परिपक्वता की अवधारणा स्पष्ट करें?...


play
user
0:37

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है परिपक्वता की अवधारणा स्पष्ट करें तो दोस्तों परिपक्वता की परिभाषा और अवधारणा बदलती रहती है परिपक्वता तो मन की ऊंचाई है जो दूसरा व्यक्ति परामर्श करने पर अनुभव करता है यह तो समय इंसान का सामान्य ज्ञान वैसे ही बना रहा है जिससे हम आज के बच्चों में देखें तो परिपक्वता हमारे बुद्धि और विवेक कर समझ है कि हम कितने परिपक्व होकर कितने समझदारी से अपनी बातों को किसी के सामने रख पाते हैं

aapka sawaal hai paripakvata ki avdharna spasht kare toh doston paripakvata ki paribhasha aur avdharna badalti rehti hai paripakvata toh man ki unchai hai jo doosra vyakti paramarsh karne par anubhav karta hai yah toh samay insaan ka samanya gyaan waise hi bana raha hai jisse hum aaj ke baccho me dekhen toh paripakvata hamare buddhi aur vivek kar samajh hai ki hum kitne paripakva hokar kitne samajhdari se apni baaton ko kisi ke saamne rakh paate hain

आपका सवाल है परिपक्वता की अवधारणा स्पष्ट करें तो दोस्तों परिपक्वता की परिभाषा और अवधारणा ब

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  880
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!