अक्षांश तथा देशांतर रेखाएं कितनी होती है?...


play
user
2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अक्षांश या ग्लोब पर पश्चिम से पूर्व की ओर खींची गई काल्पनिक रेखा जिससे अंश में प्रदर्शित किया जाता है वास्तव में अक्षांश बाप कौन है जो विषुवत रेखा तथा किसी अन्य स्थान के बीच पृथ्वी के केंद्र पर बनती है विषुवत रेखा को सुनें अंश किसे माना जाता है यहां से उत्तर की ओर बढ़ने पर पुणे की दूरी पर उत्तरी अक्षांश दक्षिण में बढ़ने वाली दूरी को दक्षिणी अक्षांश कहते हैं इसके अधिकतम सीमा ध्रुवों पर है इसमें 90 डिग्री उत्तरी व दक्षिणी अक्षांश कहा जाता है सभी अक्षांश रेखाएं समांतर होती आवे दो अक्षांशों के बीच की दूरी है कि जॉन के नाम से जाने जाते दो अक्षांशों के बीच की दूरी 111 किलोमीटर होती है देशांतरीय ब्लॉग पर उत्तर से दक्षिण की ओर किसी जाने वाली काल्पनिक रेखा है यह रेखाएं समानता नहीं होती है यह रेखाएं उत्तरी तथा दक्षिणी ध्रुव पर एक बिंदु पर मिल जाती है गुरु गोडसे विषुवत रेखा की ओर बढ़ने से देशांतर के बीच की दूरी बढ़ती जाती है तथा विषुवत रेखा पर इसके बीच करीब तंदूरी 111 पॉइंट 3 2 किलोमीटर होती है ग्रीनविच वेधशाला से गुजरने वाली रेखा को जीरो डिग्री देशांतर माना जाता है उसकी मां और की रेखा पश्चिमी देशांतर और दंगे और खीरे पूर्वी देशांतर कहलाती है देशांतर के आधार पर किसी स्थान का समय ज्ञात किया जाता है दो देशांतर रेखाओं के बीच की दूरी गोरे के नाम से जानी जाती है

akshansh ya globe par paschim se purv ki aur khinchi gayi kalpnik rekha jisse ansh me pradarshit kiya jata hai vaastav me akshansh baap kaun hai jo vishuvat rekha tatha kisi anya sthan ke beech prithvi ke kendra par banti hai vishuvat rekha ko sunen ansh kise mana jata hai yahan se uttar ki aur badhne par pune ki doori par uttari akshansh dakshin me badhne wali doori ko dakshini akshansh kehte hain iske adhiktam seema dhruvon par hai isme 90 degree uttari va dakshini akshansh kaha jata hai sabhi akshansh rekhayen samantar hoti aawe do akshansho ke beech ki doori hai ki john ke naam se jaane jaate do akshansho ke beech ki doori 111 kilometre hoti hai deshantariya blog par uttar se dakshin ki aur kisi jaane wali kalpnik rekha hai yah rekhayen samanata nahi hoti hai yah rekhayen uttari tatha dakshini dhruv par ek bindu par mil jaati hai guru godse vishuvat rekha ki aur badhne se deshantar ke beech ki doori badhti jaati hai tatha vishuvat rekha par iske beech kareeb tandoori 111 point 3 2 kilometre hoti hai greenwich vedhshala se guzarne wali rekha ko zero degree deshantar mana jata hai uski maa aur ki rekha pashchimi deshantar aur dange aur kheere purvi deshantar kahalati hai deshantar ke aadhar par kisi sthan ka samay gyaat kiya jata hai do deshantar rekhaon ke beech ki doori gore ke naam se jani jaati hai

अक्षांश या ग्लोब पर पश्चिम से पूर्व की ओर खींची गई काल्पनिक रेखा जिससे अंश में प्रदर्शित क

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  790
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!