क्या एक स्क्रीन्प्ले लेखन पाठ्यक्रम लेने का कोई फ़ायदा है?...


user

Neeraj Pandey

Indian screenwriter and lyricist

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सीखने को मिलेगा जो चीजें टुकड़ों टुकड़ों में मैंने सामने मिल जाएगी तो मिल लेना क्योंकि आप एक शेर जहां से आप कह रहे हैं अपना पोस्ट लोग ठीक-ठाक हूं अगर उनकी वेबसाइट बहुत ज्यादा चमक रही है तो मत जाओ अपनी वेबसाइट भेज रहा कि आपको वहां पर स्क्रीन्राइटिंग नहीं सिखाते मतलब शाहरुख शाहरुख खान भी आ रहा है तो उसकी क्लास का 3 दिन का इज द बेस्ट स्क्रीनप्ले टीचरों का टाइम और बाकी लोगों की सोच कर सकते हो अटेंड करो गूगल प्रॉमिस कर देते बने राइट

seekhne ko milega jo cheezen tukadon tukadon mein maine saamne mil jayegi toh mil lena kyonki aap ek sher jaha se aap keh rahe hain apna post log theek thak hoon agar unki website bahut zyada chamak rahi hai toh mat jao apni website bhej raha ki aapko wahan par skrinraiting nahi sikhaate matlab shahrukh shahrukh khan bhi aa raha hai toh uski class ka 3 din ka is the best screenplay ticharon ka time aur baki logo ki soch kar sakte ho attend karo google promise kar dete bane right

सीखने को मिलेगा जो चीजें टुकड़ों टुकड़ों में मैंने सामने मिल जाएगी तो मिल लेना क्योंकि आप

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  147
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Jeet Dholakia

Anchor and Media Professional

2:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्क्रीनप्ले लेखन पाठ्यक्रम लेने की जो बात है तो उसमें बताना चाहता हूं कि यह जो सारे क्षेत्र है वह एकदम क्रिएटिव मतलब रचनात्मकता उसमें ज्यादा होनी चाहिए तभी आप इन सब का क्षेत्र में काम कर सकते हो अच्छी तरह से काम कर सकते हो पर यहां पर जो पूछा गया है कि आज स्क्रीनप्ले आलेखन पाठ्यक्रम लेने से उसका कोई फायदा होता है या नहीं आ मैं बताना चाहता हूं कि आप अगर एस्प्रिन पाठ्यक्रम करते हैं तो उसका थोड़ा बहुत फायदा आपको यह मिलता है कि आपको उसकी जो पत्नी की चीजें होती है वह आपको ज्ञात होती है वह उसका आपको पता चलता है कि वही स्क्रीनप्ले किसको कहते हैं पहले तो यह जानना बिल्कुल जरूरी है और जो स्टोरी होती और उसके बीच का भेद क्या होता है वह जानना भी जरूरी है और उसने किस तरह से लिखा जाता है वह तकनीक आपको समझाई जाती है यह पाठ्यक्रम में किस तरफ से अच्छा स्क्रीनप्ले लिखे हैं वह तो एक व्यक्ति के ऊपर है कि वह उनकी कार्य क्षमता कितनी है उनकी रचनात्मकता कितनी है उनकी क्रिएटिविटी कितनी है उसके ऊपर ही आधार रखता है तो मेरे ख्याल से स्क्रीनप्ले लेखन पाठ्यक्रम जो है वह जरूर ले सकते हो उसका आपको थोड़ा बहुत फायदा भी मिलेगा आपका आपके मतलब दिमाग में से सब कुछ क्लियर हो जाएगा कि वह स्क्रीनप्ले क्या है और किस तरह से पहले लिखा जाता है पहले क्या लिखा जाता है स्टोरी लिखी जाती है उस पर भी लिखा जाता है डायलॉग किस तरह से अलग होते हैं तो मेरे ख्याल से अगर पाठ्यक्रम लेते हैं तो वह आपको मदद जरूर करेगा और साथ में आगरा कोष में थोड़ी अपनी क्रिएटिविटी डालेंगे तो आप एक अच्छे आस्तीन पर राइटर भी बन सकते हैं और या फिर कोई ड्रामा के लिए व्याप्त लिख सकते हैं या तो फिर भी कोई शार्ट फिल्म के लिए भी आज ट्रेन से लिख सकते हैं आपको थोड़ा बहुत फायदा तो मिल सकता है

screenplay lekhan pathyakram lene ki jo baat hai toh usme bataana chahta hoon ki yah jo saare kshetra hai vaah ekdam creative matlab rachnatmaka usme zyada honi chahiye tabhi aap in sab ka kshetra mein kaam kar sakte ho achi tarah se kaam kar sakte ho par yahan par jo poocha gaya hai ki aaj screenplay alekhan pathyakram lene se uska koi fayda hota hai ya nahi aa main bataana chahta hoon ki aap agar esprin pathyakram karte hain toh uska thoda bahut fayda aapko yah milta hai ki aapko uski jo patni ki cheezen hoti hai vaah aapko gyaat hoti hai vaah uska aapko pata chalta hai ki wahi screenplay kisko kehte hain pehle toh yah janana bilkul zaroori hai aur jo story hoti aur uske beech ka bhed kya hota hai vaah janana bhi zaroori hai aur usne kis tarah se likha jata hai vaah taknik aapko samjhai jaati hai yah pathyakram mein kis taraf se accha screenplay likhe hain vaah toh ek vyakti ke upar hai ki vaah unki karya kshamta kitni hai unki rachnatmaka kitni hai unki creativity kitni hai uske upar hi aadhar rakhta hai toh mere khayal se screenplay lekhan pathyakram jo hai vaah zaroor le sakte ho uska aapko thoda bahut fayda bhi milega aapka aapke matlab dimag mein se sab kuch clear ho jaega ki vaah screenplay kya hai aur kis tarah se pehle likha jata hai pehle kya likha jata hai story likhi jaati hai us par bhi likha jata hai dialogue kis tarah se alag hote hain toh mere khayal se agar pathyakram lete hain toh vaah aapko madad zaroor karega aur saath mein agra kosh mein thodi apni creativity daalenge toh aap ek acche astin par writer bhi ban sakte hain aur ya phir koi drama ke liye vyapt likh sakte hain ya toh phir bhi koi shaart film ke liye bhi aaj train se likh sakte hain aapko thoda bahut fayda toh mil sakta hai

स्क्रीनप्ले लेखन पाठ्यक्रम लेने की जो बात है तो उसमें बताना चाहता हूं कि यह जो सारे क्षेत्

Romanized Version
Likes  205  Dislikes    views  2025
WhatsApp_icon
user

Rihan Shah

I want to become An IAS Officer (Love Realationship Full Experience)

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्क्रीन लेखन पाठ्यक्रम लेने का कोई फायदे

screen lekhan pathyakram lene ka koi fayde

स्क्रीन लेखन पाठ्यक्रम लेने का कोई फायदे

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  4
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!