे जो व्यक्ति किया है वह मर जाते हैं और प

Romanized Version
Likes  63  Dislikes    views  1268
WhatsApp_icon
user

Dharminder Kumar

Yoga Trainer

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है कि पानी को उबालकर क्यों पीना चाहिए पानी को उबालने से पानी में जो भी कीट होते हैं वह किटालू होते हैं वह पानी को उबालने से खत्म हो जाते हैं उससे मारे पेट में कोई बीमारी नहीं होती अगर हम बिना वाले पानी पीते हैं तो हमें डायरिया हो जाता है लूज मोशन लग जाते हैं सेहत खराब हो जाती है इसलिए पानी को उबालकर पीना चाहिए उबला हुआ पानी 100 डिग्री सेंटीग्रेड पर बोलने से पानी में कीटाणु खत्म हो जाते हैं पानी शुद्ध हो जाता है इसलिए बोलते हैं कि पानी को उबाल कर दिए यही कारण है धन्यवाद

aapne poocha hai ki paani ko ubalkar kyon peena chahiye paani ko ubaalane se paani mein jo bhi kit hote hain vaah kitalu hote hain vaah paani ko ubaalane se khatam ho jaate hain usse maare pet mein koi bimari nahi hoti agar hum bina waale paani peete hain toh hamein diarrehoea ho jata hai loose motion lag jaate hain sehat kharab ho jaati hai isliye paani ko ubalkar peena chahiye ubalaa hua paani 100 degree centigrade par bolne se paani mein kitanu khatam ho jaate hain paani shudh ho jata hai isliye bolte hain ki paani ko ubaal kar diye yahi karan hai dhanyavad

आपने पूछा है कि पानी को उबालकर क्यों पीना चाहिए पानी को उबालने से पानी में जो भी कीट होते

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  483
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

2:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नेपा क्वेश्चन है पानी को उबालकर कम पीना चाहिए कि शरीर में कोई भी बीमारी मैक्सिमम बीमारी पानी के वजह से यहां तक कि और बीमारियों के बारे में तो मैं कम ही कहूंगा लेकिन पेट की बीमारी पानी के वजह से ही होती है या तो पानी आप तो अच्छी क्वालिटी का यूज नहीं करते हैं या पानी अब गंदा पीते हैं कोई और दुनिया की आंखों से जो दिख रहा है गंदा तो गंदा है यानी बैक्टीरियल इफेक्ट पानी बाहर ही नहीं पीना चाहिए भारी और हल्का में आपको अर्थ समझना पड़ेगा पानी अग्रवाल देते हैं आप तो पानी हल्का हो जाता है पानी ऐसे आप पी रहे हैं तो पानी बाहर ही होता है तो पानी बाहरी जो आप पीते हैं तो शरीर के लिए हानिकारक होता है और दूसरी बात के पानी कोई भी पानी हो मैं नॉर्मल वाटर को ही बात कर रहा हूं या ना करो और यह बिसलरी की बात कह रहा हूं और चाहे कोई भी पानी फिल्टर पानी के बारे में बात नहीं करें हम जो कल से आना उसे आप चला कर पीते हैं तो उस पानी में बैक्टीरियल इफेक्ट होता सा बैक्टीरिया होते हैं जो कि आप दिखते नहीं हैं और वही उबाल देने सोमवार जाते हैं और पानी का जो कचरा होता है और नीचे बैठ जाता है देखे होंगे उजला विजा टाइप का मटमैला टाइप के कुछ पदार्थ नीचे बैठ जाता है यह पानी आंसू बहते हैं और ऐसे sp12 सारा हो शरीर के अंदर जाएगा धीरे-धीरे वह शरीर के सारे नरम को जाम कर देगा और भाई है और पानी अग्रवाल का पिता है तो पानी हल्का हो जाता है व्यक्ति मर जाता है उसका योग कचरा है बिल्कुल रतन के अंदर बैठ जाता है इन्हीं सब कारणों का दूसरा भाग पानी उबाला हुआ पानी शरीर के लिए अमृत के समान माना गया है वह काफी फायदेमंद होता है पेट भी साफ होता है और शरीर के लिए और पेट के लिए भी काफी अच्छा होता है धन्यवाद

nepa question hai paani ko ubalkar kam peena chahiye ki sharir mein koi bhi bimari maximum bimari paani ke wajah se yahan tak ki aur bimariyon ke bare mein toh main kam hi kahunga lekin pet ki bimari paani ke wajah se hi hoti hai ya toh paani aap toh achi quality ka use nahi karte hain ya paani ab ganda peete hain koi aur duniya ki aankho se jo dikh raha hai ganda toh ganda hai yani baiktiriyal effect paani bahar hi nahi peena chahiye bhari aur halka mein aapko arth samajhna padega paani agrawal dete hain aap toh paani halka ho jata hai paani aise aap p rahe hain toh paani bahar hi hota hai toh paani bahri jo aap peete hain toh sharir ke liye haanikarak hota hai aur dusri baat ke paani koi bhi paani ho main normal water ko hi baat kar raha hoon ya na karo aur yah bisalari ki baat keh raha hoon aur chahen koi bhi paani filter paani ke bare mein baat nahi kare hum jo kal se aana use aap chala kar peete hain toh us paani mein baiktiriyal effect hota sa bacteria hote hain jo ki aap dikhte nahi hain aur wahi ubaal dene somwar jaate hain aur paani ka jo kachra hota hai aur niche baith jata hai dekhe honge ujalaa vija type ka matmaila type ke kuch padarth niche baith jata hai yah paani aasu bahte hain aur aise sp12 saara ho sharir ke andar jaega dhire dhire vaah sharir ke saare naram ko jam kar dega aur bhai hai aur paani agrawal ka pita hai toh paani halka ho jata hai vyakti mar jata hai uska yog kachra hai bilkul ratan ke andar baith jata hai inhin sab karanon ka doosra bhag paani ubala hua paani sharir ke liye amrit ke saman mana gaya hai vaah kaafi faydemand hota hai pet bhi saaf hota hai aur sharir ke liye aur pet ke liye bhi kaafi accha hota hai dhanyavad

नेपा क्वेश्चन है पानी को उबालकर कम पीना चाहिए कि शरीर में कोई भी बीमारी मैक्सिमम बीमारी पा

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  1266
WhatsApp_icon
user
0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने क्वेश्चन किया पानी को उबालकर क्यों पीना चाहिए तो तुरंत जब हम पानी को उबालकर पीते हैं तो तुरंत पानी में जो कीटाणु विषाणु होते हैं उबालने के बाद वह खत्म हो जाते हैं और उबला हुआ पानी स्वास्थ्य के लिए या बीमारी में सहयोगी होता है या फिर फायदेमंद होता है इसलिए ज्यादातर लोग सर्दियों में पानी को उबालकर ही पीते हैं

aapne question kiya paani ko ubalkar kyon peena chahiye toh turant jab hum paani ko ubalkar peete hai toh turant paani mein jo kitanu vishnu hote hai ubaalane ke baad vaah khatam ho jaate hai aur ubalaa hua paani swasthya ke liye ya bimari mein sahyogi hota hai ya phir faydemand hota hai isliye jyadatar log sardiyo mein paani ko ubalkar hi peete hain

आपने क्वेश्चन किया पानी को उबालकर क्यों पीना चाहिए तो तुरंत जब हम पानी को उबालकर पीते हैं

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  685
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
ham pani ubal kar peete hain ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!