भारतीय फिल्म उद्योग की कुछ वास्तविकताएं क्या हैं जिनके बारे में बहुत से लोग नहीं जानते हैं?...


user

Neeraj Pandey

Indian screenwriter and lyricist

3:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लोगों को यह नहीं पता लोगों को पेंशन इंटरव्यू देखकर बाकी लोगों को यह आइडिया है कि मुंबई अटैक के बारे में कभी मुंबई आया नहीं सा शहर है जहां पर मैंने लोगों को सड़क पर एंबुलेंस को रास्ता देते हुए शहर है जहां अगर कोई आदमी सड़क पर मुंबई के बारे में भी सच है और हमारी इंडस्ट्री के बारे में भी सचिन लोगों को बहुत सारी बातें हैं या बाहर जो नेगेटिव बातें हैं वहीं पर जंगली गुड न्यूज़ जो पिछले 10 सालों में अनुराग कश्यप के बाद और बहुत सारे लोगों ने मुझे कोई एक आदमी ऐसा नहीं मिला जिसको मैंने किसी हेल्प के लिए बोला हो और उसके बस में हूं और उसने मुझे गलत नहीं किया यह शहर को पता नहीं कैसे करना बहुत सारे डिलीट कैसे करना आपको सर्वाइकल करने में भी बाहर जो लोग कर लेते हैं यहां पर लोग शायद दो इस तरह से आप को सपोर्ट करती है लेकिन इसके पहले आप देखना चाहते हो काम के लिए याद करने वाले बहुत कम लोगों को कई बार लगता है कि लोग कतराते हैं करने से लोग बाहर का व्रत उसके पीछे जो मेहनत करने के लिए तैयार है और बाकी बोमन ईरानी सर ने बोला था एक बार कि अगर आपको दूसरे ग्रह पर भी रहेंगे तो आपको पकड़कर यहां के बारे में फेल कमिंग यूअर फोन नंबर ऑफ लर्निंग विष्णु हाउ टो कलाइब्रेट चल जाएगा आदमी 19 आदमी

logon ko yah nahi pata logo ko pension interview dekhkar baki logo ko yah idea hai ki mumbai attack ke bare mein kabhi mumbai aaya nahi sa shehar hai jaha par maine logo ko sadak par ambulance ko rasta dete hue shehar hai jaha agar koi aadmi sadak par mumbai ke bare mein bhi sach hai aur hamari industry ke bare mein bhi sachin logo ko bahut saree batein hai ya bahar jo Negative batein hai wahi par jungli good news jo pichle 10 salon mein anurag kashyap ke baad aur bahut saare logo ne mujhe koi ek aadmi aisa nahi mila jisko maine kisi help ke liye bola ho aur uske bus mein hoon aur usne mujhe galat nahi kiya yah shehar ko pata nahi kaise karna bahut saare delete kaise karna aapko cervical karne mein bhi bahar jo log kar lete hai yahan par log shayad do is tarah se aap ko support karti hai lekin iske pehle aap dekhna chahte ho kaam ke liye yaad karne waale bahut kam logo ko kai baar lagta hai ki log katrate hai karne se log bahar ka vrat uske peeche jo mehnat karne ke liye taiyar hai aur baki boman irani sir ne bola tha ek baar ki agar aapko dusre grah par bhi rahenge toh aapko pakadakar yahan ke bare mein fail coming you're phone number of learning vishnu how toe kalaibret chal jaega aadmi 19 aadmi

लोगों को यह नहीं पता लोगों को पेंशन इंटरव्यू देखकर बाकी लोगों को यह आइडिया है कि मुंबई अटै

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  151
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!