विवाह क्यों होता है?...


user

Kiran

career Counselling ,Meditation Expert

2:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विवाह क्यों होता है इसलिए होता है ताकि दो परिवार दो शब्द बताएं दूसरे से मिले दो लोग मिलकर एक जिओ का निर्माण का रहस्य का निर्माण करें एक पीढ़ी का जन्म होता है एक नई पीढ़ी जन्म देती है नए विचार जन्म लेते हैं नई सब कुछ नया होता है नया फैमिली नया घर नेहा सब कुछ अब दिखेगा कुछ टाइम तक बड़े बुजुर्ग आपके साथ रहते हैं 700 सूर्य उसके बाद धीरे-धीरे धीरे-धीरे जाती आपके बच्चे होंगे फिर उनकी पढ़ाई-लिखाई वह बड़े होंगे उनकी शादी होगी उनके बच्चे होंगे एक नई पीढ़ी एक नया सब कुछ नया जन्म कुछ-कुछ होता है एक नई सभ्यता को एक नई समाज को एक नई सी को एक अपनी फीलिंग को जो हम लोग बोलते हैं कि आज हम लव तुझे लव फोटो लव को एक पति पति मजाक आप जैसे अभी आपने सुना होगा कि लिविंग रिलेशनशिप तो लिविंग रिलेशनशिप शादी नहीं होती लेकिन विवाह में आपको एक लाइसेंस मिल जाता है कि आप अपनी पत्नी के साथ घूम रहे हैं जैसे आप अभी अब किसी लड़के के साथ जा रहे हैं किसी लड़की के साथ साथ हैं किसी के पिता चाहते हैं तो लोग गलत समझते लेकिन एक पति पत्नी जो होते हैं उनको एक तरह का लाइसेंस मिल जाता है कि उनको प्यार कर रहे हैं उनको जो भी चाहते हैं वह पिक्चर आ जाए वह खाना बना एक साथ एक घर में रहने का परीक्षण यह भी चीज होती है तू इसलिए विवाह होना भी सिर्फ है क्योंकि देखिए अगर आप सोचिए कि मान लीजिए एक लड़का लड़की की शादी नहीं हुई है अभी शादी नहीं हुई है वह दोनों साथ में रहते हैं और अगर उनको बाई चांस उनको बच्चा हो जाता है और लड़का उसके बाद वह बोलता है कि मैं उसका एक्सेप्ट नहीं करूंगा मैं उसको नाम नहीं दूंगा अपना तो सोचिए वह तो ना सो गया ना लेकिन वही आप शादी हो कर के विवाह करते हैं अभी वहां के बाद आप एक बच्चा पैदा करते हैं उसको आप नाम देते हैं वह आप मां बनती है वह पिता बनता है एक बच्चे को परिवहन मिलता है आपके परिवार बनता है इससे शादी जरूरी विभाग जरूरी है वहां आपको एक लाइसेंस मिल जाता है कि आप पूजा पाठ में धर्म आप ऐसे किसी भी लड़के यह किसी भी लड़की को कहीं भी मंदिर में पूजा में नहीं बैठा सकते लेकिन आप जब पति पत्नी बन जाते हैं तो आप सब समाज के सामने परिवार के सामने सबके सामने इज्जत से सर उठा कर बैठ सकते हैं उठ सकते जा सकते हैं आपका जो बच्चा जो आपका प्यार है वह भी जो आपका प्यार की निशानी आपका बच्चा है वह भी समाज में सिर उठाकर जी सकता है इसलिए विवाह

vivah kyon hota hai isliye hota hai taki do parivar do shabd bataye dusre se mile do log milkar ek jio ka nirmaan ka rahasya ka nirmaan kare ek peedhi ka janam hota hai ek nayi peedhi janam deti hai naye vichar janam lete hain nayi sab kuch naya hota hai naya family naya ghar neha sab kuch ab dikhega kuch time tak bade bujurg aapke saath rehte hain 700 surya uske baad dhire dhire dhire dhire jaati aapke bacche honge phir unki padhai likhai vaah bade honge unki shaadi hogi unke bacche honge ek nayi peedhi ek naya sab kuch naya janam kuch kuch hota hai ek nayi sabhyata ko ek nayi samaj ko ek nayi si ko ek apni feeling ko jo hum log bolte hain ki aaj hum love tujhe love photo love ko ek pati pati mazak aap jaise abhi aapne suna hoga ki living Relationship toh living Relationship shaadi nahi hoti lekin vivah me aapko ek license mil jata hai ki aap apni patni ke saath ghum rahe hain jaise aap abhi ab kisi ladke ke saath ja rahe hain kisi ladki ke saath saath hain kisi ke pita chahte hain toh log galat samajhte lekin ek pati patni jo hote hain unko ek tarah ka license mil jata hai ki unko pyar kar rahe hain unko jo bhi chahte hain vaah picture aa jaaye vaah khana bana ek saath ek ghar me rehne ka parikshan yah bhi cheez hoti hai tu isliye vivah hona bhi sirf hai kyonki dekhiye agar aap sochiye ki maan lijiye ek ladka ladki ki shaadi nahi hui hai abhi shaadi nahi hui hai vaah dono saath me rehte hain aur agar unko bai chance unko baccha ho jata hai aur ladka uske baad vaah bolta hai ki main uska except nahi karunga main usko naam nahi dunga apna toh sochiye vaah toh na so gaya na lekin wahi aap shaadi ho kar ke vivah karte hain abhi wahan ke baad aap ek baccha paida karte hain usko aap naam dete hain vaah aap maa banti hai vaah pita banta hai ek bacche ko parivahan milta hai aapke parivar banta hai isse shaadi zaroori vibhag zaroori hai wahan aapko ek license mil jata hai ki aap puja path me dharm aap aise kisi bhi ladke yah kisi bhi ladki ko kahin bhi mandir me puja me nahi baitha sakte lekin aap jab pati patni ban jaate hain toh aap sab samaj ke saamne parivar ke saamne sabke saamne izzat se sir utha kar baith sakte hain uth sakte ja sakte hain aapka jo baccha jo aapka pyar hai vaah bhi jo aapka pyar ki nishani aapka baccha hai vaah bhi samaj me sir uthaakar ji sakta hai isliye vivah

विवाह क्यों होता है इसलिए होता है ताकि दो परिवार दो शब्द बताएं दूसरे से मिले दो लोग मिलकर

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  111
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!