क्या भारतीय इस्लाम धर्म और अरबी इस्लाम धर्म में कोई अंतर है?...


play
user

Minhaj Ahmed

Journalist

0:34

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस्लाम धर्म एक ही धर्म है रतलाम जिले की है बाकी है शांति है कॉमेडी है सबका साथ सबका विकास है राम

islam dharm ek hi dharm hai ratlam jile ki hai baki hai shanti hai comedy hai sabka saath sabka vikas hai ram

इस्लाम धर्म एक ही धर्म है रतलाम जिले की है बाकी है शांति है कॉमेडी है सबका साथ सबका विकास

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  811
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय खिलाओ और पाकिस्तान कुछ नहीं है इस्लाम

bharatiya khilaao aur pakistan kuch nahi hai islam

भारतीय खिलाओ और पाकिस्तान कुछ नहीं है इस्लाम

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  200
WhatsApp_icon
user

Mo.Azhar Shaikh

Social Worker

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सऊदी अरब और मेरा जन्म एक ही नाम की फिल्म

saudi arab aur mera janam ek hi naam ki film

सऊदी अरब और मेरा जन्म एक ही नाम की फिल्म

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  520
WhatsApp_icon
user

Sunish Mishra

Journalist

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निरंतर बहुत अंदर होते हैं जो अरबी होते हैं और हिंदुस्तान में अपने भारत के मुसलमान होते हैं अंतर तो है बहुत अंतर रह चुकी भारत का निर्माण कर दिया इस्लामिक स्टेट से बिलॉन्ग नहीं करता है मना कर देते हैं करते हैं बराबर होते रहते हैं

nirantar bahut andar hote hain jo rb hote hain aur Hindustan mein apne bharat ke musalman hote hain antar toh hai bahut antar reh chuki bharat ka nirmaan kar diya islamic state se Belong nahi karta hai mana kar dete hain karte hain barabar hote rehte hain

निरंतर बहुत अंदर होते हैं जो अरबी होते हैं और हिंदुस्तान में अपने भारत के मुसलमान होते हैं

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  49
WhatsApp_icon
user
0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह देख जो अशिक्षित लोग हैं वह तो 1 तरीके की आशिक चपरा है ग्रामीण क्षेत्रों से कुछ शहरी क्षेत्रों से तो वह भी नफरत फैलाते हैं लेकिन हम हिंदू हो मुस्लिम सिख ईसाई जैन बौद्ध पारसी जितने भी लोग हैं सभी यह भारत देश की संतान है भारत मां के लाल हैं हम सभी के लिए देश की एकता अखंडता के लिए मिलकर काम करना चाहिए और तभी हमारा कल्याण होगा हमारा आपका सभी का होगा हमारे देश सबसे महान होगा यह तो मैं सम्राट अनूप जलोटा मोरी गेट ए राजा ने राज किया हमारा जो देश का वह खंडों में नहीं था एक विशाल साम्राज्य था आज बजे यह पॉलिटिक्स

yah dekh jo ashikshit log hain vaah toh 1 tarike ki aashik chapara hai gramin kshetro se kuch shahri kshetro se toh vaah bhi nafrat failate hain lekin hum hindu ho muslim sikh isai jain Baudh parasi jitne bhi log hain sabhi yah bharat desh ki santan hai bharat maa ke laal hain hum sabhi ke liye desh ki ekta akhandata ke liye milkar kaam karna chahiye aur tabhi hamara kalyan hoga hamara aapka sabhi ka hoga hamare desh sabse mahaan hoga yah toh main samrat anup jalota mori gate a raja ne raj kiya hamara jo desh ka vaah khando mein nahi tha ek vishal samrajya tha aaj baje yah politics

यह देख जो अशिक्षित लोग हैं वह तो 1 तरीके की आशिक चपरा है ग्रामीण क्षेत्रों से कुछ शहरी क्ष

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  50
WhatsApp_icon
user

MD HAROON

Teacher

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके द्वारा पूछा गया सवाल है क्या भारतीय इस्लाम धर्म और अरबी इस्लाम धर्म में कोई अंतर है जी हां अंतर है क्योंकि अरबी अरब में जो इस्लाम धर्म में आज वहां भी इस्लामी हुकूमत कायम है और वहां इस्लामी हुकूमत के तहत फैसला सुनाया जाता है लेकिन हमारे भारत में धर्म इस्लाम है लेकिन यहां इस्लामी हुकूमत के खिलाफ नहीं भारत के कव्वाली ने भारत के कानून के हिसाब से फैसला दिया जाता है जैसे अगर यहां कोई चोरी कर ले भारत में तो भारतीय कानून के हिसाब से उसे जुर्माना देना होगा लेकिन अगर कोई अरब देश में चोरी करे तो उसका हाथ काट दिया जाता है भारत में कोई और किसी लड़की के साथ बलात्कारी करें तो बहुत होगा तो उसे दो-तीन साल के लिए जेल हो सकता है लेकिन अगर वहां कोई अगर बलात्कारी करे तो उसे सोच चमड़े के बेल्ट से मारा जाता है इस तरह वहां यहां के धर्म के कालीन में

