नेपाल में भारी आर्थिक तंगी की वजह क्या है?...


play
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:16

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कभी प्राकृतिक आपदा की मार झेल चुका नेपाल आज आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहा है देश की सरकारी खजाने लगभग खाली हो चुके हैं और ऐसे में एक सवाल उठता है कि आखिर करें तो क्या करें देश के नए वित्त मंत्री डॉक्टर युवराज छाती बढ़ाने यह खुलासा किया है उन्होंने नेपाली संसद में श्वेत पत्र जारी करते हुए अपने संबोधन में कहा कि देश के सरकारी खजाने का भंडार लगभग खाली हो चुका है और उन्होंने बताया कि खर्च करते समय जो अनुशासनहीनता की गई इसके कारण ही देश का खजाना खाली हो रहा है नियमों के खिलाफ लागू किया गया टेक्स्ट कम किया गया पर्याप्त योजनाओं और रणनीतियों के बिना संशोधनों का जो इस्तेमाल हुआ है उसी के वजह से यह स्थिति पैदा हुई है और डॉक्टर अयूब राज घाट वाला जो कि Central Bank Of नेपाल के पूर्व गवर्नर भी रह चुके हैं उन्होंने दावा किया है कि देश में निवेश का माहौल भी आकर्षक और अनुकूल नहीं है और जिस कारण नेपाल में अंतर राष्ट्रीय क्षेत्र की तुलना में निवेश का माहौल बिल्कुल भी अनुकूल नहीं है तो दूसरे देश के जो कंपनी है जो लोग हैं वह भी नेपाल में इन्वेस्ट नहीं करना चाह रहे हैं जिसकी वजह से नेपाल आर्थिक तौर से कोई भी मदद नहीं मिल पा रही है

kabhi prakirtik aapda ki maar jhel chuka nepal aaj aarthik tangi ke daur se gujar raha hai desh ki sarkari khajaane lagbhag khaali ho chuke hain aur aise mein ek sawaal uthata hai ki aakhir kare toh kya kare desh ke naye vitt mantri doctor yuvraj chhati badhane yah khulasa kiya hai unhone nepali sansad mein shwet patra jaari karte hue apne sambodhan mein kaha ki desh ke sarkari khajaane ka bhandar lagbhag khaali ho chuka hai aur unhone bataya ki kharch karte samay jo anushasanahinta ki gayi iske karan hi desh ka khajana khaali ho raha hai niyamon ke khilaf laagu kiya gaya text kam kiya gaya paryapt yojnao aur rananitiyon ke bina sanshodhano ka jo istemal hua hai usi ke wajah se yah sthiti paida hui hai aur doctor aayub raj ghat vala jo ki Central Bank Of nepal ke purv governor bhi reh chuke hain unhone daawa kiya hai ki desh mein nivesh ka maahaul bhi aakarshak aur anukul nahi hai aur jis karan nepal mein antar rashtriya kshetra ki tulna mein nivesh ka maahaul bilkul bhi anukul nahi hai toh dusre desh ke jo company hai jo log hain vaah bhi nepal mein invest nahi karna chah rahe hain jiski wajah se nepal aarthik taur se koi bhi madad nahi mil paa rahi hai

कभी प्राकृतिक आपदा की मार झेल चुका नेपाल आज आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहा है देश की सरकार

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  159
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!