aapke dwara poocha gaya sawaal hai kya bharatiya islam dharm aur rb islam dharm me koi antar hai ji haan antar hai kyonki rb arab me jo islam dharm me aaj wahan bhi islami hukumat kayam hai aur wahan islami hukumat ke tahat faisla sunaya jata hai lekin hamare bharat me dharm islam hai lekin yahan islami hukumat ke khilaf nahi bharat ke qawwali ne bharat ke kanoon ke hisab se faisla diya jata hai jaise agar yahan koi chori kar le bharat me toh bharatiya kanoon ke hisab se use jurmana dena hoga lekin agar koi arab desh me chori kare toh uska hath kaat diya jata hai bharat me koi aur kisi ladki ke saath balaatkari kare toh bahut hoga toh use do teen saal ke liye jail ho sakta hai lekin agar wahan koi agar balaatkari kare toh use soch chamde ke belt se mara jata hai is tarah wahan yahan ke dharm ke kaleen me

आपके द्वारा पूछा गया सवाल है क्या भारतीय इस्लाम धर्म और अरबी इस्लाम धर्म में कोई अंतर है ज

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  279
WhatsApp_icon
user

MonuTiwari

Little Businessman And Motivational Teacher

2:52
Play

Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है भारतीय इस्लाम धर्म और इस्लाम धर्म कोई नहीं है आपके इस्लाम के हिसाब से सजाएं दी जाती हैं और कानून की कयामत के साथ जो अपने हिसाब से किया जाता है बस इतना फर्क है कानून अलग अलग है वहां का यहां का बाजार जैसे कि यहां लोग रहते हैं नमाज पढ़ते रोजा रखते हज करने जाते सीकर के पास करते हैं दूसरों को

aapka sawaal hai bharatiya islam dharm aur islam dharm koi nahi hai aapke islam ke hisab se sajayen di jaati hain aur kanoon ki qayaamat ke saath jo apne hisab se kiya jata hai bus itna fark hai kanoon alag alag hai wahan ka yahan ka bazaar jaise ki yahan log rehte hain namaz padhte roza rakhte haj karne jaate sikar ke paas karte hain dusro ko

आपका सवाल है भारतीय इस्लाम धर्म और इस्लाम धर्म कोई नहीं है आपके इस्लाम के हिसाब से सजाएं द

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
user

smart king

Student

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अरबी लैंग्वेज बोली जाती है

rb language boli jaati hai

अरबी लैंग्वेज बोली जाती है

Romanized Version
Likes  45  Dislikes    views  535
WhatsApp_icon
user

Arvind rajpurohit

Entrepreneur , Mentor,

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय इस्लाम धर्म और अरबी धर्म इस्लाम धर्म में अंतर कुछ नहीं है धर्म तो वही है बस जीवन जीने के तरीके और सोच में अंतर वह लोग कट्टर इस्लामिक विचारधारा से ताल्लुक रखते हैं और इसका कारण वहां के माहौल का है क्योंकि वहां पर लोग बहुसंख्यक है पापी उनको जैसा इंडियन कल्चर है जहां पर सभी धर्मों के लोग रहते हैं वहां पर पैसा देखने को नार्मल ही नहीं मिलता है तू अपने ट्रेडिशन को इस्लामिक कंट्री है तो इस्लामिक शरीयत को फॉलो करते हैं लेकिन हमारे यहां आपसी प्रेम आपसी भाईचारे के साथ साथ चलती है हमारी और सर्वधर्म समभाव हिसाब से काम होता है हर धर्म के लोग हमारे यहां मंदिरों में सेवा देते हैं मुसलमान लोग वैसे ही हिंदू लोग मस्जिदों में और चर्च में सेवा देते हैं यह चीजें मुझे लगता है अरब कंट्रीज में देखने को नहीं मिलती है अभी वहां पर भी यह कल्चर आ रहा है 170 से पहले की बात करें तो यह सारी चीजें वहां पर भी मौजूद थे अभी तो वह अपने व्यस्त थे औरता बहाली सारी चाहिए धार्मिक कट्टरता है देखने को नहीं मिलती थी अब वही कल्चर वापस आ रहा है जैसे हमने सऊदी में देखा वहां पर मंदिर भी बन रहे हैं चार्ज भी बन रहे हैं और इसके अलावा सबसे बड़ी चीज थिएटर्स बन रहा है लेकिन हमारे इंडिया में यह सारी चीजें पहले से और ना ही उस पर कोई पाबंदी है हमारे इंडिया में औरतें कहीं पर भी जा सकती है इस्लाम धर्म में कुछ भी पहन सकती है कभी-कभी फतवे जारी होते हैं लेकिन उन संतों का वैसे ही मुंहतोड़ जवाब दिया जाता है अगर वह ट्रेडिशन के खिलाफ है तो धर्म के दायरे में रहकर जीवन कैसे जिया जाता है यह अगर वास्तव में सीखना है तो वह हम हिंदुस्तानी इस्लाम धर्म में सीख सकते हैं

bharatiya islam dharm aur rb dharm islam dharm mein antar kuch nahi hai dharm toh wahi hai bus jeevan jeene ke tarike aur soch mein antar vaah log kattar islamic vichardhara se talluk rakhte hain aur iska karan wahan ke maahaul ka hai kyonki wahan par log bahusankhyak hai papi unko jaisa indian culture hai jaha par sabhi dharmon ke log rehte hain wahan par paisa dekhne ko normal hi nahi milta hai tu apne tradition ko islamic country hai toh islamic shareeyat ko follow karte hain lekin hamare yahan aapasi prem aapasi bhaichare ke saath saath chalti hai hamari aur sarvadharm sambhav hisab se kaam hota hai har dharm ke log hamare yahan mandiro mein seva dete hain muslim log waise hi hindu log masjidon mein aur church mein seva dete hain yah cheezen mujhe lagta hai arab countries mein dekhne ko nahi milti hai abhi wahan par bhi yah culture aa raha hai 170 se pehle ki baat kare toh yah saree cheezen wahan par bhi maujud the abhi toh vaah apne vyast the aurata bahali saree chahiye dharmik kattartaa hai dekhne ko nahi milti thi ab wahi culture wapas aa raha hai jaise humne saudi mein dekha wahan par mandir bhi ban rahe hain charge bhi ban rahe hain aur iske alava sabse badi cheez theaters ban raha hai lekin hamare india mein yah saree cheezen pehle se aur na hi us par koi pabandi hai hamare india mein auraten kahin par bhi ja sakti hai islam dharm mein kuch bhi pahan sakti hai kabhi kabhi fatave jaari hote hain lekin un santo ka waise hi muhtod jawab diya jata hai agar vaah tradition ke khilaf hai toh dharm ke daayre mein rahkar jeevan kaise jiya jata hai yah agar vaastav mein sikhna hai toh vaah hum hindustani islam dharm mein seekh sakte hain

भारतीय इस्लाम धर्म और अरबी धर्म इस्लाम धर्म में अंतर कुछ नहीं है धर्म तो वही है बस जीवन जी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  178
WhatsApp_icon
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस्लामी धर्म जो में एक ही धर्म है वह मोहम्मद पैगंबर जो है उनके सारे फॉलोअर्स हैं तो एक ही हमको सब लोग मानते हैं अरबी इस्लाम हो या भारतीय सलाम सलाम की है जो चीजें हैं वह चीज होती है लेने का तरीका फॉलो करने का तरीका अलग नहीं है कोई ज्यादा अंतर नहीं होता है बेसिकली धाम जो है एक ही कम्युनिटी इन हिंदू धर्म की बातें हिंदू धर्म में यहां हो या कोई और हो शायद हम एक ही है लेकिन उसको थोड़ी थोड़ी डिग्री वाजपेई थोड़े अलग होते हैं उसी तरह से हैं इस्लाम में और भारतीय सेना में

islami dharm jo mein ek hi dharm hai vaah muhammad paigambar jo hai unke saare followers hain toh ek hi hamko sab log maante hain rb islam ho ya bharatiya salaam salaam ki hai jo cheezen hain vaah cheez hoti hai lene ka tarika follow karne ka tarika alag nahi hai koi zyada antar nahi hota hai basically dhaam jo hai ek hi community in hindu dharm ki batein hindu dharm mein yahan ho ya koi aur ho shayad hum ek hi hai lekin usko thodi thodi degree vajpayee thode alag hote hain usi tarah se hain islam mein aur bharatiya sena mein

इस्लामी धर्म जो में एक ही धर्म है वह मोहम्मद पैगंबर जो है उनके सारे फॉलोअर्स हैं तो एक ही

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  114
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!